पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज कहीं गंभीर कारण तो नहीं!

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज कहीं गंभीर कारण तो नहीं!

    पीरियड्स (Menstrual cycle)… कई महिलाओं के लिए पीरिड्स से जुड़ी कोई परेशानी नहीं होती है, तो वहीं कुछ महिलाओं को ज्यादा ब्लीडिंग या ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge) जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वैसे महिलाओं के लिए पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं इसलिए भी ज्यादा परेशान कर देती है क्योंकि प्रेग्नेंसी की प्रक्रिया भी यहीं से शुरू होती है। इसलिए आज इस आर्टिकल में पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period) से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां आपके साथ शेयर करेंगे।

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period) से जुड़ी जानकरी के पहले यह समझना जरूरी है कि जब लड़की युवा अवस्था में प्रवेश करती है, तो शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं और 12 से 13 वर्ष की आयु में मासिक धर्म की भी शुरुआत हो जाती है।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में हार्ट प्रॉब्लम होने पर, हेल्दी डिलीवरी के लिए रखें इन बातों का ध्यान!

    मेंस्ट्रुअल साइकल या पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period) की समस्या कई महिलाएं फेस करती हैं। ऐसे में यह जानना आवश्यक है कि पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज होना क्या दर्शाता है। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं-

    • ब्राउन डिस्चार्ज क्या है?
    • पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज का कारण क्या है?
    • पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज के सीरियस कारण क्या हैं?
    • डॉक्टर से कब कंसल्ट करना चाहिए?

    चलिए अब पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge) क्या है?

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period)

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ब्राउन डिस्चार्ज प्रायः अनियमित पीरियड्स (Irregular periods) के कारण होने वाली समस्या हो सकती है। हालांकि अगर ब्राउन डिस्चार्ज अत्यधिक हो, तो यह यूटरस के कैंसर (Uterus cancer) या सर्वाइकल कैंसर (Cervical cancer) की ओर भी इशारा करती है। ब्राउन डिस्चार्ज के अलावा महिलाओं को यह भी ध्यान देना चाहिए कि वजायना से गाढ़ा और सफेद, येलो रंग, ग्रीन रंग और यीस्ट इंफेक्शन डिस्चार्ज की भी समस्या देखी जा सकती है।

    और पढ़ें: सावधान! गर्भावस्था में है थैलेसिमिया, तो लापरवाही आपको पड़ सकती है भारी!

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज का कारण क्या है?

    ब्राउन डिस्चार्ज के कई कारण हो सकते हैं, जिसके बारे में आगे समझेंगे।

    प्रेग्नेंट नहीं होने पर ब्राउन डिस्चार्ज के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे:

    • यूटरस से पुराने ब्लड का रिलीज होना।
    • पीरियड्स के शुरुआती स्टेज में ब्राउन डिस्चार्ज होना।
    • ओवुलेशन स्पॉटिंग (Ovulation spotting) होना।
    • पैप स्मीयर टेस्ट (Pap smear) या वजायनल टेस्ट (Vaginal exam) करवाना।
    • इंटरकोर्स (sex) के दौरान ब्राउन डिस्चार्ज होना।

    प्रेग्नेंसी के दौरान ब्राउन डिस्चार्ज के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे:

    • प्रेग्नेंसी के शुरुआती स्टेज में पिंक या ब्राउन डिस्चार्ज कई महिलाओं में देखी जाती है।
    • एक से दो हफ्ते तक पिंक या ब्राउन डिस्चार्ज हो सकती है।

    नोट: प्रेग्नेंसी के दौरान अगर गहरे रंग का ब्राउन डिस्चार्ज हो, तो ऐसे में डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। हालांकि ऐसा नहीं है कि यह कोई गंभीर समस्या है, लेकिन कभी-कभी ऐसी स्थिति एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी (Ectopic pregnancy) या मिसकैरेज (Miscarriage) का भी कारण बन सकती है।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में कब्ज की दवा खानी है, तो रखें सावधानियां, बिना परामर्श के न करें सेवन!

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज के सीरियस कारण (Serious cause of Brown discharge before Period) क्या हैं?

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period)

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज के कई गंभीर कारण हो सकते हैं। जैसे:

    1. पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (Pelvic inflammatory disease)

    पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (PID) महिला रिप्रोडक्टिव ऑर्गेन में होने वाला इंफेक्शन है। यह इंफेक्शन प्रायः तब होता है, जब सेक्शुअली ट्रांसमिटेड बैक्टीरिया महिला की वजायना से यूटरस, फैलोपियन ट्यूब या ओवरी में फैल जाते हैं। यह बैक्टीरिया पहले यूटरस के अंदर प्रवेश करते हैं और फिर इंफेक्शन का कारण बनते हैं। धीरे-धीरे यह इंफेक्शन पेल्विक में फैलने लगता है। वैसे देखा जाए तो पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (Pelvic Inflammatory disease) के लक्षणों को समझना कठिन होता है, जिसकी वजह से बीमारी की जानकारी नहीं मिल पाती है। अगर समस्या गंभीर हो जाए तो पेल्विक एरिया में अत्यधिक दर्द की समस्या हो सकती है और गर्भधारण में कठिनाई हो सकती है।

    2. सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (Sexually transmitted disease)

    मेयो फाउंडेशन फॉर मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (Mayo Foundation for Medical Education and Research) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (Sexually transmitted disease) के होने के कारण भी महिलाओं में पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या देखी जा सकती है। यह ऑर्गनिज्मस के कारण होने वाला इंफेक्शन है, जो यौन गतिविधि और शारीरिक संबंधों के के कारण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में होने की संभावना को बढ़ाता है। कई बार पीड़ित व्यक्ति अनजाने में सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज के लक्षणों को भी समझ नहीं पाते हैं और बीमारी या गंभीर इंफेक्शन (Infection) के शिकार हो जाते हैं।

    3. पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (Polycystic ovary syndrome [PCOS])

    जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी (Johns Hopkins University) द्वारा पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार कुछ महिलाओं में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की वजह से पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या देखी जा सकती है। पीसीओएस पीरियड्स (मासिक धर्म) साइकल, प्रजनन क्षमता, कार्डियक फंक्शन पर भी असर डाल सकता है। इस समस्या के कारण असामान्य या लंबे समय तक पीरियड्स, चेहरे और शरीर पर सामान्य से ज्यादा बाल हो सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि यह परेशानी शरीर में मेल हॉर्मोन को बढ़ाने का काम करती है जिस कारण महिलाओं या लड़कियों में शारीरिक परेशानी शुरू हो जाती है।

    4. सर्वाइकल कैंसर (Cervical cancer)

    अमेरिकन कैंसर सोसायटी (American Cancer Society) द्वारा पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज होना सर्वाइकल कैंसर (Cervical cancer) की ओर इशारा करता है। रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार सर्वाइकल कैंसर का मुख्य कारण वायरस माना गया है। एचपीवी वायरस (ह्यूमन पेपिलोमा वायरस) के कारण इंफेक्शन की समस्या शुरू हो सकती है, जो सर्वाइकल कैंसर का रूप ले सकती है। संक्रमण सेक्शुअल इंटरकोर्स के कारण हो सकता है।

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज के अलग-अलग कारण हो सकते हैं, लेकिन अगर यह समस्या ज्यादा होती है तो किसी गंभीर बीमारी की आशंका हो सकती है। इसलिए पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या को इग्नोर ना करें और डॉक्टर से कंसल्ट करें।

    और पढ़ें: हेल्थ इश्यू के साथ प्रेग्नेंसी को कैसे किया मैनेज, शेयर किया आंचल ने अपना अनुभव हमारे साथ

    पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period) होने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना आवश्यक है?

    अगर किसी महिला को पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या के साथ-साथ निम्नलिखित परेशानी या लक्षण नजर आते हैं, तो डॉक्टर से जल्द से जल्द कंसल्ट करना चाहिए। जैसे:

    • ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge) की समस्या सामान्य से ज्यादा होना।
    • सेक्स (Sex) के बाद ब्राउन डिस्चार्ज होना।
    • दर्द (Pain) या क्रैम्प (Cramping) जैसी तकलीफ होना।
    • वजायना में खुजली (Vaginal itching) होना।

    इन तकलीफों को नजरअंदाज कर आप अनजाने में किसी गंभीर बीमारी को दावत दे सकती हैं। इसलिए इस बारे में डॉक्टर से संपर्क करें।

    अगर आप पीरियड्स या पीरियड्स के पहले ब्राउन डिस्चार्ज (Brown discharge before Period) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जबाव जानना चाहते हैं या अगर आप ऐसी किसी भी शारीरिक परेशानी से गुजर रहीं हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से जल्द से कंसल्ट करना चाहिए। किसी भी बीमारी का इलाज शुरुआती स्टेज में आसानी से किया जा सकता है आपको बीमारी से छुटकारा भी मिल सकती है।

    मासिक धर्म (Menstrual cycle) और महिलाओं के स्वास्थ्य (Women’s health) से जुड़ी जानकारी के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Sayali Chaudhari

    फार्मेकोलॉजी · Hello Swasthya


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 23/12/2021

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement