Fatigue : थकान क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट June 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

थकान क्या है?

थकान को मेडिकल भाषा में फाटिग  (Fatigue) भी कहा जाता है, जिसमें आपको न सिर्फ कमजोरी महसूस होती है, बल्कि ऊर्जा की भी कमी रहती है। कुछ लोग इसे आलस या नींद आने से भी जोड़ लेते हैं, जो कि बिल्कुल अलग है। ध्यान रखें कि, जब हम थकान की समस्या के बारे में बात करते हैं, तो हमारा तात्पर्य उस थकान से नहीं होता, जो कि हर किसी को भारी काम या अतिरिक्त शारीरिक क्रिया करने के बाद हो जाती है। बल्कि, समस्या के रूप में थकान से मतलब होता है, हर समय थकावट का एहसास करना, जिसे आप कमजोरी और ऊर्जा की कमी के रूप में भी देख सकते हैं। दरअसल, थकान या थकावट होना कई छुपी हुई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का लक्षण या संकेत हो सकता है, इसके अलावा यह खुद में भी एक प्रकार का सिंड्रोम हो सकता है। इसके कारण आपको अपनी आम दैनिक गतिविधि जैसे नहाना, कपड़े पहनना आदि में भी थकावट महसूस हो सकती है और यह आपकी जिंदगी को काफी प्रभावित करता है।

और पढ़ें- Anxiety : चिंता क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

क्रॉनिक फाटिग सिंड्रोम (Chronic Fatigue Syndrome; CFS) क्या है?

क्रॉनिक फैटीग सिंड्रोम (Chronic Fatigue Syndrome; CFS)   को मायलजिक इंसेफेलाइटोलाइटिस (Myalgic Encephalomyelitis; ME) और सिस्टेमेटिक एक्सर्शन इंटॉलरेंस डिजीज (Systemic Exertion Intolerance Disease; SEID) भी कहा जाता है। जब आपको हर समय अत्यधिक थकान, कमजोरी और ऊर्जा की कमी रहती है और आराम करने से आराम नहीं मिलता और जांच में इसके पीछे किसी बीमारी का संकेत भी नहीं मिलता, तो यह डिसऑर्डर मान लिया जाता है। क्रॉनिक फाटिग सिंड्रोम के पीछे का असल कारण तो पता नहीं चल सका है, लेकिन माना जाता है, कि वायरल इंफेक्शन, साइकोलॉजिकल स्ट्रेस और अन्य कारणों के मेल से यह विकार हो सकता है।

थकान के मुख्यतः दो प्रकार होते हैं। जैसे-

शारीरिक थकान में व्यक्ति को शारीरिक गतिविधि जैसे, कहीं आना-जाना या सीढ़ी चढ़ना आदि में परेशानी होने लगती है। इसके अलावा, मानसिक थकान भी होती है, जिससे शरीर पर भी फर्क पड़ता है। लेकिन, इससे मुख्य रूप से आपके ध्यान लगाने और फोकस करने की क्षमता में कमी आने लगती है।

और पढ़ें- Testicular Pain : अंडकोष में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लक्षण

थकान के लक्षण क्या होते हैं?

थकान होने पर व्यक्ति को शारीरिक व मानसिक गतिविधि करने में परेशानी होने लगती है। आइए, जानते हैं, कि थकान के साथ और कौन-से लक्षण दिखाई देने लगते हैं और यह लक्षण शारीरिक या मानसिक मेहनत करने के दौरान या बाद में और ज्यादा गंभीर हो जाते हैं।

  • सिर दर्द
  • चिड़चिड़ा होना
  • प्रतिक्रिया देने में देरी
  • आंखों के सामने धुंधलापन आना
  • ध्यान लगाने या नयी चीजें सीखने में परेशानी
  • मसल्स में दर्द या सूजन
  • दिन में सुस्ती छाना
  • पेट फूलना, कब्ज, डायरिया जैसी पेट संबंधित परेशानी
  • सोने के बाद भी फ्रेश न महसूस होना
  • अचानक वजन घटना
  • बुखार या सिहरन
  • चिंता या डिप्रेशन
  • उल्टी होना
  • सांस फूलना
  • सीने में दर्द, आदि

ध्यान रखें कि, हर किसी में थकान की वजह से ऊपर बताए गए सभी लक्षण नहीं दिखते हैं। इसके अलावा यह भी जरूरी नहीं कि, जो लक्षण किसी एक में दिख रहे हैं, उनका दूसरे व्यक्ति को भी सामना करना पड़े। अगर, आपको थकान से संबंधित लक्षणों के बारे में कोई शंका या सवाल है, तो डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ें- Hepatitis : हेपेटाइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कारण

थकान के कारण क्या होते हैं?

थकान/फाटिग होने के पीछे निम्नलिखित कारण हो सकते हैं, जो कि मानसिक, शारीरिक व जीवनशैली से जुड़े हो सकते हैं। जैसे-

  1. शारीरिक कारणों में एनीमिया, क्रॉनिक फैटीग सिंड्रोम, कमजोर इम्यून सिस्टम, जुकाम या फ्लू जैसे इंफेक्शन, अर्थराइटिस, ऑटोइम्यून डिसऑर्डर, मोटापा, हाइपोथायरॉइडिज्म, हाइपरथायरॉइडिज्म, मधुमेह, किडनी रोग, कैंसर, क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी), स्लीप व ईटिंग डिसऑर्डर आदि हो सकता है।
  2. वहीं, मानसिक कारणों में चिंता, तनाव, दुख, अवसाद और मौसम से प्रभावित विकार (हर साल एक ही समय पर डिप्रेशन होना) हो सकते हैं।
  3. इसके अलावा, जीवनशैली से जुड़े कारणों में शारीरिक मेहनत, नींद लेने में कमी, बोरीयत, शराब की लत, कैफीन का अत्यधिक सेवन, अपौष्टिक खानपान, शारीरिक गतिविधि की कमी, एंटीडिप्रेसेंट जैसी दवाओं का सेवन आदि शामिल हो सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें- Vertigo : वर्टिगो क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

निदान

थकान का पता किन टेस्ट की मदद से लगाया जाता है?

आप में थकान की समस्या का पता लगाने के लिए डॉक्टर निम्नलिखित टेस्ट कर सकता है। जैसे-

शारीरिक जांच

थकान का निदान करने के लिए डॉक्टर सबसे पहले आपकी शारीरिक जांच करेगा। जिसमें आपके अंदर थकान के लक्षण, दिन के किस समय सबसे ज्यादा थकान होती है, नींद का स्तर और आपके भावनात्मक स्तर के बारे में सवाल कर सकता है। इसके बाद वह इन लक्षणों के अन्य कारणों की आशंका को खत्म करने के लिए निम्नलिखित टेस्ट कर सकता है।

  • ब्लड टेस्ट
  • यूरिन टेस्ट
  • एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड जैसे इमेजिंग स्कैन
  • मेंटल हेल्थ से जुड़े सवाल
  • इंफेक्शन की जांच
  • हार्मोनल समस्या
  • एनीमिया की जांच
  • लिवर समस्या या किडनी समस्या के लिए टेस्ट, आदि

इसके अलावा, जब इन लक्षणों के पीछे के हर कारण की आशंका खत्म हो जाती है, तो वह आपकी मेडिकल हिस्ट्री का अध्ययन करके क्रॉनिक फाटिग सिंड्रोम की भी पुष्टि कर सकता है।

और पढ़ें- Anal Fistula : भगंदर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

नियंत्रण और सावधानी

थकान को नियंत्रित करने के तरीके क्या हैं?

थकान को नियंत्रित करने के लिए आप निम्नलिखित तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कि मुख्यतः आपकी जीवनशैली से जुड़े हैं। जैसे-

  • बेड टाइम फिक्स करना।
  • पौष्टिक खानपान।
  • कैफीन का सेवन कम करना।
  • शराब या धूम्रपान छोड़ना।
  • मेडिटेशन करना
  • नियमित व्यायाम करना।

और पढ़ें- Chest Pain : सीने में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

उपचार

थकान का इलाज कैसे किया जाता है?

थकान का इलाज उसके कारण के ऊपर निर्भर करता है। जैसे-

  • अगर आपको जीवनशैली से जुड़ी समस्याओं की वजह से थकान महसूस हो रही है, तो डॉक्टर आपकी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने की सलाह दे सकता है। जैसे- पर्याप्त नींद लेना, पौष्टिक खानपान, किसी दवा को बंद करने की सलाह देना, एक्सरसाइज करना, शराब या धूम्रपान न करने की सलाह देना आदि।
  • अगर, आप खुद जीवनशैली में बदलाव नहीं कर पा रहे हैं या फिर आपको तनाव, चिंता, डिप्रेशन की वजह से थकावट महसूस हो रही है, तो डॉक्टर विटामिन व मिनरल सप्लीमेंट्स, आराम प्राप्त करने के लिए नींद की दवा, एंटी-डिप्रेसेंट दवा आदि का सेवन करने की सलाह दे सकता है।
  • इसके अलावा, अगर आपको मधुमेह, मोटापा, थायरॉइड आदि किसी बीमारी की वजह से थकावट हो रही है, तो वह आपकी इन समस्याओं का इलाज करने के लिए ट्रीटमेंट चला सकता है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बवासीर या पाइल्स का क्या है आयुर्वेदिक इलाज

पाइल्स का आयुर्वेदिक इलाज कैसे किया जाता है? इसका इलाज कितने तरह से हो सकता है? बवासीर होने पर किन चीजों से परहेज करना चाहिए। Ayurvedic Treatment of Piles in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन September 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Allercet Cold Tablet : अल्लर्सेट कोल्ड टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

अल्लर्सेट कोल्ड टैबलेट की जानकारी in hindi, दवा के साइड इफेक्ट क्या है, लिवोसिट्रिजिन, पैरासिटामोल और फेनिलफ्रिन दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Allercet Cold Tablet

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z August 27, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

चिकनगुनिया होने पर मरीज का क्या होना चाहिए डायट प्लान(diet plan)?

चिकनगुनिया शरीर को काफी कमजोर कर देता हैं क्या खाएं शरीर की शक्ति और ऊर्जा वापस पाने के लिए जाने चिकनगुनिया डायट प्लान in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mishita sinha

Amaryl M1 Tablet : एमरिल एम1 टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

एमरिल एम1 टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, एमरिल एम1 टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Amaryl M1 Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

Recommended for you

सेकंडरी बोन कैंसर (Secondary Bone Cancer)

Secondary Bone Cancer: सेकंडरी बोन कैंसर क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ January 12, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
बोन मैरो कैंसर (Bone Marrow Cancer)

Bone Marrow Cancer: बोन मैरो कैंसर क्या है और कैसे किया जाता है इसका इलाज?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
प्रकाशित हुआ January 12, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
वजन घटने से डायबिटीज का इलाज/diabetes and weightloss

क्या वजन घटने से डायबिटीज का इलाज संभव है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ September 15, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
फीवर में डायट/fever diet chart

फीवर में डायट: क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ September 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें