home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्यों होती है बच्चों में असमय सफेद बाल की समस्या? जानें कुछ घरेलू नुस्खें

क्यों होती है बच्चों में असमय सफेद बाल की समस्या? जानें कुछ घरेलू नुस्खें

सच कहें तो सफेद बाल किसी भी उम्र में अच्छे नहीं लगते। काले बालों की अपनी ही नैचुरल ब्यूटी होती है। अगर आप किसी बुजुर्ग से पूछेंगे कि क्या उन्हें सफेद बाल अच्छे लगते हैं, तो जाहिर हैं वह भी ना ही कहेंगे। हां प्रकृति और शरीर में हार्मोन के बदलाव को कौन रोक सकता है, इसलिए स्वाभाविक रूप से शरीर में आए बदलाव को मान लेना पड़ता है। जरा एक मिनट के लिए सोचिए, अगर शिशु या बच्चे के असमय सफेद बाल होने लगे तो क्या करेंगे?

सुनने में चाहे जितना भी अजीब लगे, लेकिन यह सच है कि कम उम्र में बच्चे के बाल भी सफेद हो जाते हैं। आजकल कोई भी समस्या किसी भी उम्र में होने लगी है। गठिया की बीमारी किसी भी उम्र में हो रही है, आंखों की समस्या छोटे-छोटे शिशुओं में हो रही है, यहां तक अब बालों की भी यही हालत है। इन समस्याओं के लिए उम्र की कोई बंदिश ही नहीं रह गई है। जरा सोचिए कि असमय बाल सफेद हो जाने पर बच्चे का आत्मविश्वास भी कम हो सकता है, वह लोगों के सामने जाने से कतराने लगता है या धीरे-धीरे दोस्तों के मजाक का शिकार होते हुए मानसिक तनाव से ग्रसित हो सकता है। जाहिर है कोई भी मां या पिता बच्चे को इस हालत में देखना नहीं चाहेगा। चलिए जानते हैं कि बच्चों में असमय सफेद बाल होने के पीछे क्या कारण है?

असमय सफेद बाल – कारण

1 – खाने में पौष्टिकता की कमी –

अध्ययनों से यह साबित हुआ है कि शरीर में विटामिन बी12, कैल्शियम और विटामिन डी3 की कमी से असमय बाल सफेद होने की समस्या हो सकती है। कहने का मतलब यह है कि अगर आपके बच्चे के डायट में इन सब विटामिन्स की पूर्ती नहीं होती, तो बालों पर ऐसा असर होना लाजमी हो जाता है। इसलिए बच्चों को पैकेज्ड और जंक फूड देने की बजाय हेल्दी फूड खिलाने की आदत डालें।

2 – मेडिकल कंडिशन-

अक्सर यह भी देखा जाता है कि अगर किसी बच्चे को जेनेटिक और ऑटोइम्यून कंडिशन है या विटिलिगो की समस्या है, तो उनके बाल असमय सफेद हो सकते हैं।

3 – आनुवांशिक कारण-

अगर बच्चे के परिवार में असमय बालों के सफेद होने की समस्या है, तो बच्चे के बाल भी कम उम्र में सफेद होने लगते हैं। यदि आपके बच्चे के साथ ऐसा हो रहा है, तो तुरन्त डॉक्टर से संपर्क करें। हो सकता है प्रथम अवस्था में इलाज होने पर इस समस्या को ठीक किया जा सकता है।

और पढ़ें-बालों के लिए करी पत्ता है काफी फायदेमंद, हेयर ग्रोथ के लिए ऐसे करें इस्तेमाल

4 – हेयर प्रोडक्ट्स-

वैसे तो बच्चों के हेयर प्रोडक्ट्स उनकी त्वचा और बाल के प्रकृति को समझकर ही बनाए जाते हैं, लेकिन कुछ बच्चे बड़ों के प्रोडक्ट्स खेल-खेल में या उत्सुकता वश इस्तेमाल कर लेते हैं। जिसका असर उनकी त्वचा या बालों पर होता है, जो अक्सर असमय सफेद बालों की समस्या की वजह बन जाते हैं।

5 – तनाव और चिंता –

शायद आप सोच रहे होंगे कि बच्चों को किस बात का स्ट्रेस होता है, स्ट्रेस तो सिर्फ बड़ों को ही हो सकता है। आपका ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है। जी हां, बच्चों को भी अपने पढ़ाई, घर की समस्या या अपने आस-पास की समस्याओं से स्ट्रेस हो सकता है। यही स्ट्रेस अपना असर बालों पर दिखाना शुरू कर देता है और बालों का प्राकृतिक रंग उड़कर सफेद रंग में तब्दिल होने लगता है। ऐसा होने पर तुरन्त स्ट्रेस के कारण की खोज करें और उसे सॉल्व करने की कोशिश करें और फिर डॉक्टर से सलाह लेकर सही इलाज करवाएं।

खुद को कैसे खुश रख सकते हैं एक्सपर्ट के इस वीडियो को देखें-

6 – खाने में अत्यधिक मात्रा में जंक और पैकेज्ड फूड का सेवन –

आजकल तो बच्चे क्या, बड़े भी जंक फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं। घर में आए दिन बाहर से खाना आता है। फिर उसका असर बच्चों के स्वास्थ्य पर नहीं पड़ेगा तो कहां पड़ेगा? माता-पिता दोनों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बच्चा ज्यादा से ज्यादा घर का बना हेल्दी खाना ही खाए। इससे उसके शरीर में पौष्टिकता की कमी नहीं होगी और असमय सफेद बालों की समस्या नहीं होगी।

नोट- ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी घरेलू उपचार, दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

7- हार्मोन में अंसतुलन

असमय सफेद बाल- हार्मोन असंतुलन-
मोबाइल फोन इस्तेमाल-हार्मोन असंतुलन वजह

जी हां, बच्चों में भी हार्मोन का संतुलन बिगड़ सकता है। इसका भी मूल कारण खाने-पीने से जुड़ा होता है। अगर आपका बच्चा ज्यादा पैकेज्ड फूड, कार्बोनेटेड ड्रिंक लेता है, तो जाहिर है विटामिन्स, मिनरल्स आदि शरीर को भरपूर मात्रा में नहीं मिल रहे होंगे। वह दिन भर सुस्त और आलसी बनकर कमरे में बैठा रहेगा या दिन भर मोबाइल पर गेम्स खेलता रहेगा। और इसके फलस्वरूप हार्मोन का संतुलन तो बिगड़ना लाजमी हो जाता है। इसलिए अपने बच्चे के असमय सफेद बाल होने के समस्या के पीछे के कारण का पहले पता लगाइए फिर उसका इलाज सही तरह से करवाइए।

औेर पढ़ें- तनाव सेहत के साथ बालों के लिए है घातक, इसके कारण बदल सकता है बालों का रंग

क्या बच्चों के असमय सफेद बाल होने की समस्या ठीक हो सकती है?

बच्चे के बाल को सफेद होते देखकर हर मां-पिता के मन में सबसे पहले यही सवाल आएगा कि क्या इस समस्या से निजात मिल सकता है? तो इसका जवाब यही है कि जैसे ही यह समस्या नजर में आए तुरन्त पीडियाट्रिशियन से संपर्क करें। जितनी जल्दी कारण का पता लगाकर इलाज करवाना शुरू करेंगे, समस्या का समाधान उतनी ही जल्दी मिलेगा।

क्या सफेद बालों को उखाड़ना ठीक है?

दादी नानी के जमाने से यह नुस्खा सभी सुनते आ रहे हैं कि सफेद बालों को उखाड़ देने से फिर नहीं आते, तो यह जान लें कि यह बिल्कुल एक मिथक है। ऐसा करके आप सिर्फ बालों को ही नुकसान पहुंचाएंगे। यहां तक कि इससे स्कैल्प इंफेक्शन होने का भी खतरा होता है।

क्या सफेद बालों का आना रोका जा सकता है या बाल काले हो सकते हैं?

आनुवांशिकता के कारण बालों के सफेद होने पर समस्या थोड़ी जटिल हो सकती है। इसके लिए डॉक्टर के निर्देश के अनुसार ही इलाज करवाना चाहिए। इसके अलावा अगर पौष्टिकता की कमी के कारण असमय सफेद बाल हो रहे हैं, तो जैसे ही खाने की आदत में बदलाव आएगा समस्या से खुद ब खुद निजात मिलने लगेगा।

औेर पढ़ें-बच्चों का बाल झड़ना: जानिए इसके 5 कारण

असमय सफेद बाल-घरेलू नुस्खें-

असमय सफेद बाल की समस्या से निजात पाने के लिए हेल्दी खाने की आदत डालने के अलावा हेल्दी लाइफस्टाइल की भी आदत डालनी चाहिए। साथ में इस समस्या से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू उपायों को भी अपनाकर देख सकते हैं –

नारियल का तेल-

सदियों से नारियल के तेल का इस्तेमाल बाल संबंधी तरह-तरह के समस्याओं के लिए किया जाता रहा है। इसके लिए आप नारियल के तेल को इस तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं-

असमय सफेद बालों के लिए नारियल तेल
असमय सफेद बालों के लिए नारियल तेल
  • नारियल के तेल को एलोवेरा जेल में मिलाकर बच्चे के बालों में लगा सकते हैं।
  • ताजा आंवले को पीसकर या आंवला पावडर को नारियल तेल में मिलाकर थोड़ा गर्म करके बच्चे के बालों में रातभर लगाकर रखें और फिर दूसरे दिन माइल्ड शैंपू से धो दें।

करी पत्ता-

यह तो सभी को पता है करी पत्ता के फायदे अनगिनत है। करी पत्ता में मल्टीविटामिन और आयरन होता है जो बालों को असमय सफेद होने से बचाता है। नारियल तेल में करी पत्ता को डालकर गर्म करें। उसके बाद इस मिश्रण को थोड़ा ठंडा करके बच्चे के स्कैल्प में अच्छी तरह से लगा दें। अगले दिन माइल्ड शैंपू से धो दें।

नोट-ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी घरेलू उपचार, दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

तिल या तिल का तेल-

तिल में एन्टी ऑक्सिडेंट और विटामिन भरपूर मात्रा में होता है इसलिए इनको खाने में शामिल करने से असमय सफेद बाल की समस्या को नियंत्रण में लाया जा सकता है।

और पढ़ें- लंबे और घने बालों के लिए अपनाएं यह 5 तेल

जवाकुसुम या हिबिस्कस-

असमय सफेद बाल-जपाकुसुम
असमय सफेद बाल-जपाकुसुम

हिबिस्कस के फूल और पत्तों को रात भर पानी में भिगोंकर रखें और सुबह उससे बच्चे के बालों को धोने से फूल के सभी गुण बालों को मिल जाते हैं और असमय सफेद बालों की समस्या से निजात मिलने में मदद मिलती है।

भृंगराज तेल-

आयुर्वेद में इस तेल का बहुत महत्व रहा है। यह तेल बालों के लिए बहुत ही अच्छा है। इस तेल को लगाने से सफेद बालों का आना कम हो सकता है।

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि बच्चों में असमय सफेद बाल की समस्या के पीछे क्या कारण होता है और कैसे इस समस्या को आसानी से सुलझाया जा सकता है। ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी घरेलू उपचार, दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Premature Graying of Hair: Review with Updates/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6290285/ Accessed on 4 September 2020.

Factors Associated with Premature Hair Graying in a Young Indian Population/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4830165/ Accessed on 4 September 2020.

9 home remedies for grey hair/ https://www.artofliving.org/in-en/ayurveda/ayurvedic-remedies/9-home-remedies-for-grey-hair/ Accessed on 4 September 2020.

PREMATURE GRAYING OF HAIR/ https://www.naturalremedies.org/premature-graying-of-hair/Accessed on 4 September2020.

Why Does Hair Turn Gray?/ https://kidshealth.org/en/kids/gray-hair.html/ Accessed on 4 September 2020.

लेखक की तस्वीर
07/09/2020 पर Mousumi dutta के द्वारा लिखा
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
x