backup og meta

नई मां के जीवन में कुछ इस तरह से लाभदायक है पोस्टपार्टम डूला!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/09/2021

नई मां के जीवन में कुछ इस तरह से लाभदायक है पोस्टपार्टम डूला!

आप चाहे कितने भी अनुभवी क्यों न हों, लेकिन एक नए बच्चे की जिम्मेदारी का मतलब है आपके जीवन में और रूटीन में बदलाव और हर काम को करने का आपका तरीका बदलना। गर्भावस्था में चाहे दिन उत्साह से भरे होते हैं लेकिन प्रसव के बाद यह समय जिम्मेदारियों को भी अपने साथ ले कर आता है। प्रसव के बाद नई मां को किसी न किसी व्यक्ति की सहायता अवश्य चाहिए होती है, ताकि वो न केवल इस समय पर अपने बच्चे का सही से ख्याल रख सके बल्कि अपनी भी देखभाल कर सके। खासतौर पर जब आपकी सिजेरियन डिलीवरी (Cesarean Delivery) हुई हो या आपमें शिशु के जन्म से जुडी अन्य जटिलताएं हो। ऐसे में पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) ऐसा नाम है जो आपको सपोर्ट प्रदान कर के इस मुश्किल समय में भी आपके जीवन को आसान बना सकता है।

जानिए, पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) के बारे में विस्तार से। प्रेगनेंसी में डूला की मदद (Doula Help) से आप इस मुश्किल और जीवन के खूबसूरत दौर को यादगार व आसान बना सकते हैं।

पोस्टपार्टम डूला किसे कहते हैं? (What is Postpartum Doula)

अगर आप पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) से परिचित न हों तो घबराएं नहीं, क्योंकि आप अकेले नहीं हैं। कई लोग इस शब्द से परिचित नहीं होते। पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) एक ग्रीक शब्द है, जिसका अर्थ है “जो सेवा करता हो”। पोस्टपार्टम डोलस (Postpartum Doulas) किसी ऐसे व्यक्ति को कहते हैं जो पोस्टपार्टम पीरियड के दौरान एक महिला और उसके परिवार को शारीरिक, भावनात्मक और इन्फॉर्मेशन सपोर्ट प्रदान करता है। आप पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) एक अनुभवी प्रोफेशनल्स को भी कह सकते हैं, जो प्रसव के बाद मां की जरूरतों को समझता हो और उसकी हर मुश्किल को आसान बनाने में मदद करता हो।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस का असर पड़ सकता है भ्रूण के मष्तिष्क विकास पर

पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doulas) किस तरह से मददगार है? 

प्रेगनेंसी में एक डूला की मदद से नए माता-पिता का जीवन आसान हो सकता है। हालांकि, बहुत से लोगों को यह पता नहीं है कि यह पोस्टपार्टम डूलास (Postpartum Doulas) उनकी क्या मदद कर सकते हैं? पोस्टपार्टम डूलास (Postpartum Doulas) अपने क्लाइंट्स को कई सर्विस देते है और उनका सबसे मुख्य काम है होने वाली मां और उनके पूरे परिवार की मदद करना ताकि नए शिशु का जीवन बेहतर बने। इसमें नई मां और पिता को अपनी भूमिकाओं को लेकर अधिक आत्मविश्वास महसूस कराने, फैमिली एडजस्टमेंट में मदद करना आदि शामिल है। पोस्टपार्टम इस तरह से आपके लिए मददगार साबित हो सकती है:

पोस्टपार्टम डौला

  • पोस्टमार्टम डूलास (Postpartum Doulas) आपके प्रसव और गर्भावस्था के समय को बेहतर बनाने का दावा नहीं करते हैं । लेकिन, वे आपको एक स्वस्थ और बेहतर लेबर (Labor) और प्रसव का अनुभव कराने में मदद कर सकते हैं। हो सकता है कि प्रसव के बाद आपके प्रसव के अनुभवों को आपका परिवार या दोस्त सुनने में दिलचस्पी न दिखाएं । वो यह न जानना चाहें की प्रसव के समय आप किन-किन मुश्किलों से गुजरी हैं । लेकिन एक पोस्टमार्टम डूला (Postpartum Doula) यह सब सुनता है और आपके इन अनुभवों से आपको उबरने में मदद करता है। वो नई मां के दिनों और यादों को मीठा बनाने की पूरी कोशिश करता है।
  • आप अपनी और अपने शिशु की देखभाल केवल अस्पताल तक ही नहीं करते। बल्कि, अस्पताल से घर आने के बाद भी आपको इस देखभाल की जरूरत होती है। हालांकि आपका डूला  आपको मेडिकल हेल्प नहीं दे सकता, न ही मेडिकल सलाह दे सकता है। लेकिन, उनका अनुभव आपके हर फैसले में आपकी मदद कर सकता है और यही नहीं इससे आपको आपने हर विकल्प के लिए भी आत्मविश्वास पाने में मदद मिल सकती है।

पोस्टपार्टम डौला

और पढ़ें: गर्भावस्था में ओरल केयर न की गई तो शिशु को हो सकता है नुकसान

  • पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) आपके लिए ब्रेस्टफीडिंग सपोर्ट की तरह काम करता है। हों सकता है कि आपने अभी तक ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) के बारे में सुना या पढ़ा ही हों। लेकिन, इसमें किसी अनुभवी व्यक्ति की मदद मिलना बहुत बड़ी बात होती है। डूला  आपको न केवल इसमें मदद करेगा बल्कि आपको पूरी जानकारियां भी प्रदान करेगा।
  • पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) पेरेंटहुड को आसान बना सकता है। यह सच है कि इन्हें हायर करने के बाद आप अपने जीवन में बड़ा बदलाव महसूस करेंगे। क्योंकि, इस समय मिलने वाला इमोशनल स्पोर्ट (Emotional Support) आपको और आपके शिशु को एक-दूसरे के और करीब लाएगा और आप अपने जीवन को एक नए नजरिये को महसूस कर पाएंगे
  • इसके साथ ही नई मां को न केवल अन्य लोगों की काम में मदद चाहिए होती है बल्कि वो नए माहौल और रूटीन में एडजस्ट होने में भी कुछ समय और किसी की सहायता चाहती है। ऐसे में पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) इसमें भी आपकी मदद कर सकता है। प्रेगनेंसी में डूला  की मदद आपके लिए बेहद लाभदायक और आपका सबसे अच्छा निर्णय साबित होगी।
  • बच्चे से जुड़ी हर बात जैसे बोतल फीडिंग (Bottle Feeding), विभिन्न स्थितियों में फीडिंग बेबी, बच्चे को नहलाना, डायपर बदलना आदि में भी आपको कोई अनुभव न होने पर परेशान न हो। क्योंकि अगर आपके एक पोस्टमार्टम डूला (Postpartum Doula) को हायर किया है तो वो इसमें आपकी मदद कर सकता है।
  • Quiz: प्रेग्नेंसी के बारे में कितना जानते हैं आप?

    • डूला  होने से आप खुद के लिए भी समय निकाल सकती हैं। बच्चे की जिम्मेदारियों के कारण नई मां खुद के लिए समय नहीं निकाल पाती। इसके साथ ही न वो अच्छे से सो पाती है या ही नहा पाती है और न ही कोई अन्य काम कर पाती है। लेकिन, पोस्टमार्टम डूला  (Postpartum Doula) आपकी इन जिम्मेदारियों को कम कर सकता है। वो जब मां नहाने, सोने या खुद के लिए समय चाहती है तो शिशु का ख्याल रखती है। इसके साथ ही जब माता-पिता को एक-दूसरे के लिए समय चाहिए होता है तो उसमे भी मदद कर सकती है।
    • पोर्स्टपार्टम डूला आपके स्वास्थ्य के लिए भी अच्छी है। पोस्टपार्टम के बाद मूड डिसऑर्डर जैसे डिप्रेशन (Depression) या एंग्जायटी (Anxiety) आदि सामान्य है। ऐसे में, न केवल पोस्टमार्टम डूला (Postpartum Doula) आपके बच्चे की देखभाल करते हैं। लेकिन वे आपके स्वास्थ्य की भी पूरी देखभाल करते हैं। आपकी हाइड्रेशन (Hydration), न्यूट्रिशन (Nutrition) या नींद (Sleep) भी उनकी प्राथमिकता होती है। क्योंकि, अगर मां खुश नहीं होगी तो वो बच्चे और अन्य लोगों को खुश नहीं रख सकती

    अगर आप डूला को हायर कर रहे हैं, तो यह पिता के लिए कैसे फायदेमंद है?

    हालांकि, प्रसव या गर्भावस्था या बाद में पिता का महत्व कम नहीं होता। लेकिन, अगर आपकी बर्थ टीम में एक डूला होगा तो वो पिता को कम्फर्ट तकनीक के माध्यम से प्रेरित करेगा और इस मुश्किल घडी में की भी मदद करेगा। इसके साथ ही पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) पिता को इमोशनली भी सपोर्ट करेगा। यानी, पोस्टपार्टम डूला न केवल मां बल्कि पिता के लिए भी उतना ही फायदेमंद है।

    और पढ़ें :प्रेग्नेंसी में स्ट्रेस का असर पड़ सकता है भ्रूण के मष्तिष्क विकास पर

    पोस्टपार्टम डौला

    अन्य तरह के डूलास क्या हैं ?

    पोस्टपार्टम डूलास की तरह ही एंटेपार्टम डूलास (Antepartum Doulas) उस मां को सहायता प्रदान करता है जिसे बेड रेस्ट कहा गया है या जिसकी गर्भावस्था में जटिलताएं हों। वे इन परिस्थितियों में सूचनात्मक, भावनात्मक, शारीरिक और व्यावहारिक सहायता प्रदान करते हैं, जो अक्सर तनावपूर्ण, भ्रामक और भावनात्मक रूप से हानिकारक होती हैं।  अगर आप भी अपने लिए पोर्स्टपार्टम डूला  (Postpartum Doula) हायर करने की सोच रहे हैं। तो इस बात का ध्यान रखें कि ऐसे डूला को हायर करें, जिसने अपनी शिक्षा और ट्रेनिंग पूरी की हों इसके साथ ही जिसे ब्रेस्टफीडिंग (Breast feeding), शिशु की नींद संबंधी आदतों, पोस्टपार्टम मूड डिसऑर्डर (Postpartum Birth Disorder) और बर्थ और पोस्टपार्टम हीलिंग (Birth and Postpartum Healing) आदि के बारे में पूरी जानकारी हों। इसके साथ ही उसे यह भी पता हों कि शिशु के साथ परिवार को सपोर्ट कैसे करना है।

    और पढ़ें: पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान आपके साथ क्या-क्या होता है?

    पोस्टपार्टम डूला (Postpartum Doula) आमतौर पर जन्म के पहले हफ्ते बाद सपोर्ट प्रदान करता है। वे बच्चे को खिलाने और देखभाल करने के बारे में मां और परिवार को इन्फॉर्मेशनल सहायता प्रदान करते हैं। वे एक मां की हर संभव मदद करते हैं जो उसे उस दौरान चाहिए होती है। इससे न केवल शिशु, मां बल्कि पूरे परिवार को शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। सबसे जरूरी बात यह है कि अगर डूला  की सेवाएं पाने के बाद अगर आपको लगता है कि सच में उनसे आपको फायदा हुआ है और वो एक ऐसे जरूरी रिसोर्स हैं जो हर नए माता-पिता के लिए जरूरी हैं तो इसके बारे में अन्य लोगों को जरूर बताएं।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    AnuSharma द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/09/2021

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement