home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Heat Exhaustion: हीट इक्जाशन (तेज गर्मी लगना) क्या है?

परिचय |लक्षण |कारण |जोखिम |उपचार |घरेलू उपचार
Heat Exhaustion: हीट इक्जाशन (तेज गर्मी लगना) क्या है?

परिचय

तेज गर्मी लगना क्या है?

हीट इक्जाशन ऐसी बीमारी है जिसमें तेज पसीना बहता है और नाड़ी की रफ्तार भी तेज हो जाती है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर में गर्मी पैदा होने लगती है। यह बीमारी तीन हीट-रिलेटेड सिंड्रोम्स में से एक है, जिसमें हीट क्रैम्प सबसे हल्का और हीटस्ट्रोक सबसे गंभीर माना जाता है। यह एक गंभीर बीमारी है, जिसका इलाज समय रहते करवाना बेहद जरूरी है। हीट इक्जाशन के भी कुछ लक्षण होते हैं ,जिसे ध्यान देने पर आप इसकी शुरुआती स्थिति को समझ सकते हैं।

कितना सामान्य है तेज गर्मी लगने की समस्या (हीट इक्जाशन ) का होना?

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी, थकान, स्ट्रेस, वर्क प्रेशर में इस बीमारी का होना का सामान्य बात है। यह बीमारी महिलाओं और पुरुषों पर एक समान प्रभाव डालती है। हालांकि कुछ मामलों में यह बीमारी गंभीर हो सकती है। जो लोग बाहर का खाना, जंक फूड जैसी चीजों का सेवन ज्यादा करते हैं, उन्हें ज्यादा गर्मी लग सकती है।

एक शोध के अनुसार, जंक फूड, प्रोसेस फूड, सामान्य भोजन के मुकाबले शरीर में ज्यादा और तेजी से गर्मी उत्पन्न करते हैं। इस बीमारी से संबंधित कोई भी सवाल अगर आपके मन में हैं और इस बीमारी में अधिक जानकारी चाहते हैं तो अपने डॉक्टर या स्पेशलिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें : इन असरदार टिप्स को अपनाने के बाद दूर रहेंगी मौसमी बीमारी

लक्षण

हीट इक्जाशन के क्या लक्षण है?

बहुत तेज गर्मी लगने जैसी बीमारी के लक्षण समय के साथ विकसित हो सकते हैं। खासकर उन लोगों में जो एक्सरसाइज करने से कतराते हैं। इस हीट इक्जाशन के लक्षण हैं:

  • तेज पसीना आना
  • चक्कर आना
  • थकान
  • कमजोर, नाड़ी का तेज होना
  • खड़े होने पर ब्लड प्रेशर लो होना
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • जी मिचलाना
  • सिरदर्द

बच्चों में दिखाई देने वाले लक्षण

  • अत्यधिक थकान का महसूस होना
  • असामान्य रूप से प्यास लगना
  • त्वचा का चिपचिपा होना

और पढ़ें : अचानक दूसरों से ज्यादा ठंड लगना अक्सर सामान्य नहीं होता, ये है हाइपोथर्मिया का लक्षण

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

ऊपर बताएं गए लक्षणों में किसी भी लक्षण के सामने आने के बाद आप डॉक्टर से मिलें। इस बात का ध्यान रखें कि यह बीमारी हर व्यक्ति पर अलग असर दिखाती है, इसलिए जरूरी नहीं हैं कि यह सभी प्रभाव तुरंत दिखाई ही दें। इस बीमारी से संबंधित कोई भी सवाल अगर आपके मन में हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी लें।

और पढ़ें : अस्थमा क्या है? जानें इसके कारण , लक्षण और इलाज

कारण

बहुत तेज गर्मी लगने के कारण क्या है?

किसी भी मनुष्य के शरीर की गर्मी और पर्यावरण की गर्मी को मिलाकर शरीर का आंतरिक तापमान मापा जाता है। डॉक्टरों के अनुसार मनुष्य के शरीर का सामान्य तापमान लगभग 98.6 F (37 C) है। जब मनुष्य के शरीर का तापमान इससे ज्यादा होता है तो इस तरह की गंभीर बीमारी होती है।

गर्म मौसम में इंसान का शरीर मुख्य रूप से पसीने से ठंडा हो जाता है। पसीने का वाष्पीकरण शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। हालांकि, जब आप गर्म, नम मौसम में एक्सरसाइज करते हैं, तो यह शरीर को आराम से ठंडा करने का काम करता है।

और पढ़ें : Hepatitis-B : हेपेटाइटिस-बी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

जोखिम

बहुत तेज गर्मी के साथ मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं?

जैसा कि पहले ही बताया गया कि बहुत तेज गर्मी लगना एक प्रकार की आनुवंशिक बीमारी है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या नजदीकी अस्पताल में संपर्क करें। गर्म मौसम और स्ट्रेस एक्टिविटी के अलावा, बहुत तेज गर्मी लगने के अन्य कारणों में शामिल हैं:

डिहाइड्रेशन: अक्सर गर्मी के मौसम में पानी कम पीना भी इस बीमारी का कारण बन सकता है। डॉक्टरों के अनुसार, गर्मी के मौसम में अगर आप सामान्य मात्रा में पानी पी रहे हैं तो इससे शरीर का तापमान सही रहता है और इस तरह की बीमारी शरीर को नहीं घेरती है।

शराबः रोजाना शराब पीने भी इस बीमारी का एक कारण बन सकता है। डॉक्टरों के अनुसार, रोजाना शराब पीने वाले लोगों की शरीर के तापमान को सामान्य बनाए रखने की क्षमता कम हो जाती है।

एक्सरसाइज न करनाः कई बार शरीर को सुस्त रखने से भी शरीर का तापमान बढ़ जाता है। डॉक्टरों के अनुसार, जो लोग एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी नहीं करते हैं उन्हें भी बहुत तेज गर्मी लग सकती है।

और पढ़ें : घातक हो सकता है लू लगना, जानिए लू के घरेलू उपाय

उपचार

अगर, किसी व्यक्ति को बहुत तेज गर्मी लगने जैसी समस्या होती है तो उसे तुरंत फिजिकल वर्क, एक्सरसाइज, रनिंग जैसी चीजें छोड़ देनी चाहिए। साथ ही अपने रोजाना के खाने में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में ड्रिंक्स को शामिल करना चाहिए।

  • किसी भी छायेदार जगह या घर के अंदर बैठना
  • ढीले कपड़े
  • गुनगुना या ठंडा शॉवर लेना
  • चेहरे और छाती पर एक ठंडा, गीला कपड़ा रखना
  • गंभीर मामलों में, प्रत्येक कांख के नीचे और गर्दन के पीछे आइस पैक लगाना

लेख में बहुत तेज गर्मी लगने के बारे में जो जानकारी दी गई है उसे किसी भी तरह के मेडिकल सलाह के तौर पर ना लें। इससे संबंधित अगर कोई भी सवाल और ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : जानिए मुंह के कैंसर के प्रकार और उनके होने का कारण

बहुत तेज गर्मी लगने का इलाज कैसे होता है?

इस बीमारी का कोई सटीक इलाज नहीं है। लेकिन, कुछ थेरिपी और दवाओं से संक्रमित व्यक्ति या मरीज में इस संक्रमण के असर को कम किया जाता है। इस मामले में मरीज को खुद पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

अधिक गंभीर मामलों में गहन अस्पताल देखभाल की आवश्यकता होती है। कुछ मामलों में डॉक्टरों द्वारा खास तरह की दवाईयां और ट्रीटमेंट दिया जाता है।

और पढ़ें : Erectile Dysfunction : स्तंभन दोष क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

घरेलू उपचार

जीवनशैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे बहुत तेज गर्मी को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

बहुत तेज गर्मी का इलाज आमतौर पर घर पर ही किया जाता है। इसके लिए आपको अपनी दिनचर्या में थोड़ा सा बदलाव करने की आवश्यकता होती है। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

घर में किसी ठंडी जगह पर आराम करें। ठंडी जगह पर आराम करने से शरीर हाइड्रेटेड रहता है।

पानी, इलेक्ट्रोलाइट प्रतिस्थापन समाधान या स्पोर्ट ड्रिंक का सेवन करिए।

अगर, आपको उल्टी होती है या किसी तरह की अन्य समस्या महसूस होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

इस बीमारी के कारण होने वाली मांसपेशियों में ऐंठन ज्यादा बढ़ गई है तो डॉक्टरों के अनुसार तरल पदार्थ को अपने रोजाना के भोजन में शामिल करें।

बहुत तेज गर्मी लगने के दौरान आपको किस तरह का खाना खाना है और कैसे शरीर को आराम देना है इस बारे में अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/05/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड