home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Spearmint: स्पीयर मिंट क्या है?

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
Spearmint: स्पीयर मिंट क्या है?

परिचय

स्पीयर मिंट (Spearmint) क्या है?

स्पीयर मिंट (Spearmint) एक औषधि है जो सबसे ज्यादा अपने अनोखे स्वाद के लिए जानी जाती है। इसे पहाड़ी पुदीना भी कहा जाता है। स्पीयर मिंट की चटनी न सिर्फ खाने का जायका बढ़ाती है, बल्कि स्वास्थ्यवर्द्धक भी मानी जाती है। आयुर्वेद में सदियों से इस पुदीने का इस्तेमाल औषधि के रूप में हो रहा है। स्पीयर मिंट के इस्तेमाल याददाश्त बढ़ाने, पाचन क्रिया बेहतर करने, पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है।

और पढ़ेंः Aloe Vera : एलोवेरा क्या है?

स्पीयर मिंट का उपयोग (Uses of Spearmint) किस लिए किया जाता है?

स्पीयर मिंट (Spearmint) का इस्तेमाल कई तरह की दवाइयों और औषधियों में किया जाता है। इसका स्वाद बहुत अच्छा होता है जिस वजह से इसका प्रयोग हर्बल टी और चटनी के रूप में भी बड़ी मात्रा में किया जाता है। औषधि और दवाई बनाने के लिए इसके पत्तों और तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

स्पीयर मिंट का उपयोग निम्न स्वास्थ्य स्थितियों के उपचार में भी किया जा सकता है, जिनमें शामिल हैंः

  • पेट फूलना, पेट में दर्द होना, मितली की समस्या, भूख न लगना और सुबह की थकान जैसी समस्याओं से राहत प्रदान करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसकी पत्तियों से तैयार किए जाने वाले पेस्ट को जले पर लगाने से राहत मिलती है।
  • मुहांसों और धब्बों से छुटकारा पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इस जड़ी बूटी से थकावट और अवसाद को दूर करने में भी मदद मिलती है।
  • अध्ययनों के अनुसार, इस जड़ी बूटी का एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-कैंसर प्रभाव पड़ता है।
  • खास प्रकार के पुदीने का उपयोग मेमोरी बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।
  • पहाड़ी पुदीने को चाय में डालकर दिन में 2 बार पीने से महिलाओं में पुरुष हार्मोन कम हो सकते हैं। इससे स्त्री सेक्स हाॅर्मोंस का प्रभाव और असर बढ़ने की सम्भावना है। यदि महिलाओं को शरीर पर अनचाहे बाल उगते हैं, तो इसका प्रयोग करने से इसका भी हल मिल सकता है।
  • लोपेरमिड या सीलियम दवाई के साथ नींबू, स्पीयर मिंट और धनिया का रस लेने से आईबीइस के साथ पेट में दर्द कम होता है।
  • अदरक, अजवाइन और स्पीयर मिंट के तेल से किसी भी सर्जरी के बाद होने वाली उल्टी का एहसास कम होता है।
  • सर्दी और सिरदर्द से भी यह पुदीना राहत दिलाता है।
  • पाचन की तकलीफें, मांशपेशियों के दर्द और गले में सूजन जैसी तकलीफों में राहत देता है।
  • दांत के दर्द में भी यह पुदीने का तेल सहायक है।
और पढ़ें: चकोतरा क्या है?

स्पीयर मिंट कैसे काम करता है?

यह एक हर्बल सप्लीमेंट है और कैसे काम करता है, इसके संबंध में ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं हैं। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप किसी हर्बल विशेषज्ञ या फिर किसी डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि कुछ शोध यह बताते हैं कि इसमें कुछ ऐसे कैमिकल्स हैं जो सूजन को मिटाते हैं और टेस्टोस्टेरोन जैसे हाॅर्मोंस को शरीर से खत्म करते हैं। कुछ कैमिकल्स कैंसर की कोशिकाओं को खत्म करते हैं और बैक्टीरिया से भी लड़ते हैं।

सात्विक भोजन का महत्व जानने के लिए वीडियो देख लें एक्सपर्ट की राय

उपयोग

स्पीयर मिंट का उपयोग करना कितना सुरक्षित हो सकता है?

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग ( Pregnancy & Breastfeeding’s)

स्पीयर मिंट ज्यादा मात्रा में लेने से प्रेग्नेंसी में खतरा हो सकता है। स्पीयर मिंट की चाय पीने से गर्भाशय को नुकसान हो सकता है। ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं पर इसका असर कैसा हो सकता है, इस बारे में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है। सुरक्षित रहें और इसका इस्तेमाल ना करें।

किडनी के विकार

इसकी चाय किडनी के नुकसान को और बढ़ा सकती है और इसका उच्च मात्रा में सेवन किडनी पर गंभीर प्रभाव डाल सकता है। किडनी की तकलीफ में इसकी चाय पीने से यह किडनी से जुड़ी समस्याओं को और बढ़ा सकती है।

लिवर के रोग

इस पुदीने की चाय लिवर के नुकसान को और बढ़ा सकती है और इसका उच्च मात्रा में सेवन करने से लिवर पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए लिवर से जुड़ी कोई समस्या होने पर इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

एक बात का ध्यान रखें कि, हर प्रकार के औषधि का इस्तेमाल करने के लिए आपको उससे जुड़ी कुछ खास बातों की जानकारी रखनी चाहिए। हालांकि, इस हर्ब का इस्तेमाल करने से पहले आपके अपने डॉक्टर से इसके फायदे और नुकसान के बारे में भी जानकारी देंगे।

और पढ़ें: गुड़हल क्या है ?

साइड इफेक्ट्स

स्पीयर मिंट से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

पुदीना सामान्य उपयोग के लिए सुरक्षित है। हालांकि, कुछ लोगों में इससे एलर्जी के लक्षण पाए गए हैं

इसके स्टिम्यलैटिंग मेन्स्ट्रुएशन (Stimulating Menstruation) गुण की वजह से इसे गर्भवती महिलाओं को नहीं दिया जाना चाहिए।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: जिनसेंग क्या है?

डोसेज

पहाड़ी पुदीने को लेने की सही खुराक क्या है?

दिन में दो बार एक कप पहाड़ी पुदीने की चाय आम तौर पर सभी के लिए सुरक्षित है।

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

उपलब्ध

यह किन रूपों में उपलब्ध है?

यह निम्न रूपों में उपलब्ध है, जिसमें शामिल हैंः

  • स्पीयर मिंट की चाय
  • सूखे पत्ते
  • स्पीयर मिंट एक्सट्रेक्ट की दवा
  • टूथ पेस्ट
  • तेल
  • ताजा पत्ते

हम आशा करते हैं कि स्पीयर मिंट पर आधारित यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा। ऊपर बताई स्वास्थ्य समस्याओं में आप इसका उपयोग कर सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह पर। याद रखें हर्बल प्रोडक्ट्स का उपयोग हमेशा सुरक्षित नहीं होता।

हमेशा ले एक्सपर्ट की सलाह

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकली सलाह या उपचार की सिफारिश नहीं करता है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो कृपया इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। वहीं अलग अलग लोगों पर इसका अलग अलग हो सकता है। ऐसे में बेहतर यही होगा कि आप एक्सपर्ट की सलाह लेकर उनके कहे अनुसार ही इसका इस्तेमाल करें।

powered by Typeform

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Spearmint. https://medlineplus.gov/druginfo/natural/845.html. Accessed on 16 May, 2020.

Spearmint Extract Improves Working Memory in Men and Women with Age-Associated Memory Impairment. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/29314866. Accessed on 16 May, 2020.

Evaluation of possible toxic effects of spearmint (Mentha spicata) on the reproductive system, fertility and number of offspring in adult male rats. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4224956/. Accessed on 16 May, 2020.

MINT. http://www.omafra.gov.on.ca/CropOp/en/herbs/culinary/mint.html. Accessed on 16 May, 2020.

The Effects of A Proprietary Spearmint Extract on Cognitive Performance. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02518165. Accessed on 16 May, 2020.

Sample records for spearmint mentha spicata. https://www.science.gov/topicpages/s/spearmint+mentha+spicata.html. Accessed on 16 May, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
lipi trivedi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/02/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x