जानिए प्रेग्नेंसी में दस्त होने पर क्या खाना होगा सही?

By Medically reviewed by Dr. Pranali Patil

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को बहुत सारे बदलावों से गुजरना पड़ता है। उल्टी और दस्त भी इसका एक हिस्सा है। लेकिन प्रेग्नेंसी में दस्त में क्या खाएं? अक्सर गर्भवती महिलाएं इस सवाल का सामना करती हैं। गर्भावस्था के दौरान जब खान-पान में गड़बड़ी होती है तो डायरिया यानि की दस्त हो जाता है। प्रेग्नेंसी में दस्त होने की वजह ज्यादातर बिगड़ती डायट ही है। इसलिए जरूरी है कि बेहतर डायट प्लान बनाकर उसे फॉलो किया जाए, लेकिन अगर आप डायरिया से परेशान हैं तो ऐसे में ये जानना होगा कि प्रेग्नेंसी में दस्त में क्या खाएं और क्या न खाएं? प्रेग्नेंसी में दस्त, एलर्जी, फूड पॉइजनिंग, खराब पेट या पुरानी पेट की किसी बीमारी की वजह से हो सकता है।

यह भी पढ़ें- क्या गर्भावस्था में मिर्च और अचार खाना मना है?

प्रेग्नेंसी में दस्त में क्या खाएं 

प्रेग्नेंसी में दस्त में क्या खाएं ये बात हर प्रेग्नेंट महिला को पता होना जरूरी है। अगर प्रेग्नेंसी में दस्त होता है तो BRAT पदार्थों का सेवन करना चाहिए। BRAT का अर्थ केले (Banana), चावल (Rice), सेब (Apple), टोस्ट (Toast) होता है। BRAT पदार्थों से पाचन तंत्र (Digestive System) पर गलत असर नहीं पड़ता है क्योंकि ये चीजें खाने में नरम होती है और आसानी से पच जाती है। इसके अलावा BRAT पदार्थों से स्टूल का पतलापन भी कम होता है। प्रेग्नेंसी में दस्त होने पर केला और टोस्ट खाना असरदार साबित हो सकता है। महिलाएं इसके लिए अलग-अलग दवाएं लेना शुरू कर देती है लेकिन इस दौरान आसान और सादी डायट लें। पेट को थोड़ा सामान्य होने के लिए बहुत अधिक ऑयली और स्पाईसी खाने से बचें।

यह भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी के दौरान भूलकर भी न लगवाएं ये तीन वैक्सीन, हो सकता है खतरा

  1. BRAT में इनके अलावा अन्य चीज भी शामिल हैं जैसे कि गेंहू का दलिया, शक्कर-पानी का घोल, सेब का रस आदि।
  2. ऐसे तरल पदार्थ जिन्हें पीकर शरीर हाइड्रेट रह सकें, उनका सेवन करें।
  3. डायरिया होने पर फ्रिज से बर्फ निकाल कर उसे चूस भी सकते है।
  4. इलेक्ट्रोल वाला पानी या नारियल पानी पिएं, इससे पेट में ठंडक मिलेगी।

यह भी पढ़ें- गर्भावस्था के दौरान कितना खाएं? प्रत्येक तिमाही के अनुसार जानें

प्रेग्नेंसी में दस्ते होने इन फूड्स को कहें बाय

प्रेग्नेंसी में दस्ते होना इस बात की और इशारा करता है कि आप गलत डायट ले रहे हैं। ऐसे कई फूड हैं, जिन्हें डायरिया में नहीं लेना चाहिए। ये फूड पाचन तंत्र (Digestive System) को शांत नहीं होने देते और इनके सेवन से डायरिया जल्दी ठीक नहीं होता। यदि प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया हो तो अपनी डायट में से इन फूड्स को हटा दें।

यह भी पढ़ें- गर्भावस्था के दौरान स्ट्रेच मार्क्स: इन घरेलू उपचार से मिलेगा आराम

  1. दूध और डेयरी के प्रोडक्ट
  2. तली हुई चीजें जैसे पकोड़े, समोसा आदि
  3. वसायुक्त चटपटा खाना
  4. प्रोसेस्ड फूड जैसे माइक्रोवेव के पॉपकॉर्न
  5. नॉनवेज
  6. प्याज
  7. मक्का
  8. सभी खट्टे फल जैसे अनानास, चेरी, बीज वाले जामुन, अंजीर, करंट और अंगूर जैसे अन्य फल
  9. शराब
  10. कॉफी, सोडा अन्य कैफीनयुक्त और कार्बोनेटेड पेय पदार्थ
  11. सोर्बिटोल सहित कृत्रिम मीठे पदार्थ

यह भी पढ़ें- बादाम, अखरोट से काजू तक, गर्भावस्था के दौरान बेदह फायदेमंद हैं ये नट्स

प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया का इलाज कैसे करें

प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया होने पर यह आमतौर पर थोड़े से समय में ठीक हो जाता है, लेकिन इसके लिए डायट में जरूरी बदलाव करने पड़ते है। कुछ केस में डायरिया पैरासाइट या बैक्टीरियल इंफेक्शन (Parasites or a Bacterial infection) की वजह से होता है, जिसे एंटीबायोटिक से ठीक किया जाता है। यदि डायरिया बहुत ही अधिक परेशान करें तो अस्पताल में भी भर्ती होना पड़ सकता है। यदि एक दिन से अधिक होने पर भी डायरिया में थोड़ी सी राहत न मिलें तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- इन घरेलू उपायों से करें प्रेग्नेंसी में होने वाले एनीमिया का इलाज

प्रेग्नेंसी में दस्त होने पर क्या करें

जब आप गर्भवती हों, तो आप मॉर्निंग सिकनेस या हार्टबर्न का अनुभव कर सकते हैं। इन्ही की तरह प्रग्नेंसी में दस्त भी महिलाओं के लिए बहुत असुविधाजनक हो सकता है। लेकिन अगर आप इन टिप्स को फॉलों करें तो ये उपचार आपकी मदद कर सकते हैं।

अपने शरीर को हाइड्रेट करेंः प्रेग्नेंसी में दस्त होने पर अपने शरीर को हाइड्रेट रखें। हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है, खासकर जब आप गर्भवती हों। प्रेग्नेंसी में दस्त आपके शरीर से पानी को निकालता है, इसलिए बहुत सारे तरल पदार्थ खाएं, विशेष रूप से पानी। चूंकि आप दस्त के माध्यम से इलेक्ट्रोलाइट्स खो देते हैं, अन्य तरल पदार्थ, जैसे कि चिकन या सब्जी शोरबा और इलेक्ट्रोलाइट पानी की कम को पूरा करने में सहायक होते हैं। डेयरी, शुगर ड्रिंक, कॉफी, चाय और एनर्जी ड्रिंक से बचें क्योंकि वे प्रेग्नेंसी में दस्त को बदतर बना सकते हैं।

डायट पर ध्यान दें: पेट और पाचन तंत्र को परेशान करने या उत्तेजित करने वाले खाद्य पदार्थों को खाएं, जो पचाने में आसान हों। बीआरएटी आहार (केले, चावल, सेब का आटा, टोस्ट) प्लस अन्य आसान-से पचने वाले खाद्य पदार्थों (आलू, चिकन और सब्जी का सूप, दुबला मीट) में पोषक तत्वों को दस्त से गुजरने तक मदद कर सकते हैं। तले, मसालेदार और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहें।

ठीक होने का समय देंः प्रेग्नेंसी में दस्त अक्सर अपने आप ही सही हो जाता है। यदि आपको किसी अन्य लक्षण (बुखार, दर्द, ऐंठन) के बिना हल्का दस्त है, तो आप कुछ दिनों तक इंतजार कर सकते हैं कि क्या वह दूर चला जाता है। प्रेग्नेंसी में दस्त जो पेट की कीड़ें या भोजन के मुद्दे से उत्पन्न होता है, अक्सर अपने आप ठीक हो जाता है।

एरिया साफ रखें: प्रेग्नेंसी में दस्त की वजह से ढीला मल होता है जिसमें  बैक्टीरिया होता है जो यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन (UTI) का कारण बन सकता है। स्वच्छता आपके शरीर के अन्य भागों और अन्य लोगों तक कीटाणुओं के प्रसार को रोक सकती है। आप अपने अंडरगारमेंट्स को भी साफ रखे और अपने हाथों को बार-बार धोएं।

प्रेग्नेंसी में दस्ते होने पर कब डॉक्टर से संपर्क करें

अगर प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया घरेलू नुस्खे और डायट में बदलाव के बाद भी ठीक न हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

1.यदि डायरिया दो दिन तक ठीक न हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

2.डायरिया थोड़ा भी ठीक हुआ है लेकिन, डीहाइड्रेशन की समस्या जैसी की तैसी है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

3.यदि डायरिया के साथ 102 डिग्री बुखार हो तो डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

5. स्टूल काला या उसमें खून (blood) आएं तो देर न करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान डायरिया एक आम समस्या है और अधिकतर गर्भवती महिलाएं इसका सामना करती हैं। हर प्रेग्नेंट महिला को पता होना चाहिए कि प्रेग्नेंसी में दस्त में क्या खाएं जिससे इस समस्या से निजात पा सकें। अगर आप इस बारे में किसी तरह की जानकारी चाहती हैं तो एक बार डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

यह भी पढ़ें:

Share now :

रिव्यू की तारीख नवम्बर 26, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया जनवरी 10, 2020

शायद आपको यह भी अच्छा लगे