घर पर नैचुरल कोलोन क्लीनज करने के 5 तरीके !

    घर पर नैचुरल कोलोन क्लीनज करने के 5 तरीके !

    नैचुरल कोलोन क्लीनज (Natural Colon Cleanse) क्या है? कोलोन यानि कि बृहदान्त्र हमारे डायजेशन का बहुत महत्व्पूर्ण अंग है। शरीर के बेहतर स्वास्थ्य के लिए पाचन क्रिया का ठीक रहना सबसे आवश्यक माना जाता है। हमारा डायजेशन सिस्टम भोजन से पोषक तत्वों का अवशोषण करता है, जो हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा देने के लिए आवश्यक होती है। पाचन क्रियाओं के लिए लिवर के साथ आंतों की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है, यही कारण है कि जिन लोगों को आंतों में दिक्कतें होती हैं उन्हें आंतों को स्वस्थ रखने वाले उपाय करने की सलाह दी जाती है। जानिए यहां कि नैचुरल कोलोन क्लीनज (Natural Colon Cleanse) क्या है?

    और पढ़ें: टॉप डायजेस्टिव एंजाइम्स : यह एंजाइम्स निभाएं पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका

    नैचुरल कोलोन क्लीनज क्या है (What is Natural Colon Cleanse?)

    पाचन तंत्र में एक महत्वपूर्ण अंग कोलन है, जिसे बड़ी आंत भी कहा जाता है। बृहदान्त्र स्वास्थ्य पाचन स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है । कुछ लोग दावा करते हैं कि इष्टतम पाचन स्वास्थ्य के लिए कोलन को साफ किया जाना जरूरी है। हालांकि, शुद्धिकरण की प्रभावशीलता को साबित करने वाले शोध अभी कम है। फिर भी, कोलोन की सफाई के कुछ पहलू फायदेमंद हो सकते हैं, जो आपको कब्ज या अनियमित मल त्याग जैसे समस्या के उपचार में मदद कर सकते हैं,और कुछ सबूत हैं कि वे कोलन कैंसर के जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

    और पढ़ें : गैस्ट्राइटिस की समस्या से छुड़ाना चाहते हैं पीछा, तो ये 3 आयुर्वेदिक जड़ी बूटी हैं अत्यधिक लाभकारी

    घर पर नैचुरल कोलोन क्लीनज करने के 5 तरीके (5 Ways to Do a Natural Colon Cleanse at Home)

    नैचुरल कोलोन क्लीनज करने के कुछ तरीके हैं। आप घर पर स्वाभाविक रूप से कोलन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने या बॉडी डिटॉक्स करने के लिए सरल चीजें कर सकते हैं। निम्नलिखित नैचुरल कोलोन क्लीनज के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। लेकिन इसे सही तरीके से की जाए, तो वे काफी सुरक्षित भी हैं। लेकिन आपको स्वस्थ रहने के लिए आपको हर दिन या बार-बार कोलन की सफाई करने की ज़रूरत नहीं है, इसके कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं।

    वॉटर फ्लश (Water flush)

    खूब पानी पीना और हायड्रेटेड रहना पाचन को नियंत्रित करने का एक अच्छा उपाय है। जो लोग नैचुरल कोलोन क्लीनज करना चाहते हैं, तो वॉटर फ्लश भी कर सकते हैं। इसके डाॅक्टर उन्हें प्रति दिन छह से आठ गिलास गुनगुने पानी पीने की सलाह देते हैं। इसके अलावा, पानी की मात्रा में उच्च पोषण वाले खाद्य पदार्थ खाने की कोशिश करें। इसमें तरबूज, टमाटर, सलाद, और अजवाइन जैसे फल और सब्जियां शामिल हैं। वास्तव में, बहुत सारे खाद्य पदार्थ हैं जो आहार के माध्यम से नैचुरल कोलोन क्लीनज रूप में मदद करते हैं।

    और पढ़ें : गैस्ट्राइटिस के लिए होम्योपैथी ट्रीटमेंट : एक आसान, लेकिन असरदार इलाज!

    हाय फाइबर डायट (High fiber diet)

    फाइबर एक आवश्यक मैक्रोन्यूट्रिएंट है, जिसे अक्सर आहार में अनदेखा कर दिया जाता है। यह फल, सब्जियां, अनाज, नट और सीड्स जैसे संपूर्ण, स्वस्थ पौधों के खाद्य पदार्थों में हाय फाइबर पाया जाता है। पौधों में सेल्यूलोज और फाइबर होते हैं। वे कब्ज और अति सक्रिय आंत्र को भी नियंत्रित करते हैं, जबकि सहायक बैक्टीरिया को प्रीबायोटिक के रूप में बढ़ावा देते हैं। बहुत सारे उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाने के लिए सुनिश्चित करें, जो स्वस्थ कोलन में मदद करते हैं। वे आंत बैक्टीरिया के लिए भी बहुत अच्छे हो सकते हैं।

    और पढ़ें: गैस्ट्रोइंटेराइटिस की समस्या को करना है बाय, तो फॉलो करें ये ड्रिंक्स एंड डायट

    जूस और स्मूदी (Juices and smoothies)

    सब्जियाें का जूस कोलन क्लीन्जर हैं। आंतों को साफ रखने के लिए सब्जियों के जूस का सेवन ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। आंतों की साफ सफाई के लिए लौकी, गाजर, चुकंदर, करेला और पालक के मिक्स जूस का सेवन ज्यादा लाभदायक हो सकता है। हालांकि, बृहदान्त्र के लिए इन पर पर्याप्त शोध नहीं हुआ है। वास्तव में, कुछ शोध जोखिमों की ओर इशारा करते हैं। फिर भी, जूस और जूस का मध्यम सेवन आपके लिए अच्छा हो सकता है। जूस में कुछ फाइबर और पोषक तत्व होते हैं, जो पाचन को लाभ पहुंचाते हैं। शरीर को हायड्रेट में मदद करने और नियमितता बनाए रखने के लिए मददगार है। इसके अलावा, 2015 में एक अध्ययन में पाया गया कि विटामिन सी नैचुरल कोलोन क्लीनज में मददगार हो सकता है। जूस के मिश्रण में मिलाए जाने वाले बहुत सारे फलों और सब्जियों में विटामिन सी पाया जाता है।

    और पढ़ें : गैस्ट्रोइंटेराइटिस से हैं परेशान, तो ये दवाईयां दे सकती हैं आपको राहत

    स्टार्च (Starch)

    कुछ स्टार्च फाइबर के समान होते हैं। वे आलू, चावल, फलियां, हरे केले और अनाज जैसे पौधों के खाद्य पदार्थों में भी पाए जाते हैं। ये आंत के माइक्रोफ्लोरा को बढ़ाकर एक स्वस्थ बृहदान्त्र को बढ़ावा देते हैं। पाचन के लिए स्टार्च पर 2013 में हुए एक शोध में यह भी पाया गया कि वे पेट के कैंसर के जोखिम को कम करते हैं। स्टार्च कार्बोहाइड्रेट भी पाए जाते हैं। फिर भी, लो-कार्ब डाइटर्स जैसे विकल्प चुन सकते हैं, जो कम ब्लड शुगर स्पाइक्स का कारण बनते हैं। इनमें चावल और आलू शामिल हैं। इन्हें आहार में शामिल करना, जैसे फाइबर, नैचुरल कोलोन क्लीनज के लिए बहुत अच्छा हो सकता है।

    और पढ़ें : जब ब्लोटिंग से पेट की गाड़ी का सिग्नल हो जाए जाम, तो ऐसे दिखाएं हरी झंडी!

    प्रोबायोटिक्स (Probiotics)

    आहार में प्रोबायोटिक्स को शामिल करना नैचुरल कोलोन क्लीनज के लिए एक और उपाय है। यह कई अन्य तरह से समग्र स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देता है। प्रोबायोटिक सप्लिमेंट्स लेकर आप अधिक प्रोबायोटिक्स प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, बहुत सारे प्रोबायोटिक युक्त खाद्य पदार्थ खाएं, जैसे दही, किमची, अचार और अन्य खाद्य पदार्थ है। प्रोबायोटिक्स फाइबर और स्टार्च की मदद से आंत में अच्छे बैक्टीरिया प्रभावी हो जाते हैं। ये सूजन पर अंकुश लगाते हैं और नियमितता को बढ़ावा देते हैं। कोलोन से संबंधित पाचन स्वास्थ्य के लिए एप्पल साइडर विनेगर को प्रोबायोटिक भी माना जाता है और इसे कोलन क्लीन्ज में शामिल किया जाता है। एप्पल साइडर विनेगर में एंजाइम और एसिड होता है, जोकि खराब बैक्टीरिया को कमजोर करता है।

    और पढ़ें : एक्यूट गैस्ट्राइटिस : पेट से जुड़ी इस समस्या को इग्नोर करना हो सकता है खतरनाक!

    हर्बल चाय (Herbal tea)

    कुछ हर्बल टी पीने से कोलन के माध्यम से पाचन स्वास्थ्य में मदद मिल सकती है। कुछ जड़ी बूटियां जैसे साइलियम, एलोवेरा, मार्शमैलो रूट और स्लिपरी एल्म कब्ज में मदद कर सकते हैं। आंतों को साफ और स्वस्थ बनाए रखने के लिए हर्बल टी का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। ग्रीन-टी का सेवन भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

    और पढ़ें : गैस्ट्रोपैरीसिस : पाचन क्रिया से जुड़ी इस समस्या से हो सकती है टाइप 2 डायबिटीज की तकलीफ!

    पाचन क्रिया के दौरान आंतों में भोजन के अपशिष्ट और विषाक्त पदार्थ जमा होने लगते हैं, जो शरीर के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं। यही कारण है कि समय-समय पर आंतों को साफ रखने के उपाय करते रहने की जरूरत होता है। आंतों को साफ रखने के लिए कई प्राकृतिक उपाय बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। अपने चिकित्सक से बात करना सुनिश्चित करें और इन जड़ी बूटियों का उपयोग करने से पहले निर्देशों का बारीकी से पालन करें। उन्हें भी संयम से इस्तेमाल करें; अन्यथा, वे हानिकारक हो सकते हैं। नैचुरल कोलोन क्लीनज (Natural Colon Cleanse) के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर की सलाह लें। फिर इसे अपनाएं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Natural Colon Cleanse : https://www.cdc.gov/cancer/colorectal/index.htm Accessed 27 jan,2022

    Natural Colon Cleanse : https://health.clevelandclinic.org/colon-cleansing-is-it-safe/ Accessed 27 jan,2022

    Natural Colon Cleanse : http://www.naturalcoloncleansers.org/ Accessed 27 jan,2022

    Natural Colon Cleanse : https://www.cancer.gov/types/colorectal/patient/colon-treatment-pdq Accessed 27 jan,2022

    Natural Colon Cleanse : https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/consumer-health/expert-answers/colon-cleansing/faq-20058435 Accessed 27 jan,2022

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड