आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Baby Bump: क्या बेबी बंप के बारे में ये खास बातें जानते हैं आप?

    Baby Bump: क्या बेबी बंप के बारे में ये खास बातें जानते हैं आप?

    प्रेग्नेंसी की जानकारी मिलने के बाद होने वाली मां के मन में एक नहीं बल्कि कई प्रकार के प्रश्न आते हैं। यह प्रश्न बच्चे से जुड़े हुए होते हैं, जैसे की प्रेग्नेंसी के पहले या दूसरे सप्ताह में बच्चे का कितना विकास हुआ होगा, कब पेट बढ़ना शुरू होगा या फिर कब बेबी बंप दिखाई देगा। बेबी बंप को लेकर अक्सर महिलाएं उत्साहित रहती हैं। बेबी बंप में हाथ फिराना और रोजाना बच्चे की हलचल महसूस करना वाकई एक मां के लिए सुखद एहसास होता है। लेकिन कुछ महिलाओं को बेबी बंप से जुड़ी हुई कई जानकारियां नहीं होती हैं। अगर आपके मन में भी बेबी बंप से जुड़े हुए कई सवाल हैं, तो यह आर्टिकल आपको बहुत सारी जानकारी देगा। आइए जानते हैं बेबी बंप से जुड़ी हुए कुछ अहम बातें।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट पेन और टेंडरनेस को दूर करने के लिए क्या हैं आसान तरीके, जानिए!

    बेबी बंप (Baby Bump) कब दिखना शुरू होता है?

    अगर आप अभी तक मां नहीं बनी है और आपको यह लगता है कि बेबी बंप का विकास पहले से दूसरे सप्ताह में ही हो जाता है, तो यह बिल्कुल गलत है। जी हां! बेबी बंप का विकास प्रेग्नेंसी के तुरंत बाद शुरू नहीं होता है। बेबी बंप आपको प्रेग्नेंसी के तीसरे से चौथे महीने में दिखना शुरू हो जाता है। जो महिलाएं दूसरी बार मां बनती है, उनमें बेबी बंप जल्दी दिखना शुरू हो जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आप बेबी बंप नोटिस करना चाहती हैं, तो आपको 3 महीने का इंतजार करना होगा। तीन महीने की प्रेग्नेंसी में बच्चे का विकास थोड़ा शुरू हो गया होता है लेकिन फिर भी वह बहुत छोटा होता है। दूसरे ट्राइमेस्टर में आप बेबी बंप में बच्चे की हलचल महसूस कर सकते हैं।

    और पढ़ें: Prenatal Care: प्रेग्नेंसी के दौरान क्यों जरूरी है प्रीनेटल केयर

    पेट की स्किन में होने लगता है बदलाव

    बेबी बंप आने के साथ ही महिला की पेट की स्किन में भी खिंचाव शुरू हो जाता है। इस कारण से पेट में स्ट्रेच मार्क्स बनने लगते हैं। यह स्ट्रेच मार्क्स तब तक बनते रहते हैं, जब तक कि पेट बढ़ता रहता है। अगर आप स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो ऐसे में आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर प्रेग्नेंसी के दौरान भी स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए क्रीम या लोशन लगाने की सलाह दे सकते हैं। 13 से 21 सप्ताह के बीच आप स्ट्रेच मार्क्स नोटिस करना शुरू कर सकते हैं। जैसे-जैसे पेट बढ़ता है, इसका साफ मतलब है कि बच्चे का विकास धीमे-धीमे हो रहा है। तीसरे ट्राईमेस्टर के दौरान आप बेबी बंप में बच्चे की हलचल को साफ-साफ देख कर महसूस कर भी सकते हैं।

    बेबी बंप: पेट में इस महीने से शुरू हो जाती है हलचल

    कुछ महिलाएं तीसरे से चौथे महीने में बच्चे की किक का इंतजार करने लगती हैं, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सभी महिलाओं को एक ही महीने में बच्चे की हलचल महसूस हो, यह जरूरी नहीं है। कुछ महिलाओं को बेबी की तीसरे से चौथे महीने किक महसूस होने लगती है। वहीं कुछ महिलाओं को यह के पांचवें से छठे महीने में महसूस होती है। अगर आपके साथ यह तीसरे से चौथे महीने में नहीं हो रहा है, तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। ऐसे में आपको कुछ इंतजार करना चाहिए।छठें से सातवें महीने के बीच आपको अपनी बेबी की किक को गिनना शुरू कर देना चाहिए। आपको दिन में 8 से 10 बार बेबी की किक जरूर महसूस होगी। अगर आपको इसमें कमी महसूस होती है, तो आपको डॉक्टर को इस बारे में जरूर जानकारी देनी चाहिए।

    और पढ़ें: Toothpaste Pregnancy Test: क्या ये प्रेग्नेंसी टेस्ट देता है सही रिजल्ट?

    प्रेग्नेंसी के दौरान स्किन में विभिन्न प्रकार के परिवर्तन होते हैं। अगर आपके पेट के ऊपर निचले हिस्से में एक डार्क लाइन बन जाती है, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। प्रेग्नेंसी के दौरान और स्किन में बदलाव के कारण चेहरे के साथ ही स्तनों के एरोला से लेकर कई त्वचा संबंधी परिवर्तन देखने को मिलते हैं। ये परिवर्तन हॉर्मोन में बदलाव का परिणाम है। पेट के निचले हिस्से तक एक सीधी रेखा जाती है, जो कि सामान्य होती है। आप 23 सप्ताह के बाद इस पर ध्यान दे सकते हैं। बच्चे के जन्म के बाद यह रेखा धीमे-धीमे हट जाती है। आपको प्रेग्नेंसी के दौरान अपने पेट को सूरज की तेज रोशनी से बचा कर रखना चाहिए और त्वचा का भी खास ख्याल रखने की जरूरत होती है।

    बेबी बंप: अम्बलिकल हर्निया की हो सकती है समस्या

    बेबी के बढ़ने के साथ ही बेबी बंप का साइज भी बढ़ने लगता है। इस दौरान बैली बटन में भी उभार आ सकता है। कुछ लोगों को प्रेग्नेंसी के दौरान अंबिलिकल हर्निया की समस्या भी हो सकती है। हालांकि हर्निया किसी समस्या का कारण नहीं बनती है लेकिन कुछ लोगों को इस में दर्द की शिकायत हो सकती है। अगर आपको भी ऐसा महसूस हो रहा है, तो आपको डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए। वैसे तो डिलिवरी के बाद यह समस्या अपने आप ठीक हो जाती है लेकिन अगर आपको फिर भी परेशानी हो रही है, तो बेहतर होगा कि इसे इग्नोर ना करें।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में रहना है हेल्दी, तो आहार में जरूर शामिल करें इन प्रोटीन सोर्सेज को!

    बनाएं बेहतर बॉन्डिंग

    26 सप्ताह तक आप अपने बेबी के साथ बेहतरीन बॉन्डिंग बनाना शुरू कर सकते हैं। आप हाथ फिराकर या फिर कोई पसंदीदा गाना सुना कर अपने बेबी से बेहतर बॉन्डिंग बना सकते हैं। अगर आप बच्चे को कोई गाना सुना रही हैं और ऐसे में अगर बच्चा किक मार दे, तो यह कोई हैरानी की बात नहीं होगी। 26 सप्ताह तक बच्चे के दिमाग का विकास शुरू हो जाता है और बच्चा आसपास की आवाजों को भी सुनने लगता है।

    और पढ़ें: Best pregnancy safe hair dye: प्रेग्नेंसी में इन हेयर डाय का इस्तेमाल है पूरी तरह से सेफ

    आपको बेबी बंप के बारे में जानकारी तो मिल गई होगी। अब आपके मन में यह भी सवाल होगा कि क्या डिलिवरी के बाद भी बेबी बंप रहता है या नहीं। हम आपको जानकारी दे दें कि डिलिवरी के बाद भी बेबी बंप पूरी तरह से नहीं जाता है। जी हां! आपके पेट की मसल्स बढ़ी हुई होती है और इन्हें नॉर्मल होने में कुछ समय लग सकता है। अगर आप डिलिवरी के बाद एक्सरसाइज शुरू कर देते हैं या फिर खान-पान पर ध्यान देते हैं, तो आपके पेट की बढ़ी हुई मांसपेशियां पहले की तरह हो जाती हैं। आपको डिलिवरी के बाद आराम की जरूरत होती है लेकिन आप कुछ समय बाद एक्सरसाइज भी शुरू कर सकती हैं। आप को इस संबंध में डॉक्टर से जानकारी जरूर लेनी चाहिए

    इस आर्टिकल में हमने आपको बेबी बंप (Baby Bump) के बारे में अहम जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की ओर से दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको प्रेग्नेंसी के संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हैलो हेल्थ की वेबसाइट में आपको अधिक जानकारी मिल जाएगी।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    सायकल की लेंथ

    (दिन)

    28

    ऑब्जेक्टिव्स

    (दिन)

    7

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: