जानिए, डायबिटिक एमियोट्रॉफी के कारण, लक्षण और इलाज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

यह बात तो सभी जानते हैं कि डायबिटीज हमारे लिए कई संभावित जटिलताओं का कारण बनता है। डायबिटीज अपने साथ कई प्रकार की समस्याएं लेकर आता है। डायबिटीज न्यूरोपैथी या नर्व डैमेज सबसे आम समस्याओं में से एक है। लेकिन डायबिटीज न्यूरोपैथी का एक दुर्लभ प्रकार होता है डायबिटिक एमियोट्रॉफी। यह केवल 1% मधुमेह से ग्रसित वयस्कों को प्रभावित करता है। डायबिटिक एमियोट्रॉफी मुख्यतः शरीर की नसों को नुकसान पहुंचाती है। जिसमें इन अंगों की नसों का समावेश होता है- 

  • कूल्हा
  • बट/नितंब
  • जांघ
  • पैर

कभी-कभी यह चेस्ट और पेट को भी प्रभावित करता है। डायबिटिक एमियोट्रॉफी को इन नामों से भी जाना जाता है।

  • प्रोक्सिमल न्यूरोपैथी  (Proximal Neuropathy)
  • डायबिटिक लुंबोसैक्रल रेडिकुलोप्लेक्सस न्यूरोपैथी (Diabetic Lumbosacral Radiculoplexus Neuropathy)
  • ब्रंस-गारलैंड सिंड्रोम (Bruns-Garland Syndrome)

डायबिटिक एमियोट्रॉफी के कारण क्या हैं?

हालांकि ये अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि डायबिटिक एमियोट्राफी का क्या कारण है, लेकिन कई जगहों पर बताया गया है कि डायबिटिक एमियोट्रॉफी तब होता है, जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली असामान्य होती है। साथ ही ये छोटी ब्लड वेसल को नुकसान पहुंचाती है, जो आपकी नसों द्वारा पैरों तक ऑक्सीजन सप्लाई करती है। इस प्रक्रिया को माइक्रोवैस्कुलाइटिस (microvasculitis) कहा जाता है।

इसी की वजह से रोगी को पता नहीं चलता है, कि उसे डायबिटीज कब से था या वो इससे कितनी गंभीर रूप से प्रभावित है।  लंबे समय तक डायबिटीज जिसका ठीक से इलाज नहीं किया गया है, वह हाई ब्लड शुगर का कारण बनता है। ये  हाई ब्लड शुगर और कम इंसुलिन के स्तर को भी प्रभावित करते हैं। अग्न्याशय द्वारा उत्पादित हार्मोन जो ग्लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करता है। कई बार ये हायबिचिक एमियोट्रॉफी का का कारण बनते हैं।

और पढ़ें : रिसर्च: हाई फाइबर फूड हार्ट डिसीज और डायबिटीज को करता है दूर

डायबिटिक एमियोट्रॉफी के लक्षण क्या हैं?

सामान्य तौर पर डायबिटीज न्यूरोपैथी से ग्रसित लोगों में दर्द और शरीर सुन्न हो जाने की समस्या देखी गई है। लेकिन डायबिटिक एमियोट्रॉफी के लक्षण अलग होते हैं, जो इस प्रकार हो सकते हैं-

  • आपके कूल्हे और जांघ या बट (नितंब) में तेज दर्द होना
  • पेट दर्द होना
  • समय के साथ आपकी जांघ की मांसपेशियों में कमजोरी होना
  • थोड़ी देर तक खड़े रहने में समस्या होना

डायबिटिक एमियोट्रॉफी कितना आम है?

यह स्थिति टाइप 2 मधुमेह वाले 100 लोगों में से लगभग 1 को प्रभावित करती है और 1,000 लोगों में लगभग 3 लोगों को। यह पेरीफेरल न्यूरोपैथी की तुलना में असामान्य मानी जाती है। यदि आप 50 वर्ष से अधिक उम्र के हैं, तो आप में डायबिटिक एमियोट्रॉफी विकसित होने की अधिक संभावना है। हालांकि इससे युवा रोगी भी प्रभावित हो सकते हैं। यह स्थिति ही एक प्रकार का संकेत हो सकता है कि आपको डायबिटीज है।

और पढ़ें : जानें कैसे स्वेट सेंसर (Sweat Sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान

डायबिटिक एमियोट्रॉफी का निदान कैसे किया जाता है?

यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपको डायबिटिक एमियोट्रॉफी है, तो संभावना है कि वे आपको अगले परीक्षणों के लिए एक न्यूरोलॉजिस्ट या डायबिटीज एक्सपर्ट के पास भेजे। इसमें डॉक्टर आपकी और आपके पैरों में होने वाली समस्या की जांच करता है। यदि आपको पेरीफेरल न्यूरोपैथी भी है, तो इसे स्पष्ट रूप से कम किया जा सकता है। डायबिटिक एमियोट्रॉफी के लिए आपको कुछ रक्त परीक्षण करने के लिए भी कहा जा सकता है। इसके अलावा डायबिटिक एमियोट्रॉफी के लिए और भी परीक्षण किए जाते हैं-   

  • स्पाइनल टैप, जिसमें डॉक्टर आपकी रीढ़ की हड्डी से कुछ तरल पदार्थ लेता है और इसका परीक्षण करता है।
  • इस समस्या में सीटी स्कैन किया जा सकता है
  • एमआरआई किया जा सकता है
  • एक्स-रे किया जा सकता है
  • इलेक्ट्रोमोग्राफी किया जा सकता है

और पढ़ें: गर्भावस्था की पहली तिमाही में अपनाएं ये प्रेग्नेंसी डायट प्लान

डायबिटिक एमियोट्रॉफी का उपचार

डायबिटिक एमियोट्रॉफी को कई प्रकार से ठीक किया जा सकता है, जिसमें से ये कुछ उपचार प्रचलित हैं – 

मधुमेह को नियंत्रित करना

डायबिटिक एमियोट्रॉफी का इलाज करने के लिए महत्वपूर्ण रूप से आपको अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित रखना होता है। साथ ही इसमें दवा, आहार और व्यायाम सभी प्रमुख भूमिकाएं निभाते हैं, जिसका आपको ध्यान रखने की जरूरत होती है। इसके लिए समय-समय पर जांच कराते रहना बेहद आवश्यक है।

दर्द से राहत के लिए दवाएं

डायबिटिक एमियोट्रॉफी के दर्द को कम करने के लिए डॉक्टरों द्वारा दवाएं निर्धारित की जाती हैं। इस तरह का दर्द, न्यूरोपैथिक दर्द या नर्व पेन के रूप में जाना जाता है। इसे गेबापेनटिन(GABAPENTIN) और प्रीगाबलिन को लंबे समय तक चलने वाले तंत्रिका संबंधी दर्द को कम करने के लिए दिया जाता है। इसमें नर्व पेन ट्रीटमेंट लेने की सिफारिश करते हैं, जिसमें एमिट्रिप्टिलाइन, एंटीडिप्रेसेंट्स( ANTI DEPRESSANTS) और एंटी एपिलेप्टिक (ANTIEPILEPTIC) दवाएं शामिल हैं।

फिजिकल थेरेपी

यह आपकी मांसपेशियों बेहतर बनाए रखने और बेहतर काम करने में आपकी मदद कर सकता है। आपका थेरेपिस्ट व्यायाम के अलावा, चलने में सहायता करने के लिए सपोर्ट की सहायता लेने जैसी सलाह दे सकता है। इस दौरान डायबिटिक एमियोट्रॉफी से ग्रसित ज्यादातर लोगों को अपने शरीर की ताकत वापस मिल जाती है, लेकिन इसमें समय लगता है। इससे आपको बेहतर होने में एक साल लग सकता है। स्टेरॉयड दवाओं और इम्यूनो सप्रेसेंट दवाओं का उपयोग, हाल ही में जल्द सुधार के लिए किया गया है। हालांकि, अभी तक इस बात का पर्याप्त प्रमाण नहीं है कि यह उपचार हमेशा प्रभावी होता है। कब तक उपचार निर्धारित किया जाता है, यह आपकी स्थिति और तंत्रिका क्षति की मात्रा पर भी निर्भर करता है।

और पढ़ें: जानें कैसे स्वेट सेंसर (Sweat Sensor) करेगा डायबिटीज की पहचान

मैं डायबिटिक एमियोट्रॉफी को कैसे रोकूं?

डायबिटिक एमियोट्रॉफी जैसी समस्या को रोकने के लिए आप कई प्रकार के बचावों का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिनमें-

  • डायबिटिक एमियोट्रॉफी से बचने के लिए सबसे पहले तो आपको धूम्रपान से बचना होगा।
  • इसको रोकने के लिए सोच समझकर आहार ग्रहण करें।
  • डायबिटिक एमियोट्रॉफी रोकने के लिए अपने शरीर का सही वजन बनाए रखें।
  • डायबिटिक एमियोट्रॉफी को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जितना संभव हो उतना अपने डायबिटीज पर नियंत्रण बनाए रखें।

डायबिटिक एमियोट्रॉफी की समस्या आपको कभी भी हो सकती है। लेकिन इसे नियंत्रण में रखने के लिए आप तमाम कोशिशें कर सकते हैं। जिससे आपकी रिकवरी जल्दी और आसान से हो जाती है।

ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

ब्रिटल डायबिटीज (Brittle Diabetes) क्या होता है, जानिए क्या रखनी चाहिए सावधानी ?

ब्रिटल डायबिटीज की समस्या होने पर ब्लड में ग्लूकोज के लेवल में स्विंग यानी बदलाव आने शुरू हो जाते हैं। ब्रिटल डायबिटीज की समस्या रेयर होती है, लेकिन इससे सावधानी जरूरी है। Brittle diabetes से कैसे बचें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
डायबिटीज, हेल्थ सेंटर्स मई 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

डबल डायबिटीज की समस्या के बारे में जानकारी होना है जरूरी, जानिए क्या रखनी चाहिए सावधानी

डबल डायबिटीज की जानकारी in hindi. डबल डायबिटीज की समस्या में व्यक्ति के शरीर में टाइप 1 डायबिटीज के साथ ही इंसुलिन रजिस्टेंस भी उत्पन्न हो जाता है। Double diabetes, Insulin

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज मई 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

ये 5 बातें बताती हैं डिप्रेशन और उदासी में अंतर

डिप्रेशन और उदासी में अंतर क्या है? क्या डिप्रेशन और उदासी में अंतर को समझना आसान है? Depression और Sadness से बचने के क्या हैं उपाय?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन मई 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

जैस्मिन की खुशबू कर सकती है अवसाद का इलाज

हम में से कई लोग अवसाद ( Depression) की समस्या से गुजरते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं डिप्रेशन का इलाज जैस्मिन के फूलों से भी कर सकते हैं? जानते हैं इसके बारे में।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Suniti Tripathy
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

डायबिटिक मैकुलर एडिमा

क्या है डायबिटिक मैकुलर एडिमा, क्यों होती है यह बीमारी, इसके लक्षण, बचाव और ट्रीटमेंट जानने के लिए पढ़ें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
इंसुलिन पंप

क्या है इंसुलिन पंप, डायबिटीज से इसका क्या है संबंध, और इसे कैसे करना चाहिए इस्तेमाल?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 15, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
इंसुलिन रेजिस्टेंट

क्या आप जानते हैं वजन, बीपी और कोलेस्ट्रोल बढ़ने से इंसुलिन रेजिस्टेंस भी बढ़ सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
डायबिटिक न्यूरोपैथी

जानें क्या है डायबिटिक न्यूरोपैथी, आखिर क्यों होती है यह बीमारी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 9, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें