home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में एनीमिया की परेशानी है तो जरूर पढ़ें ये आर्टिकल

प्रेग्नेंसी में एनीमिया की परेशानी है तो जरूर पढ़ें ये आर्टिकल

प्रेग्नेंसी में एनीमिया की समस्या होना सामान्य है। हो सकता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान आपने चेकअप कराया और डॉक्टर बताए कि आपको एनीमिया है। ये सुनकर घबराने की जरूरत नहीं है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया यानि खून की कमी होने पर उसे बैलेंस किया जा सकता है। कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इस समस्या से निजात पाई जा सकती है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया होने पर सही डायट लेना जरूरी है जो शरीर में आयरन को बढ़ाने का काम करती है।

और पढ़ें : दूसरी तिमाही में गर्भवती महिला को क्यों और कौन से टेस्ट करवाने चाहिए?

प्रेग्नेंसी में एनीमिया के ये लक्षण दिख सकते हैंः

प्रेग्नेंसी में एनीमिया होने पर महिलाओं को कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं। इस दौरान थकान के साथ ही चक्कर महसूस हो सकते हैं।

  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया की वजह से कमजोरी
  • तेज धड़कन
  • काम में ध्यान न दे पाना
  • सांस लेने में कमी महसूस होना
  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया की वजह से पीली त्वचा
  • सीने में दर्द महसूस होना
  • चक्कर आना
  • हाथ-पैर ठंडे होना
  • थकान होना

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकती हैं ये 10 समस्याएं, जान लें इनके बारे में

शरीर में आयरन को कैसे बढ़ाएं?

प्रेग्नेंसी में एनीमिया को दूर करने के लिए शरीर में आयरन, फोलेट, B12 के लेवल का सही होना बहुत जरूरी है। ये सभी जब सही डायट के जरिए शरीर में पहुंचते हैं तो शरीर में आयरन की मात्रा संतुलित रहती है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया कम करने के लिए आप आयरन सप्लीमेंट भी ले सकती हैं।

शरीर में दो तरह के आयरन पाए जाते हैं।

1. हीम आयरन

हीम आयरन के लिए आपको रेड मीट, सीफूड और पॉल्ट्री को अपनाना पड़ेगा। जो लोग नॉन-वेजिटेरियन हैं उनके लिए आयरन की कमी को पूरा करने के लिए ये सबसे असरदार तरीका है। हीम आयरन से प्रेग्नेंसी में एनीमिया की परेशानी को कम किया जा सकता है।

2. नॉनहीम आयरन

नॉनहीम आयरन प्लांट फूड जैसे पालक, मसूर की दाल, बींस आदि में पाया जाता है। नॉनहीम आयरन बाॅडी में आसानी से अब्जॉर्व नहीं होता है। नॉनहीम आयरन को शरीर में घुलने में समय लगता है। प्रेग्नेंसी में एनीमिया को कम करने के लिए डॉक्टर आयरन सप्लीमेंट भी देते हैं।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में खाएं ये फूड्स नहीं होगी कैल्शियम की कमी

प्रेग्नेंसी में एनीमिया के घरेलू उपाय

शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए रोजाना की डायट में आपको कुछ चीजों को शामिल करना होगा। साथ ही उन खाद्य पदार्थो को भी अवाॅयड करना होगा जो आयरन के अवशोषण को बाधित करने का काम करते हैं। प्रेग्नेंसी में एनीमिया को कम करने के लिए सही डायट लेना जरूरी है।

  • आयरन की अधिकता अंडे, मछली, लाल मांस, साबुत अनाज, फोर्टिफाइड (fortified ) अनाज, फलियां, दूध, पनीर, सोयाबीन और शहद में होती है। शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए इन्हें खाने में शामिल करें।
  • आयरन की मात्रा को शरीर में बढ़ाने के लिए विटामिन सी की भी आवश्यकता होती है। खाने में खट्टे फल को भी शामिल करें।
  • खाने में गुड़ को शामिल करें। इसमें आयरन की अच्छी मात्रा पाई जाती है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में अपनाएं ये डायट प्लान

प्रेग्नेंसी में एनीमिया के लिए इन बातों पर भी दें ध्यान

  • चुकंदर और पालक को खाने में जरूर शामिल करें। आपको जिस भी तरह से इसे खाना पसंद हो, इसे ले सकते हैं। उबालकर या फिर सब्जी बनाकर भी इसे खाने में शामिल किया जा सकता है।
  • प्रेग्नेंसी में एनीमिया के घरेलू उपाय के दौरान कैफीन से दूरी बनाना बेहतर रहेगा। कैफीन शरीर में आयरन के अवशोषण को कम करने का काम करती है। अगर आपको कैफीन लेना बहुत जरूरी लग रहा है तो खाने के बीच में इसे बिलकुल न लें।
  • पहले के समय में ज्यादातर लोग खाना बनाने के लिए लोहे के बर्तन का इस्तेमाल करते थे। आज भी कुछ लोग ऐसा करते हैं। आप भी शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए लोहे के बर्तन का इस्तेमाल करें।
  • सिंहपर्णी साग ( Dandelion greens) में लोहे की अधिक मात्रा पाई जाती है। आप चाहे तो इसकी पत्तियों का प्रयोग (करीब आधा या एक चम्मच) चाय बनाने में कर सकते हैं।
  • शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए अंजीर का इस्तेमाल करें। अंजीर में अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है।
  • अगर आपको यलो डॉक रूट (yellow dock root) आसानी से मिल जाए तो इसका काढ़ा बनाकर पिया जा सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान एनीमिया से छुटकारा पाने का ये भी एक तरीका है।
  • आप जेंटियन फ्लोर (gentian flour) का इस्तेमाल खाने के एक घंटे पहले कर सकते हैं। ये शरीर में खाने की अवशोषण क्षमता को बढ़ाने का काम करता है।

सब नहीं कर पाते हैं आसानी से आयरन का अवशोषण

आप वेजीटेरियन हैं या नहीं, ये बात ध्यान रखें कि पौधों में पाया जाने वाला आयरन, मांस में पाए जाने वाले आयरन के समान अवशोषित नहीं होता है। आयरन युक्त चीजें खाते समय अच्छे अवशोषण के लिए विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ लेना भी उतना ही जरूरी है। कुछ महिलाएं जो आयरन का अवशोषण करने में पूर्ण रूप से सक्षम नहीं होती हैं, उन्हें डॉक्टर आयरन सप्लिमेंट्स देते हैं।

आयरन के अवशोषण के लिए अपनाएं ये

भले ही आपने खाने में आयरन को शामिल किया हो, लेकिन उसका अवशोषण सही तरह से होना बहुत जरूरी है। आयरन के अवशोषण को बढ़ाने के लिए खाने में खट्टे फल, स्ट्रॉबेरी, कीवी, तरबूज, पत्तेदार हरी सब्जियां, टमाटर और हरी मिर्च खाने से भी आयरन के अवशोषण में वृद्धि होती है।

जब घरेलू उपाय न करें काम

शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने के लिए आप घरेलू उपाय कर चुकी हैं और फिर भी शरीर में आयरन की कमी बनी हुई है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। हो सकता है कि आपके शरीर में आयरन का सही अवशोषण न हो रहा हो। कई बार डॉक्टर पेप्टिक अल्सर या अन्य ट्रीटमेंट भी आपको दे सकते हैं। किसी भी स्थिति में डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही अपनी डायट में बदलाव करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आपको उपरोक्त लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर आपको आयरन युक्त आहार का डायट प्लान बनाकर देगा। आप बताई गई डायट को फॉलो करें। किसी भी प्रकार की अन्य समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और प्रेग्नेंसी में एनीमिया से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How to Treat Iron Deficiency Naturally During Pregnancy/https://americanpregnancy.org/naturally/treat-iron-deficiency-naturally-pregnancy/Accessed on 12/12/2019

Anemia and Pregnancy/https://www.ucsfhealth.org/education/anemia-and-pregnancy/Accessed on 12/12/2019

Management of Iron Deficiency Anemia in Pregnancy in India/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5885006/Accessed on 3/08/2020

The impact of maternal iron deficiency and iron deficiency anemia on child’s health/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4375689/ Accessed on 3/08/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित
अपडेटेड 18/11/2019
x