Witch Hazel: विच हेजल क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

विच हेजल (Witch Hazel) क्या है?

विच हेजल एक महत्वपूर्ण तत्व है। विच हेजेल के पौधे में फूल भी खिलता है। यह पौधा उत्तरी अमेरिका, जापान और चीन में पाया जाता है। इसे विंटरब्लूम भी कहा जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम हैमामेलिस वर्जिनिन (Hamamelis Virginiana) है। इस पौधे की छाल और पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है।

यह एक झाड़ीनुमा पौधा होता है और इसकी ऊंचाई 15 से 20 फुट तक हो सकती है। इसकी कई प्रजातियां मौजूद हैं। यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है, इसलिए इसका इस्तेमाल दवाई के रूप में भी किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण स्किन संबंधित कई परेशानियों से निजात दिलाने में मद्दगार हैं। इसमें टेनिन होता है, जो एक नैचुरल कंपाउंड है। इसमें एस्ट्रिजेंट प्रॉपर्टीज होती हैं जो त्वचा में मौजूद टिश्यू को संकुचित कर देती हैं। कई शोध में पाया गया है कि विच हेजल त्वचा संबंधित परेशानियां जैसे मुंहासे, त्चचा में जलन, बवासीर, सूजन, कीड़े के काटने पर और खुजली आदि के इलाज में कारगर है।

और पढ़ें: वेलेरियन क्या है?

विच हेजल का उपयोग किस लिए किया जाता है?

विच हेजल का इस्तेमाल सैंदर्य के लिएः

विच हेजल का इस्तेमाल कई तरीकों से किया जाता है। विच हेजल टोनर को चेहरे पर स्प्रे की मदद से या फिर इसे सीधे अपने धब्बों के ऊपर ब्रश की मदद से लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे दूर करने में मदद मिलती है। विच हेजल को एलो वेरा जेल में मिक्स करके शरीर पर लगाने से सनबर्न स्किन से निजात मिलती है। इसका इस्तेमाल फेशियल मास्क की तरह या आफ्टरशेव की तरह भी किया जा सकता है।

विच हेजल का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिएः

यह डायरिया, म्यूकस कोलाइटिस, ब्लड वोमिटिंग, ब्लड के साथ कफिंग, ट्यूबरकुलोसिस, कोल्ड, फीवर, ट्यूमर और कैंसर में विच हेजल कि खुराक मुंह से ली जाती है।
खुजली, दर्द और सूजन, आंखों की सूजन, त्वचा की चोट, म्यूकस मेंब्रन में सूजन, वैरिकोस नसों, बवासीर, घाव, कीड़े के काटने, मामूली जलन, और अन्य त्वचा की जलन के लिए विच हेजल को सीधे त्वचा पर लगाया जा सकता है।

कान का संक्रमण ठीक करने के लिएः

इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं, जो संक्रमण और वायरस को रोकने में मदद करते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स दूर करेः

प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले जिद्दी स्ट्रेच मार्क्स को इसकी मदद से आसानी से कम किया जा सकता है। हालांकि, स्ट्रेच मार्क्स के निशान कितने समय में दूर होगें यह इस्तेमाल करने की प्रक्रिया पर निर्भर कर सकता है।

शेविंग के लिएः

शेविंग करने के बाद कई बार स्किन में जलन की समस्या होने लगती है। ऐसे में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट, एस्ट्रिजेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा पर होने वाली जलन या खुजली से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं।

आंखों की देखभाल के लिएः

धूल-मिट्टी, प्रदूषण और नींद न पूरी न होने के कारण आंखों से संबंधित कई समस्याएं हो सकती है, जैसे– आंख आना, आंखों का लाल होना, आंखों में जलन होना या आंखों के नीचे सूजन होना। इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए विच हेजल का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए एक कॉटन बॉल को विच हेजल जेल में भिगोएं और आंखों के आस-पास की त्वचा पर लगाएं। इसमें मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण आंखों के नीचे की सूजन को कम करने में मदद करेंगे।

विच हेजल कि कई और भी उपयोगिता है, अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से पूछो।

और पढ़ेंः क्या है टीबी का स्किन टेस्ट (TB Skin Test)?

कैसे काम करता है विच हेजल?

विच हेजल में टैनिन नामक रसायन होता है। इसका डायरेक्ट इस्तेमाल स्किन पर किया जा सकता है, स्वेलिंग को कम करने के साथसाथ यह रसायन फटी हुई त्वचा को रिपेयर करने का काम करता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

उपयोग

कितना सुरक्षित है विच हेजल का उपयोग ?

अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, यदि:

  • आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्ट फीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान गर्भवती मां की इम्यूनिटी काफी कमजोर होती है, ऐसे में किसी भी तरह की दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।
  • आप पहले से ही दूसरी दवाइयां ले रहे हैं या बिना डॉक्टर के प्रिसक्रीप्शन वाली के दवाइयां ले रही हों।
  • आपको विचहेजल या दूसरी दवाओं या फिर हर्ब्स से एलर्जी है।
  • आपको कोई दूसरी तरह की बीमारी, डिसऑर्डर, या मेडिकल कंडीशन है।
  • आपको किसी तरह की एलर्जी है, जैसे किसी खास तरह के खाने से, डाय से , प्रिजर्वेटिव या फिर जानवर से।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

और पढ़ें: व्हीटग्रास क्या है?

साइड इफेक्ट्स

विच हेजल से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

जरूरी नहीं कि हर कोई इन साइड इफेक्ट्स को महसूस करें। ऊपर बताए गए लिस्ट में हो सकता है कुछ साइड इफेक्ट नहीं भी शामिल हों। यदि आप साइड इफेक्ट्स को लेकर थोड़ी भी चिंता है, तो बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

और पढ़ें: इमली क्या है?

डोसेज

विच हेजल को लेने की सही खुराक क्या है ?

  • खुजली हो या हेमोरॉयड्स के कारण हुए डिस्कंफर्ट और एनल डिसऑर्डर के केस में विच हैजल वाटर दिन में 6 बार लगाएं या हरेक बॉवेल मूवमेंट के बाद इस्तेमाल करें।
  • विच हेजल टिंक्चर: 2-4 ml की खुराक दिन में तीन बार लें।
  • विच हेजल ऑइंटमेंट : विच हेजल एक्सट्रैक्ट का एक हिस्सा के साथ 20 हिस्सा ऑइंटमेंट बेस मिलाकर यह ऑइंटमेंट बनाया जाता है।
  • विच हेजल चाय : इसकी चाय दिन में दो से तीन बार पिया जा सकता है। चाय का इस्तेमाल गले की सूजन में राहत पाने के लिए गार्गल के तौर पर भी किया जाता है।

हर मरीज के लिए विच हेजल की खुराक अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। जड़ी बूटी हमेशा सुरक्षित नहीं होती हैं। कृपया अपने उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें

और पढ़ें: इलायची क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

  • विच हेजल टिंचर
  • विच हेजल चाय
  • विच हेजल ऑइंटमेंट
  • विच हेजल लिक्वड एक्सट्रेक्ट

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

हैलो हेल्थ ग्रुप डॉक्टरी सलाह, डायगनोसिस या ट्रिटमेंट नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

विधारा (ऐलीफैण्ट क्रीपर) के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Vidhara Plant (Elephant creeper)

जानिए विधारा क्या है, फायदे और नुकसान, ऐलीफैण्ट क्रीपर के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं, इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं, Elephant creeper के साइड इफेक्ट्स, Vidhara की दवा।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

10 किचन ब्यूटी सीक्रेट जिसमें छुपा है खूबसूरती का राज

आपके किचन में ढेर सारी ऐसी चीज़ें रखी हैं जिनमें आपकी खूबसूरती का राज छिपा है। इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहे हैं कुछ किचन ब्यूटी सीक्रेट्स के बारे में।

के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन जून 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

पुष्करमूल के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Pushkarmool (Inula Racemosa)

जानिए पुष्करमूल के फायदे और नुकसान, पुष्करमूल का इस्तेमाल कैसे करें, Inula racemosa के साइड इफेक्ट्स, Pushkarmool की खुराक। Pushkarmool in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

शतावरी के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Asparagus (Shatavari Powder)

जानिए शतावरी पाउडर के फायदे और नुकसान, इसका इस्तेमाल और साइड इफेक्ट्स, Asparagus के औषधीय गुण, शतावरी की डोज। Asparagus in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 9, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

चिरौंजी - chironji

चिरौंजी के फायदे और नुकसान- Chironji benefits and side effects

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कील मुंहासे के घरेलू उपाय

चेहरे से कील मुंहासों को हटाने के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जुलाई 21, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें
मॉनसून में स्किन केयर से आप अपनी बढ़ती उम्र पर काबू पा सकती हैं, जानें कैसे

मॉनसून में स्किन केयर से आप अपनी बढ़ती उम्र पर काबू पा सकती हैं, जानें कैसे

के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ जुलाई 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
आलूबुखारा - Plums

आलूबुखारा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Aloo Bukhara (Plum)

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
प्रकाशित हुआ जून 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें