home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

बथुए का तेल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Chenopodium Oil

परिचय|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध
बथुए का तेल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Chenopodium Oil

परिचय

बथुए का तेल (चीनोपोडियम ऑयल) क्या है? (What is Chenopodium Oil?)

बथुआ एक हर्ब है, जो आमरानदेसीई (Amaranthaceae) परिवार से ताल्लुख रखता है। इसका वानस्पातिक नाम चीनोपोडियम एल्बम (Chenopodium album) है। इससे बनाए जाने वाले ऑयल का इस्तेमाल कई दवाओं में किया जाता है। खासतौर पर इसे पेट में होने वाले कीड़ों को मारने के लिए प्रयोग किया जाता है।

और पढ़ेंः एरण्ड (कैस्टर) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Castor Oil

बथुए का तेल का इस्तेमाल किसलिए किया जाता है? (What are the uses of Chenopodium Oil?)

  • बथुए के तेल का इस्तेमाल जोड़ों के दर्द और स्किन संबंधित परेशानी जैसे एग्जिमा के लिए फायदेमंद होता है।
  • बच्चों के पेट में कीडों से निजात पाने में भी यह तेल मदद करता है।
  • मलेरिया, हिस्टेरिया व अन्य नर्व डिजीज के इलाज में भी यह उपयोगी होता है।
  • नर्वसनेस, एंग्जायटी और डिप्रेशन को दूर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

नीचे बताई गई परेशानियों में भी बथुए का तेल उपयोगी होता है:

कैसे काम करता है बथुए का तेल? (How Chenopodium Oil works?)

कई शोध के अनुसार बथुए के तेल में एंटीडायरियल, एंटीइन्फलामेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीरूमेटिक, ड्युरेटिक, लेक्सेटिव और ब्लड को प्युराफाई करने वाले गुण होते हैं। इसमें एंटी-हेलमिनटिक गुण होते हैं जिस वजह से इसका काढ़ा पीने की सलाह दी जाती है। इसके लिए पौधे को पानी में उबालना होता है। बथुए के तेल को मुंह से लेना असुरक्षित माना जाता है। इसलिए इसे खाने में इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसके बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें।

सावधानियां और चेतावनी

बथुए का तेल को उपयोग करने से पहले मुझे क्या बातें मालूम होनी चाहिए? (Before using Chenopodium Oil what should i know about it?)

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए। प्रेग्नेंसी में इसके सेवन से मिसकैरेज होने का खतरा होता है।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको बथुए या किसी पदार्थ या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। बथुए के तेल का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

कितना सुरक्षित है बथुए के तेल का उपयोग? (How safe is Chenopodium Oil to use?)

बथुए के तेल का इस्तेमाल बिना डॉक्टर के परामर्श के ना करें। इसमें एस्केरिडोल (ascaridole) नामक रसायन होते है जो जहरीला होता है।

इन दवाओं के साथ न करें बथुए के तेल का उपयोग:

अगर आप ऐसी कोई दवा ले रहे हैं जो सूरज की रोशनी के प्रति संवेदनशीलता बढ़ाता है तो इसका इस्तेमाल न करें। नीचे बताई दवाओं के साथ बथुए के तेल का उपयोग नहीं करना चाहिए:

आप इसके अलावा भी कोई दवा ले रहे हैं तो इसकी जानकारी आपके डॉक्टर को जरूर होनी चाहिए। कई दवाओं के साथ इस हर्बल को लेने से घातक परिणाम हो सकते हैं। इसलिए किसी तरह की कोई लापरवाही न बरतें।

और पढ़ेंः पाठा (साइक्लिया पेल्टाटा) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Patha plant (Cyclea Peltata)

[mc4wp_form id=”183492″]

साइड इफेक्ट्स

बथुए का तेल से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? (What are the side effects of Chenopodium Oil?)

इससे स्किन गले और मुंह में इरिटेशन हो सकती है। बथुए का तेल मुंह से लेना आमतौर पर असुरक्षित माना जाता है। प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को इसे लेने से परहेज करना चाहिए। वयस्कों और बच्चों को अगर इसे लेना भी है तो वह चिकित्सक की देख रेख में इसे लें। यदि बथुए के तेल को अकेले लिया जाए तो यह काफी टॉक्सिक होता है जिस वजह से इसके घातक परिणाम भी हो सकते हैं। इससे नर्वस सिस्टम खराब, पैरालाइसिस, किडनी इरिटेशन, साफ दिखाई न देना, मसल ट्विचिंग, हमेशा के लिए सुनाई न देना जैसी परेशानियां हो सकती हैं।इसको अत्यधिक मात्रा में लेने से मौत होने का भी खतरा रहता है।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ेंः कमरख के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Carambola (Star Fruit)

डोसेज

बथुए के तेल को लेने की सही खुराक क्या है? (What is the correct dosage of Chenopodium Oil?)

बथुए के तेल की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ेंः पुष्करमूल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Pushkarmool (Inula racemosa)

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है बथुए का तेल? (In what form Chenopodium Oil is available?)

  • बथुए का तेल लिक्विड के रूप में उपलब्ध है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। बथुए के तेल से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट कर बता सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/08/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड