ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला में किन प्रोडक्ट का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला में किन प्रोडक्ट का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    बच्चों के पोषण का एकमात्र साधन दूध होता है। दूध में वह सभी पोषक तत्व होते हैं, जो एक बच्चे के लिए जरूरी होते हैं। जन्म के बाद बच्चे के लिए मां का दूध सबसे जरूरी माना जाता है। मां के दूध का कोई भी विकल्प नहीं होता है। बच्चों को अगर मां का दूध नहीं मिल पाता है, तो विकल्प के तौर पर ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) अपनाया जाता है। फॉर्मूला मिल्क में भी जरूरी पोषक तत्व होते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर ही इसे दिया जाना चाहिए है। अगर बच्चे को मां का दूध मिल रहा है, तो फार्मूला मिल्क देने की जरूरत नहीं होती है। अगर आप बच्चे को कभी भी ऑर्गेनिक फार्मूला मिल्क देने जा रहे हैं, तो यह जांच करनी जरूरी है कि आप बच्चे को किस प्रकार का ऑर्गेनिक मिल्क दे रहे हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) के बारे में जानकारी देंगे और साथ ही यह भी बताएंगे कि आप कौन से ब्रांड को अपना सकते हैं।

    और पढ़ें: बेबी पाउडर के साइड इफेक्ट्स: इंफेक्शन, कैंसर या सांस की परेशानी दे सकती है दस्तक!

    ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) क्या है?

    ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas)

    आपने फॉर्मूला मिल्क के बारे में जरूर सुना होगा लेकिन ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) को लेकर जरूर आप कंफ्यूजन में होंगे। अगर आप फॉर्मूला मिल्क के बारे में समझना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले ऑर्गेनिक का मतलब समझना होगा। जी हां! जिस तरह से सब्जियां ऑर्गेनिक होती हैं, जिनमें किसी भी प्रकार के पेस्टीसाइड या फिर अन्य केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। ठीक उसी प्रकार से ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) भी होता है। ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) जानवरों से मिलता है।

    इसमें किसी भी प्रकार के पेस्ट्रीसाइड या फिर ग्रोथ हॉर्मोन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यह बच्चों के लिए स्वास्थ्यवर्धक होते हैं लेकिन इन्हें लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) में अधिक मात्रा में शुगर होती है। इस कारण से दांत खराब होने का खतरा भी बढ़ जाता है। अगर आप बच्चे को ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) देना चाहती हैं, तो पहले इस बारे में डॉक्टर को जानकारी दें। साथ ही ये भी पूछें कि कहीं किसी प्रकार की कोई एलर्जी तो नहीं हो सकती है। अगर आपको फार्मूला मिल्क के इंग्रिडिएंट को लेकर कोई कंफ्यूजन है, तो इस बारे में भी डॉक्टर से परामर्श करें।

    और पढ़ें: शिशु के लिए बेबी सोप कहीं ना बन जाए एलर्जी का कारण!

    ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) विभिन्न प्रकार के होते हैं। आपको इनके प्रकारों के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है। ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला (Organic baby formulas) मिल्क बेस्ड होते हैं, जो गाय के दूध से बनाएं जाते हैं। जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि बेबी के लिए मां का दूध (mother’s milk) ही सर्वोत्तम होता है। उसका कोई भी बेहतर विकल्प नहीं होता है। वहीं सोया मिल्क सोया प्रोटीन (Soy protein) से मिलकर बना होता है। जो बच्चे वीगन होते हैं, उनके लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। जानिए ऑर्गेनिक फॉर्मुला के साथ ही उनकी कुछ विशेषताओं के बारे में।

    • सिंथेटिक और कैमिकल या प्रिजर्वेटिव्स नहीं
    • आर्टिफिशियल कलर का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।
    • पेस्टीसाइड का इस्तेमाल नहीं
    • ग्रोथ हॉर्मोन का इस्तेमाल नहीं
    • कोई टॉक्सिक पदार्थ नहीं

    और पढ़ें: मैंने पहली प्रेग्नेंसी के लिए इस तरह की थी प्लानिंग, नहीं आई कोई परेशानी, बेबी भी हुई हेल्दी

    हिप ऑर्गेनिक कॉम्बायोटिक 1 फस्ट इंफेंट मिल्क (Hipp Organic Combiotic 1 First Infant Milk)

    हिप ऑर्गेनिक कॉम्बायोटिक 1 फस्ट इंफेंट मिल्क को ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। दूध का इस्तेमाल करने के बाद बच्चों के दांत को अच्छी तरह से साफ करें। दूध को कैसे तैयार किया जाना है, आप लेबल में पढ़ सकते हैं। अगर आपको फिर भी कोई कंफ्यूजन हो, तो इस बारे में डॉक्टर से जानकारी जरूर लें।

    बर्ट्स बीस बेबी ऑर्गेनिक बेबी फॉर्मुला (Burt’s Bees Baby Organic baby Formula)

    आप ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) के रूप में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इस मिल्क में ऑर्गेनिक लैक्टोज, ऑर्गेनिक नॉनफैट दूध, ऑर्गेनिक पाम ऑयल या पाम ओलिन, ऑर्गेनिक सोया ऑयल, ऑर्गेनिक नारियल तेल (Coconut oil), ऑर्गेनिक हाई ओलिक आदि मौजूद होता है। इस मिल्क में आयरन (Iron) के साथ ही विटामिन डी, विटामिन के, कैल्शियम आदि भी होता है। ये दूध ग्लूटेन फ्री होता है। इसे जरूरत पड़ने पर ब्रेस्ट मिल्क अल्टरनेटिव के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे एक साल के बच्चे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

    और पढ़ें: बेबी के लिए हेल्दी ड्रिंक्स का चुनाव करने में न हो कंफ्यूज, शामिल करें इन्हें

    अर्थ बेस्ट ऑर्गेनिक डेयरी इंफेंट फॉर्मुला (Earth’s Best Organic dairy infant Formula)

    इस ऑर्गेनिक फॉर्मुला मिल्क का इस्तेमाल करना आसान है। ये पाचने में आसान है और साथ ही बेबी के पहले 12 महीने के लिए पोषण से भरपूर होता है। इसमें किसी भी तरह से आर्टिफिशियल हॉर्मोन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें। एक बात का ध्यान रखें कि ऑर्गेनिक मिल्क में ऐसा कोई इंग्रीडिएंट न हो, जिससे बच्चे को एलर्जी की समस्या हो।

    और पढ़ें: बेबी एलर्जी: इन्हें सामान्य सर्दी-जुकाम समझने की गलती न करें!

    सिमिलेक ऑर्गेनिक इंफेंट फॉर्मुला (Similac Organic Infant Formula)

    इस ऑर्गेनिक फॉर्मुला मिल्क में आर्टिफिशियल इंग्रीडिएंट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। ऑर्गेनिक फॉर्मुला मिल्क में विटामिन ई (Vitamin E), कैल्शियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। दूध में क्या पोषक तत्व पाए जाते हैं, इसकी जानकारी के लिए लेबल से जानकारी जरूर लें। अगर दूध पिलाने के बाद बच्चे को किसी प्रकार की समस्या महसूस हो, तो डॉक्टर से जानकारी जरूर लें।

    हमने आपको पहले ही बताया था कि बच्चों के लिए मां का दूध ही सर्वोत्तम होता है, इसलिए आपको जन्म के बाद बच्चों को मां का दूध ही देना चाहिए। अगर फिर भी डॉक्टर किसी कारण से ऑर्गेनिक फॉर्मूला मिल्क लेने की सलाह देते हैं, तो आप डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही ब्रांड का चयन कर सकते हैं। अगर बच्चे को किसी पदार्थ से एलर्जी है, तो आप इस बारे में डॉक्टर को जानकारी जरूर दें। एक बार ऑर्गेनिक फार्मूला मिल्क लेने के बाद लेबल चेक करें और साथ ही इंग्रीडिएंट के बारे में भी जानकारी दें। अगर फार्मूला मिल्क में बच्चों को एलर्जी की समस्या पैदा करने वाला कोई भी इनग्रेडिएंट है, तो उसे ना लें और डॉक्टर को भी इस बारे में बताएं

    इस आर्टिकल में हमने आपको ऑर्गेनिक बेबी फार्मूला (Organic baby formulas) के बारे में बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Sayali Chaudhari

    फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित · अपडेटेड 30/06/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement