Protein powder : प्रोटीन पाउडर क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Hemakshi J

मूल बातें जाने

कई प्रकार के प्रोटीन से भरपूर खाने पीने की चीजों को मिलाकर प्रोटीन पाउडर को बनाया जाता है जैसे, हर्बल,सोयाबीन, मटर, चावल,आलू,अंडे या दूध आदि। इन सभी का एक कॉम्बिनेशन तैयार करने के बाद इसमें शुगर, विटामिन्स और खनिज तत्व मिलाए जाते हैं।

सप्पलीमेंट के तौर पे दो तरह के प्रोटीन पाउडर होते है

  • व्हेय (whey)
  • केसिन (casein)

व्हेय प्रोटीन का एक जल्दी से पचने वाला प्रोटीन है वहीं केसिन को पचने में काफ़ी समय लगता है।

ये सप्लीमेंट्स प्रोटीन डाइट के विकल्प के रूप इस्तेमाल किए जाते हैं। ये अतिरिक्त वज़न कम करने में कारगर और मांसपेशियों की मजबूती बढ़ाने में मदद करते हैं। ये अमीनो एसिड के अच्छे स्रोत होते हैं।

प्रोटीन पाउडर का उपयोग किस लिए किया जाता है?

वर्क-आउट के बाद आपको ज्यादा ऊर्जा की जरूरत होती है । एक्सरसाइज के बाद शरीर में ईंधन देने के लिए अधिक प्रोटीन की आवश्यकता होती है क्योंकि इस स्थिति में आपको नार्मल प्रोटीन डाइट से अधिक प्रोटीन की जरूरत होती है ।

यदि आप वर्कआउट करने के दौरान मजबूत मांशपेशियां बनाने कोशिश कर रहे हैं, तो आपको सामान्य रूप से अधिक प्रोटीन की आवश्यकता होगी।

जब आप किसी चोट से उबर रहे हों तो उसे जल्दी ठीक करने में प्रोटीन पाउडर मदद करता है ।

यदि आप शाकाहारी हैं या शाकाहारी जीवन शैली अपनाते हैं, तो आप मांस, चिकन, और मछली सहित कई आम प्रोटीन स्रोतों से दूर हो जाते है। ऐसे में प्रोटीन पाउडर आपके शरीर में प्रोटीन की जरूरत को पूरा करता है ।

यह भी पढ़ें : प्रोटीन सप्लिमेंट्स लेना सही या गलत? आप भी हैं कंफ्यूज्ड तो पढ़ें ये आर्टिकल

सावधानी और चेतावनी

प्रोटीन पाउडर का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • यदि आप प्रेग्नेंट है या बच्चे को दूध पिला रही है तो ऐसे में इस प्रोटीन सप्पलीमेंट को लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ले ।
  • आपको प्रोटीन पाउडर से या उसके किसी सबटेंस से किसी भी प्रकार की एलर्जी तो नहीसप्लीमेंट के उपयोग से पहले, जरूरी बातों और निर्देशों पे ध्यान दे। जैसे, पानी की सही मात्रा, विटामिन, खनिज तत्व और फाइबर का सही मात्रा में सेवन।

उपयोग से पहले मुझे किस बात का ध्यान देना चाहिए

  • व्हेय प्रोटीन में ग्लोब्यूलर प्रोटीन मौजूद होता है जो शरीर को नुकसान पहुचा सकता है ।
  • प्रोटीन पाउडर में काफी मात्रा में टॉक्सिक मेटेल्स् या जहरीले पदार्थ होते हैं. जो शरीर के लिए खतरनाक हो सकते हैं. इन्हें लेने से सरदर्द, फेटीग्यू, कब्ज और मासपेशियों में दर्द की शिकायत हो सकती है.

यह भी पढ़ें : अपनी डायट में शामिल करें ये 7 चीजें, वायरल इंफेक्शन से रहेंगे कोसों दूर

साइड इफेक्ट्स

प्रोटीन पाउडर के इस्तेमाल से मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते है?

  • कुछ प्रोटीन पाउडर में अधिक विषाक्त धातु जैसे सीसा, कैडमियम, आर्सेनिक और पारा आदि होते हैं। इस कारण सिरदर्द, थकान, कब्ज़ और मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है।
  • ‘वे’ प्रोटीन में कुछ हॉर्मोन और बायोएक्टिव पेप्टाइड्स होते हैं जो मुंहासों की आशंका बढ़ाते हैं।
  • कुछ व्हेय प्रोटीन सप्लीमेंट में शुगर की मात्रा ज्यादा होने से इसमें कार्बाेहाइड्रेट मौजूद होते हैं जो फैट घटाने के बजाय बढ़ाते हैं। अत्यधिक सेवन से हृदय सम्बंधी ख़तरा भी जुड़ा हुआ है।
  • पेट सम्बंधी रोग भी हो सकते हैं।
  • प्रोटीन पाउडरों का लंबे समय तक सेवन ओस्टियोपोरोसिस (हडि्डयों में कमज़ोरी) और किडनी सम्बंधी परेशानियां खड़ी हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें : C Reactive Protein Test : सी रिएक्टिव प्रोटीन टेस्ट क्या है?

डोज/ मात्रा

सामान्य खुराक क्या है?

अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ स्पोर्ट्स मेडिसिन और पोषण और आहार विज्ञान अकादमी से द्वारा मानक खुराक:

  • औसत वयस्क को प्रति दिन शरीर के वजन के हिसाब से प्रति किलोग्राम 0.8 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है।
  • रीक्रिएशनल एथलेटिक्स में भाग लेने वाले लोगों को शरीर के प्रत्येक किलोग्राम वजन के लिए 1.1 से 1.4 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है।
  • प्रतियोगी एथलीटों को 1.2 से 1.4 ग्राम की आवश्यकता होती है, और अल्ट्रा-एंड्योरेंस स्पोर्ट्स में शामिल लोगों को 2.0 ग्राम प्रति किलोग्राम वजन की आवश्यकता हो सकती है।
  • मांसपेशियों का निर्माण करने वाले एथलीटों को प्रति दिन 1.5 से 2.0 ग्राम प्रति किलोग्राम की आवश्यकता होती है।

प्रोटीन पाउडर किस रूप में आता है?

  • ये प्रोटीन सप्लीमेंट्स पाउडर, शेक या कैप्सूल के रूप में होते हैं।

हेलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें : Hazelnut : हेजलनट क्या है?

सूत्र

रिव्यू की तारीख जुलाई 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 22, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे