home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

MRSA: मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस क्या है?

जानें मूल बातें|लक्षणों को समझें|इसके कारण भी जान लें|जानें खतरों के बारे में|जांच और इलाज|घरेलू उपचार जीवन शैली में बदलाव
MRSA: मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस क्या है?

जानें मूल बातें

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस (MRSA) क्या है ?

स्टैफिलोकॉकस एक प्रकार का बैक्टीरियल इंफेक्शन है। ये हड्डियों, जोड़ों, हृदय के वॉल्व और फेफड़ों में संक्रमण पैदा कर सकता है। अगर समय सही इलाज न हो पाये तो यह बीमारी जानलेवा भी साबित हो सकती है। MRSA त्वचा के अंदर जाकर छालों को बढ़ावा देता है।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस संक्रमण दो जगहों से फैल सकते हैं:

हॉस्पिटल से (-HA -MRSA – Hospital Acquired Staphylococcus aureus ) और कम्युनिटी से – (CA -MRSA – Community Acquired Staphylococcus Aureus)

ज्यादातर इंफेक्शन लोगों को हॉस्पिटल में फैलता है जैसे नर्सिंग के दौरान या डायलेसिस सेंटर में होता है। इसे हेल्थ केयर मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस कहते हैं। वहीं MRSA इंफेक्शन कम्युनिटी जैसे स्किन टू स्किन कांटेक्ट या फिर अत्यधिक लोगों के संपर्क में रहने से होता है।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस (MRSA ) होना कितना आम है ?

बहुत ज्यादा भीड़ वाली जगहों पर इस संक्रमण (Infection) होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। इसलिए किसी भी ऐसी जगह पर जाते समय बचाव के साधन जरूर अपनाएं, जिससे संक्रमण न हो। अस्पताल में भी जाने के दौरान हाइजीन का ख्याल रखें। किसी भी और जानकारी के लिए डॉक्टर से जरूर मिलें।

और पढ़ें : Hepatitis B : हेपेटाइटिस बी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

लक्षणों को समझें

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस के क्या लक्षण हो सकते हैं? (Symptoms of MRSA )

आमतौर पर आपकी त्वचा (Skin) पर हल्के लाल चिट्टे या फिर छाले भी हो सकते हैं। इसके अलावा निम्नलिखित लक्षण दिखना भी संभव है :

  • सीने में दर्द (Chest pain) महसूस होना
  • सांस उखड़ना
  • थकान होना
  • बुखार होना या ठंड लगना
  • सिरदर्द (Headache) होना
  • रैश होना
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • कफ (Cough) की परेशानी होना
  • अत्यधिक ठंड लगना
  • थकान महसूस होना

इन लक्षणों के अलावा और किसी लक्षण या फिर संक्रमण के दिखने पर अपने डॉक्टर से जरूर मिलें।

डॉक्टर से कब मिलें ?

अगर आपको संक्रमण का कोई भी लक्षण या संकेत दिखाई देता है तो अपने डॉक्टर से जरूर मिलें। यह भी ध्यान रखें की शरीर में किसी भी तरह के हो रहे बदलाव जिससे परेशानी हो उसे नजरअंदाज न करें और जल्द से जल्द हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह लें।

और पढ़ें : Bipolar Disorder :बाईपोलर डिसऑर्डर क्या है?जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

अपर रिस्पायरेटरी सिंड्रोम से जुड़ी परेशानी को नीचे दिए इस 3 D मॉडल से आसानी से समझा जा सकता है।

इसके कारण भी जान लें

संक्रमण फैलाने वाले ऑरियस बैक्टेरिया के ऊपर बार- बार मेथिसिलिन प्रयोग करने की वजह से ये बैक्टेरिया मेथिसिलिन रेसिस्टेंट हो जाता है। ज्यादातर ये बीमारी किसी संक्रमित त्वचा के संपर्क में आने से हो सकती है। ऐसे लोग जिनका इम्यून सिस्टम किसी सर्जरी, कैंसर (Cancer) या फिर डायलिसिस की वजह से बहुत अधिक कमजोर हो गया है उनमें भी ये संक्रमण (Infection) होने की सम्भावना बहुत अधिक रहती है।

और पढ़ें : Crohn’s Disease : क्रोहन रोग क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

जानें खतरों के बारे में

संक्रमण फैलाने वाले ऑरियस बैक्टेरिया के ऊपर बार- बार मेथिसिलिन प्रयोग करने की वजह से ये बैक्टेरिया मेथिसिलिन रेसिस्टेंट हो जाता है। ज्यादातर ये बीमारी किसी संक्रमित त्वचा के संपर्क में आने से हो सकती है। ऐसे लोग जिनका इम्यून सिस्टम किसी सर्जरी, कैंसर या फिर डायलिसिस की वजह से बहुत अधिक कमजोर हो गया है उनमें भी ये संक्रमण होने की सम्भावना बहुत अधिक रहती है।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस (MRSA) के खतरे को क्या बढ़ा देता है ?

खतरों के बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे कि :

  • अस्पताल में भर्ती होना या फिर अस्पताल में आते-जाते रहना।
  • अगर आपको चोट लगती है या फिर किसी तरह का कट लगता है तो भी MRSA संक्रमण हो सकता है।
  • गंदगी में या फिर बहुत भीड़ वाली जगह पर रहना।
  • पुरुषों के आपस में सेक्स (Sex) करने पर या फिर समलैंगिक सम्बन्ध बनाने से भी MRSA खतरा हो सकता है।
  • वयस्कों और कमजोर इम्यून सिस्टम (Immune System) वाले लोगों में इसका खतरा ज्यादा होता है।
  • शरीर की त्वचा का किसी कारण कटना। ऐसी स्थिति में भी इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।
  • इंट्रावेनस ड्रग्स (Drugs) के सेवन से इसका खतरा बढ़ सकता है।

दिए गए खतरों के अलावा भी कई खतरे हो सकते हैं, किसी भी सम्बंधित परेशानी का संकेत दिखने पर डॉक्टर से जरूर मिलें।

और पढ़ें : Hernia : हर्निया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जांच और इलाज

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा परामर्श का विकल्प नहीं है। और अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर मिलें।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस की जांच कैसे की जा सकती है? (Diagnosis of MRSA)

लेबोरेटरी में खून (Blood), पस, यूरिन (Urine) और त्वचा के सैंपल में MRSA बैक्टीरिया का टेस्ट किया जाता है। अगर ये टेस्ट पॉजिटिव आता है तो आपके संक्रमण की पुष्टि की जा सकती है।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस का इलाज कैसे किया जा सकता है? (Treatment of MRSA)

कुछ संक्रमणों में एंटीबायोटिक की जरूरत नहीं पड़ेगी लेकिन एब्सेस्सेस (Abscesses) के इलाज के लिए इन्सिजन और ड्रेनेज प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है। परंपरागत दवाओं में ट्राइमेथोप्रिम (Trimethoprim/Sulfamethoxazole) दी जाती है और नई दवाओं में लीनेजोलिड (Linezolid), डाईप्टोमैसीन (Daptomycin), डालफ्रोप्रिस्टीन (Dalfopristin ) और तिलवान्सिन (Telavancin) आम हैं। HA -MRSA से पीड़ित मरीजों को आम मरीजों से अलग रखना चाहिए जिससे की संक्रमण ज्यादा न फैले।

डॉक्टर या हॉस्पिटल के कर्मचारियों को ध्यान रखना चाहिए कि संक्रमित मरीजों को छूने के बाद हाथ जरूर धोए।

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस (MRSA) के क्या नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं?

MRSA इंफेक्शन का कई सारे एंटीबायोटिक्स पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ऐसी स्थिति में निम्नलिखित हेल्थ से जुड़ी परेशानी हो सकती है। जैसे-

  • शरीर में ब्लड फ्लो (ब्लडस्ट्रीम ) ठीक तरह से नहीं होगा।
  • लंग्स की समस्या
  • हृदय (Heart problem) से जुड़ी परेशानी
  • हड्डियों (Bone) या जोड़ों से जुड़ी परेशानी

इन परेशानियों के साथ-साथ अन्य परेशानी भी हो सकती है। इसलिए MRSA इंफेक्शन होने पर विशेष ध्यान रखें।

घरेलू उपचार जीवन शैली में बदलाव

मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस जीवनशैली में इन बदलावों और घरेलू नुस्खों की मदद से नियंत्रित किया जा सकता है :

  • अपने डॉक्टर की बात मानें और समय- समय पर हाथ धोएं जिससे कि संक्रमण न फैले।
  • अपने बिस्तर की चादर और सोने की जगह को साफ रखें।
  • घाव वाली जगह की सफाई रोजाना करें और उसे साफ रखें। इससे इंफेक्शन फैलेगा नहीं। इंफेक्शन (Infection) वाले जगहों को कवर कर के रहें या बैंडेज कर के रखें।
  • पेशेंट अपनी पर्सनल चीजें जैसे टॉवल, रेजर, कपड़े और अन्य सामान्य जिसका प्रयोग करते हैं वो किसी अन्य से शेयर न करें।
  • अगर आप एथलीट हैं या ग्रुप में गेम खेलते हैं, तो इसके बाद स्नान जरूर करें।
  • स्ट्रीट फूड और जंक फूड (Junk food) के सेवन से बचें।
  • अगर किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ रहें हैं, तो अपना विशेष ख्याल रखें।

अगर आप मेथिसिलिन रेसिस्टेंट-स्टैफिलोकॉकस ऑरियस से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/04/2021 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड