पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान आपके साथ क्या-क्या होता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

अगर आप पहली बार गर्भवती हुई हैं, तो आपकी पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप का शेड्यूल आपके लिए काफी उलझन भरी भी हो सकती है। पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान आपको कब डॉक्टर के पास जाना चाहिए, अपने डॉक्टर से किस तरह के सवाल पूछ सकते हैं जैसे कई सवाल आपके मन को परेशान कर सकते हैं। इसके अलावा, पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान डॉक्टर आपके शरीर के किन अंगों की जांच करेंगे या आपके डॉक्टर आपसे किस तरह के सवाल पूछ सकते हैं, इसे भी लेकर मन में कई आशंका हो सकती है।

तो चलिए हैलो स्वास्थ्य के इस आर्टिकल में आप पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप से जुड़े अपने सभी सवालों के जवाब जान सकती हैं। पढ़ें ये आर्टिकल।

यह भी पढ़ेंः गर्भावस्था में लिनिया नाइग्रा: क्या ये प्रेग्नेंसी में त्वचा संबधी बीमारी है?

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप क्या है?

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप से मतलब है कि, गर्भधारण करने के बाद पहली बार अपनी शारीरिक जांच कराने के लिए डॉक्टर से संपर्क करना। कई महिलाएं प्रेग्नेंसी धारण करने से पहले अपने डॉक्टर की उचित सलाह लेती हैं और जरूरी टेस्ट भी करवाती हैं। लेकिन अगर आप गर्भवती होने से पहले अपने डॉक्टर से नहीं मिली थीं, तो आपको अपनी पिछले माह के आए मासिक धर्म के लगभग 8 सप्ताह बाद अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। अगर इन 8 सप्ताह के बाद भी आपको पीरियड्स नहीं आते हैं और प्रेग्नेंसी किट से घर पर प्रेग्नेंसी पॉजिटिव का रिजल्ट आता है, तो ऐसी स्थिति में आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। अगर आप इस दौरान गर्भवती हुई, तो इसे आप पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप ही मान सकती हैं। इसके अलावा भले ही आपने प्रेग्नेंसी कंसीव करने से पहले अपने डॉक्टर की पूरी सलाह ली थी, इसके बाद भी आपको गर्भधारण करने के लगभग आठ हफ्तों में अपने डॉक्टर से पास अपनी पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए जाना चाहिए।

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए कहां जाएं?

कोशिश करें कि आपने जहां पर पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए विजिट किया है, बच्चे के जन्म तक वहीं पर विजिट करें। ताकि, आपके डॉक्टर को आपके गर्भावस्था की पिछली सारी जानकारियां मौजूद हों। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर का चुनाव बेहतर तरीके से करना चाहिए। इसके लिए आप अपने परिवार की मदद और सलाह ले सकते हैं। अगर आपके कोई फैमिली डॉक्टर हैं, तो आप उनकी भी मदद ले सकते हैं। अगर आप शर्मिली स्वभाव की हैं, तो आप अपने लिए किसी महिला डॉक्टर का भी चुनाव कर सकते हैं। लेकिन, एक बात का ध्यान रखें कि, आपने जिस भी डॉक्टर का चुनाव किया है आपको उन्हें अपनी प्रेग्नेंसी और शारीरिक बदलाव के साथ-साथ मानसिक बदलाव के बारे में भी पूरी जानकारी देनी होगी। तभी वो आपके लक्षणों के अनुसार आपके शरीर की उचित देखभाल कर पाएंगे।

यह भी पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में ड्रैगन फ्रूट खाना सेफ है या नहीं?

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए खुद को कैसे तैयार करें?

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए आपको कैसे खुद को तैयार करना चाहिए, इसके लिए आप अपने घर के बड़े और अनुभवी सदस्यों की भी मदद ले सकते हैं। साथ ही, करीबी दोस्तों से भी सलाह ले सकते हैं। इसके अलावा आपको कुछ जरूरी बातों पर भी ध्यान देना चाहिए, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

  • अगर आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो उसे नोट करें, जैसे- डायबिटीज, बीपी की समस्या, अस्थमा या अन्य
  • आपका दैनिक आहार
  • अगर आप किसी भी तरह के हर्बल्स या ड्रग्स का इस्तेमाल करते हैं, तो उनकी जानकारी नोट करें
  • आप अपना दिन सामान्य तौर पर कैसे बिताते हैं, जैसे- आपकी शारीरिक गतिविधियां
  • शारीरिक संबंध में सक्रियता
  • कोई पुरानी स्वास्थ्य समस्या या सर्जरी, जिसका हाल ही में आपने उपचार करवाया हो
  • आपके परिवार के स्वास्थ्य की हेल्थ हिस्ट्री
  • कोई आनुवांशिक बीमारी
  • आपके साथी या उसके परिवार में किसी को आनुवंशिक विकार का इतिहास
  • आपके गर्भवती होने का तरीका, यानी आप अपने साथी के शुक्राणु या अंडे से गर्भवती हुई हैं, या डोनर की मदद से, आदि।

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए क्लीनिक में मुझे किसके साथ जाना चाहिए?

पहली बार गर्भवास्था से जुड़ी जांच कराने जा रही हैं, तो अपने साथी को साथ ले जाएं। साथ ही, घर के किसी बड़े और अनुभवी सदस्या को भी साथ ले जाएं। ताकि आपकी स्थिति और डॉक्टर द्वारा बताई गई सलाह को अच्छे से समझने में वे आपकी मदद कर सकें। हालांकि, अगर आप दूसरी प्रेग्नेंसी के दौरान पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के लिए जा रही हैं, तो आप सिर्फ साथी के साथ या अकेले भी जा सकती हैं। क्योंकि, पहली बार किसी अनुभवी को साथ ले जाने से मलतब होता है कि उन्हें इस बात का अंदाजा होता है कि, इस दौरान किन बातों के बारे में डॉक्टर से जरूर पूछना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः गर्भावस्था से ही बच्चे का दिमाग होगा तेज, जानिए कैसे?

पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान क्या होगा?

आमतौर पर अगर कोई किसी डॉक्टर के पास पहली बार अपनी गर्भावस्था की जांच कराने जाता है, तो डॉक्टर के पास भी इसके लिए एक लिस्ट हो सकती है। जिसमें उनकी सारी प्रक्रियाएं हर किसी के लिए समान हो सकती हैं, जिसमें शामिल हो सकती हैंः

आपकी जांच करना

  • सबसे पहले डॉक्टर आपके शरीर का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण करेंगे। इस दौरान वे आपके दिल के धड़कने की दर, फेफड़े के कार्य, स्तन और पेट में आए बदलाव की जांच कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपके शरीर का कद, वजन और ब्लड प्रेशर की भी जांच कर सकते हैं।
  • प्रग्नेंसी के दौरान आपको किस तरह के जोखिम हो सकते हैं, इसकी जांच करन के लिए वे पैल्विक टेस्ट भी कर सकते हैं। जिसमें डॉक्टर गर्भाशय के आकार और आपके श्रोणि के आकार का आकलन कर सकते हैं।

मेडिकल टेस्ट करना

  • फिर आपके गर्भावस्था की जांच करने के लिए डॉक्टर यूरिन टेस्ट कर सकते हैं। ताकि क्लीनिकल तौर पर आपके प्रेग्नेंसी की जांच की जा सके। इसके अलावा ब्लड टेस्ट भी कर सकते हैं।
  • यूरिन टेस्ट से आपके मूत्र में प्रोटीन, ग्लूकोज, श्वेत रक्त कोशिकाओं, खून और बैक्टीरिया की जांच की जा सकती है।
  • ब्लड टेस्ट से आपके खून का प्रकार और आरएच की स्थिति निर्धारित करने और एनीमिया की जांच करने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, गर्भावस्था के दौरान कुछ बीमारियों, जैसे- रूबेला और चिकन पॉक्स से आपके शरीर की सुरक्षा करने के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कितनी मजबूत है और शरीर में विटामिन डी की कमी का भी पता लगाया जा सकता है।
  • जेनेटिक कैरियर स्क्रीनिंग टेस्ट करेंगे। जिससे आनुवंशिक स्थितियों का पता लगाया जा सके।
  • एसटीडी टेस्ट भी किया जाएगा। ताकि, गर्भावस्था के दौरान मां और बच्चा दोनों ही सुरक्षित तरीके से विकास करें। इससे आपके डॉक्टर हेपेटाइटिस बी, सिफलिस, गोनोरिया, क्लैमाइडिया और एचआईवी जैसे यौन संचारित संक्रमणों का पता लगा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से शिशु को हो सकता है नुकसान

पहली बार गर्भावस्था का चेकअप कराने के लिए मुझे किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

इस दौरान आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए, जैसेः

  • आपको ढीलें कपड़े पहन कर जाना चाहिए। ताकि, सामान्य शारीरिक जांच में आपको और डॉक्टर को आसानी हो।
  • क्लीनिक विजिट से पहले अपाइमेंट फिक्स कराएं। ताकि, वहां जाकर आपको अधिक इंतजार न करना पड़े।
  • अगर आप गर्भवती हैं, तो आपको इस दौरान क्या खाना चाहिए, क्या नहीं, इससे जुड़े सवालों की लिस्ट बनाएं। ताकि, आप डॉक्टर से इन जरूरी बातों को पूछना न भूलें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ेंः-

प्रेग्नेंसी के दौरान खराब पॉश्चर हो सकता है मां और शिशु के लिए हानिकारक

रमजान का महीना जानें प्रेग्नेंसी में उपवास या रोजा कैसे करें?

प्रेग्नेंसी में पानी का सेवन गर्भवती महिला और शिशु के लिए कैसे लाभकारी है?

जानें मिसकैरेज से कैसे बाहर आएं?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Autrin: ऑट्रिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ऑट्रिन दवा की जानकारी in hindi. डोज, साइड इफेक्ट्स, उपयोग, सावधानियां और चेतावनी के साथ रिएक्शन जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Ovral L: ओवरल एल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ओवरल एल की जानकारी in hindi वहीं इस दवा के साइड इफेक्ट के साथ चेतावनी, डोज, किन बीमारी और दवाओं के साथ कर सकता है रिएक्शन, स्टोरेज कैसे करें के लिए पढें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 12, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

प्रेग्नेंसी के दौरान अल्फा फिटोप्रोटीन टेस्ट(अल्फा भ्रूणप्रोटीन परीक्षण) करने की जरूरत क्यों होती है?

अल्फा भ्रूणप्रोटीन परीक्षण करना क्यों है जरूरी? जानिए अल्फा फिटोप्रोटीन टेस्ट अगर पोजिटिव आए तो क्या है निदान। Alpha fetoprotein test in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta

प्रेगनेंसी में कॉफी पीना फायदेमंद या नुकसानदेह?

प्रेग्नेंसी में कॉफी का सेवन करना चाहिए या नहीं, जाने कॉफी की सही मात्रा कितनी होती है। Intake of coffee during pregnancy in Hindi.

के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 19, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

मैटरनिटी लीव क्विज - maternity leave quiz

मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अगस्त 24, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी के दौरान रागी के सेवन से से लाभ होता है

प्रेग्नेंसी में रागी को बनाएं आहार का हिस्सा, पाएं स्वास्थ्य संबंधी ढेरों लाभ

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ जुलाई 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
7 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट

क्या है 7 मंथ प्रेग्नेंसी डाइट चार्ट, इस अवस्था में क्या खाएं और क्या न खाएं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 13, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
सेक्स के बाद गर्भावस्था के लक्षण

सेक्स के बाद कितनी जल्दी हो सकती हैं प्रेग्नेंट? जानें यहां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ जून 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें