home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Malnutrition: कुपोषण क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|लक्षण |कारण|उपचार|रोकथाम
Malnutrition: कुपोषण क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

कुपोषण (Malnutrition) क्या है?

कुपोषण एक स्वास्थ्य स्थिति है, जो पोषक तत्व की कमी के कारण होती है। स्वस्थ रहने के लिए भोजन हमें ऊर्जा और पोषक तत्व प्रदान करता है। जब आवश्यक मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिलते तो शरीर की ठीक तरह से ग्रोथ नहीं हो पाती। इसके साथ ही वजन भी बहुत कम हो जाता है। इसके कारण कई गंभीर परेशानियां जैसे डायबिटीज (Diabetes), हृदय रोग (Heart disease) आदि होने की संभावना रहती है।

गलत खानपान की आदत, खाने में जरूरी पोषक तत्वों के न होने के कारण भी यह समस्या होती है। दुनियाभर में लोग इस परेशानी से जूझ रहे हैं। कई जगहों पर वहां के पर्यावरण और लाइफस्टाइल के कारण इसके होने की संभावना अधिक होती है।

कुपोषण से ग्रसित लोगों में विटामिन (Vitamin), मिनिरल्स (Minerals) और दूसरे पदार्थों की कमी होती है जो शरीर के सही तरह से काम करने के लिए बेहद जरूरी होते हैं। कुपोषण दो तरह के होते हैं। कुपोषण के कारण (Cause of Malnutrition) निम्नलिखित परेशानियां हो सकती हैं:

  • छोटी और दीर्घकालिक स्वास्थ्य समस्याएं
  • संक्रमण (Infection) का अधिक खतरा
  • काम पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई
  • घाव और बीमारियों से धीमी गति में रिकवर होना

और पढ़ें: डायबिटीज के कारण इन अंगों में हो सकता है त्वचा संक्रमण

लक्षण

कुपोषण के लक्षण क्या होते हैं? (Symptoms of Malnutrition)

कुपोषण के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • भूख न लगना (lack of appetite)
  • वजन कम होना (Weight loss)
  • सांस लेने में कठिनाई (Difficulty in breathing)
  • धंसी हुई आंखें (Eye) दिखाई देना
  • शरीर का कम तापमान होना
  • ध्यान न लगा पाना या ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होना
  • कमजोर प्रतिरक्षा (Weak Immunity)
  • पेट में सूजन होना (swollen stomach)
  • डिप्रेशन (Depression) की समस्या
  • बालों और स्किन का ड्राय होना (Dry hair and skin)
  • ठंड लगना
  • सेंसिटिव त्वचा (Sensitive skin)
  • घाव भरने में अधिक समय लगना
  • मांसपेशियों में कमजोरी (Muscle Weakness)
  • थकान (Tiredness) महसूस होना
  • सर्जरी के बाद जटिलताओं का जोखिम होना
  • चिड़चिड़ापन (Irritability)
  • कई बार इससे हार्ट फेल (Heart failure) भी हो सकता है

बच्चों में कुपोषण के निम्नलिखित लक्षण नजर आ सकते हैं:

  • विकास की कमी (Lack of growth)
  • शरीर का कम वजन (low body weight)
  • चिड़चिड़ापन (Irritability)
  • चिंता (Anxiety)
  • थकान महसूस होना (Tiredness)
  • ऊर्जा की कमी
  • धीमी गति से बौद्धिक विकास

और पढ़ें: मानसिक थकान (Mental Fatigue) है हानिकारक, जानिए इसके लक्षण और उपाय

कारण

कुपोषण होने के कारण क्या हैं? (Cause of Malnutrition)

कुपोषण होने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे:

पर्याप्त मात्रा में भोजन का सेवन न करना

कुछ लोग पर्याप्त मात्रा में भोजन का सेवन नहीं करते जिस वजह से उन्हें पोषक तत्व नहीं मिल पाते और वे कुपोषण (Malnutrition) के शिकार हो जाते हैं। इसके परिणामस्वरूप निम्नलिखित परेशानियां हो सकती है:

  • कैंसर (Cancer)
  • लिवर रोग (Liver disease)
  • जी मिचलाना (Nausea )
  • खाना खाने और निगलने में दिक्कत होना (difficult to eat or swallow)

डायजेस्टिव डिसऑर्डर (Digestive Disorder)

यदि शरीर पोषक तत्वों को सही तरीके से अवशोषित नहीं करता है तो आप जितना भी हेल्दी डायट (Healthy diet) ले लें तब भी कुपोषण को होने से कोई नहीं रोक सकता। डायजेस्टिव सिस्टम (Digestive system) संबंधित नीचे बताई गई परेशानियों में शरीर पोषक तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाता है:

एल्कोहॉल डिसऑर्डर (Alcohol disorder)

अत्यधिक मात्रा में एल्कोहॉल (Alcohol) को लेने से गैस्ट्र्रिटिस या पैंक्रियाज को दीर्घकालिक नुकसान पहुंच सकता है। इससे भोजन को पचाने, विटामिन को अवशोषित करने और चयापचय को विनियमित करने वाले हार्मोन का उत्पादन करने में मुश्किल हो सकती है।

मेंटल हेल्थ डिसऑर्डर (Mental Health Disorder)

डिप्रेशन और दूसरी मेंटल हेल्थ कंडिशन (Mental health condition) में भी कुपोषण होने की संभावना अधिक होती है। एक स्टडी के अनुसार, स्वस्थ व्यक्तियों की तुलना में कुपोषण के शिकार लोगों में अवसाद की दर 4% अधिक थी।

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें: Depression: डिप्रेशन क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

उपचार

कुपोषण का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Malnutrition)

यदि किसी इंसान में कुपोषण के लक्षण नजर आते हैं तो सबसे पहले यह पता लगाना जरूरी है कि इसके पीछे क्या कारण है। इसका कारण क्रोहन रोग (Crohn’s disease), अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis), सीलिएक रोग (celiac disease) आदि हो सकते हैं। डॉक्टर इसे पता लगाने के लिए आपको कुछ टेस्ट कराने के लिए कह सकता है। इनमें से कोई परेशानी होती है तो डॉक्टर उसका इलाज करेंगे जिससे रोगी के शरीर में पोषक तत्व का लेवल मेंटेन होने लगेगा। डॉक्टर आपको निम्नलिखित टेस्ट कराने की भी सलाह दे सकते हैं:

  • स्क्रीनिंग और मोनिटरिंग के लिए ब्लड टेस्ट
  • आयरन और विटामिन टेस्ट
  • प्री एल्ब्यूमिन टेस्ट क्योंकि कुपोषण प्रोटीन के स्तर को प्रभावित करता है
  • एल्ब्यूमिन टेस्ट जो लिवर और किडनी रोग के बारे में बताता है

कुछ उपकरण कुपोषण की पहचान में मदद करते हैं। मालन्यूट्रिशन यूनिवर्सल स्क्रीनिंग टूल (Malnutrition Universal Screening Tool) की मदद से वयस्कों में इसका पता लगाया जाता है।

कुपोषण का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Malnutrition)

कुपोषण होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इस वजह से डॉक्टर आपकी स्थिति के हिसाब से आपका ट्रीटमेंट करेंगे। यदि डॉक्टर किसी व्यक्ति में कुपोषण डायग्नोज करते हैं तो सबसे पहले वह रोगी की स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार ट्रीटमेंट प्लान करते हैं। इसका उपचार कुपोषण की गंभीरता और किसी भी अन्य स्वास्थ्य स्थितियों या जटिलताओं के होने पर निर्भर करता है। ट्रीटमेंट में निम्नलिखित बातें शामिल हो सकती हैं:

  • डॉक्टर आपको एक डायटरी प्लान (Dietary plan) बनाकर देंगे जिसमें सप्लीमेंट्स भी शामिल हो सकते हैं
  • विशिष्ट लक्षणों का इलाज करना, जैसे कि मतली
  • शरीर में मौजूद किसी भी संक्रमण (Infection) का इलाज
  • खाना निगलने की समस्या के लिए जांच

नियमित योग से शरीर को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। नीचे दिए इस वीडियो को क्लिक करें और योग से जुड़ी खास बातों को जानें।

और पढ़ें: Antibiotic Resistance: एंटीबायोटिक रेजिस्टेंस क्या है?

रोकथाम

कुपोषण की रोकथाम के लिए क्या करें? (Prevention of Malnutrition)

कुपोषण प्राथमिक स्तर पर है तो इसकी रोकथाम की जा सकती है। कुपोषण की रोकथाम के लिए लोगों को विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों से अलग-अलग पोषक तत्वों को लेने की आवश्यकता होती है। बड़े वयस्क, छोटे बच्चे, गंभीर या पुरानी बीमारी वाले लोगों को अतिरिक्त देखभाल की आवश्यकता हो सकती है कि वे उन पोषक तत्वों को प्राप्त करें जिनकी उन्हें जरूरत है। कुपोषण (Malnutrition) की स्थिति यदि बदतर हो गई है तो इसका इलाज घर पर नहीं हो सकता। इसके लिए उन्हें अस्पताल में भरती कराना पड़ता है।

बच्चों के हेल्दी डायट (Healthy diet) उनके मानसिक और शारीरिक विकास दोनों के लिए आवश्यक है। नीचे दिए इस क्विज में बच्चों के डायट से जुड़े हैं कई सवाल और उनके जवाब।

powered by Typeform

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Malnutrition/https://acutemalnutrition.org/en/Accessed on 15/07/2021

Malnutrition:https://www.who.int/features/qa/malnutrition/en/  Accessed February 25, 2020

Malnutrition Causes: https://www.nhs.uk/conditions/malnutrition/causes/ Accessed February 25, 2020

Malnutrition Causes: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4951875/  Accessed February 25, 2020

Malnutrition:   https://medlineplus.gov/malnutrition.html Accessed February 25, 2020

Malnutrition: causes and consequences/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4951875/Accessed February 25, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 3 weeks ago को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x