home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बच्चों में जिद्दीपन: क्या हैं इसके कारण और उन्हें सुधारने के टिप्स?

बच्चों में जिद्दीपन: क्या हैं इसके कारण और उन्हें सुधारने के टिप्स?

बच्चों की सही परवरिश करना कोई आसान काम नहीं है। ऐसा कहा जाता है कि बच्चे का पहला स्कूल उसका घर और पहले गुरु उसके माता-पिता होते हैं। बच्चों के गुण, आदतों, स्वभाव आदि में उसके माता-पिता का पूरा प्रभाव दिखाई देता है। बच्चों की कुछ आदतें अक्सर माता-पिता को परेशान करती हैं। उन्हीं में से एक है उनका जिद्दी होना। अधिकतर छोटे बच्चे जिद्दी होते हैं, जो किसी भी चीज के लिए जिद करने लगते हैं। जब उनकी जिद पूरी नहीं होती, तो वे रोने, चिल्लाने, जमीन पर लेटने या चीजों को फेंकने से भी पीछे नहीं हटते। बच्चे का जिद्दीपन हर माता-पिता की परेशानी की वजह होता है। अगर आपका बच्चा भी जिद्दी है, तो ये आसान टिप्स इस परेशानी को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आइए जानते हैं जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स।

क्या हैं आपके बच्चे के जिद्दी होने के कारण?

अक्सर माता-पिता यह शिकायत करते हैं कि वो अपने बच्चे को चाहे जितना भी समझाने का प्रयास करें, उनका बच्चा मानता ही नहीं है, बल्कि उसका जिद्दीपन बढ़ता ही जा रहा है। जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स से पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है, कि इसके पीछे क्या कारण हो सकते हैं।

और पढ़ें: यदि आपके बच्चे को होती है बोलने में समस्या तो जरूर कराएं स्पीच थेरेपी

  • कोई समस्या या परेशानी होने पर जब बच्चे को सबका ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करना होता है, यही वजह है कि वो जिद करता है।
  • बच्चे को अगर अधिक लाड-प्यार मिले, तो इससे भी वो जिद्दी बन जाता है।
  • अगर आप बच्चे को अधिक डांटते हैं, तो यह भी उसकी जिद्द का एक कारण बन सकता है।
  • जब आप बच्चे पर किसी भी चीज के लिए बेफिजूल दवाब डालते हैं, तो भी बच्चे के मन पर उल्टा प्रभाव पड़ता है और वो जिद्दी बन सकता है।
  • बच्चे के जिद्दीपन के पीछे कई बार कुछ अप्रिय घटनाएं भी हो सकती हैं। जिनके बारे में माता-पिता को पता नहीं होता। उन घटनाओं के कारण भी बच्चों के कोमल मन पर गलत असर होता है और वो जिद्दी हो जाते हैं।

जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स

छोटे बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह होते हैं, आप उन्हें जिस तरह का आकार देंगे, वो उसी में ढल जाएंगे। ऐसे में बच्चे की इस आदत को दूर करने के लिए आपको कुछ खास ख्याल रखने होंगे। आइए जानते हैं कुछ खास टिप्स के बारे में, जो जिद्दी बच्चे को सुधारने में आपकी मदद कर सकती हैं।

बच्चों में जिद्दीपन

खुद को कर लें इसके लिए तैयार

सबसे पहले बच्चे के इस रवैये के लिए खुद को तैयार कर लें। जब बच्चा किसी चीज को लेकर बिना किसी मतलब के जिद करता है, तो माता-पिता का नाराज या गुस्सा होना स्वभाविक है। लेकिन आपका गुस्सा या नाराजगी आपके बच्चे की जिद को और भी बढ़ा सकते हैं। इसलिए आप खुद को पहले से ही तैयार कर लें कि आप बच्चे के जिद करने पर उस पर गुस्सा या नाराज नहीं होंगे। अगर इस स्थिति में आप नकारात्मक रूप से व्यवहार करेंगे, तो इससे परिस्थिति और बिगड़ सकती है। आपका यह नकारात्मक व्यवहार बच्चे को गलत शिक्षा देगा, जिससे उसकी यह बुरी आदत कम नहीं होगी बल्कि बढ़ेगी।

और पढ़ें: बच्चे के मुंह में छाले से न हों परेशान, इसे दूर करने के हैं 11 घरेलू उपाय

अपने बच्चे को सुनें और समझें

इस बात को समझें कि अगर आपका बच्चा जिद करता है, तो इसके पीछे जरूर कोई कारण होगा। आपके लिए आवश्यक है कि आप उस कारण और बच्चे दोनों को समझने की कोशिश करें। आपका बच्चे से और बच्चे का आपसे बात करना बहुत आवश्यक है। बातचीत वो पुल है, जिससे हर दूरी को नजदीकी में बदला जा सकता है। अगर कोई बच्चे की बात को सुनेगा या समझेगा ही नहीं, तो वो आपकी बात कैसे सुन और समझ सकता है? यह सच है कि कोई भी माता-पिता सर्वज्ञ नहीं होते। इसलिए आपको यह जानना होगा कि आपके बच्चे के इस व्यवहार का कारण क्या है। कारण के बाद ही आप उसका समाधान कर सकते हैं।

बच्चे को दें अन्य विकल्प

जब बच्चा अपना जिद्दी स्वभाव आपको दिखा रहा हो, तो आप उसे किसी भी चीज के लिए मना करने की जगह उसे अन्य विकल्प दें। जैसे अगर आपने उसे सोने के लिए कहा है। लेकिन आपका बच्चा अभी न सोने की जिद पर अड़ा है, तो आप उसे इस तरह से पूछ सकते हैं कि “क्या तुम्हें सोने से पहले कोई गाना या कहानी सुननी है“? ऐसा करने से बच्चे को लगेगा कि उसकी राय आपके लिए महत्व रखती है। जिद्दी बच्चे को समझाने के लिए यह तरीका बहुत बेहतरीन है। इसके साथ ही आपके बच्चे को ऐसा महसूस होगा कि आपके दिए विकल्पों में से वो सही निर्णय लेने में सक्षम है। जिद्दी बच्चे को सुधारने की टिप्स में ये ये सबसे महत्वपूर्ण टिप है

बच्चे को करने दें गलतियां

जब बच्चा जिद पर आता है, तो उसका व्यवहार अनुचित होना स्वभाविक है। खासतौर पर अगर बच्चा अपनी यह जिद सभी के सामने दिखता है, तो माता-पिता शर्म महसूस करते हैं। लेकिन यह न भूलें कि वो एक बच्चा है। उसे हमेशा इस बात का अहसास अवश्य कराएं कि वो चाहे आपसे कितना भी नाराज या गुस्सा हो, आप उसे हमेशा इसी तरह से प्यार करेंगे और स्वीकार करेंगे। अगर बच्चा कोई गलती करता है, तो इस बात को सुनिश्चित करें कि उसे पता हो कि उसने क्या गलत किया है और उसकी जगह वो क्या सही कर सकता था। इसके बाद उसे अपनी गलती को सुधारने का मौका भी दें। इससे बच्चा अपनी गलतियों से हमेशा शिक्षा लेगा और कुछ अच्छा सीखेगा।

घर के माहौल को शांतिपूर्ण बनाएं

जिद्दी बच्चे को सुधारने की टिप्स में अगला है, अपने घर में खुशी से भरपूर शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखें। ऐसा माना जाता है कि बच्चों (खासतौर पर अगर आपका बच्चा जिद्दी है) के लिए ऐसा माहौल होना बहुत जरूरी है। आपके बच्चे को कभी भी अपने माता-पिता या घर को लेकर बुरा नहीं महसूस होना चाहिए। घर में आपसी सम्मान, समझदारी और स्नेह का वातावरण बनाएं। बच्चे के अंदर अनुशासन के बीज डालना भी जरूरी है, लेकिन ध्यान रहे यह सब आप प्यार से करें। बच्चे को समझाएं कि अगर आपने घर में कुछ नियम बनाएं हैं, तो वो उनके भले के लिए ही बनाए गए हैं।

और पढ़ें: बच्चे को बॉटल फीडिंग के दौरान हो सकते हैं इस तरह के खतरे, जानें क्या करें

बच्चे की प्रशंसा करना न भूलें

बच्चे के जिद्दीपन को दूर करने के लिए यह आवश्यक है कि बच्चा जो कर रहा है, आप उस पर ध्यान दें । कई बच्चे जिद केवल इसीलिए करते हैं, क्योंकि वो अपने माता-पिता का ध्यान अपनी और आकर्षित करना चाहते हैं। ऐसे में अपने बच्चे के साथ समय बिताएं और उनकी प्रशंसा करने के मौके ढूंढे। आपका प्रोत्साहन और प्रशंसा आपके बच्चे के इस स्वभाव को बदल सकती है।

न करें हर जिद पूरी

अधिक प्यार या बार-बार बच्चे की हर जिद को पूरा करने से बच्चे का जिद्दी स्वभाव बदलता नहीं हैं, बल्कि उसकी यह गलत आदत बढ़ती जाती है। अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे की जिद अनावश्यक है, तो उसे पूरी न करें। जैसे, अक्सर बच्चे बाजार में जाकर किसी चीज या खिलौने को लेकर जिद करने लगते हैं। ऐसे में आप उस समय उसे नजरअंदाज कर दें। इससे कुछ ही समय में बच्चे को समझ आ जाएगा कि उसकी जिद पूरी नहीं होगी और वो जिद करना छोड़ देगा। बाद में प्यार से आप उसे समझा सकते हैं। जिद्दी बच्चे को सुधारने की टिप्स में यह सबसे आवश्यक उपाय है।

और पढ़ें: जानें बच्चे को बिजी रखने के टिप्स, आसानी से निपटा सकेंगी अपना काम

अधिक रोकने या अपेक्षा करने से बचे

अगर आप अपने बच्चे को हर बात पर रोकते हैं या उससे जरूरत से अधिक अपेक्षा रखते हैं, तो इससे भी आपका बच्चा जिद्दी बन सकता है। बच्चे को हर काम या चीज के लिए रोकने से वो खुद को बंधा हुआ महसूस करेगा। ऐसे में वो हर बार अपनी बात मनवाने की जिद करेगा। यही नहीं, अपने बच्चे से जरूरत से अधिक अपेक्षा करने से भी बच्चा जिद्दी बन सकता है। बच्चे से अपेक्षा रखें, लेकिन ऐसा दबाव न बनाएं जिसे सहन करना बच्चे के लिए मुश्किल हो।

अपने बच्चे के लिए बनें रोल मॉडल

जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स में इसे अपनाना न भूलें। अगर माता-पिता ही छोटी-छोटी बातों पर झगड़ेंगे या बहस करेंगे तो बच्चे का जिद्दी होना और अपनी भावनाओं या तनाव को गुस्से में व्यक्त करना आसान बन जाएगा। माता-पिता पहले व्यक्ति होते हैं, जिनसे उनके बच्चे सीखते हैं। ऐसे में अगर बच्चे अपने माता-पिता को हमेशा गुस्से में देखेंगे, तो बच्चों को लगेगा कि गुस्सा ही बातचीत का सबसे अच्छा तरीका है। माता-पिता को अपने बच्चों के लिए सबसे अच्छा रोल मॉडल बनना चाहिए। अगर वो चाहते हैं कि उनके बच्चे अच्छे से व्यवहार करें, तो सबसे पहले उन्हें अपने व्यवहार में परिवर्तन लाना होगा

न्यू मॉम के लिए सेल्फ केयर, बॉडी इमेज और पेरेंटिंग हैक्स के बारे में जानिये इस वीडियो के माध्यम से:

माता-पिता अपने बच्चे को सुधारने में यह भूल जाते हैं कि वो भी एक इंसान हैं और उनसे भी गलतियां होती हैं। अगर आप चाहते हैं कि बच्चे गलती न करें या उसे स्वीकारें, तो सबसे पहले आपको ये बात समझ कर चलना होगा। अगर बच्चा जिद कर रहा हो, तो उसे कुछ कहने से पहले खुद को अपने बच्चे की जगह रख के देखें। ऐसा करने पर आप बच्चे की इस समस्या को बेहतर समझ पाएंगे और उसका समाधान भी कर पाएंगे। यह तो थे जिद्दी बच्चे को सुधारने के टिप्स, जिन्हें अपना कर आप अपने बच्चे में परिवर्तन अवश्य नोटिस करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

HOW TO DEAL WITH A DEFIANT CHILD OR A STUBBORN CHILD?. https://www.dadabhagwan.org/path-to-happiness/relationship/parent-child-relationship/how-to-deal-with-defiant-children/. Accessed on 20.08.20

How to Cope with a Stubborn Toddler. https://www.rileychildrens.org/connections/how-to-cope-with-a-stubborn-toddler. Accessed on 20.08.20

Discipline: 5 Do’s and Don’ts When Your Kids Won’t Listen. https://health.clevelandclinic.org/discipline-5-dos-and-donts-when-your-kids-wont-listen/. Accessed on 20.08.20

8 Tricks To Dealing With Stubborn Children.https://sahm.org/children-parenting/8-tricks-to-dealing-with-stubborn-children/. Accessed on 20.08.20

Surviving the Strong-Willed, Stubborn Child.https://montessoriparenting.org/surviving-the-strong-willed-stubborn-child/. Accessed on 20.08.20

Dealing With a Stubborn Child. https://www.newkidscenter.org/Dealing-with-a-Stubborn-Child.html. Accessed on 20.08.20

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anu sharma द्वारा लिखित
अपडेटेड 20/08/2020
x