home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पार्टनर से सेक्स टॉक क्यों जरूरी है?

पार्टनर से सेक्स टॉक क्यों जरूरी है?

हम चाहे कितना भी मॉर्डन होने का दावा कर लें, लेकिन सच यह है कि आज भी कई कपल्स ऐसे हैं जो सेक्स के मुद्दे पर एक-दूसरे से खुलकर बात नहीं कर पातें, जबकि हेल्दी, हैप्पी और सैटिस्फाइड सेक्स लाइफ के लिए पार्टनर का एक दूसरे से सेक्स टॉक करना बेहद जरूरी है, लेकिन अधिकांश लोग इसकी अहमियत नहीं समझ पाते हैं। सेक्स टॉक में सिर्फ डर्टी टॉक ही नहीं, बल्कि सेक्शुअल हाइजीन से लेकर प्रेग्नेंसी प्लानिंग और सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज के बारे में बात करना भी शामिल है। सेक्स के दौरान पार्टनर से बाद करने से कपल्स की अंडरस्टैंडिग और नजदीकियां बढ़ती हैं और उनका रिश्ता भी मजबूत बनता है। पार्टनर से सेक्स टॉक करना क्यों जरूरी है जानिए इस आर्टिकल में।

सेक्स टॉक से बढ़ती है बॉन्डिंग

सेक्स के दौरान जब पार्टनर आपस में बात करते हैं तो इससे न सिर्फ प्लेजर, बल्कि उनकी बॉन्डिंग भी बढ़ती है। दरअसल, बातचीत से ही पार्टनर को एक-दूसरे की जरूरतों का पता चलता है जिससे वह अपने पार्टनर को ज्यादा संतुष्ट करने की कोशिश करते हैं।

सेक्स टॉक में शामिल होती हैं ये बातें

  • सेक्शुअल हेल्थ
  • बर्थ कंट्रोल
  • नए एक्सपेरिमेंट्स
  • सेक्स के दौरान पार्टनर की पसंद/नापसंद
  • सेक्स की फ्रीक्वेंसी आदि
[embed-health-tool-bmi]

और पढ़ें: ये 7 आरामदायक सेक्स पुजिशन (पुजिशन) जिसे महिलाएं करती हैं पसंद

महिलाओं की सेक्शुअल हेल्थ के लिए जरूरी है सेक्स टॉक

महिलाओं के लिए सेक्स सिर्फ एक फिजिकल एक्ट नहीं है, बल्कि उनके लिए यह भावनात्मक क्रिया भी है, ऐसे में यदि वह पार्टनर से इमोशनली कनेक्ट नहीं होती है तो उन्हें सेक्शुअल सैटिसफैक्शन नहीं मिलता है। महिलाएं आमतौर पर अपने सेक्स की जरूरतों के बारे में पार्टनर से बात करने से हिचकिचाती हैं, लेकिन उन्हें यह समझना चाहिए कि जब तक वह अपनी बात कहेंगी नहीं पार्टनर को उनकी जरूरतों या संतुष्टि के बारे में कैसे पता चलेगा, हर कोई उनके अनकहे शब्दों को नहीं पढ़ सकता। इसलिए बहुत जरूरी है कि महिलाएं सेक्स के दौरान होने वाली असहजता, पसंदीदा मूव्स आदि के बारे में पार्टनर से बात करें।

सेक्शुअली ट्रांसमीटेड डिसीज के बारे में बात

सेक्स टॉक का मतलब सिर्फ डर्टी टॉक नहीं है जो प्लेजर बढ़ाता है, बल्कि यदि कपल्स में से किसी एक को सेक्शुअली ट्रांसमीटेड डिसीज है और उसे इस बात का पता चलता है, तो तुरंत दूसरे पार्टनर को बताना चाहिए। कई बार रिश्ता टूटने के डर से पार्टनर यह बात दूसरे पार्टनर को नहीं बताता, लेकिन यह गलत है, क्योंकि इससे इंफेक्शन फैलने का डर रहता है। इसलिए बेहतर होगा कि समझदारी दिखाते हुए इस मुद्दे पर पार्टनर से बात करें।

प्रेग्नेंसी और बर्थ कंट्रोल

प्यार के उन खास पलों का आनंद लेने से पहले दोनों पार्टनर को बर्थ कंट्रोल का भी ध्यान रखना चाहिए और इस मुद्दे पर खुलकर बात करनी चाहिए। यदि फिलहाल वह फैमिली प्लानिंग नहीं करना चाहते तो बर्थ कंट्रोल का कौन-सा तरीका अपनाएंगे इस बारे में बात करें। कुछ पुरुषों को कंडोम पसंद नहीं आता, तो उन्हें इसके विकल्प के बारे में पार्टनर से बात जरूर करनी चाहिए।

और पढ़ें: सेक्स को एंजॉय करने के लिए ट्राई करें सेक्स ल्यूब्रिकेंट्स (sex lubricants)

पसंद-नापसंद की बात

सेक्स टॉक करते समय पार्टनर से उनकी पसंद-नापसंद के बारे में भी बात करें। जैसे कौन सा मूव्स उन्हें अच्छा लगता है और कब उन्हें ज्यादा संतुष्टि मिलती है, किस एक्ट से उन्हें असहजता महसूस होती है और किस बॉडी पार्ट्स को टच करने पर उन्हें आनंद मिलता है जैसी बातें करने पर न सिर्फ सेक्शुअल प्लेजर बढ़ता है, बल्कि पार्टनर को सेक्शुअल सैटिस्फैक्शन भी मिलता है और उनके बीच नज़दीकियां बढ़ती हैं।

नए एक्सपेरिमेंट्स की बात

यदि पुरुष पार्टनर कोई नई पोजिशन ट्राई करना चाहता है, लेकिन इस बारे में फीमेल पार्टनर से बात नहीं करता तो हो सकता है, सेक्शुअल एक्ट के दौरान उन्हें परेशानी हो और उन्हें संतुष्टि भी न मिले क्योंकि महिला पार्टनर इसके लिए फिजकली और मेंटली तैयार नहीं थी। ऐसे में बहुत जरूरी है कि कोई भी नई चीज ट्राई करन से पहले पार्टनर एक-दूसरे से इस बारे में बात करके उनकी राय जान लें। क्योंकि जरूरी नहीं कि हर सेक्स पोजीशन सबके लिए कंफर्टेबल हो।

सेक्शुअल लिमिटेशन के बारे बताएं

हो सकता है कुछ सेक्शुअल फैंटेसी और एक्ट आपको पसंद नहीं आए या आप उसका एक्सपीरिएंस न करना चाहे। आपको शरीर के किसी खास हिस्से पर टच किया जाना अच्छा न लगे, तो इस बारे में पार्टनर से पहले ही बात कर लें ताकि सेक्शुअल एक्ट के बीच में पार्टनर का मूड ऑफ न हो और न ही आपको परेशानी हो।

और पढ़ें: क्या है फीमेल इजेकुलेशन (female ejaculation) का सच? जानें इससे जुड़ी सभी बातें

सेक्स टॉक रूल्स

पार्टनर से सेक्स टॉक करना चाहते हैं तो आपको इसके कुछ बेसिक नियमों की जानकारी होनी चाहिए, जो किसी किताब में नहीं लिखे, मगर एक्सपर्ट्स इसकी सलाह जरूर देते हैः

सीधे शुरू न हो जाएं

सेक्स टॉक हर कपल के लिए आसान नहीं होता, ऐसे में जरूरी नहीं कि आप बेड पर ही इस बारे में बात करें। वीकेंड पर आप अकेले किसी शांत जगह पर जाकर भी अपनी सेक्स प्रॉब्लम्स के बारे में पार्टनर से डिस्कस कर सकते हैं। सीधे मुद्दे पर आने की बजाय पहले अपनी सेक्स लाइफ की अच्छी बातों के बारे में बात करें और फिर समस्या बताएं।

एक समय में एक मुद्दा

पार्टनर से सेक्स के बारे में बात करते समय एक साथ ही कई चीजों पर बात न करें, जैसे फैमिली प्लानिंग की बात कर रही हैं तो अपनी सेक्स की पंसद-नापसंद को बीच में न लाएं। बेहतर होगा कि एक समय पर दोनों एक ही मुद्दे पर बात करें।

शिकायत नहीं सुझाव दें

यदि पार्टनर आपसे सेक्स के मुद्दे पर बात करते समय अपनी कोई समस्या शेयर करता है जैसे सेक्स के दौरान किसी तरह की परेशानी होना या उन पलों से संतुष्ट न होना तो उनसे शिकायत करने की बजाय उन्हें सलाह दें और बेड पर उनकी अच्छी बातों के बारे में उन्हें बताय इससे पार्टनर का आत्मविश्वास बढ़ेगा।

और पढ़ेंः पहली बार सेक्स से पहले जान लें ये 10 बातें, हर मुश्किल होगी आसान

सेक्स टॉक से पहले ध्यान रखें कुछ बातें-

  • यदि आप सेक्शुअल प्लेजर बढ़ाना चाहते हैं तो किसी रोमांटिक मूवी का कोई डायलॉग बोलकर अपनी बात शुरू कर सकते हैं।
  • पार्टनर की बातों को सिर्फ सुने ही नहीं, उनकी बात माने भी।
  • यदि किसी बात के लिए पार्टनर राजी नहीं है, तो जबरदस्ती न करें।
  • यदि फीमेल पार्टनर कुछ कहने से हिचक रही है, तो उसका हौसला बढ़ाएं।
  • दोनों पार्टनर को एक-दूसरे की भावनाओं की रिस्पेक्ट करनी चाहिए।

सेक्स टॉक टिप्स

अगर आप सेक्स टॉक करने जा रहे हैं, तो यहां कुछ ऐसे टिप्स बताए जा रहे हैं। जो आपके काफी काम आ सकते हैं। दरअसल, आप इन टिप्स को ध्यान में रखते हुए अपनी सेक्स टॉक को बेहतरीन बना सकते हैं।

  1. हर व्यक्ति की अपनी पसंद-नापसंद होती है। ठीक इसी तरह सेक्स टॉक में हर पार्टनर के लिए कुछ बातें या शब्द उन्हें सेक्शुअली ट्रिगर करने का काम करते हैं। आप समय के साथ उन बातों या शब्दों को एक्सप्लोर कर सकते हैं और अपनी सेक्स टॉक में शामिल करके एक बेहतरीन अनुभव प्रदान कर सकते हैं।
  2. सेक्स टॉक का एक बेहतरीन टिप यह है कि आप कुछ भी छिपाएं नहीं। जी हां! आप बातों के दौरान खुद में होने वाले हर एक बदलाव या एहसास की अपडेट उन्हें दें। इससे वह आपके घटनाक्रम से जुड़ पाएंगे और एक रियलिस्ट एहसास का अनुभव कर पाएंगे। उन्हें बताएं कि आप कब सबसे ज्यादा उत्तेजित हैं या फिर आप इस समय क्या करने की सोच रहे हैं। आपकी भावनाओं और अनुभवों को जानकर उन्हें भी एक्साइटमेंट फील होगी।
  3. सेक्स टॉक करते हुए किसी भी तरह का प्रेशर फील न करें। क्योंकि यह बात आप अच्छी तरह जान लीजिए कि प्रेशर आपकी परफॉर्मेंस का दुश्मन है। इन चीजों में अगर आप नये हैं, तो धीरे-धीरे ही एक्सपर्ट बन पाएंगे। जैसे-जैसे आप सेक्स टॉक को ट्राय करते रहेंगे, वैसे-वैसे ही आपको पता लगता रहेगा कि आपके पार्टनर को कैसे बेहतरीन एक्सपीरियंस दिलवाया जा सकता है।
  4. सेक्स टॉक में कभी भी वो चीज न करें, जिससे आप खुद को जोड़ नहीं पा रहे हैं। क्योंकि यह सारा खेल कंफर्ट का है, जहां आप अपने कंफर्ट जोन से बाहर गए, वहीं पूरा मामला बिगड़ जाएगा। आपको पॉर्न की नकल करने की जरूरत नहीं है। आप वो करें, जो आपको करना अच्छा लगता है।
  5. पार्टनर को एक्साइट करने के लिए सेक्स टॉक में एक टिप काफी काम करती है। वो है कि आप अपने पार्टनर को आने वाले सेक्स सेशन के बारे में बताएं। आप उन्हें बताएं कि आप अगले सेक्स सेशन की शुरुआत कैसे करने वाले हैं और किन-किन चीजों पर ध्यान देंगे। इससे वह काफी एक्साइटेड हो जाएंगे।

सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x