Oranges for Baby: जानिए शिशुओं के लिए संतरे के फायदे!

    Oranges for Baby: जानिए शिशुओं के लिए संतरे के फायदे!

    शिशु के जन्म के साथ ही पेरेंट्स हर तरह से देखभाल करते हैं, लेकिन 5 महीने तक के शिशु को संपूर्ण पोषण के लिए सिर्फ मां के दूध या फॉर्मूला मिल्क पर ही निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में पेरेंट्स के लिए तो आसान हो जाता है, लेकिन नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ (National Institutes of Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार 6 महीने के शिशु को ब्रेस्ट मिल्क के साथ-साथ अन्य खाद्य पदार्थों की भी जरूरत होती है। इसलिए शिशु के 6 माह के होने के साथ ही पेरेंट्स न्यूट्रिशन के लिए अलग-अलग ऑप्शन ढूंढ़ने लगते हैं। इसलिए आज इस आर्टिकल में शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby) का ऑप्शन हम आपके साथ शेयर करने जा रहें हैं।

    • शिशुओं के लिए संतरे का सेवन कब से करवाया जा सकता है?
    • शिशुओं के लिए संतरे को कैसे सर्व करें?
    • 6 से 12 महीने के शिशुओं को संतरे का सेवन कैसे करवाएं या कैसे सर्व करें?
    • बेबी और टॉडलर के लिए संतरे के फायदे क्या हैं?
    • क्या बच्चों को संतरे के सेवन से नुकसान भी हो सकता है?
    • शिशु के लिए संतरे का सेवन करवाने से पहले किन-किन बातों को ध्यान रखना जरूरी है?

    चलिए अब शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby) के सेवन से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : 5-Month-Old & Sleep Schedule: 5 महीने के शिशु का स्लीप शेड्यूल कैसा होना चाहिए?

    शिशुओं के लिए संतरे का सेवन कब से करवाया जा सकता है?

    शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby)

    सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Center for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार शिशु के फिजिकल और मेंटल ग्रोथ के लिए विटामिन (Vitamin) और मिनरल्स (Minerals) का सेवन करवाना जरूरी है। ऐसे में उन्हें रंग-बिरंगे सब्जियों और फलों का सेवन करवाया जा सकता है। रंग-बिरंगे फलों में शामिल है संतरा और रिसर्च के अनुसार शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby) बेहद लाभकारी हैं। दरअसल संतरे में मौजूद विटामिन सी आयरन को एब्सॉर्ब कर अपनी खास भूमिका अदा करता है। इसलिए 7 से 8 महीने के शिशु को संतरे का सेवन करवाया जा सकता है।

    शिशुओं के लिए संतरे को कैसे सर्व करें? (How to serve Oranges for Baby)

    संतरे में रेसे और बीज होते हैं, जो बच्चे के गले में फस सकते हैं। इसलिए शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby) को सर्व करने से पहले इसे अच्छी तरह छील लें। अब इसमें से बीच, रेसे और हार्ड एरिया को रिमूव करें। इनसबके बाद शिशुओं के लिए संतरे के छोटे-छोटे टुकड़े करें या बिल्कुल मैश कर दें और फिर बच्चे को खिलाएं।

    और पढ़ें : बच्चों में टाइप 1 डायबिटीज का ट्रीटमेंट बन सकता है हायपोग्लाइसेमिया का कारण, ऐसे करें इस कंडिशन को मैनेज

    6 से 12 महीने के शिशुओं को संतरे का सेवन कैसे करवाएं या कैसे सर्व करें? (Orange serving tips for 6 to 12 months of Baby)

    6 से 12 महीने के शिशुओं को संतरे का सेवन आसानी से करवाया जा सकता है। इसके लिए सिर्फ संतरे को ठीक से काटने की जरूरत पड़ती है। इसलिए अपने 7 महीने के शिशु को संतरा सर्व करने से पहले उसे अच्छी तरह छील लें, बीच और रेसे को निकाल दें और मीडियम साइज में काट कर उन्हें खिलाएं। वहीं 9 महीने के बच्चों के संतरे के छोटे-छोटे टुकड़ों को खिलाया जा सकता है। अगर आपका शिशु 12 माह के करीब है या इससे बड़ा है, तो आप संतरे को इस तरह काटें कि बच्चा फॉक की मदद से खुद भी धीरे-धीरे खा सके।

    बेबी और टॉडलर के लिए संतरे के फायदे क्या हैं? (Benefits of Oranges for kids)

    शिशुओं के लिए संतरे (Oranges for Baby)

    बच्चों या शिशुओं के लिए संतरे के फायदे निम्नलिखित हैं। जैसे:-

    इम्यूनिटी होती है स्ट्रॉन्ग- नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बड़ों की तुलना में बच्चों की इम्यून पावर ज्यादा कमजोर होती है। ऐसे में शिशु की इम्यूनिटी को बढ़ाना बेहद जरूरी होता है। इसलिए शिशु के लिए संतरे को फायदेमंद बताया गया है। संतरे के जूस में मौजूद कैरोटीनॉयड (Carotenoids) और फ्लेवोनोइड्स (Flavonoids) शिशु की इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग बनाने में सहायता प्रदान करते हैं।

    ​​पेट के लिए है फायदेमंद- नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ (National Institutes of Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बच्चों में कांस्टिपेशन समस्या सामान्य है। इसलिए इस परेशानी को दूर करने के लिए या शिशु को कॉन्स्टिपेशन से बचाने के लिए संतरे का सेवन करवाया जा सकता है। रिसर्च रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि संतरे के सेवन से भूख भी ज्यादा लगती है।

    एनीमिया की समस्या होती है दूर- बच्चों में आयरन की कमी की समस्या कोई नई बात नहीं है, लेकिन शिशु को आयरन की कमी से बचाया जा सकता है। शरीर को आवश्यक मात्रा में आयरन मिल सके इसलिए उन्हें संतरे का सेवन करवाया जा सकता है, जिससे एनीमिया की समस्या शिशु में नहीं हो सकती है।

    कुपोषण की समस्या रहती है दूर- शिशु को अगर ठोस आहार की पूर्ति ना हो, तो कुपोषण की समस्या हो सकती है। इसलिए बच्चों को संतरे का सेवन करवाना चाहिए। संतरे में विटामिन ए, विटामिन सी, फोलेट, पोटैशियम, कैल्शियम एवं फाइबर की पूर्ति होती है।

    डिहाइड्रेशन की समस्या होती है दूर- शिशुओं में पानी की कमी ना हो इसलिए पेरेंट्स को इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। वहीं शरीर में पानी की कमी बच्चों में उल्टी और दस्त का भी कारण बन जाते हैं। अब ऐसी किसी भी समस्या से बचने के लिए शिशु को संतरे का जूस या संतरा खिलाया जा सकता है।

    ये हैं संतरे के सेवन से होने वाले फायदे, लेकिन ऐसा नहीं है कि संतरे के सेवन से नुकसान ना हो। इसलिए संतरे से होने वाले नुकसान को समझने की कोशिश करते हैं।

    और पढ़ें : Tummy Time: आप बेबी का टमी टाइम इग्नोर तो नहीं कर रहीं? जानिए क्यों है जरूरी टमी टाइम!

    क्या बच्चों को संतरे के सेवन से नुकसान भी हो सकता है? (Side effects of Oranges for kids)

    यूएनसी सेंटर फॉर फंक्शनल जीआई एंड मोटिलिटी डिसऑर्डर (UNC Center for Functional GI & Motility Disorders) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार संतरे के सेवन से निम्नलिखित परेशानी हो सकती है। जैसे:

    • संतरे में एसिडिक प्रॉपर्टीज मौजूद होने की वजह से अगर इसका सेवन जरूरत से ज्यादा किया जाए तो सीने में जलन की समस्या हो सकती है।
    • शिशुओं का पेट जल्द भर जाता है। इसलिए संतुलित मात्रा में संतरे या पदार्थों का सेवन करवाएं।
    • संतरे में विटामिन ए की मौजूदगी शिशु की सेहत के लिए लाभकारी होने के साथ-साथ अगर इसकी मात्रा ज्यादा हो जाए तो शिशु को मतली या सिरदर्द जैसी तकलीफें हो सकती है।
    • संतरे में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है और अगर शरीर में फाइबर की मात्रा जरूरत से ज्यादा हो जाए, तो पेट में ऐंठन जैसी तकलीफ हो सकती है।

    शिशु को संतरे से नुकसान ना हो इसलिए संतुलित मात्रा में सेवन करवाएं।

    और पढ़ें : Babies Sleep: शिशु की रात की नींद टूटने के कारण और रात भर शिशु सोना कब कर सकता है शुरू?

    शिशु के लिए संतरे का सेवन करवाने से पहले किन-किन बातों को ध्यान रखना जरूरी है? (Orange serving tips)

    शिशुओं के लिए संतरे (Oranges For Baby) का सेवन अगर आप करवा रहें हैं, तो निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

    • हमेशा अच्छी तरह से पका हुआ संतरा ही खाने के लिए दें।
    • संतरे के बीच और रेशे को अच्छी तरह से अलग कर दें।
    • शिशु को संतरे के छोटे-छोटे टुकड़े ही खिलाएं।
    • शिशु को संतरा खिलाने से पहले खुद एकबार खाकर देख लें।
    • संतुलित मात्रा में संतरे का सेवन करवाएं।

    इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर शिशु को संतरे का सेवन करवाया जा सकता है।

    अगर शिशु को संतरे के सेवन से नुकसान पहुंचता है, तो उन्हें इसका सेवन ना करवाएं और डॉक्टर से सलाह लें।

    बच्चों के विकास के साथ-साथ मां को अपना ख्याल रखना भी जरूरी है। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर एक्सपर्ट से जानें न्यू मॉम अपना ध्यान कैसे रख सकती हैं और यह उनके लिए क्यों जरूरी है।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    BURNING ISSUES: REFLUX DISEASE AND YOU/https://www.med.unc.edu/ibs/wp-content/uploads/sites/450/2017/10/Reflux-Disease-and-You.pdf/Accessed on 24/02/2022

    Feeding patterns and diet – children 6 months to 2 years/https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000713.htm/Accessed on 24/02/2022

    Good Nutrition Starts Early/https://www.cdc.gov/nccdphp/dnpao/features/nutrition-month/index.html/Accessed on 24/02/2022

    SESSION 3Complementary feeding/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK148957/Accessed on 24/02/2022

    Citrus Allergy from Pollen to Clinical Symptoms/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3537725/Accessed on 24/02/2022

    Fruit/https://www.eatforhealth.gov.au/food-essentials/five-food-groups/fruit/Accessed on 24/02/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/02/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड