backup og meta

ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स लेने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

Written by डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


अपडेटेड 23/12/2021

ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स लेने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

ब्रेस्टफीडिंग में मां और बच्चे के लिए पोषक तत्चों की जरूरतें प्रेग्नेंसी की तरह ही होती हैं। इसलिए, नई मां को उन सभी चीजों को लेने की सलाह दी जाती है, जिनका सेवन वे गर्भावस्था के दौरान करती थी। ऐसा भी माना जाता है कि ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को रोजाना प्रेग्नेंसी की तुलना में दो सौ कैलोरीज की अधिक जरूरत होती है। ऐसे ही, प्रेग्नेंसी के साथ ही ब्रेस्टफीडिंग के दौरान भी हर महिला के लिए विटामिन्स को सही मात्रा में लेना जरूरी है। कई परिस्थितियों में विटामिन सप्लिमेंट्स लेने की सलाह भी दी जा सकती है। आज हम बात करने वाले हैं ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) के बारे में। ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) से पहले विटामिन ए के बारे में जान लेते हैं।

विटामिन ए लेना क्यों जरूरी है? (Vitamin A)

अगर आप यह सोचते हैं कि विटामिन ए सिंगल थिंग है, तो आप गलत हैं। क्योंकि, यह असल में फैट सॉल्युबल कंपाउंड्स (Fat soluble compounds) का ग्रुप है। विटामिन ए की दो फॉर्म्स होती हैं। एक प्राइमरली एनिमल प्रोडक्ट्स में पाया जाता है और सेकेंडरी प्लांट प्रोडक्ट में पाया जाता है। उपयोग करने के लिए, विटामिन ए के दोनों रूपों को रेटिनॉल (Retinol) और रेटिनोइक एसिड (Retinoic acid) में परिवर्तित किया जाता है। एक बार जब यह हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है, तो हमारे सिस्टम में अधिकांश विटामिन ए तब तक लीवर में जमा हो जाता है, जब तक कि यह टूटकर ब्लडस्ट्रीम में प्रवेश नहीं कर लेता। विटामिन ए इन सब अंगों या हमारे शरीर के कार्यों लिए महत्वपूर्ण है

  • विजन (Vision)
  • हेल्दी ऑर्गन टिश्यूज की प्रमोशन (Promotion of healthy organ tissues)
  • इम्युनिटी सपोर्ट (Immunity support)
  • हेल्दी रिप्रोडक्शन (Healthy reproduction)
  • यह तो थी वयस्कों में विटामिन ए के बारे में जानकारी। अब जानते हैं कि बच्चों के लिए यह क्यों जरूरी है?

    और पढ़ें: शिशु को स्तनपान कैसे और कितनी बार कराएं, जान लें ये जरूरी बातें

    बच्चों के लिए विटामिन ए क्यों आवश्यक है? (Vitamin A for children)

    जैसा कि आप जान ही गए होंगे कि विटामिन ए विजन, ग्रोथ और इम्यूनिटी के लिए जरूरी है। बच्चों के लिए भी यह बेहद आवश्यक है। जब शिशु जन्म लेता है तो उसके शरीर में विटामिन ए (Vitamin A) कम मात्रा में स्टोर होता है। लेकिन, छोटे बच्चे के विजन को विकसित करने, सही ग्रोथ और स्ट्रांग इम्यूनिटी के लिए उसे अधिक मात्रा में विटामिन ए की जरूरत होती है। ऐसे में, अगर मां के आहार में विटामिन ए (Vitamin A) की कमी है, तो उसका ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) का सेवन करना बेहद जरूरी है। पर्याप्त विटामिन ए का सेवन न करने से छोटे बच्चों को बहुत अधिक नुकसान हो सकता है। इसके कारण बच्चों में होने वाली समस्याएं इस प्रकार हैं:

    अब जानते हैं कि ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) लेना सुरक्षित है या नहीं?

    और पढ़ें: विभिन्न प्रसव प्रक्रिया का स्तनपान और रिश्ते पर प्रभाव कैसा होता है

    ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स लेना सुरक्षित है या नहीं? (Vitamin A supplements in Breastfeeding)

    अगर आप गर्भवती हैं या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं, तो अधिकतर मामलों में विटामिन ए सप्लीमेंट (Vitamin A Supplements) लेना जरूरी नहीं माना जाता है। क्योंकि, ब्रेस्टफीडिंग में हेल्दी डायट और इसके साथ ही प्रीनेटल विटामिन लेने से आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए मिल जाता है। बहुत कम संभावना होती है कि आपके लिवर में विटामिन ए अपर्याप्त मात्रा में स्टोर हो या आप अपनी डायट के माध्यम से इसे पर्याप्त मात्रा में न पाएं। लेकिन, अगर आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए (Vitamin A) नहीं मिल रहा हो तो आपको ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) की जरूरत हो सकती है। हालांकि, ऐसा बेहद दुर्लभ है।

    अगर आपको लगता है कि गर्भावस्था या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आपको पर्याप्त विटामिन ए नहीं मिल पा रहा है, तो विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements) को लेने से पहले आप अपने डॉक्टर से बात अवश्य करें। इस स्थिति में डॉक्टर आपकी जांच कर सकते हैं और उसके बाद आपका सही मार्गदर्शन कर सकते हैं कि आपको ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) लेने चाहिए या नहीं। जानिए विटामिन ए के फूड सोर्स के बारे में।

    ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लीमेंट्स

    और पढ़ें: स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और रीलैक्टेशन इंड्यूस्ड लैक्टेशन

    विटामिन ए के फूड सोर्स कौन से हैं?(Food sources for Vitamin A)

    ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) को लेने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि वो कौन से फूड सोर्स हैं, जिन्हें लेने से आप पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए को प्राप्त कर सकते हैं। विटामिन ए का प्रकार इसके सोर्स पर निर्भर करता है। जैसे रेडी मेड रेटिनॉल  (Ready-made retinol) जो विटामिन ए (Vitamin A) की एक्टिव फॉर्म है। यह सिर्फ एनिमल सोर्स से प्राप्त होता है। रेटिनॉल के बेहतरीन स्त्रोत इस प्रकार हैं :

    प्लांट बेस्ड फूड्स में कैरोटीनॉयड (Carotenoids) शामिल है। जिसमें विटामिन ए एंटीऑक्सीडेंट फॉर्म में होता है। शरीर इन्हें जरूरत के मुताबिक रेटिनॉल में बदल देता है। कैरोटीनॉयड (Carotenoids) एक ऑरेंज पिग्मेंट है, जो फल और सब्जियों को रंग प्रदान करता है। फल और सब्जियां जिनमें कैरोटीनॉयड पर्याप्त मात्रा में होता है, वह ऑरेंज रंग के होते हैं। इनमे यह फल और सब्जियां शामिल हैं:

    प्लांट फूड जिनमें बीटा-कैरोटीन (Beta-carotene) अधिक मात्रा में होता है। उनमें कुछ हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल हैं, जैसे:

    और पढ़ें: क्या स्तनपान के दौरान पपीता खाना सुरक्षित है?

    उम्मीद है कि आप ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) के महत्व के बारे में जान गए होंगे। नेशनल इंस्टीटूट्स ऑफ़ हेल्थ ( National Institutes of Health) के अनुसार अगर आप ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं, तो आपको रोजाना अपनी डायट में 1,200 to 1,300  मायक्रोग्राम विटामिन ए लेने की सलाह दी जाती है। हालांकि, इसमें उम्र का भी ध्यान रखा जाता है। अगर आप नेचुरल सोर्स से इसकी पर्याप्त मात्रा प्राप्त नहीं कर पा रही हैं तो आप डॉक्टर से इस सही मात्रा के बारे में जानने के लिए  सलाह ले सकती हैं। कई मामलों में जैसे अगर आप गर्भवती नहीं हैं या ब्रेस्टफीडिंग नहीं करा रही हैं तो सामान्य रूप से डॉक्टर 700 माइक्रोग्राम विटामिन ए (Vitamin A) लेने के लिए कहते हैं। लेकिन, इसको अधिक मात्रा में लेना शिशु और वयस्कों दोनों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। जानिए इसके बारे में।

    और पढ़ें: स्तनपान में कच्चा पपीता खाने के फायदे और सावधानी

    ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स से बच्चों के लिए साइड-इफेक्ट्स (Side effects of Vitamin A supplements in Breastfeeding)

    फैट सॉल्युबल विटामिन्स जैसे विटामिन ए ब्रेस्ट मिल्क में कंसन्ट्रेट हो सकता है और अधिक मात्रा में विटामिन ए शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। अन्य शब्दों में कहा जाए, तो अपनी मर्जी से ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) को न ले। बच्चों को विटामिन ए को पचाने में समस्या होती है। इस स्थिति में आप अपने बच्चे में यह समस्याएं नोटिस कर सकते हैं:

    • स्कल बॉन का सॉफ्ट होना (Softening of their skull bone)
    • आईबॉल्स में उभार (Bulging of their eyeballs)
    • वजन बढ़ाने में असमर्थता (Inability to gain weight)

    अब जानते हैं कि अधिक विटामिन ए का सेवन करने से वयस्कों को क्या परेशानियां हो सकती हैं?

    और पढ़ें: कई महीनों और हफ्तों तक सही से दूध पीने वाला बच्चा आखिर क्यों अचानक से करता है स्तनपान से इंकार

    अधिक विटामिन ए सप्लिमेंट्स के वयस्कों में साइड इफेक्ट्स (Side effects of too much vitamin A in adults)

    अन्य चीजों की तरह विटामिन ए (Vitamin A) को अधिक मात्रा में लेने के कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। यही नहीं, यह साइड इफेक्ट्स गंभीर भी हो सकते हैं। अधिक मात्रा में इसे लेने से वयस्कों को यह समस्याएं हो सकती हैं:

    • हड्डी में दर्द होना (Bone pain)
    • विजन में बदलाव  (Changes to vision)
    • स्किन में बदलाव जैसे रैशेज, क्रैकिंग आदि (Skin changes)
    • सिरदर्द  (Headaches)
    • जी मिचलाना और उल्टी आना (Nausea and vomiting)
    • सनलाइट के प्रति सेंसिटिविटी (Sensitivity to sunlight)
    • हेयर लॉस (Hair loss)

    ऐसे में ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) को लेने से पहले कई चीजों का ध्यान रखना जरूरी है। बहुत अधिक मात्रा में विटामिन ए को लेने के गंभीर साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं:

    • लिवर डैमेज (Liver damage
    • ब्रेन पर प्रेशर पड़ना (Pressure on the brain
    • ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)
    • किडनी डैमेज (Kidney damage)
    • अधिक कैल्शियम बिल्ड-अप (Excessive calcium buildups)

    हालांकि, इन स्थितियों में विटामिन ए की मात्रा को कम करने से आप में यह समस्याएं कम होंगी। लेकिन, कोई भी लक्षण नजर आने पर डॉक्टर की सलाह जरूरी है। क्योंकि, इन स्थितियों में अतिरिक्त ट्रीटमेंट की जरूरत भी हो सकती है।

    Quiz: स्तनपान के दौरान कैसा हो महिला का खानपान, जानने के लिए खेलें ये क्विज

    और पढ़ें: बड़े ब्रेस्ट के साथ स्तनपान कराना नहीं लगेगा मुश्किल, अगर फॉलो करेंगी ये टिप्स

    यह तो थी ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) के बारे में जानकारी। ब्रेस्ट मिल्क शिशु के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है और कई लाभ पहुंचा सकता है। यही नहीं, विटामिन ए (Vitamin A) भी ब्रेस्ट मिल्क के माध्यम तक शिशु तक पास हो सकता है। विटामिन ए या अन्य न्यूट्रिएंट्स को लेने से पहले यह बात सुनिश्चित कर लें कि आपके लिए इनकी सही मात्रा क्या है।अगर आपके मन में ब्रेस्टफीडिंग में विटामिन ए सप्लिमेंट्स (Vitamin A supplements in Breastfeeding) या अन्य डाइटरी आवश्यकताओं के बारे में कोई भी सवाल हो तो डॉक्टर से अवश्य बात करें।

    अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    Written by

    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

    डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


    अपडेटेड 23/12/2021

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement