आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

जानें गठिया रोग में कितना प्रभावकारी है, ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट

    जानें गठिया रोग में कितना प्रभावकारी है, ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट

    ग्लूकोसामाइन एक सप्लिमेंट है, जिसका उपयोग ऑस्टियोआर्थराइटिस के इलाज के लिए किया जाता है। आर्थराइटिस की समस्या में घुटने की कार्टिलेज में खराबी आ जाती है और यह दोबारा जल्दी ठीक नहीं होता है। जिसकी वजह से हड्डियों में सूजन आ जाती है और दर्द होने लगता है। खराब कार्टिलेज के कारण जोड़ों में दर्द, चलने में कठिनाई महसूस करना और विकलांगता जैसी समस्या हो सकती है। इसलिए समय रहते इसका इलाज बहुत जरूरी है। तो ऐसे में ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट का सेवन इस प्रक्रिया को थोड़ा धीमा और कार्टिलेज को सही रखने की कोशिश करता है। बहुत से लोग ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट का सेवन करते हैं, ताकि वो अपने पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या में आराम पा सकें। ग्लूकोसामाइन कैसे गठिया रोग के लिए प्रभावकारी है, इसे जानने के लिए पहले जानें कि ग्लूकोसामाइन है क्या।

    और पढ़ें: Filariasis(Elephantiasis) : फाइलेरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    ग्लूकोसामाइन (Glucosamine) क्या है?

    ग्लूकोसामाइन एक नेचुरल अमीनो शुगर प्रोटीन है। यह शरीर में कार्टिलेज (मुख्य रूप से जोड़ों के पास की हड्डियों पर स्थित संयोजी ऊतक) का निर्माण करता है। ग्लूकोसामाइन को ऑस्टियोआर्थराइटिस के उपचार के लिए एक सप्लिमेंट के तौर पर सेवन करते हैं। ग्लूकोसामाइन, जोड़ों में ग्लाइकोसामिनोग्लाइकेन्स की संरचना करता है। गठिया रोग में जोड़ों में सजन आने लगती है। तो इसके इलाज के लिए इस सप्लिमेंट का उपयोग आपके घुटने की क्षमता को बढ़ा सकता है। लेकिन, गठिया भी कई प्रकार के होते हैं। सामान्य में शामिल हैं, वात रोग (Gout), आंक्यलोसिंग स्पॉन्डिलाइटिस (Ankylosing Spondylitis), अस्थिसंधिशोथ (Osteoarthritis), किशोरों में गठिया (Juvenile Arthritis), प्रतिक्रियाशील गठिया (Reactive Arthritis) आदि।

    ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट, को टेबलेट, कैप्सूल और सॉफ्ट जैल के रूप में लिया जा सकता है। ये मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं: ग्लूकोसामाइन सल्फेट और ग्लूकोसामाइन हाइड्रोक्लोराइड। ग्लूकोसामाइन, गठिया को प्रभावित करने के तरीके को स्पष्ट नहीं करता है। लेकिन वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि स्वाभाविक रूप से ग्लूकोसामाइन आपके जोड़ों की रक्षा करने में मद्दगार साबित हो सकता है। इसके अलावा, कई अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि यह सप्लिमेंट का सेवन आपकी समस्या को कुछ समय के रोक सकता है। ग्लूकोसामाइन का उपयोग निम्नलिखित बीमारियों, स्थितियों और लक्षणों के उपचार में सुधार के लिए किया जाता है, जैसे कि-

    • गठिया की वजह से जोड़ाें में दर्द
    • गठिया के कारण हाे वाली सूजन
    • घुटनों की प्रॉब्लम के कारण अकड़न
    • अस्थिसंधिशोथ

    और पढ़ें: Rheumatoid arthritis: रयूमेटाइड अर्थराइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    अर्थराइटिस में ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट (Glucosamine Supplements For Arthritis) कैसे काम करता है‌?

    ग्लूकोसामाइन, गठिया के इलाज के लिए एक प्रभावकारी सप्लिमेंट है। एक शोध में पता चला है कि दो सामान्य प्रकार के गठिया के इलाज में प्रभावकारी हैं। ये मुख्य रूप से दो तरह के गठिया में काम करता हैं, जो हैं-

    पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis) की समस्या में

    कई अध्ययनो में पता चला है कि ग्लूकोसामाइन पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या में राहत देता है। यह ऑस्टियोआर्थराइटिस के लक्षणों को कम करने में भी मद्द करता है। इसमें विशेष रूप से ग्लूकोसामाइन सल्फेट शामिल होता है। पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस वाले 318 वयस्कों में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या वाले लोगों को इस सप्लिमेंट के सेवन से काफी आराम मिला है और उनके घुटने की क्षमता भी अच्छी रही। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि ग्लूकोसामाइन सल्फेट ऑस्टियोआर्थराइटिस में थोड़ा सुधार कर सकता है। लेकिन इसका सेवन एक निधार्रित समय तक करना जरूरी है।

    और पढ़ें: Osteoarthritis :ऑस्टियोअर्थराइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    [mc4wp_form id=”183492″]

    रूमेटाइड गठिया (Rheumatoid Arthritis)

    बहुत से लोग ऑस्टियोआर्थराइटिस की बीमारी को लेकर भ्रमित रहते हैं। रुमेटीइड गठिया एक ऑटोइम्यून बीमारी है, जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली जोड़ों पर हमला करती है। ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट का सेवन आपके रूमेटाइड गठिया जैसी बीमारी काे आगे न बढ़ने देने में मदद करता है।

    और पढ़ें: Reactive Arthritis: रिएक्टिव अर्थराइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    अन्य दवाओं के साथ ग्लूकोसामाइन का प्रभाव (Glucosamine Effect)

    यदि आप एक ही समय पर ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट का किसी अन्य दवाओं के साथ सेवन कर रहे हैं, तो वह ग्लूकोसामाइन को प्रभावित कर सकता है। इसके दुष्प्रभावों के प्रति आप में जोखिम को भी बढ़ा सकता है। इसकी वजह से शायद, जो दवा आपके वर्तमान समय में चल रही है, वो प्रभावित हो सकती है। यदि आप कोई अन्य सप्लिमेंट ले रहे हैं, तो पहले चिकित्सक को इसके बारे में बताएं। ग्लूकोसामाइन का सेवन निम्नलिखित दवाओं और उत्पादों के साथ किया जा सकता है

    • डिक्यूमरोल Dicumarol
    • एनिसोडाइन Anisindione
    • वारफ्रीन Warfarin

    ग्लूकोसामाइन का इस्तेमाल कब न करें

    ग्लूकोसामाइन का प्रयोग विभिन्न समस्याओं के होने पर नहीं करना चाहिए, जैसे कि-

    • डायबिटीज की समसया होने पर
    • हाय बीपी की समस्या होने पर
    • डिप्रेशन की समस्या में
    • हार्ट प्रॉब्लम होने पर
    • अन्य कई समस्याओं पर इसे लेने से।

    और पढ़ें:अर्थराइटिस के दर्द से ये एक्सरसाइज दिलाएंगी निजात

    ग्लूकोसामाइन के इस्तेमाल के दौरान विशेष सावधानियां (Glucosamine precautions)

    यदि आप इसकी खुराक लेन भूल जाएं, तो आप एक साथ दो खुराक लेने की गलती बिल्कुल भी न करें, जैसे कि पहले खुराक के दौरान आप दवा लेना भूल गये हों, तो दूसरी खुराक के दौरान पहले की खुराक की बची हुई डोज भी न खाएं। यदि आप नियमित रूप से दवा का खुराक लेना भूल जाते हैं, तो अलॉर्म लगा लें। एक साथ दो डोज का सेवन आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

    और पढ़ें: Arthritis : संधिशोथ (गठिया) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    ग्लूकोसामाइन की अधिक मात्रा लेने की गलती न करें

    किसी भी दवा की अधिक खुराक शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। डॉक्टर द्वारा बताए गए खुराक से ज्यादा इसका सेवन न करें। ऐसा करना आपके लिए नुकसानदेह साबित हाे सकता है। अधिक डोज के सेवन से आपके लक्षणों में कोई जल्दी आराम नहीं आएगा, लेकिन एक्सट्रा डोज में इसके कई गंभीर परिणाम सामने देखने को मिल सकते हैं। यदि आपने ग्लूकोसामाइन की खुराक ज्यादा ले ली है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें।

    ग्लूकोसामाइन को कैसे स्टोर करें

    ग्लूकोसामाइन को स्टोर करने के लिए गर्मी ओर तेज रोशनी वाली जगह पर न रखें। इसे रूम टैम्परेचर पर रखें। इसके अलाव इसे बच्चों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए। घर में मौजूद पालतू जानवरों से भी।

    और पढ़ें: ग्रीनस्टिक फ्रैक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    एक्स्पायर्ड ग्लूकोसामाइन

    यदि आपने एक्स्पायर्ड ग्लूकोसामाइन की एक खुराक गलती से ले ली है, तो कुछ घंटे के बाद आप बीमार या बेचैन महसूस कर सकते हैं। तो ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए। लेकिन इससे पहले ये जरूरी है कि आप दवा की खुराक लेने से पहले खुद ही ध्यान से यह चैक करें कि दवा एक्स्पायर्ड ताे नहीं है। कहने का अर्थ है कि जोखिम से पहले से बचने के लिए जरूरी है सावधान रहना। इसके अलावा, यदि आप अपनी कोई पुरानी बीमारी की दवा पहले से ही ले रहे हैं, तो इस एक्स्पायर्ड दवा लेने से इसका बुरा प्रभाव उस दवा पर भी भारी पड़ सकता है। कई रोगों में जैसे कि हृदय रोग, एलर्जी और मिर्गी आदि की दवा रोगी में लाइफस्टाइम चलती है। तो ऐसे में ध्यान रखना चाहिए। तो इन पेशेंट को विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए।

    और पढ़ें : अडूसा के फायदे : कफ से लेकर गठिया में फायदेमंद है यह जड़ी बूटी

    ग्लूकोसामाइन कैसे खरीदें

    ग्लूकोसामाइन सल्फेट, ग्लूकोसामाइन हाइड्रोक्लोराइड की तुलना में अधिक प्रभावी होता है, इसलिए यदि आप इन सप्लिमेंट्स का किसी अच्छे स्टोर से, दवा पर दिए गए पूरे लेबल को पढ़ने के बाद ही लें। इसे खरीदने से समय पहले पढ़ लें कि डॉक्टर ने आपको जो दवा की सलाह दी है, यह वही है। इसके अलावा, दवा कहीं एक्सपायरड तो नहीं है। इन बातों का भी ध्यान रखते हुए इन बातों को अच्छे से चैक कर लें।

    और पढ़ें: Septic Arthritis: सेप्टिक गठिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    खुराक और साइड इफेक्ट्स ( Dosage & Side effects)

    ग्लूकोसामाइन दवा के सेवन कई लोगों में बाद में इस तरह के दुष्प्रभाव नजर आ सकते हैं, जैसे कि आपको चक्कर आना, नींद की समस्या, हाय ब्लड प्रेशर आदि । इसके अलावा इसके और भी कई साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जैसे कि-

    • मतली की समस्या
    • कब्ज
    • पित्ती
    • उल्टी
    • शरीर में सूजन आ जाना
    • सांस लेने में तकलीफ महसूस होना
    • दस्त
    • अध्ययनों से पता चला है कि ग्लूकोसामाइन का सेवन, जो लोग इंसुलिन लेते हैं, उनको प्रभावित कर सकता है। इसलिए एक बार डॉक्टर से परामर्श के बाद ही इसे शुरू करें।

    ग्लूकोसामाइन सप्लिमेंट गठिया रोग के लिए कितनी प्रभावकारी है, अभी भी इसके लाभों पर कोई ठोस प्रमाण नहीं है। पर इसके सेवन के बाद लोगों के लक्षणों में लाभ देखा गया है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से मिलें।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/02/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: