कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताए कुछ आसान उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट September 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कोविड-19 संक्रमित लोगों का बढ़ता ग्राफ भारत के साथ-साथ लगभग पूरी दुनिया को परेशान कर रहा है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जरूरी है कि हम इसके बचाव के लिए सभी संभव कदम उठाएं। साथ ही कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों को क्या उपाय अपनाएं जाने चाहिए ताकि उनकी इम्युनिटी बढ़ सके? इस बात पर भी ध्यान देना जरूरी है। एक्यूट कोविड-19 बीमारी से रिकवर हुए मरीजों में थकान, शरीर में दर्द, खांसी, गले में खराश, सांस लेने में कठिनाई जैसे कई लक्षण दिखाई देते हैं। इस बात को मद्देनजर रखते हुए ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को COVID-19 का प्रबंधन करने और जो लोग संक्रमण से ठीक हो रहे हैं, उनकी समग्र देखभाल के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

योग का अभ्यास करने, डॉक्टर से परामर्श लेने, पर्याप्त पानी और स्वस्थ आहार लेने जैसी सामान्य सलाह के अलावा, मंत्रालय ने इम्यून पावर को बढ़ावा देने के साथ ही जल्दी रिकवरी के लिए घरेलू उपचारों की एक लंबी सूची भी जारी की है। यहां स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी कोरोना से ठीक होने के बाद के किए जानेवाले उपायों की पूरी सूची दी गई है। लोग कैसे कोरोना संक्रमण के बाद इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं और कैसे क्विक रिकवरी कर सकते हैं, आइए जानते हैं-

कोरोना से ठीक होने के बाद के उपाय में शामिल करें काढ़ा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हर दिन एक कप या 150 मिलीलीटर काढ़ा या क्वाथ पीने का सुझाव दिया है। इस काढ़े में तुलसी, दालचीनी, सोंठ और काली मिर्च जैसी औषधीय गुणों से भरपूर जड़ी बूटियां होंगी, जो इम्यूनिटी के लिए बेहतर मानी जाती हैं। इसे दिन में एक या दो बार लिया जा सकता है। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें किशमिश, नींबू का रस या गुड़ भी मिला सकते हैं। यह कॉम्बिनेशन न केवल प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है, बल्कि जनरल वेल बीइंग को भी बढ़ावा देता है।

और पढ़ें : कैसे स्वस्थ भोजन की आदत कोरोना से लड़ने में मददगार हो सकती है? जानें एक्सपर्ट्स से

स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी के लिए गिलोय

इसे गुडुची घन वटी (Guduchi ghana vati) के नाम से भी जाना जाता है और इसे गिलोय के पेड़ की छाल से बनाया जाता है। यह आयुर्वेदिक हर्ब हर तरह के बुखार का इलाज करने में उपयोगी मानी जाती है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-पायरेटिक गुण होते हैं, जो उन लोगों को लाभ प्रदान करते हैं, जो COVID-19 जैसे संक्रमण के बाद के प्रभावों से उबर रहे हैं। साथ ही गिलोय शरीर में मौजूद ऐसे विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालने में उपयोगी है, जो बुखार पैदा कर सकते हैं। यह सिरदर्द, अपच, भूख में कमी, शरीर में दर्द और जलन से राहत दिलाने में भी सहायक है। आप या तो चाय में अर्क के रूप में या टैबलेट के रूप में इसका सेवन कर सकते हैं। यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी एनलजेसिक, इम्यूनोमॉडयूलेटर, एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-स्ट्रेस, हेमाटॉजेनिक, एंटासिड, एंटी-गाउट, एंटी-म्यूटाजेनिक गुणों से भी भरपूर है।

और पढ़ें : लॉकडाउन में पीएं ये खास काढ़ा, इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ वजन होगा कम

कोरोना से ठीक होने के बाद के उपाय : अश्वगंधा

अश्वगंधा एक प्राचीन औषधीय जड़ी बूटी है, जो शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है। मंत्रालय ने 1-3 ग्राम अश्वगंधा पाउडर को 15 दिनों के लिए दैनिक रूप से लेने की सलाह दी है। COVID-19 जैसी बीमारियों से उबरना शरीर और दिमाग के लिए बहुत तनावपूर्ण हो सकता है। अश्वगंधा स्ट्रेस और कोर्टिसोल के स्तर को कम करने, मस्तिष्क के कार्य को बढ़ावा देने, प्रतिरक्षा को मजबूत करने और रक्त शर्करा के स्तर को नीचे लाने में प्रभावी है। यह चिंता और अवसाद के लक्षणों से निपटने में भी मददगार है। आप अश्वगंधा की खुराक दिन में दो बार 500 मिलीग्राम भी ले सकते हैं। हालांकि, किसी भी हर्ब का सेवन बिना डॉक्टर या हर्बलिस्ट की सलाह पर ही करें।

और पढ़ें : डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के दौरान आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जारी किए ये दिशानिर्देश

आंवला से बूस्ट करें इम्यून पावर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुझाए गए कोरोना से ठीक होने के बाद के उपाय में एक आंवला या 1-3 ग्राम आंवला पाउडर रोजाना लेने की सलाह दी गई है। आंवला लंबे समय से सर्दी, खांसी और फ्लू के इलाज की अपनी क्षमता के लिए जाना जाता है। यह श्वसन तंत्र को अधिक मजबूत बनाता है और चेस्ट कंजेशन (chest congestion) से राहत देता है। आंवला में क्रोमियम होता है, जो हृदय को मजबूत बनाता है। यह एंटीऑक्सिडेंट से भी भरपूर होता है, जो फ्री रैडिकल्स से लड़ते हैं और कई बीमारियों को दूर रखते हैं। आंवला के एंटी-बैक्टीरियल गुण आपके सिस्टम को भी डिटॉक्स करते हैं।

और पढ़ें : दिल को हेल्दी और हड्डियों को स्ट्रांग बनाएं आंवला, जानें फायदे

कोरोना से ठीक होने के बाद के उपाय : मुलेठी पाउडर

मुलेठी एक और प्राचीन औषधीय जड़ी बूटी है, जो स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सूखी खांसी वाले लोगों को लेने की सलाह दी जाती है। 1-3 ग्राम मुलेठी पाउडर को गुनगुने पानी के साथ हर दिन दो बार लिया जाना चाहिए। खांसी और जुकाम से जल्दी राहत दिलाने में मुलेठी (liquorice) उपयोगी है। आप 1 इंच मुलेठी की जड़, 1 टीस्पून कद्दूकस की हुई अदरक, 2 कप पानी में 3-4 काली मिर्च को उबालकर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें स्वाद जोड़ने के लिए आप 1 चम्मच शहद भी डाल सकते सकते हैं।

और पढ़ें : कोरोना वायरस महामारी के दौरान न्यू मॉम के लिए ब्रेस्टफीडिंग कराने के टिप्स

कोरोना से ठीक होने के बाद के उपाय : हल्दी वाला दूध

कोरोना से ठीक होने के बाद के घरेलू उपाय के सुझाव में सुबह और शाम, हल्दी वाला गर्म दूध पीने की भी सलाह दी है। हल्दी वाले दूध में चिकित्सीय गुण होते हैं, जो शरीर को किसी बीमारी या चोट से जल्दी उबरने में मदद करते हैं। हल्दी दूध शरीर की हीलिंग प्रक्रिया को भी तेज करके कई बीमारियों और संक्रमण से बचाने में उपयोगी है। हल्दी में एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-एलर्जी और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। आप पेय की शक्ति बढ़ाने के लिए एक चुटकी पिसी हुई काली मिर्च भी डाल सकते हैं।

और पढ़ें : जन्मदिन विशेष: पीएम मोदी ने हेल्थ मिशन से लेकर कोरोना वैक्सीन तक किए ये बड़े ऐलान

हल्दी और नमक के साथ गरारे करना

कोरोना के लक्षणों में शामिल गले में खराश को ठीक करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय गर्म पानी के साथ हल्दी और नमक से गरारे करने की सलाह देता है। नमक गले में एसिड को बेअसर करता है, जिससे गले में जलन से राहत मिलती है। गले में संक्रमण, घाव और बीमारियों को नियंत्रित करने में हल्दी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच नमक और हल्दी मिलाएं और गरारे करें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

च्यवनप्राश खाएं और इम्यूनिटी बढ़ाएं

1 चम्मच या 5 मिलीग्राम च्यवनप्राश रोजाना सुबह लेने की सलाह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई है। च्यवनप्राश में 40 से अधिक प्राचीन औषधीय जड़ी-बूटियां पाई जाती हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित कर सकती हैं और रोगों से जल्दी उबरने में मदद करती हैं। इससे पहले आयुष मंत्रालय द्वारा भी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए दूध या गुनगुने पानी के साथ सुबह में च्यवनप्राश रखने का सुझाव दिया गया था। मधुमेह वाले लोगों को शुगर फ्री च्यवनप्राश लेने का निर्देश भी दिया गया।

नोट: ऊपर बताए गए किसी भी घरेलू उपाय को फॉलो करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

और पढ़ें : क्या सोने से पहले नियमित रूप से हल्दी वाला दूध पीना फायदेमंद होता है?

कोरोना संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्या हैरान परेशान करने वाली है। ऐसे में कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (social distancing) और हाइजीन पर विशेष ध्यान दें। साथ ही खुद के स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए स्वस्थ, संतुलित आहार के साथ योग को हमेशा प्रायोरिटी दें। यह न सिर्फ आपको कोरोना वायरस (2019-nCoV) से ठीक होने के बाद रिकवरी और इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करेगा, बल्कि अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी निजात दिलाएगा। हम आशा करते हैं कि यहां बताई गई जानकारी आपको कोरोना वायरस के बाद इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मददगार साबित होगी।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या पेंटोप्रोजोल, ओमेप्रोजोल, रैबेप्रोजोल आदि एंटासिड्स से बढ़ सकता है कोविड-19 होने का रिस्क?

पीपीआई यानी प्रोटोन पंप प्रोटोन पंप इंहिबिटर, ऐसी दवाएं जो हार्ट बर्न और एसिडिटी के इलाज में उपयोग की जाती है। अमेरिकन स्टडीज में दावा किया गया है कि इनके उपयोग से कोरोना वायरस का रिस्क बढ़ जाता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य September 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कैसे स्वस्थ भोजन की आदत कोरोना से लड़ने में मददगार हो सकती है? जानें एक्सपर्ट्स से

स्वस्थ भोजन की आदत कैसे डेवलप करें? बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ भोजन की आदत को अपनाना जरूरी है। स्वस्थ भोजन खाने के क्या फायदे या प्रभाव हैं?

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
कोरोना वायरस, इंफेक्शस डिजीज August 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

लॉकडाउन में ईटिंग हैबिट्स किसी की सुधरी तो किसी की हुई बेकार

लॉकडाउन में ईटिंग हैबिट्स बदल गई हैं। लॉकडाउन के दौरान घर पर हेल्दी फूड्स खाना आपकी इम्युनिटी को स्ट्रॉन्ग रखने के लिए जरूरी है। वर्क फ्रॉम होम करते हुए हम लोगों को अपनी सेहत और फिटनेस पर भी ध्यान देने का मौका मिला। Lockdown eating habits in hindi

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
कोरोना वायरस, इंफेक्शस डिजीज August 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

सीरो सर्वे को लेकर क्यों हो रही है चर्चा, जानें एक्सपर्ट से इसके बारे में सबकुछ

सीरो सर्वे क्या है, एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है, एंटीबॉडी टेस्ट कैसे करते हैं, कोरोना में सीरो सर्वे, आईसीएमआर की गाइडलाइन, Sero survey antibody test Covid-19, ICMR.

के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

Recommended for you

covid 19 vaccine - कोविड 19 वैक्सीन

जल्द से जल्द लोगों तक कोविड 19 वैक्सीन पहुंचाने की पहल, जाग रही है एक नयी उम्मीद

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ January 25, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस वैक्सीनेशन गाइडलाइन्स

सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए इन लोगों को अभी करना होगा इंतजार!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ January 18, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
यूके में मिला कोरोना वायरस-Coronavirus new variant found in United Kingdom

यूके में मिला कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, जो है और भी खतरनाक! 

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
प्रकाशित हुआ December 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोविड-19 वैक्सीन-COVID-19 vaccine

ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोरोना का वैक्‍सीनेशन (COVID-19 vaccine), सरकार ने दिया ग्रीन सिग्नल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ December 3, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें