home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाने में मदद कर सकती हैं टिप्स!

नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाने में मदद कर सकती हैं टिप्स!

नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Moms) बनाना बेहद जरूरी हो जाता है। बच्चे के जम्न के बाद आपको सबकुछ मेसी लग सकता है क्योंकि आपका सारा समय बेबी की केयर करने में ही जाता है। आपकी लाइफ और लाइफस्टाइल पूरी तरह से चेंज हो चुकी होती है। आपको ऐसा भी लग सकता है कि आप अपने नॉर्मल रूटीन में वापस आएंगी भी या नहीं। ऐसे में ये बात तो आप मान लें कि बेबी के बाद आपकी लाइफ जैसी पहले थी वैसी तो नहीं हो पाएगी, लेकिन हां जैसे-जैसे वह बड़ा होगा आपको थोड़ा समय मिलने लगेगा।

नई मां के लिए संतुलन के लिए जब संतुलन बनाने की बात होती है तो अक्सर वर्क और लाइफ बैलेंस की बात की जाती है, लेकिन इनर बैलेंस के बिना किसी प्रकार का संतुलन बनाना मुश्किल है। नई मां के रूप आपके लिए खुद के उन चीजों निगलेक्ट करना आसान हो सकता है, जो आपके लिए महत्वपूर्ण थीं और आगे भी रहेगी, लेकिन इनका प्रभाव आपके व्यक्तित्व पर पड़ सकता है। इसलिए नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Moms) बनाकर रखना जरूरी है। यहां हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं जो नई मां के लिए आत्म संतुलन बनाने में मदद करेंगी।

नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) बनाने में मदद कर सकता है फिजिकल एक्टिव (Physical active) होना

फिजिकली एक्टिव (Physically active) होना आपको एलाइव होने में मदद करता है। खाने की तरह ही बॉडी का मूव करना भी जरूरी है। इसका मतलब ये नहीं कि आप बेबी जन्म के तुरंत बाद कठिन एक्सरसाइज करें या बढ़े हुए वजन को कम करने की कोशिश में जुट जाएं। इसका मतलब ये है कि आप ऐसी कोई भी फिजिकल एक्टिविटी करें जो आपको पसंद हो। यह शॉर्ट वॉक (Short walk) हो सकती है। कुछ समय के बाद दोस्तों के साथ की जाने वाली स्विमिंग (Swimming) हो सकती है या लिविंग रूप में पार्टनर के साथ डांस हो सकता है या कोई भी लाइट एक्टिविटी इससे एक जगह बैठे या लेटे हुए बेबी की देखभाल करने के रूटीन में बदलाव आएगा और आपको अच्छा फील होगा। इससे नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Moms) बनाना भी आसान होगा।

और पढ़ें : शिशु की मालिश से हो सकते हैं इतने फायदे, जान लें इसका सही तरीका

नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) बनाना होगा आसान जब ब्रेन भी होगा एक्टिव

बच्चे के जन्म के बाद नई मां का ध्यान पूरी तरह से बच्चे के ऊपर ही रहता है। बच्चे को ब्रेस्टफीड (Breastfeeding) कराना है, कहीं बच्चे ने डायपर (Diaper) तो गीला नहीं कर दिया, कहीं उसे कोई तकलीफ तो नहीं है उसका दिमाग इन्हीं विचारों से घिरा रहता है। ऐसे में थोड़ी देर के लिए इन चीजों से ध्यान हटाएं। कोई अपना पसंदीदा आर्टिकल पढ़ें, कोई पोडकास्ट सुनें या नॉन पेरेंटिंग या बेबी से संबंधित जो भी आपको पसंद हो वो बुक पढ़ें। आपको दिमाग कुछ ही समय में तरोताजा महसूस करने लगेगा।

नई मां के लिए इनर बैलेंस होगा ईजी जब वह करेगी अपने दिल की बात

न्यू पेरेंटहुड (Parenthood) आइसोलेटिंग हो सकता है, लेकिन सोशल होना मानव जीवन के लिए जरूरी है। ये तो आप जानते ही होंगे जब आप लोगों से अपने मन की बात करते हैं तो बेहतर महसूस करते हैं। अगर ये बातचीत आमने सामने बैठकर हो तो और बेहतर होता है। फिर चाहे वह आपके पार्टनर के साथ डेट हो या किसी क्लोज फ्रेंड के साथ, लेकिन कई बार ऐसा नहीं हो पाता। ऐसे में आप किसी दोस्त को मैसेज कर सकती हैं या किसी रिश्तेदार से बात कर सकती हैं। अगर नई मां को संतुलन बनाने के लिए जो इमोशनल चाहिए वो नहीं मिल पा रहा है तो वह इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन पेरेंटिंग ग्रुप भी जॉइन कर सकती है।

और पढ़ें: नए पेरेंटिंग टिप्स दे रही हैं नेहा धूपिया, न्यू मॉम्स के आएंगे काम

नई मां के लिए संतुलन बनाना होगा आसान अगर निकाल लें सिर्फ 10 मिनट

जॉब और अपने फेवरेट कामों से दूर रहकर बच्चे की देखभाल में पूरा समय बिताना कभी-कभी बोरिंग और परेशाना करने वाला भी हो सकता है। ऐसे में नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) बनाना मुश्किल हो सकता है। इसलिए खुद को नरिश करने के लिए जरूरी है कि खुद के लिए सिर्फ 10 मिनट का समय निकाल लिया जाए और अपने पसंद का काम कर लिया जाए। फिर चाहे वह पेंटिंग हो या राइटिंग, फेवरेट म्यूजिक सुनना हो या वीडियो देखना। ये छोटे-छोटे काम आपको खुशी दे सकते हैं।

नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाने में मदद कर सकती हैं टिप्स!

इनर बैलेंस बनाने के लिए इस फैक्ट को एक्सपेक्ट करना है जरूरी फैक्ट

नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) बनाना आसान तब होगा जब वह इस बात को स्वीकार कर लेगी कि इनर बैलेंस बनाने में समय लगेगा, जिसके लिए प्रयास करने होंगे। अपने लिए और अपनी केयर के प्रति कमिटेड रहना भी बेहद जरूरी होगा। लगातार बेबी की केयर करते हुए, नींद के लिए स्ट्रगल करते हुए आपको यह फील भी हो सकता है कि नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाना बेहद मुश्किल है, लेकिन जब आप हर दिन अपनी आवश्यक जरूरतों को पूरा करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करते हैं और अपने लिए समय निकालते हैं तो आप अपने बेबी की भी बेहतर तरीके से देखभाल कर सकेंगे।

सिर्फ एक दिन हर इनर बैलेंस को बनाने के लिए समय निकालें। आपको कुछ दिनों में ही इसके फायदे मिलेंगे और आपको नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाने के टिप्स नहीं सर्च करने पड़ेंगे।

और पढ़ें: हैलो न्यू मॉम : मैटरनिटी लीव (Maternity Leave) के बाद जा रही हैं फिर से काम करने, तो ध्यान रखें ये बातें

इस टिप्स से नई मां के लिए इनर बैलेंस बनाना होगा थोड़ा और आसान

नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) बनाना तब आसान होगा जब वह अपनी नई आइडेंटिडी को महत्व देने लगेगी। इस फैक्ट को एक्सेप्ट करना भी जरूरी है कि अब आप वो इंसान नहीं हो जो बेबी के बर्थ के पहली थीं। आप एक मां बन चुकी हैं। आपकी प्राथमिकताएं, शेड्यूल, बॉडी और इमोशन में बदलाव होते रहेंगे। अपने बिगड़े हुए फिगर या किसी प्रकार के लॉस पर ध्यान देने की जगह इस शुरुआत के बारे में सोचें। मदरहुड एक ट्रांसफॉर्मेटिव एक्सपीरियंस है जो जबरदस्त व्यक्तिगत विकास को प्रोत्साहित कर सकता है। एक बच्चा होना आपको एक इंस्टेंट रोल मॉडल में बदल देता है। उस तरह के व्यक्ति बनने पर ध्यान दें, जिसे आपका बच्चा फॉलो कर सके।

और पढ़ें: नई मां के जीवन में कुछ इस तरह से लाभदायक है पोस्टपार्टम डूला!

नई मां बैलेंस बनाने के लिए ये टिप्स भी कर सकती हैं ट्राय (New mother can also try these tips to create inner balance)

  • सबसे जरूरी है टाइम मैनेजमेंट इसके लिए आपको एक लिस्ट बनानी होगी और उस काम की टाइमलाइन सेट करनी होगी। अगर आप वर्किंग मदर है तो आपके लिए टाइम मैनेजमेंट और भी जरूरी हो जाता है।
  • इस दौरान अगर आप बच्चे की देखभाल करने में परेशान हो रही हैं तो आप फैमिली की हेल्प दे सकती हैं। साथ ही दाई या आया की मदद भी ले सकती हैं।
  • मार्केट जाने की जगह कुछ दिन ऑनलाइन ही ग्रॉसरी, सब्जी और फलों को मंगा लें।
  • कभी-कभी बाहर से भी खाना ऑर्डर किया जा सकता है जिससे आपको थोड़ा टाइम बच सकता है।
  • पार्टनर से बात करें और आपको कहां पर उनका सपोर्ट चाहिए उन्हें बताएं जब तक आप अपनी परेशानी नहीं बताएंगी वे समझ नहीं पाएंगे।

उम्मीद करते हैं कि नई मां के लिए इनर बैलेंस (Inner Balance for New Mom) क्यों जरूरी है इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Positive Parenting Tips/
https://www.cdc.gov/ncbddd/childdevelopment/positiveparenting/index.html/ Accessed on 28th October 2021

Tertiary studies – time management/
https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/tertiary-studies-time-management/Accessed on 28th October 2021

How to Cope With Challenges of Being a New Mom/
https://www.healthychildren.org/English/ages-stages/baby/Pages/Challenges-of-Being-a-New-Mom.aspx/Accessed on 28th October 2021

Moms’ Mental Health Matters/
https://www.nichd.nih.gov/ncmhep/initiatives/moms-mental-health-matters/moms/Accessed on 28th October 2021

Common emotional problems in parents with new babies/
https://www.healthywa.wa.gov.au/Articles/A_E/Common-emotional-problems-in-parents-with-new-babies/Accessed on 28th October 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/10/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड