home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

कैल्शियम की कमी के कारण हो सकती है ये समस्याएं, इन सप्लिमेंट्स का किया जा सकता है इस्तेमाल!

कैल्शियम की कमी के कारण हो सकती है ये समस्याएं, इन सप्लिमेंट्स का किया जा सकता है इस्तेमाल!

हायपोकैल्शिमिया एक प्रकार की कंडीशन है, जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा कम होने पर उत्पन्न होती है। जब ब्लड के लिक्विड पार्ट में कैल्शियम का लेवल एवरेज से बहुत कम हो जाता है, तो हायपोकैल्शिमिया (Hypocalcemia) की संभावना बढ़ जाती है। हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) समस्या से बचाने में मदद करते हैं। शरीर में कैल्शियम न सिर्फ बोंस की स्ट्रेंथ के लिए जरूरी होता है बल्कि ये नर्वस सिस्टम के प्रॉपर काम करने के लिए भी बहुत जरूरी होता है। ब्रेन से पूरे शरीर में मैसेज पहुंचाने की लिए नर्व को कैल्श्यिम की आवश्यकता होती है। वहीं मसल्स के मूवमेंट में भी कैल्शियम अहम योगदान देता है। जब शरीर में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम का सर्कुलेशन नहीं हो पाता है, तो बहुत सी शारीरिक परेशानियां शुरू हो जाती है। कुछ केसेज में हायपोकैल्शिमिया (Hypocalcemia) पेशेंट में मैग्नीशियम और विटामिन डी की कमी भी हो जाती है। बच्चों को ये बीमारी न हो, इसके लिए जरूरी है कि उन्हें पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम दिया जाए। अगर खाने से पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम नहीं मिल पाता है, तो डॉक्टर हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) लेने की सलाह देते हैं। जानिए हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) क्या भूमिका होती है।

और पढ़ें: शिशु के लिए बहुत जरूरी होता है विटामिन डी, कमी होने पर हो सकती हैं ये समस्याएं!

हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia)

हायपोकैल्शिमिया के कारण जरूरी नहीं है कि बच्चों में कुछ लक्षण नजर आएं। कुछ बच्चों के शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाने के कारण मसल स्टिफनेस (Muscle stiffness), मसल स्पैम्स (Muscle spasms), मूड में बदलाव, मेमोरी संबंधी समस्या, हायपोटेंशन, थकान का एहसास, हार्ट संबंधी समस्या, स्किन ड्राय होना, नाखून टूटना आदि लक्षण दिखते हैं। जब शरीर में पैराथाएरॉएड हॉर्मोन (Parathyroid hormone) एवरेज से कम मात्रा में सिक्रीट होता है, तो हायपोकैल्शिमिया की संभावना बढ़ जाती है।

हेड या नेक का कैंसर या फिर थायरॉइड ग्लैंड (thyroid gland) के हटाये जाने पर ये समस्या हो सकती है। डायट में कम मात्रा में विटामिन डी या फिर कैल्शियम भी हायपोकैल्शिमिया का कारण बनते हैं। स्ट्रेस, चिंता, किडनी डिजीज (Kidney disease), फॉस्फेट या कैल्शियम इंफ्यूजन भी इस बीमारी की एक वजह हो सकते हैं। अगर बच्चे में दिए गए लक्षण पाएं जाते हैं, तो डॉक्टर हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) लेने की सलाह दे सकते हैं।

और पढ़ें: इम्‍यूनिटी पावर स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए शिशु के लिए विटामिन सी है जरूरी

हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट में ये किए जा सकते हैं प्रयोग

बच्चों या फिर वयस्कों में बीमारी चाहे किसी भी तरह की हो, बिना डॉक्टर की सलाह दवाईयों का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आपको बच्चे में हायपोकैल्शिमिया के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं, तो आपको तुंरत डॉक्टर से जांच करानी चाहिए। डॉक्टर कुछ सप्लिमेंट्स लेने की सलाह दे सकते हैं। यहां हम आपको हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

हेल्थविट कैल्विटान (HealthVit Calvitan)

हेल्थविट कैल्विटान बच्चों में कैल्शियम की कमी को पूरा करने वाला सप्लिमेंट है। इनमें कैल्शियम के साथ ही विटामिन डी3 पर्याप्त मात्रा में उपस्थित होता है, जो कैल्शियम के अवशोषण को आसान बनाने का काम करता है। ग्रोइंग एज के बच्चों के लिए, कैल्शियम की कमी में यानी हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) के रूप में डॉक्टर हेल्थविट कैल्विटान (HealthVit Calvitan) लेने की सलाह दे ,सकते हैं। डॉक्टर बच्चे के लिए दिन में एक से दो बार सप्लिमेंट को लेने की सलाह दे सकते हैं। बिना सलाह के दवा का सेवन नहीं करना चाहिए। 60 टैबलेट की एक बॉटल की कीमत 145 रु है।

नोट: बिना डॉक्टर की सलाह के बच्चों को कैल्शियम सप्लिमेंट्स (Calcium supplements) या विटामिन डी सप्लिमेंट्स (Vitamin D supplements) न दें। डॉक्टर ब्लड टेस्ट या जांच के बाद ही आपको ट्रीटमेंट के बारे में जानकारी देंगे और सप्लिमेंट्स लेने की सलाह देंगे। निर्देशों का पालन करें।

न्यूट्रीबीयर्स गमीज (NutriBears)

शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर डॉक्टर कैल्शियम और विटामिन डी युक्त गमीज खाने की सलाह भी दे सकते हैं। हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) के रूप में न्यूट्रीबीयर्स गमीज बच्चों के लिए बेहतर विकल्प है। बच्चों को गमीज खाना पसंद होता है। ये गमीज शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने का काम करती है। इसकी एक बॉटल की कीमत 299 रु है। आपको इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लेनी चाहिए। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता है।

और पढ़ें: डायबिटीज पेशेंट हैं, तो विटामिन सी सप्लिमेंट्स के सेवन से इम्यूनिटी को बना सकते हैं स्ट्रॉन्ग!

कैल्सिमैक्स सस्पेंशन ( CALCIMAX D SUSPENSION)

कैल्सिमैक्स सस्पेंशन में कैल्शियम के साथ ही मैग्नीशियम, जिंक और विटामिन डी3 होता है। बोन रिमॉडलिंग में ये सभी महत्वपूर्ण रोल अदा करते हैं। बच्चों को प्रतिदिन एक चम्मच दवा का सेवन करने की सलाह दी जाती है। ये सस्पेंशन शरीर में कैल्शियम और फॉस्फोरस के अवशोषण को बढ़ाने का काम करता है और हड्डियों को मजबूत बनाता है। 200ml की एक बॉटल की कीमत 145 रु है। आप इसे आसानी से ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। दवा के डोज के बारे में डॉक्टर से जानकारी जरूर प्राप्त करें।

और पढ़ें: विटामिन सी टैबलेट्स: ग्लोइंग और हेल्दी स्किन के सपने को कर सकती हैं पूरा

बचाना है बच्चे को हायपोकैल्शिमिया से, तो इन बातों का रखें ध्यान

यहां हमने आपको बच्चों के लिए कैल्शियम के कुछ ब्रांड्स के बारे में जानकारी दी है। जरूरी नहीं है कि डॉक्टर आपको ये ब्रांड सजेस्ट करें। डॉक्टर आपको पर्चे में जो दवाईयां लिखकर दें, बच्चों को उसी का सेवन कराएं। बिना डॉक्टर की सलाह के बच्चों को कोई भी दवा न दें। आप बच्चों को अगर हायपोकैल्शिमिया से बचाना चाहते हैं, तो आप कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

  • बच्चों के शरीर में कैल्शियम की कमी न हो, इसके लिए आपको उन्हें रोजाना कैल्शियम रिच फूड्स देने चाहिए। आपको बच्चों को दूध, दही, पनीर के साथ ही फ्रूट्स और वेजीबल्स भी देने चाहिए। इससे उन्हें मैग्नीशियम (Magnesium) की भी पर्याप्त मात्रा मिल जाएगी।
  • कैल्शिम के अवशोषण के लिए विटामिन डी भी जरूरी होता है, जो धूप से मिल सकता है। आप बच्चे को सुबह कुछ देर हल्की धूप में बिठाएं।
  • सप्लिमेंट्स को अंतिम विकल्प के रूप में अपनाया जाता है। अगर बच्चे को खाने से पर्याप्त मात्रा में मिनरल मिल रहे हैं, तो उसे सप्लिमेंट्स की जरूरत नहीं होती है। आपको इस बारे में डॉक्टर से जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

और पढ़ें: बच्चों के लिए विटामिन्स की जरूरत और सप्लीमेंटस के बारे में जानिए जरूरी बातें

इस आर्टिकल के माध्यम से आपको हायपोकैल्शिमिया के लिए कैल्शियम सप्लिमेंट (Calcium supplement for hypocalcemia) के बारे में जानकारी मिल गई होगी। हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड