यौन और रोमांटिक आकर्षण: जानिए कहीं काम-वासना को आप प्यार तो नहीं समझ रहे?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हम अक्सर दो एक जैसी लगने वाली चीजों के बीच में अंतर करने में असमर्थ रहते हैं। ऐसा रोजाना के जीवन में भी हमारे साथ होता है। वैसे ही यौन यानी सेक्सुअल और रोमांटिक आकर्षण में अंतर करना भी मुश्किल होता है। इसमें किसी का दोष भी नहीं है दरअसल यौन आकर्षण या काम-वासना और रोमांटिक आकर्षण दोनों एक जैसे प्रतीत होते हैं। इसलिए, दोनों में अंतर करना आसान नहीं होता। ऐसे में, आप इन दोनों में अंतर कैसे करेंगे? यह कैसे जानेंगे कि यह प्यार है या केवल काम-वासना। जानने के लिए इस बात को विस्तार से समझना होगा।

यौन आकर्षण क्या है

यौन आकर्षण एक भावनात्मक प्रतिक्रिया है। जिसमें लोगों को लगता है कि वे किसी को यौन रूप से आकर्षक लगते हैं या वो किसी व्यक्ति के प्रति यौन आकर्षण महसूस कर रहे हैं। यह आकर्षण अक्सर उस व्यक्ति के साथ यौन संपर्क की इच्छा के परिणामस्वरूप होता है। यौन आकर्षण को कामेच्छा यानी काम-वासना के रूप में भी परिभाषित किया गया है।

और पढ़ें:यौन उत्पीड़न क्या है, जानिए इससे जुड़े कानून और बचाव

जानिए कब या किससे हो सकता है यौन आकर्षण

  • यौन आकर्षण किसी भी व्यक्ति या किसी भी लिंग के प्रति अनुभव किया जा सकता है।
  • यौन आकर्षण व्यक्ति के कई गुणों पर भी आधारित हो सकता है। इसमें भौतिक गुणों में शामिल हो सकते हैं, जैसे वो व्यक्ति कैसा दिखता है, उसकी खुशबु या कपड़े आदि। जिन शारीरिक लक्षणों के आधार पर कोई व्यक्ति अन्य लोगों को यौन रूप से आकर्षित करने में सफल होता है उसे सेक्स अपील के रूप में जाना जाता है।
  • कुछ गुण जैसे मनोविज्ञान, व्यक्तिगत ,आनुवंशिक और सांस्कृतिक आदि भी यौन आकर्षण का कारण बन सकते हैं।
  • यौन आकर्षण को अक्सर आकर्षण के अन्य रूपों के साथ अनुभव किया जाता है – जैसे कि रोमांटिक, सौंदर्य, या कामुक आकर्षण या एक भावनात्मक संबंध आदि। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि यौन आकर्षण एक सेक्स ड्राइव के समान नहीं है। हालांकि यौन संबंधों में अक्सर यह यौन आकर्षण और सेक्स ड्राइव दोनों होते हैं। ऐसे में आप काम-वासना को प्यार न समझें बल्कि इन दोनों में फर्क करना सीखें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

रोमांटिक आकर्षण क्या है?

रोमांटिक आकर्षण भी एक भावनात्मक प्रतिक्रिया है, जो ज्यादातर लोग अक्सर अनुभव करते हैं। जिसके परिणामस्वरूप किसी खास व्यक्ति के साथ रोमांटिक संबंध की इच्छा होती है। कई लोग रोमांटिक आकर्षण का अनुभव करते हैं, भले ही वे उस व्यक्ति के प्रति यौन आकर्षण या काम-वासना को महसूस न करें। किसी भी लिंग के व्यक्ति के साथ रोमांटिक आकर्षण हो सकता है। यौन आकर्षण और रोमांटिक आकर्षण के बीच अंतर को समझना महत्वपूर्ण है। ज्यादातर लोग दोनों को एक ही समझ लेते हैं। रोमांटिक आकर्षण विभिन्न लक्षणों, गुणों या पहलुओं पर आधारित हो सकता है। जबकि अधिकतर शारीरिक गुण प्राइमरी प्राथमिक यौन आकर्षण से जुड़े होते हैं।

और पढ़ें: Quiz: पहली बार सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान इन बातों की जानकारी है आपको?

जानिए कब या किससे हो सकता है रोमांटिक आकर्षण

  • लोगों के व्यक्तित्व लक्षणों और सोचने के तरीकों की समानता, दो लोगों में रोमांटिक आकर्षण का कारण बन सकती है। जब दूसरा व्यक्ति आपके प्रति आकर्षित हो या आपको पसंद करे। तो ऐसे में आपका उसे पसंद करना भी लाजमी है।
  • एक साथ समय बिताने, दूसरे के पास रहने, दूसरे के बारे में सोचने या दूसरे के साथ बातचीत से लोग एक दूसरे के साथ परिचित हो जाते हैं। जिससे रोमांटिक आकर्षण हो सकता है।
  • किसी की शारीरिक अपीयरेंस ऐसी हो, जिसे देखते ही सामने वाला व्यक्ति उसकी तरफ आकर्षित हो जाए। तो यह भी रोमांटिक आकर्षण हो सकता है।
  • कई बार समाजिक प्रभाव के कारण भी हम किसी को पसंद करने लगते हैं। यदि कोई व्यक्ति साहचर्य, प्रेम या संभोग की जरूरतों को पूरा कर सकता है।तो इस बात की अधिक संभावना है कि दूसरा व्यक्ति उसके प्रति रोमांटिक आकर्षण महसूस करें और उसके प्यार में पड़ जाएगा।
  • दूसरे व्यक्ति की कोई खास विशेषता मजबूत आकर्षण को उत्तेजित कर सकती है। उदाहरण के लिए, उनके शरीर के कुछ हिस्से या चेहरे की विशेषताएं। इसके साथ ही किसी अन्य व्यक्ति के साथ अकेले समय बिताने से भी उसके प्रति रोमांटिक आकर्षण पैदा कर सकता है। यानी यह पूरी तरह से काम-वासना से अलग है।

और पढ़ें:रोमांटिक डेट पर जाने से पहले हो रही है एंग्जायटी, तो ऐसे करें दूर

क्या किसी के प्रति रोमांटिक आकर्षण महसूस किया जा सकता है लेकिन यौन आकर्षण नहीं?

हां, ऐसा होना बहुत ही सामान्य है। किसी व्यक्ति के प्रति यौन आकर्षण न होने या सेक्सुअल कांटेक्ट में रूचि न होने को एसेक्सुअलिटी(asexuality) कहा जाता है, जो समलैंगिकता और विषमलैंगिकता की तरह ही होती है। हालांकि जो लोग एसेक्सुअल होते हैं, वो स्ट्रैट हो सकते हैं लेकिन वो कोई यौन आकर्षण महसूस नहीं करते और विपरीत लिंग के साथ यौन इच्छा के बिना मित्रता या साथ खोजते हैं।

यौन आकर्षण और रोमांटिक आकर्षण में अंतर

मुख्य अंतर

यौन आकर्षण और रोमांटिक आकर्षण के बीच में एक मुख्य अंतर तो यही है कि यौन आकर्षण में किसी अन्य व्यक्ति के साथ यौन संपर्क की इच्छा शामिल होती है। जबकि, रोमांटिक आकर्षण पूरी तरह से सेक्स या काम-वासना से जुड़ा नहीं होता। इसमें दूसरे व्यक्ति के साथ रोमांटिक संबंध की इच्छा पर अधिक ध्यान केंद्रित होता है। जो लोग रोमांटिक रूप से आकर्षित होते हैं वो पूरी जिंदगी एक दूसरे के साथ बिताना चाहते हैं। लेकिन यौन आकर्षण में न तो कोई डेटिंग होती है या नहीं बाग-बगीचों में घूमना फिरना, यह आकर्षण सीधे तौर पर काम-वासना से जुड़ा हुआ है। यानी, यौन आकर्षण में कुछ भी रोमांटिक नहीं होता।

और पढ़ें: सेक्स को और ज्यादा रोमांटिक बनाने के 7 तरीके

अन्य अंतर

  • रोमांटिक आकर्षण यानि आप किसी सेप्यार करते हैं तो उससे जुड़ाव महसूस करते हैं और उसके साथ अधिक समय बिताने की इच्छा होती है। लेकिन जब बात आती है यौन आकर्षण की, यह एक ऐसा रिश्ता है जो रोमांटिक रिश्ते से अलग है। क्योंकि यौन आकर्षण में जिस व्यक्ति के प्रति आप आकर्षित हैं, उसे अधिक छूने और कम रोमांटिक होना शामिल होता है।
  • रोमांटिक आकर्षण समय के साथ एक रिश्ते में बदल सकता है और यह रिश्ता पूरी उम्र का होता है। लेकिन अगर आप किसी के साथ एक रिश्ते में हैं और आपका पार्टनर केवल सेक्स की इच्छा रखता है तो आपका रिश्ता रोमांटिक रिश्ता नहीं है बल्कि केवल एक यौन आकर्षण है।
  • अगर आप किसी के प्रति रोमांटिक आकर्षण महसूस करते हैं लेकिन आपका पार्टनर नहीं। तो थोड़ा धर्य रखें, क्योंकि यौन आकर्षण एकदम महसूस हो सकता है। लेकिन, रोमांटिक रिश्ता एकदम नहीं बन सकता। इसमें बहुत अधिक समय लगता है। इसके साथ ही आप किसी के साथ रोमांटिक संबंध बनाने के लिए जबरदस्ती नहीं कर सकते। लेकिन, दूसरी तरफ यौन आकर्षण पलभर का होता है। जो बनता भी जल्दी है और खत्म भी तुरंत हो जाता है।

अगर आपका पार्टनर केवल काम-वासना में दिलचस्पी रखता है और आपके साथ उसका कोई भावनात्मक जुड़ाव नहीं होता है। तो सबसे पहले अपने पार्टनर से बात करें।खासतौर पर अगर आप अपने इस रिश्ते में और अधिक कुछ चाहते हैं तो। क्योंकि, अगर आप अपने रिश्ते में रोमांटिक रिश्ता भी चाहते हैं, लेकिन आपका साथी केवल सेक्स या काम-वासना में दिलचस्पी रखता है तो आप दोनों का रिश्ता लंबा नहीं चल सकता। इसलिए रिश्ते की असली पहचान करनी जरूरी होती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र