home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Monospot Test : मोनोस्पॉट टेस्ट क्या है?

परिभाषा|सावधानियां|प्रक्रिया|परिणामों को समझें
Monospot Test : मोनोस्पॉट टेस्ट क्या है?

परिभाषा

मोनोस्पॉट टेस्ट (Monospot) क्या है?

मोनोन्यूक्लिओसिस परीक्षण मोनोन्यूक्लिओसिस (मोनो) को इंगित करने वाले एंटीबॉडी की खोज के लिए किया जाने वाला ब्लड टेस्ट है, जो आमतौर पर एपस्टीन-बार वायरस (ईबीवी) के कारण होता है। संक्रमण से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज इम्यून सिस्टम द्वारा बनाए जाते हैं।

मोनोस्पॉट टेस्ट (हेटेरोफिल टेस्ट) तुरंत किया जाने वाला एक स्क्रीनिंग टेस्ट है, जो एक प्रकार के एंटीबॉडी (हेट्रोफिल एंटीबॉडी) का पता लगाता है जो कुछ संक्रमणों के दौरान बनता है। ब्लड सैंपल को माइक्रोस्कोप स्लाइड पर रखा जाता है और अन्य पदार्थों के साथ मिलाया जाता है। यदि हेटरोफिल एंटीबॉडी मौजूद हैं, तो रक्त का थक्का बन जाता है। यह परिणाम आमतौर पर मोनो संक्रमण का संकेत देता है। मोनोस्पॉट परीक्षण आमतौर पर किसी व्यक्ति के संक्रमित होने के 2 से 9 सप्ताह बाद एंटीबॉडी का पता लगा सकता है। यह आमतौर पर 6 महीने से पहले हुए मोनो को डायग्नोस नहीं करता है।

एपस्टीन-बार वायरस (ईबीवी) के कारण संक्रामक मोनोन्यूक्लिओसिस (आईएम) की समस्या होती है। लगभग 90 से 95 फीसदी वयस्क आबादी में इस संक्रमण के होने का जोखिम हो सकता है। हालांकि किशोरों और युवा वयस्क रोगियों में इसका निदान करना बहुत ही आसान है। इससे बीमार व्यक्तियों को थकान, बुखार, टॉन्सिलिटिस जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, भी इसके कई और भी सामान्य लक्षण हो सकते हैं, जिस वजह से इस बीमारी की पहचान करने में अक्सर देरी हो सकती है।

मोनोस्पॉट टेस्ट क्यों किया जाता है?

डॉक्टर मोनोस्पॉट टेस्ट की सलाह डॉक्टर हमेशा किसी किशोर या व्यस्क को ही देतें हैं। यदि उसे मरीज में संक्रामक मोनोन्यूक्लिओसिस के होने का संदेह होता है। मोनो को सामान्य लक्षणों में शामिल हो सकते हैंः

  • बुखार होना
  • सिरदर्द होना
  • गले में खराश की समस्या होना
  • गर्दन की ग्रंथियो या बगल में सूजन होना
  • कमजोरी या थकान का होना

कुछ लोगों में निम्न लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं, जिनमें शामिल हो सकते हैंः

अगर पहली बार इस टेस्ट के परिणाम निगेटिव आते हैं, लेकिन उसके बाद भी निम्न में से कोई भी लक्षण बने रहते हैं, तो आपके डॉक्टर इस टेस्ट को दोबारा से करने की सलाह दे सकते हैं। इसकी संभवना होती है, कई कारण इसके सटीक परिमाणों में बाधा बन सकते हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ेंः Intravenous Pyelogram: इंट्रावेनस पायलोग्राम टेस्ट क्या है?

सावधानियां

मोनोस्पॉट टेस्ट से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

मोनोस्पॉट टेस्ट कराने से पहले आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसेः

मोनोस्पॉट टेस्ट की प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है। अन्य टेस्ट के मुकाबले यह टेस्ट बहुत ही कम समय में किया जा सकता है। लेकिन यह खासतौर पर हेट्रोफाइल एंटीबडी के लिए किया जाता है EBV के लिए नहीं किया जा सकता है। यह लिम्फोमा, सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमेटोसस (ल्यूपस) और कुछ गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर वाले लोगों में भी सकारात्मक हो सकता है, हालांकि इन स्थितियों में यह डायग्नोस्टिक या स्क्रीनिंग टूल के रूप में उपयोग नहीं किया जा सकता है।

जब मोनोस्पॉट टेस्ट के परिणाम नकारात्मक होता है यह आपके डॉक्टर को आपके टेस्ट के परिमाण पर किसी तरह का संदेह होता है, तो वो दोबारा से इस टेस्ट की प्रक्रिया कर सकते हैं। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं। ये परीक्षण बताता है कि क्या कोई व्यक्ति EBV के लिए अतिसंवेदनशील है, हाल ही में संक्रमण हुआ है, पहल कभी EBV संक्रमण हुआ है, EBV संक्रमण फिर से सक्रिय हो गया है।

बीमारी के चौथे सप्ताह के बाद हीथोफाइल एंटीबॉडीज में गिरावट होती है और संक्रमण खत्म होते ही मोनो टेस्ट नकारात्मक हो जाएगा।

और पढ़ेंः Fetal Ultrasound: फेटल अल्ट्रासाउंड क्या है?

प्रक्रिया

मोनोस्पॉट टेस्ट के लिए कैसे तैयारी करें?

किसी खास तैयारी की जरूरत नहीं होती है। अपनी चिंताओं, टेस्ट की जरूरत, इससे जुड़े जोखिम, यह कैसे किया जाता है और इसके परिणामों का क्या मतलब है आदि के बारे में डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ें : Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

मोनोस्पॉट टेस्ट के दौरान क्या होता है?

अंगुली या नस से लिए गए ब्लड सैंपल से मोनोस्पॉट टेस्ट किया जाता है।

अंगुली से ब्लड सैंपल लेते समय हेल्थ केयर प्रोफेशनल:

  • आपके हाथ को साबुन और पानी से साफ करेगा।
  • पंक्चर साइट को छुए बिना हाथ का मसाज करेगा।
  • मिडिल फिंगर या रिंग फिंगर में एक छोटी से उपकरण की मदद से सुई जैसा चुभाएगा।
  • खून की पहली बूंद को साफ कर देगा।
  • उस जगह पर छोटा सा ट्यूब लगाकर ब्लड सैंपल एकत्र किया जाता है।
  • सुई लगाने वाली जगह पर रूई पट्टी लगा दिया जाता है और थोड़ा दबाव देने को कहा जाएगा।

मोनोस्पॉट टेस्ट के बाद क्या होता है?

20-30 मिनट बात पट्टी या रूई हटा सकते हैं। आपको परिणाम मिलने की तारीख बता दी जाएगी। डॉक्टर आपको परिणामों को मतलब समझाएगा। आपको डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना चाहिए।

परिणामों को समझें

मेरे परिणामों का क्या मतलब है?

मोनोस्पॉट टेस्ट का परिणाम एक घंटे के भीतर आ जाता है।

मोनोस्पॉट टेस्ट सामान्य (नकारात्मक)

ब्लड सैंपल में कोई कल्म्पस नहीं बनते (कोई हेट्रोफिल एंटीबॉडी का पता नहीं लगाया जाता है)

असामान्य (सकारात्मक)

ब्लड सैंपल में कल्म्पस बनते हैं (हेट्रोफिल एंटीबॉडी का पता लगता है)। ब्लड सैंपल में कल्म्पस का मतलब है आपको मोनो है।

बीमारी के दूसरे या तीसरे सप्ताह में मोनोस्पॉट के संक्रामक मोनोन्यूक्लिओसिस के डायग्नोसिस की संभावना बहुत कम रहती है, लेकिन बीमारी के पहले सप्ताह के दौरान परीक्षण लगभग आधे मामलों में गलत तरीके से नकारात्मक परिणाम दिखा सकता है। यदि आवश्यक हो, एपस्टीन-बार वायरस के खिलाफ विशिष्ट एंटीबॉडी के लिए आगे का परीक्षण – EBV सीरोलॉजी – किया जा सकता है। EBV सीरोलॉजी के घटकों में EBV IgM (आमतौर पर हाल के संक्रमण को इंगित करता है) और EBV IgG (आमतौर पर पिछले संक्रमण को इंगित करता है) शामिल हैं।

सभी लैब और अस्पताल के आधार पर मोनोस्पॉट टेस्ट की सामान्य सीमा अलग-अलग हो सकती है। परीक्षण परिणाम से जुड़े किसी भी सवाल के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

मोनोस्पॉट टेस्ट से जुड़े किसी सवाल और इसे बेहतर तरीके से समझने के लिए, कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकली सलाह या उपचार की सिफारिश नहीं करता है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो कृपया इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Mononucleosis spot test. https://www.nlm.nih.gov/medlineplus/ency/article/003454.htm. Accessed on 18 May, 2020.

Mono Test. https://labtestsonline.org/understanding/analytes/mono/tab/test/. Accessed on 18 May, 2020.

Monospot Test. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK539739/. Accessed on 18 May, 2020.

Laboratory Testing. https://www.cdc.gov/epstein-barr/laboratory-testing.html. Accessed on 18 May, 2020.

Sample records for heterophilic antibodies interfering. https://www.science.gov/topicpages/h/heterophilic+antibodies+interfering. Accessed on 18 May, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड