Mangosteen : मैंगोस्टीन क्या है?

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

परिचय

मैंगोस्टीन क्या है?

मैंगोस्‍टीन एक फल है। जिसका वैज्ञानिक नाम गार्सिनिया मैंगोस्टाना (Garcinia mangostana) है। यह एक उष्णकटिबंधीय फल है जिसका स्वाद थोड़ा खट्टा-मीठा होता है। मैंगोस्टीन को फलों की रानी भी कहा जाता है। यह बैंगनी रंग का होता है। इसे दूसरे नामों से भी जाना जाता है। हिंदी में इसे मैंगोस्टीन कहा जाता है। तेलुगु में ‘इवारुममिडी’ (Ivarumamidi) कहते हैं, बंगाली में ‘काओ'(Kao), मलयालम में ‘कट्टम्पी'(Kaattampi), कन्नड़ में ‘मुरुगला हन्नू’, गुजराती में ‘कोकम’ के नाम से जाना जाता है। मैंगस्‍टीन सेहत के लिहाज से अच्छा फल है। इसमें सभी प्रकार के पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ पाए जाते है। मैंगोस्टीन ब्लड प्रेशर, कैंसर को रोकने और कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। इसके फल के साथ पपड़ी, टहनी और  छाल का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है।

ये कैसे काम करता है?

मैंगोस्टीन में टैनिन पाया जाता है। टैनिन डायरिया के इलाज में काम आता है। वहीं, इसमें जैनथोंस पाया जाता है, जिसमें एंटीबायोटिक, एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए इसका प्रयोग यूरेनरी ट्रैक इंफेक्शन के इलाज में भी किया जाता है। हालांकि ये शरीर के अंदर कैसे काम करता है, इसकी कोई वैज्ञानिक पुष्टि नहीं है। इसके अलावा मैंगोस्टीन में पोषक तत्वों की भरमार है। एक कप मैंगोस्टीन में ये पोषक तत्व पाए जाते हैं।

  • कैलोरी : 143
  • कार्बोहाइड्रेट : 35 ग्राम
  • फाइबर : 3.5 ग्राम
  • फैट : 1 ग्राम
  • प्रोटीन की मात्रा : 1 ग्राम
  • विटामिन-सी : 9% RDI (Recommended Daily Intake)
  • विटामिन-बी9 : 15% RDI
  • विटामिन-बी1 : 7% RDI
  • विटामिन-बी 2 : 6% RDI
  • मैगनीज : 10% RDI
  • कॉपर : 7% RDI
  • मैग्नीशियम : 6% RDI

यह भी पढ़ें : Nutmeg : जायफल क्या है?

उपयोग

इसका उपयोग किस लिए किया जाता है?

मैंगोस्टीन का उपयोग कई तरह के रोगों में किया जाता है। इसमें सबसे ज्यादा एंटी-ऑक्‍सीडेंट पाए जाते हैं। इसमें प्राकृतिक रूप से पॉलीफेनोल (polyphenol) पाया जाता है जो जैंथोन के नाम से जाना जाता है। मैंगोस्‍टीन में जेन्‍थोन्‍स-एल्‍फा मैंगोस्‍टीन और गामा मैंगोस्‍टीन होते हैं। ये तनाव को कम करने के काम आता है। ये एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर को कई प्रकार के इंफेक्शन से बचाते हैं। साथ ही हृदय रोग, सर्दी और कैंसर का रिस्क कम करने में मदद करता है। इसके अलावा मैंगस्टन इन समस्याओं के लिए भी फायदेमंद होता है :

मैंगोस्टीन कैसे खाएं?

मैंगोस्टीन हर जगह नहीं मिलता है। यह एक मौसमी फल है और यह सिर्फ गर्मियों में होता है। इसलिए इसकी उपलब्धता काफी सीमित है। आपके इसे विशेष एशियाई बाजारों से खरीद सकते हैं। ये जमे हुए या डिब्बे में बंद रूपों में भी बाजार में मौजूद है। मैंगस्टन का छिलका चिकना और गहरे बैंगनी रंग का होता है। जो खाने योग्य नहीं होता है। इसे आप चाकू के जरिए आसानी से हटा सकते हैं। इसके अंदर सफेद और रसदार गूदा होता है। आप गूदे का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Parsley : अजमोद क्या है?

सावधानियां और चेतावनियां

मैंगोस्टीन का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

मैंगोस्टीन का उपयोग करना पूरी तरह सुरक्षित है। बस इसे गर्भवती महिला और कुछ विशेष दवाओं का सेवन करने वालों को खाने से बचना चाहिए। इसके अलावा, ज्यादा मात्रा में इस फल का सेवन करने से आपको पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। कुछ लोगों को मैंगोस्टीन से एलर्जी भी हो सकती है। वहीं, गर्भवती महिलाओं द्वारा सेवन करने से भ्रूण को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए अगर आप इस फल का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट ले बात जरूर कर लें।

इसका उपयोग कितना सुरक्षित है?

मैंगोस्टीन का हर उम्र के लोगों के लिए सुरक्षित है। लेकिन, इसका मतलब ये नहीं है कि इसका सेवन ज्यादा से ज्यादा खाया जाए। निश्चित मात्रा का सेवन आपके लिए पूरी तरह से सुरक्षित है। इसलिए सेवन से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट की राय ले लें।

साइड इफेक्ट्स

इससे मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

मैंगोस्टीन का अधिक सेवन करने से कुछ साइड इफेक्ट्स भी सामने आए हैं :

प्रभाव

इसके साथ मुझ पर क्या प्रभाव पड़ सकता है?

मैंगस्टीन में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। यदि आप कीमोथेरेपी ले रहे हैं तो दवाओं के साथ इसका सेवन आपके शरीर पर प्रभाव डाल सकता है। इसके अलावा, हिस्टामिन रोधी (anti-histamines) दवाओं के साथ इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। 

डोसेज

मैंगोस्टीन की सही खुराक क्या है?

मैंगोस्टीन की खुराक के बारे में कोई खास वैज्ञानिक साक्ष्य नहीं है। लेकिन, इसका सेवन उम्र, स्वास्थ्य स्थिति आदि के आधार पर करना चाहिए। इसलिए आप अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से बात कर के ही मैंगोस्टीन का सेवन करें।

उपलब्ध

ये किन रूपों में उपलब्ध है?

  • जूस
  • फल
  • डिब्बे में बंद टुकड़े

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 3, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 3, 2019