home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Father’s Day: बच्चों के लिए पिता का प्यार भी है जरूरी, इस तरह बच्चे के साथ बनाएं अच्छे संबंध

Father’s Day: बच्चों के लिए पिता का प्यार भी है जरूरी, इस तरह बच्चे के साथ बनाएं अच्छे संबंध

अक्सर देखा जाता है कि बच्चों के लिए पिता का प्यार (Father’s love) मां के प्यार के मुकाबले कम आंका जाता है। ऐसा माना भी जाता है कि बच्चे अपनी मां के ज्यादा करीब होते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चे समझते हैं कि पिता, मां के मुकाबले ज्यादा सख्त होते हैं। क्योंकि उन्हें हर छोटी गलती पर पिता की डांट सुननी पड़ती है। इसलिए वे अपने पिता से दूर और मां के करीब हो जाते हैं। ऐसे में वे हर छोटी-बड़ी बात अपनी मां से शेयर करने लगते हैं। बच्चे के बारे में कई बातें तो ऐसी होती हैं जो पिता को कभी पता ही नहीं चल पातीं। ये सब चीजें हम लोगों ने अपने-अपने घर में भी महसूस की होंगी। ऐसा भी माना जाता है कि पिता, मां के मुकाबले कम इमोशनल होते हैं इसलिए वे बच्चे को डांटने से पहले ज्यादा नहीं सोचते। इन्हीं सब कारणों की वजह से बच्चों के लिए पिता का प्यार अक्सर कम आंका जाता है। हालांकि, एक बच्चे का अपनी मां और पिता दोनों के साथ रिश्ता मजबूत होना जरूरी है। आज फादर्स डे के मौके पर हम आपको बच्चों के लिए पिता का प्यार और बच्चे का उसके पिता के साथ रिश्ता कैसे मजबूत बनाया जा सकता है इसके बारे में बताने वाले हैं।

और पढ़ें: टाइप 1 डायबिटीज और हेरिडिटी: जानिए पेरेंट्स को डायबिटीज होने पर बच्चों में कितना बढ़ जाता है इसका रिस्क

जानिए बच्चों के लिए पिता का प्यार (Father’s love) क्यों है जरूरी

बच्चों के लिए पिता का प्यार प्रोत्साहन से बढ़ाएं

बच्चों के लिए पिता का प्यार बच्चे की जिंदगी में उसके पिता का रोल बहुत जरूरी होता है। कभी-कभी तो पिता की सीख से ही बच्चे की पूरी जिंदगी बदल जाती है। एक ओर जहां पिता अपने नियमों पर बच्चे को चलाने की कोशिश करते हैं वहीं दूसरी ओर पिता के होने से बच्चे खुद को सुरक्षित महसूस करते हैं। यह संतुलन ही बच्चे को आगे बढ़ने में मदद करता है। बच्चे के साथ मजबूत रिश्ता बनाने के लिए, पिता को उसकी इमोशनल हेल्थ को समझना जरूरी है। जब बच्चा अपने स्कूल-कॉलेज में कोई प्राइज जीतता है, तो पिता उसे सपोर्ट करते हुए उसकी तारीफ करें। इससे उसका मनोबल बढ़ेगा और वो धीरे-धीरे आपके करीब आ जाएगा।

और पढ़ें: माता पिता की बुरी आदतों का खामियाजा भुगतते हैं बच्चे

अपनी पसंद बच्चे पर न थोपें

कई बार देखा गया है कि पिता, बच्चे पर वे चीजें करने का दबाव डालते हैं जो उसे बिल्कुल पसंद नहीं। जैसे कि भारत में कई पिता चाहते हैं कि उनका बेटा सिर्फ पढ़ाई पर ध्यान दे और आगे चलकर इंजीनियर-डॉक्टर बने। इसके लिए वे बच्चे पर काफी दबाव भी डालते हैं। वहीं बच्चे की दिलचस्पी (Babies interest) स्पोर्ट्स या डांस में हो सकती है। जब बच्चे अपनी पसंद की चीजें करनी की कोशिश करते हैं, तो पिता इसे स्वीकार नहीं करते। इससे दोनों के बीच दूरी आनी शुरू हो जाती है। अगर बच्चा अपने पिता की बात मानकर उनकी पसंद के हिसाब से चलता है, तो वो अपने काम से कभी खुश नहीं रहता और आगे चलकर वे इसकी दोष अपने पिता पर डाल सकते हैं। जो माता पिता का प्यार कम कर सकता है।

काम के चलते बच्चे को समय देना न भूलें

एक पिता अपने बच्चे और परिवार के लिए दिन-रात मेहनत करता है। वो ज्यादा पैसे कमाकर अपने बच्चे को एक उज्ज्वल भविष्य देना चाहता है। ऐसे में वे अपने बच्चे को समय देना भूल जाते हैं। इस वजह से बच्चे अपने पिता से दूर हो जाते हैं। बच्चे और पिता का रिश्ता (Kids and father’s relation) मजबूत न होने का यह भी एक बड़ा कारण है। बच्चे के भविष्य के बारे में सोचना अच्छा है लेकिन अपने काम में इतना भी मशगूल न हों कि अपने बच्चे से ही दूर हो जाएं। कुछ समय निकालकर बच्चे से बात करें। उससे उसके स्कूल (School) के बारे में, दोस्तों के बारे में बात करें। आप साथ बैठकर उसका होमवर्क भी करा सकते हैं।

और पढ़ें: माता-पिता से बच्चे का ब्लड ग्रुप अलग क्यों होता है?

बच्चे के साथ ज्यादा सख्ती न दिखाएं

बच्चे के साथ ज्यादा सख्ती करना ठीक नहीं है। इससे उनके कोमल मन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। बच्चे को सिर्फ प्यार की जरूरत होती है। जो काम आप उससे डांटकर करवाने की कोशिश करते हैं उसी को प्यार से करवाएं। इससे बच्चे अपना काम ज्यादा अच्छे से कर पाएंगे। डांटने से सिर्फ वो काम करेंगे लेकिन उस काम को दोबारा करने में डरेंगे क्योंकि उनके मन में डर बैठ जाएगा। आपकी डांट आपको बच्चे से दूर कर देगी।

और पढ़ें: नए माता-पिता के अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए टिप्स

[mc4wp_form id=”183492″]

माता – पिता का प्यार एक दोस्त के रूप में भी दें

एक बच्चा अपने पिता से यही उम्मीद करता है कि वो एक दोस्त की तरह उसकी हर बात सुने। जो बात वो किसी से नहीं कह पाता वो अपने पैरेंट्स से कहता है। ऐसे में जरूरी है कि अपने बच्चे की हर बात को ध्यान से सुनें। उसकी किसी भी बात को नजरअंदाज (Ignore) न करें। अगर आप बच्चे की बात सुनने का दिखावा करते हैं, तो उसे इस बात का एहसास हो जाता है। फिर वो आगे अपनी बात कहने से कतराने लगेंगे। ये पिता और बच्चे में दूरी बढ़ने का एक बड़ा कारण है।

पैरेंट्स का तलाक भी पिता-बच्चे में लाता है दूरी

जब पैरेंट्स में तलाक की नौबत आती है, तो बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य (Mental health) पर गहरा प्रभाव पड़ता है। घर में होने वाले झगड़े से बच्चा अपने पिता ही नहीं मां से भी दूर हो जाता है। अगर तलाक के बाद भी आप चाहते हैं कि आपका बच्चा आपसे दूर न हो, तो उससे समय-समय पर मिलते रहें। हफ्ते या महीने में एक बार अपने बेटे या बेटी से मिलें और उसके साथ क्वालिटी टाइम बिताएं। उसके बर्थडे पर उसे सरप्राइज दें और पूरा दिन उसके साथ बिताएं। बच्चे को यह एहसास न होने दें कि तलाक के बाद आप उससे दूर हो गए हैं। कभी-कभी आप बच्चे और मां दोनों के साथ समय बिताएं। अपने पैरेंट्स को साथ देखकर बच्चे को बहुत खुशी मिलती है।

बच्चों के साथ अपनी भावनाएं जाहिर करें

कुछ आदमी अपनी भावनाएं जाहिर करने में शर्माते हैं और कुछ जाहिर करना पसंद नहीं करते। लेकिन अगर आप एक पिता हैं, तो बच्चे के सामने अपनी भावनाएं खुलकर जाहिर करें और अपने बच्चों के लिए पिता का प्यार उन्हें दें। बच्चे के साथ खेले-कूदें और हंसी-मजाक भी करें। बच्चे को घुमाने ले जाएं। उसे गोद में उठाकर प्यार जताएं। जिन पिता में अपनी भावनाएं जाहिर करने की कला होती है उनका अपने बच्चे के साथ अच्छा रिश्ता होता है। ऐसा देखा जाता है कि कुछ पिता अपनी बेटियों के सामने अपनी भावनाएं जाहिर नहीं कर पाते हैं। लेकिन हमारी सलाह है कि किसी भी बात में बेटा-बेटी में फर्क न करें। जो व्यवहार माता-पिता अपने बच्चों के साथ करेंगे वैसा ही वे बाहर जाकर औरों के साथ करेंगे। अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा सामाजिक तौर पर अच्छा हो तो घर पर उसके साथ वैसा ही व्यवहार करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The Father’s Love for His Son/https://www.ligonier.org/learn/devotionals/fathers-love-for-his-son/Accessed on 29/06/2021

Dear Son: A Father’s Letter/https://www.hisbelovedson.org/blogfeed/2018/9/19/dear-son-a-fathers-letter/Accessed on 29/06/2021

A Father’s Love/https://www.christianunion.org/ministries/universities/princeton/pray-for-princeton/2-uncategorised/2340-a-father-s-love/Accessed on 29/06/2021

HUMBLING MYSELF AND RECEIVING THE FATHER’S LOVE/https://www.endurance.org/humbling-myself-and-receiving-the-fathers-love/Accessed on 29/06/2021

The Power Of A Father’s Love Overturns His Beliefs/https://www.npr.org/2013/03/16/174454419/a-fathers-change-of-heart/Accessed on 29/06/2021

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड