home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Vitamin B12 Deficiency: विटामिन बी 12 की कमी क्या है?

मूल बातों को जानें|लक्षण|कारण|खतरों के कारण|जांच और इलाज|जीवन शैली और घरेलू उपाय
Vitamin B12 Deficiency: विटामिन बी 12 की कमी क्या है?

मूल बातों को जानें

विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) क्या है?

विटामिन बी 12 की हमारे शरीर में रेड ब्लड सेल्स (Red Blood Cells) और डीएनए (DNA) के प्रॉडक्शन में एहम भूमिका निभाता है। इसके साथ ही यह नर्वस सिस्टम के सही तरीके से काम करने में भी मदद करता है और स्ट्रेस को दूर रखता है। यह एक पोषक तत्व है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। विटामिन बी 12 की कमी से शरीर कमजोर लगने लगता है। हर समय थकान महसूस होती है। हमारे शरीर को रोजाना अमूमन 2.5 माइक्रोग्राम विटामिन बी 12 चाहिए होता है।

शरीर में इसकी कमी होने से कई स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां शुरू हो जाती हैं। इसके लक्षण दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं से मिलते-जुलते होते हैं। इसलिए अक्सर लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं। आमतौर पर इसकी कमी से याद्दाश्त कमजोर होना, आंखों में परेशानी, हाथ और पैर में झुनझुनी आदि समस्या होती है। विटामिन बी 12 की कमी से रेड ब्लड सेल्स का उत्पादन नहीं होता, जिससे शरीर में ऑक्सिजन का लेवल कम हो जाता है। इस कारण बहुत जल्द थकान महसूस होने लगती है।

विटामिन बी 12 मुख्य रूप से मांसाहारी खाने में पाया जाता है। यह मुख्य रूप से मांस, अंडे और डेयरी प्रोडक्ट्स में पाया जाता है। इसलिए ज्यादातर शाकाहारी खाने वाले लोगों में विटामिन बी 12 की कमी देखी जाती है।

और पढ़ें : Vitamin B12: विटामिन बी-12 क्या है?

कितना आम है विटामिन बी 12 की कमी?

विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) कई चीजों पर निर्भर करती है। बढ़ती उम्र, खाने पीने की आदत और मेडिकल कंडिशन इसके मुख्य कारण हैं। हर उम्र में रोजाना नीचे बताई मात्रा में विटामिन बी 12 की जरूरत होती है।

  • 6 महीने से छोटे बच्चों को 0.4 माइक्रोग्राम
  • 7 से 12 महीने के बच्चों के लिए 0.5 माइक्रोग्राम
  • 1 से 3 साल के बच्चों के लिए 0.9 माइक्रोग्राम
  • 4 से 8 साल के बच्चों के लिए 1.2 माइक्रोग्राम
  • 9 से 13 साल के बच्चों के लिए 1.8 माइक्रोग्राम
  • 14 से 28 साल के वयस्कों के लिए 2.4 माइक्रोग्राम (प्रेग्नेंसी के दौरान 2.6 माइक्रोग्राम औऱ ब्रेस्टफीडिंग के दौरान 2.8 माइक्रोग्राम)

और पढ़ें : Encephalitis : इंसेफेलाइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

लक्षण

विटामिन बी 12 की कमी के सामान्य लक्षण क्या हैं?

त्वचा का पीला पड़ना

जिन लोगों में विटामिन बी12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) होती है, तो उनकी त्वचा पीली हो जाती है। ऐसा शरीर में रेड ब्लड सेल्स के प्रॉडक्शन न होने के कारण होता है। रेड ब्लड सेल्स के उत्पादन के लिए विटामिन बी 12 अहम होता है।

कमजोरी और थकान महसूस होना

विटामिन बी 12 की कमी से कमजोरी और थकान महसूस होती है। विटामिन बी 12 शरीर में रेड ब्लड सेल्स बनाता है, जो पूरे शरीर में ऑक्सिजन पहुंचाते हैं। रेड ब्लड सेल्स का उत्पादन न होने के कारण शरीर में ऑक्सिजन सही मात्रा में नहीं पहुंचती है, जिससे बहुत जल्दी थकान महसूस होती है।

सांस की तकलीफ या चक्कर आना

शरीर में विटामिन बी 12 की कमी से सांस लेने में दिक्कत और चक्कर की शिकायत भी हो सकती है।

शरीर में विटामिन बी 12 का स्तर कम होने पर नीचे बताए लक्षण भी हो सकते हैं:

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको शरीर में विटामिन बी 12 का स्तर कम होने से एनीमिया के लक्षण नजर आ रहे हैं, तो बिना देरी करे डॉक्टर से कंसल्ट करें। डॉक्टर इसके लिए खून की जांच कराने के लिए कह सकते हैं। यदि इसका इलाज वक्त पर करा लिया जाए तो बेहतर है। समय पर इलाज न होने से स्थाई नुकसान होने की आशंका अधिक होती है।

और पढ़ें : Crohn Disease : क्रोहन रोग क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

[mc4wp_form id=”183492″]

कारण

विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) के कारण क्या हैं?

डायट में विटामिन बी युक्त चीजों को शामिल न करना

विटामिन बी 12 की कमी होने का अहन कारण आहार में इसकी कमी होना है। मुख्य रूप से यह शाकाहारी लोगों में देखी जाती है। विटामिन बी 12 के लिए मांस, मछली, अंडे और दूध को डायट में शामिल करना चाहिए।

कम अवशोषण

हमारी छोटी आंत विटामिन बी 12 का अवशोषण करती है। यदि पेट या छोटी आंत संबंधित कोई परेशानी है तो विटामिन बी 12 का अवशोषण होने में बाधा हो सकती है। ज्यादा शराब पीने वाले लोगों के पेट की अंदरूनी परतें प्रभावित होती है जिस वजह से उनमें बी 12 का अवशोषण बाधित होता है। क्रोन रोग से ग्रसित लोगों में भी बी 12 का अवशोषण सही से नहीं हो पाता है।

और पढ़ें : Carpal Tunnel Syndrome: कार्पल टनल सिंड्रोम क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

खतरों के कारण

क्या चीजें हैं जो विटामिन बी 12 की कमी की संभावना को बढ़ा सकती हैं?

नीचे बताई स्थितियों में विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) की संभावना अधिक होती है:

  • अधिक उम्र के लोगों में विटामिन बी 12 की कमी होना आम है
  • परनीशियस एनीमिया में शरीर विटामिन बी 12 को अवशोषित नहीं कर पाता है
  • पेट का अल्सर की शिकायत जिन लोगों को है उनमें भी विटामिन बी 12 की कमी हो सकती है
  • पेट या छोटी आंत के किसी हिस्से को हटाना या सर्जरी होना
  • एट्रोफिक गेस्ट्राइटिस के पेशेंट्स में, क्योंकि इस परेशानी में पेट की अंदरूनी परते पतली हो जाती हैं

और पढ़ें : Chikungunya : चिकनगुनिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

जांच और इलाज

विटामिन बी 12 की कमी का परीक्षण कैसे किया जा सकता है?

डॉक्टर पहले शारीरिक परीक्षण कर आपके लक्षण को देखकर पता लगाएंगे। आफकी त्वचा की रंगत देखकर भी उन्हें विटामिन बी 12 की कमी का संकेत हो सकता है। इस बारे में पता लगाने के लिए डॉक्टर खून की जांच के लिए कहेंगे जिससे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या के बारे में मालूम हो सके। यदि ब्लड टेस्ट में विटामिन की कमी (Vitamin B12 deficiency) के बारे में मालूम होता है तो डॉक्टर आपको विटामिन बी 12 टेस्ट कराने के लिए भी कह सकते हैं।

विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) का इलाज कैसे करें?

आमतौर पर विटामिन बी 12 की कमी होने पर इंजेक्शन या टेबलेट रिकमेंड की जाती है। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि शरीर में विटामिन बी 12 के कम होने का क्या कारण है। यदि आपको गैस्ट्रिक बायपास सर्जरी हुई है और इस वजह से शरीर विटामिन बी 12 को अवशोषित नहीं कर पा रहा है तो आपको इसके इंजेक्शन आमतौर पर रिकमेंड किए जा सकते हैं।

और पढ़ें : Gout : गाउट क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

जीवन शैली और घरेलू उपाय

विटामिन बी 12 की कमी (Vitamin B12 deficiency) से निजात दिलाने में मदद करेंगे ये घरेलू उपाय

खाने पीने की निम्नलिखित चीजों में विटामिन बी 12 पाया जाता है:

टूना फिश- टूना एक फैटी फिश है। इसमें उचित मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड, प्रोटीन और विटामिन बी 12 पाया जाता है। टूना को अपनी डायट में शामिल करके आप कई स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं से राहत पा सकते हैं।
चिकन- चिकन में भी उच्च मात्रा में विटामिन बी 12 होता है। यह मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मददगार है।
अंडा- अंडा भी विटामिन बी12 का अच्छा स्त्रोत है। अंडे की सफेदी की तुलना में इसके पीले हिस्से में विटामिन बी 12 अधिक मात्रा में होता है।
दूध- रोजाना एक कप दूध पीने से शरीर में लगभग 20% विटामिन बी 12 मिलता है।

अगर आप विटामिन बी 12 या इसकी कमी (Vitamin B12 deficiency) से होने वाली परेशानियों से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/01/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड