home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट टिप्स, आ सकती हैं काम!

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट टिप्स, आ सकती हैं काम!

न्यू मॉम बनना जहां एक ओर खुशी लाता है, वही दूसरी ओर मां के लिए चैलेंज लेकर भी आता है। मेरे लिए मां बनना और फिर से अपने काम (जॉब) को शुरू करना बेहद कठिन रहा है। ये बात सच है कि न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) टिप्स की जानकारी न होने पर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अगर सब कुछ पहले से प्लान किया जाए और परिस्थितियां अपने पक्ष में हो तो काम आसान लगने लगता है। बच्चे को संभालना, घर की जिम्मेदारी और वर्कलोड, इन सभी को पूरी तरह से बिना समस्या के निपटाना मुश्किल होता है। इस आर्टिकल के माध्यम से न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) टिप्स की जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।

और पढ़ें : बच्चे का वैक्सिनेशन, जानें कब और कौन सा वैक्सीन है जरूरी?

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट: समय की कीमत समझें

न्यू मॉम को बहुत कुछ फेस करना पड़ता है। एक वर्किंग मां को बच्चे की देखभाल के साथ ही ऑफिस की ट्रेनिंग, पोषण का ध्यान, हाइड्रेशन, रिकवरी, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, बॉडी हीलिंग, अपने पति के साथ समय बिताना, दोस्त और परिवार के लोगों को समय देना, बिजनेस डीलिंग, स्पॉन्सर ड्यूटी और अच्छी नींद के लिए मेहनत करना होता है। बाकी सब के साथ ही न्यू मॉम के पास भी दिन में तय घंटे ही होते हैं। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) करना बहुत जरूरी होता है।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) ऑर्गनाइजेशन के साथ आगे बढ़ने की चाहत को पूरा कर सकता है। अगर एक मां टाइम को ठीक से मैनेज नहीं कर पाएगी तो उसके लिए घर और बाहर की जिम्मेदारी निभा पाना मुश्किल हो जाएगा। समय की कीमत को समझना और फिर उस पर मेहनत करने से उचित परिणाम मिल सकते हैं। अगर समय पर जरूरी काम नहीं किया बाकी बचे हुए काम भी प्रभावित होते हैं और जरूरी काम करने का समय नहीं मिल पाता है।

उद्देश्य का होना है जरूरी

आपने सुना होगा की टाइम को फालतू मत गंवाओ। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) में ये बात बहुत मायने रखती है। न्यू मॉम के पास चीजों को करने के लिए ज्यादा टाइम की जरूरत होती है। जैसे कि बच्चे को फीड कराना, बच्चे के लिए खाना तैयार करना आदि। अगर आप टाइम को मैनेज करके सब काम करती हैं तो रात में पति के साथ बैठ कर एक घंटे का शो देख सकती है। सोशल मीडिया के युग में हो सकता है कि आपका बहुत सा समय कट जाता हो। सोशल मीडिया से दूर रहकर आप अपना कीमती समय जरूरी कामों में लगा सकती हैं। महत्वपूर्ण कामों को करने की लिस्ट बनाएं। अपने ओवरऑल गोल को पूरा करने के लिए न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) बहुत जरूरी हो जाता है।

और पढ़ें : गर्भनाल की सफाई से लेकर शिशु को उठाने के सही तरीके तक जरूरी हैं ये बातें, न करें इग्नोर

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट: शेड्यूलिंग है जरूरी

मैं चाहती हूं कि हफ्ते में रोजाना एक टाइम मैं बच्चे को अपने हाथ से खाना खिलाऊं। मेरे लिए ये तब बहुत मुश्किल हो जाता है जब मैं काम में व्यस्त होती हूं। सारे कामों की शेड्यूलिंग करने के बाद मेरे लिए काम आसान हो जाता है। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) के साथ ही जरूरी कामों को शेड्यूल करना भी बहुत जरूरी होता है।

वर्किंग मॉम के लिए काम के दौरान बच्चों की देखभाल करना भी महत्वपूर्ण मुद्दा हो सकता है। इसके लिए बेबी के सोने की टाइमिंग और अपने काम की शेड्यूलिंग करना बहुत जरूरी है। जब बच्चा सो रहा होता है तो मां को काम करने के लिए आसानी से समय मिल जाता है। हो सकता है कि रोजाना टाइमटेबल के अनुसार चलना आपको परेशान कर दें, लेकिन कुछ समय बाद आपको इसकी आदत हो जाएगी। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) करके किसी भी काम को करना आधी परेशानियों को दूर कर सकता है।

और पढ़ें इन 5 ऑयल्स से करें शिशु की मसाज, मिलेंगे बेहतर रिजल्ट

काम के दौरान धैर्य बनाएं रखें

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) के दौरान एक और समस्या आती है, जो कि टाइट शेड्यूल की वजह से होती है। दिन में हर घंटे में कोई न कोई काम करना जरूरी होता है। ऐसे में मां बहुत ज्यादा थक जाती है। हो सकता है कि परेशान भी हो जाए। ऐसे समय में 10 मिनट का रिलैक्स लेकर लंबी सांस खींचे और फिर बाहर की ओर सांस छोड़े। आपको बहुत आराम मिलेगा और आसपास से नकारात्मक ऊर्जा भी चली जाएगी। काम के दौरान धैर्य बनाए रखना बहुत जरूरी है। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) के साथ ही खुद को इमोशनल तौर पर संभालना भी जरूरी होता है।

और पढ़ें: कभी आपने अपने बच्चे की जीभ के नीचे देखा? कहीं वो ऐसी तो नहीं?

जीवन की प्राथमिकता क्या है ?

आपके जीवन का प्राथमिकता क्या है ? बच्चे की अच्छी देखभाल, फैमिली के लिए हेल्दी फूड और पति के साथ क्वालिटी टाइम, बेहतरीन करियर। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट के तहत इन्हीं बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। फेसबुक में आने वाले नोटिफिकेशन, बिना जान पहचान के लोगों की शादी का न्यौता स्वीकार करना, सोशल मीडिया में फालतू का समय बिताना आदि न्यू मॉम की प्राथमिकता नहीं होनी चाहिए।

न्यू मॉम को अपनी प्रियॉरिटी को सेट करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से समय कब गुजर जाएगा, पता ही नहीं चेलेगा। समय बर्बाद होने से प्राथमिकता वाले काम अधूरे रह सकते हैं। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) का पाठ अच्छी तरह याद कर लेना बेहद जरूरी है तभी वह घर और ऑफिस से तालमेल मिलाकर चल पाएगी।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट पार्टनर भी करेगा

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) का काम सिर्फ महिला के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं है। पार्टनर के लिए भी इसमें हिस्सा लेना जरूरी है। अगर कपल वर्किंग है तो दोनों के लिए साथ में टाइम मैनेज करना बहुत जरूरी है। कठिन समय में पार्टनर का साथ काम आसान कर देता है। दोनों लोगों को अपने काम के अनुसार बच्चे के लिए भी टाइम सुनिश्चित कर लेना चाहिए। हो सके तो आप पार्टनर के ऑफिस टाइम के पहले या बाद में अपने काम का समय तय कर सकती हैं। ऐसा करने से दोनों लोगों को सुविधा होगी। न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) में अगर पार्टनर का साथ मिल जाए तो मुश्किलें हल हो जाती हैं।

और पढ़ें : शिशु की मालिश से हो सकते हैं इतने फायदे, जान लें इसका सही तरीका

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट : बढ़ा दें ऑनलाइन डिपेंडेंसी

न्यू मॉम को एक साथ कई सारे काम मैनेज करने पड़ते हैं। ऐसे में बहुत से काम होते हैं जो अधिक समय लेते हैं। हो सकता है कि आपको प्रेग्नेंसी के पहले सारा जरूरी सामान शॉप जाकर ही खरीदना पसंद हो। अब इस आदत को बदलना सही रहेगा। बच्चे के लिए जरूरी सामान से लेकर रोजाना यूज होने वाले सामान की लिस्ट बनाएं। ये सभी जरूरी सामान ऑनलाइन ही परचेज करें।

ऐसा करने से आपका बहुत सा समय बच जाएगा। अगर घर के काम को करने में समस्या आ रही हो तो ऐसे में मेड रखना उचित रहेगा। सभी कामों को एक साथ करने की कोशिश न करें। उन कामों को प्राथमिकता की लिस्ट में आगे रखें जो बहुत जरूरी है। बाकी काम को वीकेंड के लिए छोड़ा जा सकता है। काम से ब्रेक लेकर घूमने जाना भी बेहतरीन ऑप्शन है। इससे आपका मूड कुछ ही समय में फ्रेश हो जाएगा।

न्यू मॉम के लिए टाइम मैनेजमेंट (Time management for new mom) करना बहुत जरूरी होता है। अगर पार्टनर के साथ मिलकर काम किया जाए तो चीजों को मैनेज करने में समय नहीं लगता है। आप इसके लिए किसी जानकार की मदद भी लें सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/10/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड