Phlorizin: फ्लोरिजिन क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date मई 28, 2020
Share now

परिचय

फ्लोरिजिन क्या है?

फ्लोरिजिन एक तरह का पदार्थ है जो पेड़ों की छाल से प्राप्त किया जा सकता है। सबसे पहले साल 1835 में सेब के पेड़ की छाल से फ्लोरिजिन प्राप्त करके इसका इस्तेमाल दवाओं के तौर पर किया गया था। फ्लोरिजिन पेड़ की छाल में पाया जाने वाला एक पदार्थ होता है। साल 1836 में इससे ग्लाइकोसुरिया (glycosuria), पॉल्यूरिया (polyuria), कुत्ते का वजन कम करने के लिए दवा और डायबिटीज की दवा बनाई गई थी।

फ्लोरिजिन का इस्तेमाल खाने वाली दवा या इंजेक्शन के तौर पर किया जा सकता है। फ्लोरिजिन सेब जैसे मीठे फलों की जड़, छाल और पत्तियों में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक घटक होता है। यह नाशपाती सहित अन्य फलों के पेड़ों में भी पाया जाता है। यह मानव आहार का एक सामान्य घटक माना जा सकता है। आंशिक रूप से सेब के रस, रंग और स्वाद के लिए जिम्मेदार है। रासायनिक रूप से, यह फ्लेवोनोइड (flavonoid) परिवार से संबंधित है जो एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं।

यह भी पढ़ेंः Lime : हरा नींबू क्या है?

फ्लोरिजिन का उपयोग किसलिए किया जाता है?

इसका इस्तेमाल निम्न स्थितियों में किया जा सकता है, जिसमें शामिल हैंः

बुखार और मलेरिया

फ्लोरिजिन का उपयोग बुखार, मलेरिया और डायबिटीज जैसी बीमारियों के इलाज के लिए किया जा सकता है।

वजन कम करने में मददगार

इसके अलावा इसका इस्तेमाल वजन कम करने वाली दवाई बनाने में भी किया जा सकता है।

भोजन के तौर पर

दैनिक आहार में इंग्रीडिएंट के तौर पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • इसका इस्तेमाल करना काफी आसान होता है। आप चाहें तो इसका इस्तेमाल ओरल दवा के तौर पर या IV के तौर पर भी कर सकते हैं।

फ्लोरिजिन एक नैचुरल प्रोडक्ट है जिसे सुरक्षित माना गया है।

कैसे काम करता है फ्लोरिजिन?

  • फ्लोरिजिन किडनी को पुन: अवशोषित करने से रोकता है। यह रक्त शर्करा यानी खून में शुगर की मात्रा को कम करने में मददगार हो सकता है।
  • फ्लोरिजिन ट्यूमर के विकास को भी धीमा कर सकता है और हड्डी के नुकसान को कम कर सकता है।
  • इसके इस्तेमाल से भूख बढ़ती है। अगर किसी को कम भूख लगने की समस्या है, तो वे भी इसका इस्तेमाल अपनी भूख बढ़ाने के लिए कर सकते हैं।
  • एक शोध में पाया गया कि फ्लोरिजिन गैर-इंसुलिन तंत्र द्वारा ग्लूकोज के परिसंचारी को कम करने में सक्षम है।
  • एक परीक्षण के अनुसार, यह कैंसर की कोशिकाओं में ग्लूकोज चयापचय को बाधित करने के एक संभावित साधन के रूप में उपयोग किया जा सकता है।
  • फ्लोरिजिन को किसी भी तरह से प्रयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

उपयोग

फ्लोरिजिन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • फ्लोरिजिन का प्रयोग कितना सुरक्षित है, इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। इसके सुरक्षित इस्तेमाल के लिए कृपया अपने डॉक्टर से सपर्क करें।
  • इस हर्बल का प्रयोग दवाई के लिए किया जाता है। अत: किसी भी दवाई के प्रयोग से पहले कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए।
  • यह रक्त शर्करा को कम करता है। इसलिए मधुमेह (डायबिटीज) के लिए इसे ले रहे हैं तो अपना शुगर लेवल चेक कराते रहें।
  • वजन कम करने वाली दवाओं का उपयोग बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए।

इसके आलाव इसका इस्तेमाल करने से पहले आपको निम्न स्थितियों के बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए, जिनमें शामिल हैंः

  • अगर आप गर्भवती हैं या शिशु को स्तनपान कराती हैं, तो इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें। क्योंकि, ब्रेस्टफीडिंग के दौरान मां के दूध के जरिए इस औधषी का प्रभाव बच्चे पर भी हो सकता है। अगर इस दौरान आपके डॉक्टर इसके सेवन की सलाह देते हैं, तभी इसका इस्तेमाल करें।
  • अगर आप किसी तरह की अन्य दवा का इस्तेमाल करते हैं, तो भी इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। यह औषधी आपकी अन्य दवाओं के साथ प्रतिक्रिया कर सकती है। इसलिए इसके इस्तेमाल में सावधानी बरतें।
  • अगर आपको किसी तरह की कोई एलर्जी है, तो भी इसका इस्तेमाल करने से पहले आपने डॉक्टर को अपनी स्थिति के बारे में बताएं।
  • अगर आपको मौजूदा समय में किसी तरह की स्वास्थ्य स्थिति, बीमारी या अन्य शारीरिक समस्याएं हैं, तो भी इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें।
  • इसके अलावा, अगर आपको किसी खाद्य पदार्थ, जैसे सब्जियों या फलों से किसी तरह की कोई एलर्जी है, तो भी इसके बारे में अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

एक जड़ी बूटी के तौर पर इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखने की जरूरत हो सकती हैं। सुरक्षा के लिहाज से इस औषधी का इस्तेमाल हमेशा अपने डॉक्टर की देखरेख में ही करें। इसका इस्तेमाल करने से पहले इससे होने वाले लाभ और दुष्प्रभावों के बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें।

यह भी पढ़ेंः Garlic: लहसुन क्या है?

साइड इफेक्ट्स

फ्लोरिजिन से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

प्रेग्नेंसी के समय

प्रेग्नेंसी के समय इसका प्रयोग ना करें। क्योंकि, प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं के शरीर में कई हाॅर्मोन्स में उतार-चढ़ाव होता रहता है। ऐसे में गर्भावस्था के समय इसका इस्तेमाल करना महिला के शरीर के साथ इंट्रैक्शन कर सकता है।

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान

ब्रेस्टफीडिंग कराने के दौरान भी फ्लोरिजिन का इस्तेमाल करने से परहेज करना चाहिए। अगर शिशु को स्तनपान कराते समय आप इसका इस्तेमाल करना चाहती हैं, तो इस बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

सर्जरी कराने के दौरान भी फ्लोरिजिन नहीं लेना चाहिए। सर्जरी के 2 हफ्ते पहले इसे लेना बंद कर दें। क्योंकि, इसके कारण सर्जरी की प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है।

चोट लगने के दौरान भी फ्लोरिजिन का उपयोग ना करें।

यह भी पढ़ेंः Asafoetida: हींग क्या है?

डोसेज

फ्लोरिजिन को लेने की सही खुराक क्या है?

  • फ्लोरिजिन की डोज हर किसी के लिए अलग-अलग हो सकती है।
  • इसके लिए उम्र भी मायने रखती है।
  • यह एक नैचुरल प्रोडक्ट जरूर है, लेकिन जरूरी नहीं कि हर हर्बल प्रोडक्ट आपको फायदा ही करे।
  • इसकी सही खुराक जानने के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें। वह आपकी उम्र और हेल्थ कंडिशन के हिसाब से सही दवा बताएंगे।

यह भी पढ़ेंः Hazelnut : हेजलनट क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • फ्लोरिजिन पाउडर
  • सेब में भी 95 फीसदी फ्लोरिजिन पाया जाता है।

हम आशा करते हैं कि फ्लोरिजिन हर्ब पर लिखा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा। अगर आपको यहां बताई गई कोई समस्या है तो आप इस हर्ब का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह पर। याद रखें कि हर्बल प्रोडक्ट्स का उपयोग हमेशा सुरक्षित नहीं होता।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकली सलाह या उपचार की सिफारिश नहीं करता है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो कृपया इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

और पढ़ेंः-

Coriander: धनिया क्या है?

Zedoary: सफेद हल्दी क्या है? 

Protein powder: प्रोटीन पाउडर क्या है?

Lychee : लीची क्या है?

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Muira Puama: मुइरा पूमा क्या है?

खासतौर पर मुइरा पूमा का इस्तेमाल कामेच्छा और यौन प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए एक प्राकृतिक जड़ी बूटी के तौर पर किया जा सकता है। इसके इस्तेमाल से साइड इफेक्ट्स होने के जोखिम भी कम होते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma

Lungmoss: लंगमॉस क्या है?

लंगमॉस एक लोबेरिया पल्मोनेरिया पौधा है जो लिचेन की एक प्रजाति से संबंधित है। यह छोटे काई होते हैं और बहुत ही धीमी गति से विकसित होते हैं। इनका आकार फेफड़ों के आकार से काफी मिलता-जुलता है।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma

Martagon Lily: मार्टगोन लिली क्या है?

मार्टगोन लिली का इस्तेमाल अल्सर का उपचार करने के लिए किया जा सकता है। साथ ही, इसका इस्तेमाल हर्बल टी के तौर पर भी किया जा सकता है।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma

Daffodil: डैफोडिल क्या है?

डैफोडिल नॉरशिसस प्रजाति का एक फूल होता है। जिसे नरगिस भी कहते हैं। इसके फूलों का रंग सफेद, पीले बैंगनी या अन्य रंग के भी हो सकते हैं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by lipi trivedi