क्यों न इस स्वतंत्रता दिवस अपनी इन गलत आदतों से छुटकारा पाया जाए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट August 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

आदतें एक दिन में नहीं बनती हैं इसी तरह किसी भी गलत आदत को एक दिन में नहीं बदला जा सकता है, उसके लिए निरंतर प्रयास करना होता है। हमारी कुछ आदतें ऐसी हैं जिसका न सिर्फ हमारी सेहत, बल्कि पर्सनैलिटी पर भी असर पड़ता है, तो क्यों न इस स्वतंत्रता दिवस अपनी इन गलत आदतों से छुटकारा पाया जाए और खुद को हेल्दी व फिट रखा जाए।

इन गलत आदतों से छुटकारा पाना है जरूरी

वर्कआउट न करना

सुबह उठने के बाद आधा घंटा ही सही पर एक्सरसाइज जरूर करें। योग और वॉक करना बहुत जरूरी है। इससे न सिर्फ आपका दिमाग फ्रेश रहता है, बल्कि शरीर में रक्त का संचार भी सही बना रहता है। इसी के साथ मसल्स भी स्ट्रेच होती हैं। एक्सरसाइज या योग करने के बाद आपके शरीर में  एनर्जी आ जाती है। इससे बॉडी भी फिट रहती है।  बहुत से लोग ऐसे हैं कि सुबह उठकर न तो जॉगिग करते हैं और न ही योग या एक्सरसाइज। बस बिस्तर से उठें और अपने रोजमर्रा के काम में जुट जाते हैं, जिससे वो पूरा दिन एक आलस से घिरे रहते हैं और फ्रेश महसूस नहीं करतें हैं।

उठते ही चाय पीने की आदत छोड़ दें

कुछ लोगों को उठते ही बेड टी यानि बिस्तर पर ही चाय पीने की आदत होती हैं, ऐसे लोगों का तर्क होता है कि बिना चाय पिए उनका पेट साफ नहीं होता  है और काम का मन भी नहीं करता है, लेकिन क्या आपको पता है कि सुबह-सुबह खाली पेट चाय पीने से आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है। चाय भूख भी खत्म कर देती है। इसलिए सुबह उठने पर चाय या कॉफी नहीं, बल्कि गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर सेवन करें। इससे आपके शरीर डिटॉक्सिफाई होगा।

यह भी पढ़ें- हर्बल सिगरेट क्या है, जानें इसके संभावित नुकसान

टाइम पर खाना नहीं खाना

सुबह का नाश्ता 10 बजे के पहले, लंच 2 बजे से पहले और रात का खाना 8 बजे के पहले करने से भोजन आसानी से पच जाता है और आप स्वस्थ रहते हैं। लेकिन कुछ लोग इस टाइम टेबल को बिल्कुल भी फॉलो नहीं करते हैं। समय पर न खाने की वजह से न सिर्फ उन्हें पेट संबंधी परेशानियां हो जाती हैं, बल्कि वजन भी बढ़ने लगता है। दरअसल, कुछ लोगों को लगता है कि एक टाइम पर खाना नहीं खाने से वजन कम हो जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं है। इससे वजन कम नहीं होता है। इसलिए समय पर खाएं, लेकिन हेल्दी खाएं।

रेडी टू ईट और फास्ट फूड अधिक खाना

कभी समय की कमी तो कभी खाना बनाने में आलस आने की वजह से लोग रेडी टू ईट फूड को प्राथमिकता देने लगे हैं, क्योंकि यह बिना ज्यादा झंझट के जल्दी बन जाता है। रेडी टू ईट फूड का चलन शहरों में बहुत अधिक है, लेकिन प्रोसेस्ड फूड में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है और सैचुरेटेड फैट भी ज्यादा होता है। ऐसे फूड में पौष्टिक तत्व और फाइबर भी कम होता है। इसलिए बेहतर है कि ऐसे फूड से परहेज करें और घर का बना ताजा खाना ही खाएं। जिसमें ताजी सब्जियों का इस्तेमाल करें। फास्ट फूड भी सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है। यदि आप इसे महीने में एक बार खा रहे हैं तो चलेगा, लेकिन रेग्युलर फास्ट फूड खाते हैं तो इस आदत को तुरंत बदल लीजिए।

स्मोकिंग की आदत नहीं है सही

सिगरेट सेहत के लिए बहुत हानिकारक होती है यह बात जानते हुए भी अधिकांश लोग स्मोकिंग करना नहीं छोड़ते हैं। यदि आप भी उन्हीं में से एक हैं तो स्मोकिंग से तौबा कर लें, वरना आपकी सेहत को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। धूम्रपान से आपके फेफड़ों पर बहुत असर पड़ता है और आज जिस तेजी से कोरोना वायरस फैल रहा है ऐसे समय में सिगरेट पीने वालों को इसका खतरा बहुत ज्यादा है। द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडीसिन की एक स्टडी के मुताबिक, स्मोकिंग करने वाले लोगों के कोरोना से संक्रमित होने पर आईसीयू में भर्ती होने, सांस लेने में ज्यादा तकलीफ और यहां तक कि मरने की आशंका भी सिगरेट न पीने वालों से तीन गुना ज्यादा होती है।

देर रात तक मोबाइल देखना

माना की मोबाइल आजकल जीवन का बहुत जरूरी हिस्सा बन गया है, लेकिन रात को ज्यादा देर तक मोबाइल देखने पर आपकी नींद पर असर होता है। यही वजह है कि कई लोगों को अनिद्रा की शिकायत हो जाती है। ऐसे में वह रात को ठीक से सोते नहीं है और नींद पूरी न होने की वजह से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के होने की अशंका बढ़ जाती है। वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के मुताबिक नींद पूरी न होने पर इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है। इसलिए कम से कम 7 घंटे की नींद हर किसी के लिए जरूरी है।

अल्कोहल का सेवन न करें

सिगरेट की तरह की शराब का सेवन भी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है, लेकिन कई लोग जमकर ड्रिंक करते हैं।  शराब आपकी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है इससे लिवर, दिल और मस्तिष्क पर तो असर होता ही है साथ ही गैर-मेलेनोमा त्वचा कैंसर होने का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए हेल्दी लाइफ के लिए आज से ही शराब से तौबा कर लें।

यह भी पढ़ें- निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरिपी (NRT) की मदद से धूम्रपान छोड़ना होगा आसान, जानें इसके बारे में

दांतों से नाखून चबाना

बच्चे ही नहीं कई बड़ों की भी आदत होती हैं दांतों से नाखून चबाने की, जो बहुत ही खतरनाक है, इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल, हमारे नाखूनों के बीच बैक्टीरिया और कई तरह के वायरस जमा होते हैं। जब कोई दांत से नाखून चबाता है तो ये सारी चीजें उस व्यक्ति के शरीर में आसानी से पहुंचकर उसे संक्रमित कर देती है। तो अब से सर्तक हो जाइए और अपनी इस लत से छुटकारा पाने की कोशिश करें।

 नकारात्मक सोच से बचें

हमारे खुश और स्वस्थ रखने में हमारी सोच का बहुत योगदान होता है। आपने गौर किया होगा कि जो लोग सकारात्मक सोच रखते हैं वो लोग हर हाल में खुश रहते हैं और किसी बीमारी की चपेट में भी जल्दी नहीं आते हैं, जबकि नकारात्मक सोचने वाले लोग हमेशा दुखी नजर आते हैं। इसलिए बहुत जरूरी है कि हम अपनी सोच को बदलें और हमेशा सकारात्मक चीजों पर ध्यान केंद्रित करें। इससे आप खुश रहेंगे और जब आप अंदर से खुश रहेंगे तो सेहत भी अच्छी रहेगी।

गलत आदतों से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है 3 R का पालन करना

आपके अंदर कोई भी आदत एक दिन में तो विकसित नहीं हुई होगी। तो इसी तरह एक दिन में इसे बदला भी नहीं जा सकता। इसके लिए आपको लगातार कोशिश करनी होगी और दृढ़ता से कुछ नियमों का पालन करना होगा। लेकिन गलत आदतों से छुटकारा पाने के लिए पहले आपको खुद यह समझना होगा कि आपकी कौन सी आदत गलत है और सचमुच किसे बदलना चाहते हैं, उसके बाद आपको इन तीन चीजों का पालन करना होगा-

रिमाइंडर (Reminder)- आपको बार-बार खुद को याद दिलाते रहना होगा कि आपको अपनी खराब आदत को बदलना है।

रूटीन (Routine)- अपनी किसी गलत आदत को बदलने के लिए आप जो भी कोशिश कर रहे हैं, उसे नियमित रूप से करना होगा यानि उसे अपने रूटीन का हिस्सा बनाना होगा।

रिवॉर्ड (Reward)-  जब आपकी कोशिश कामयाब हो जाए यानि आप उस गलत आदत से छुटकारा पाने में सफल हो जाएं तो खुद को इसके लिए रिवॉर्ड यानि कोई तोहफा दें। इससे आपका मनोबल बढ़ेगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

जानें गांजा पीना खतरनाक है या लोगों को राहत दिलाने का करता है काम

गांजा पीना कई मामलों में फायदेमंद है तो कुछ मामलों में शरीर के लिए हानिकारक भी है, इससे कई प्रकार की बीमारी होती है, वहीं आप बीमार हैं तो मौत तक हो सकती है

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
अच्छी आदतें, धूम्रपान छोड़ना August 12, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

अपान मुद्रा: जानें तरीका, फायदा और नुकसान

अपान मुद्रा को कर हम कब्जियत के साथं साथ डायजेशन से जुड़ी परेशानियों को कम कर सकते हैं। इतना ही नहीं शारिरिक के साथ इसके कई मानसिक फायदे भी हैं, जाने।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

शीतली प्राणायाम करने का तरीका और फायदा

शीतली प्राणायाम के हैं कई फायदें, इसे कब और कैसे करने के लिए जानें एक्सपर्ट की राय और इस प्राणायाम को करने का सही तरीका, हेल्थ बेनीफिट्स को भी जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

स्ट्रेस को कम करने के अलावा कर्नापीड़ासन के 6 और फायदे, तरीका और चेतावनी

कर्नापीड़ासन करने से हमें क्या फायदा होता है, किसे करना चाहिए और किसे नहीं आदि जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल। Benefits of karnapidasana in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu

Recommended for you

किडनी के लिए बुरी आदतें

किडनी को नुकसान पहुंचाती हैं ये 10 आदतें, तुरंत बदलें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ March 5, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
एक्सरसाइज के पहले क्या खाएं - Workout Food

एक्सरसाइज के पहले क्या खाना हमारे सेहत के लिए होता है फायदेमंद, जानने के लिए पढ़ें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ January 19, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
ठंड में गर्मी बढ़ाने के खानपान-Food should eat in winter

ठंड में गर्मी बढ़ाने के लिए खानपान में अपनाएं यह बदलाव, इन फूड्स का सेवन कर सर्दी में पाएं गर्मी का एहसास

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ December 24, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
स्मोकिंग का स्किन पर इफेक्ट

स्मोकिंग स्किन को कैसे करता है इफेक्ट?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ August 19, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें