home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

वजन कम करना चाहते हैं? हेल्पफुल हो सकती है वॉटरमेलन डायट!

वजन कम करना चाहते हैं? हेल्पफुल हो सकती है वॉटरमेलन डायट!

वेट लॉस (Weight loss) के लिए वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) प्रभावी बताई जाती है। क्योंकि वॉटरमेलन एक लो कैलोरी (Low calorie), लो फैट (Low fat), हाय फायबर (High fiber) और कंप्लीट वॉटर इंटेक (Water intake) वाला फ्रूट है। यह वेट कम करने के साथ ही बॉडी से टॉक्सिन्स (Toxins) को निकालने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही इसमें वे जरूरी विटामिन (Vitamin) और मिनरल्स (Minerals) पाए जाते हैं जो बॉडी को डायटिंग के दौरान चाहिए होते हैं। वॉटरमेलन डायट कई प्रकार से फॉलो की जाती है। इस आर्टिकल में जानेंगे कि वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) कैसे फॉलो करें और यह वजन कम करने में किस प्रकार मदद करती है। सबसे पहले जान लेते हैं वॉटरमेलन की न्यूट्रिएशन वैल्यू के बारे में।

वॉटरमेलन की न्यूट्रिएशन वैल्यू क्या है? (What is the Nutrition Value of Watermelon?)

बता दें कि 100 ग्राम वॉटरमेलन में सिर्फ 30 कैलोरीज (Calories) 0% सैचुरेटेड फैट (Saturated fat) और 9.6 ग्राम शुगर (Sugar) होती है। वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) में साथ ही इसमें निम्न न्यूट्रिएंट पाए जाते हैं।

विटामिन ए (Vitamin A)- यह हेल्दी विजन के लिए जरूरी है।
विटामिन बी1 (Vitamin B1)- बॉडी की फूड को एनर्जी में कंवर्ट करने में मदद करता है।
विटामिन बी6 (Vitamin B6)- रेड ब्लड सेल्स का निमार्ण करने के लिए बॉडी की इसकी जरूरत होती है।
विटामिन सी (Vitamin C)- यह टिशू ग्रोथ और रिपेयर के लिए जरूरी है।

इनके विटामिन्स के अलावा भी वॉटरमेलन बीटा कैरोटीन, लाइकोपीन, पोटेशियम और मैग्नीनिशयम का अच्छा सोर्स है। लाइकोपीन हार्ट डिजीज और कैंसर से बचाव करने के लिए जाना जाता है। वॉटरमेलन में किसी अन्य फूड की तुलना में सिट्रूलीन (Citrulline) अधिक मात्रा में पाया जाता है जो एक एमिनो एसिड है। यह ब्लड फ्लो को बेहतर करने में मदद करता है।

और पढ़ें: वजन कम करने के लिए जानी जाती है एटकिंस डायट, जानें फॉलो करने का तरीका

वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) क्या है?

वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet)

जैसे कि हमने कहा कि वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) के कई वर्जन है, लेकिन इसका सबसे पॉपुलर वर्जन क्लीन्स (Cleanse) है। इसमें डायटिंग करने वाले लोग फर्स्ट स्टेज पर वॉटरमेलन के अलावा और कुछ नहीं खाते। फर्स्ट स्टेज तीन दिन की होती है। चूंकि आप सिर्फ वॉटरमेलन खा रहे होते हैं तो इस दौरान आप हर दिन एक बड़े साइज का वॉटरमेलन खा सकते हैं।

इस प्रारंभिक स्टेज के बाद कई लोग अपनी नॉर्मल डायट पर वापस आ जाते हैं तो वहीं कुछ लोग धीरे-धीरे फूड्स को डायट में एड करते हैं। जैसे आप दो लाइट मील्स लेने के साथ ही वॉटरमेलन को स्नैक्स के तौर पर ले सकते हैं। वहीं कुछ लोग वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) को पांच दिन के लिए फॉलो करते हैं जिसमें वॉटरमेलन के साथ ही दूसरे फूड्स को भी सीमित मात्रा में खाया जाता है।

वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) कैसे काम करती है?

चूंकि वॉटरमेलन एक लो कैलोरी (Low calorie), लौ फैट (Low Fat) वाला फल है इसलिए यह वजन कम करने में मददगार है। इसके साथ ही इसमें फाइबर (Fiber) की मात्रा अधिक होती है जिससे इसको खाने से पेट के भरे होने का एहसास होता है। इसलिए बार-बार भूख नहीं लगती।

वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) इतनी पॉपुलर क्यों है?

वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) की पॉपुलैरिटी का कारण इसका शॉर्ट ड्यूरेशन है। डायट में बहुत सारे बदलाव करने की जगह इसको फॉलो करना भी आसान है। जब हमें पता होता है कि यह सिर्फ तीन दिन के लिए है तो हम इसे स्ट्रिक्ली फॉलो करने पर फोकस करते हैं। इस डायट की पॉपुलर होने का एक दूसरा कारण ये भी है कि ज्यादातर लोग वॉटरमेलन खाना पसंद करते हैं। कई लोगों का यह फेवरेट फ्रूट होता है।

और पढ़ें: वीगन डायट से वेट लॉस करना चाहते हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

वॉटरमेलन डायट के फायदे (Benefits of Watermelon diet)

वेट लॉस में मददगार होने के साथ ही वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) के अन्य फायदे भी हैं जो निम्न हैं।

  • वॉटरमेलन में हाय लेवल का पोटेशियम (Potassium) होता है जो ब्लड में कैल्शियम को मेंटेन करके ब्लड प्रेशर को मॉनिटर करता है।
  • वॉटरमेलन में पाया जाने वाला विटामिन ए और मैग्नीशियम बोन और मसल्स को फायदा करता है। इसलिए वॉटरमेलन डायट बोन और मसल्स के लिए भी अच्छी है।
  • वॉटरमेलन डायट स्टमक अल्सर (Ulcer) में राहत प्रदान कर एक सूदिंग इफेक्ट देती है। यह एसिड रिफलक्स को कम करने में भी मदद करती है।
  • किसी भी वेट लॉस प्लान का महत्वपूर्ण हिस्सा एक्सरसाइज है। वॉटरमेलन हार्ड वर्कआउट के बाद मांसपेशियों और घावों के दर्द को ठीक करने में मदद कर सकता है।

वॉटरमेलन डायट

वाटरमेलन डायट के साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं? (Watermelon diets side effects)

अगर आप वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) को फॉलो करने के बारे में सोच रहे हैं तो बता दें कि वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) को फॉलो करने से आप प्रोटीन और फैट के कंज्प्शन से दूर हो जाते हैं। ऐसी विशेष स्थितियों का सामना कर रहे लोगों के लिए यह डायट रिकमंड नहीं की जा सकती। जिसमें बच्चे, प्रेग्नेंट महिलाएं, ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं और किसी हेल्थ कंडिशन का सामना कर रहे लोग शामिल हैं। डायबिटीज का सामना कर रहे लोगों के लिए यह डायट उचित नहीं है। इस प्रकार की डायट लंबे समय के लिए भी रिकमंड नहीं की जा सकती। इसके निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में तरबूज खाने से पेट के रोग जैसे पेट फूलना, डायरिया (Diarrhea) आदि हो सकते हैं।
  • तरबूज में उच्च पोटेशियम सामग्री हृदय संबंधी समस्याओं (Cardiovascular problems) और रक्तचाप का कारण बन सकती है।
  • 72 के ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Glycemic index) के साथ, तरबूज डायबिटीज वाले व्यक्तियों के लिए सबसे बड़ा दुश्मन है।
  • लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों को तरबूज का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे स्थिति और खराब हो सकती है।
  • वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) प्लान से कुछ एलर्जी प्रतिक्रियाएं भी हो सकती हैं जैसे कि चकत्ते, सूजन आदि शामिल हैं।

साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि अगर आप इस डायट को फॉलो करने के बाद फिर से जंक फूड या अनप्लांड डायट लेना शुरू कर देते हैं तो आपका वजन फिर से बढ़ जाएगा। साथ ही किसी प्रकार की डायट फॉलो करने से पहले मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह जरूर लें।

और पढ़ें: मिलिट्री डायट : वेट लॉस के लिए ये है एक स्पेशल डायट!

वजन कम करने के लिए टिप्स

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो निम्न टिप्स मददगार साबित हो सकते हैं।

  • हेल्दी डायट के साथ ही एक्सरसाइज को अपने रूटीन का हिस्सा बनाएं। आप जिम भी जॉइन कर सकते हैं।
  • भरपूर नींद लें। शायद आप नहीं जानते होंगे कि नींद की कमी भी वेट बढ़ने का कारण बन सकती है।
  • जंक फूड और मिठाईयों से दूरी बनाकर रखें।
  • एक साथ ज्यादा खाने की जगह दिन भर में थोड़ा-थोड़ा करके खाएं।
  • बार-बार भूख लगने पर हेल्दी ऑप्शन को चुनें।
  • ब्रेकफास्ट हैवी, लंच उससे हल्का और डिनर एकदम लाइट रखें।
  • रात में खाना जल्दी खा लें।

उम्मीद करते हैं कि आपको वॉटरमेलन डायट (Watermelon diet) और वॉटरमेलन के फायदे से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Watermelon lycopene and allied health claims/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4464475/ Accessed on 28th September 2021

watermelon/ndb.nal.usda.gov/ndb/foods/show/09326/Accessed on 28th September 2021

The wonders of watermelon/https://www.mayoclinichealthsystem.org/hometown-health/speaking-of-health/the-wonders-of-watermelon/Accessed on 28th September 2021

Citrulline/pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/L-citrulline/Accessed on 28th September 2021

Effects of Fresh Watermelon Consumption on the Acute Satiety Response and Cardiometabolic Risk Factors in Overweight and Obese Adults/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6470521/Accessed on 28th September 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड