home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Bio D3 Plus: बायो डी3 प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग |साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Bio D3 Plus: बायो डी3 प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

बायो डी3 प्लस कैप्सूल (Bio D3 Plus Capsule) कैसे काम करता है?

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) कैप्सूल का उपयोग ऑस्टियोपरोसिस की समस्या से निजात पाने, विटामिन डी की कमी को पूरा करने और शरीर में कैल्शियम के अवशोषण की पूर्ती के लिए किया जाता है। इसके साथ ही यह मसल्स और बोंस के फंक्शन को सुचारू रूप से चलाने और हड्डियों के दर्द से राहत दिलाने के लिए उपयोग किया जाता है। ये कैप्सूल मसल्स पेन से भी राहत दिलाने का काम करता है।

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) का कैमिकल कंपोजीशन क्या है?

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) में निम्न तत्व पाए जाते हैं।

  • अल्फाकैल्सिडोल (Alfacalcidol)
  • कैल्शियम कार्बोनेट (Calcium Carbonate)

अल्फाकैल्सिडोल (Alfacalcidol)

अल्फाकैल्सिडोल (alfacalcidol) विटामिन डी का एक सक्रिय मेटाबोलाइट है। ये शरीर में कैल्शियम बैलेंस का काम करता है। अल्फाकैल्सिडोल को विटामिन डी हाॅर्मोन एनालॉग कहा जाता है, जो कि लिवर में एंजाइम 25- हाइड्रॉक्सीलेज को एक्टिव करने का काम करता है। साथ ही ये कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने का काम करता है।

कैल्शियम कार्बोनेट (Calcium Carbonate)

कैल्शियम कार्बोनेट डायट्री सप्लिमेंट है। जिसका उपयोग आहार में तब किया जाता है जब कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं होता है। हेल्दी बोंस, मसल्स, नर्वस सिस्टम और हार्ट के लिए कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा जरूरी है। कैल्शियम कार्बोनेट का यूज हार्टबर्न, अपच, पेट खराब आदि समस्याओं के निदान के लिए किया जाता है।

और पढें: Acotiamide: अकोशियामाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डोसेज

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) का सामान्य डोज क्या है?

बायो डी3 प्लस का डोज आपको डॉक्टर ने जितना लेने की सलाह दी हो, उतना ही डोज लें। बीमारी की अनुसार ही डॉक्टर बायो डी3 प्लस का कम या फिर ज्यादा डोज लेने की सलाह दे सकते हैं।

वयस्कों के लिए बायो डी3 प्लस कैप्सूल डोज – 0.25 एमसीजी या 0.50 एमसीजी

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

बायो डी3 प्लस का ओवरडोज लेने से हो सकता है कि आपको सांस लेने में दिक्कत हो। अगर आपने दवा का ओवरडोज कर लिया है और शरीर में गंभीर लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो तुरंत नजदीक के इमरजेंसी वार्ड में जाएं। साथ ही हल्के लक्षण है तो आप डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं। दवा का डोज जितना डॉक्टर ने बताया है, उतना ही लें।

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

बायो डी3 प्लस का मिस डोज हो जाए तो खुराक की याद आते ही उसे लें। हालांकि, अगर आपकी अगली डोज का समय होने वाला है तो भूले हुए डोज की बजाए, अगली खुराक का सेवन पहले से तय किए गए समय पर करें। एक साथ दो खुराक का सेवन न करें। अगर आप समय पर दवा नहीं खाएंगे तो आपके शरीर में कैल्शियम की कमी दूर नहीं हो पाएगी। बेहतर है कि दवा का डोज समय पर ही लें।

यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

और पढे़ं : Mala D: माला डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • बायो डी3 प्लस का इस्तेमाल पानी के साथ (ओरली) करना चाहिए। इस कैप्सूल का सेवन आप खाने के पहले या फिर बाद में कर सकते हैं। इस बारे में अपने डॉक्टर से जानकारी लें।
  • बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) को तोड़कर या फिर पीसकर नहीं खाना चाहिए। इस कैप्सूल को पानी में मिलाकर भी नहीं खाना चाहिए।
  • अगर शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है तो शरीर हड्डियों से कैल्शियम लेने लगता है। कैल्शियम की कमी को रोकने के लिए समय पर दवा का उपयोग करें।
  • अगर आपको डॉक्टर ने दवा का उपयोग करने के साथ ही स्पेशल डायट बताई है तो उसे जरूर लें।
  • शरीर में आपको तभी इफेक्ट दिखाई देगा, जब आप समय पर दवाओं का सेवन करेंगे।

बायो डी3 प्लस (Bio D3 plus) का इन बीमारियों में होता है इस्तेमाल

लो ब्लड कैल्शियम (low blood calcium)

जब भोजन में कैल्शियम की उचित मात्रा नहीं मिल पाती है तो ब्लड में कैल्शियम लेवल कम हो जाता है। ऐसे में डॉक्टर बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) लेने की सलाह दे सकता है।

कमजोर हड्डियां (weak bones)

जब शरीर में उचित मात्रा में कैल्शियम नहीं पहुंच पाता है तो बॉडी बोंस के कैल्शियम का यूज करना शुरू कर देती है। इससे शरीर में ‘ओस्टीयोमलेशिया या रीकेट्स की समस्या हो सकती है। इस बीमारी के इलाज के दौरान डॉक्टर बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) लेने की सलाह दे सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान (During Pregnancy)

जिन महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान कैल्शियम की कमी हो जाती है, उन्हें डॉक्टर बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) लेने की सलाह दे सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी दवा का सेवन डॉक्टर से परामर्श के बाद ही करना चाहिए।

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) में विटामिन डी भी होता है जो शरीर में कैल्शियम और फॉस्फोरस के अवशोषण में मुख्य भूमिका निभाता है।

और पढ़ें : Becosules z: बीकासूल जेड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

बायो डी3 प्लस का सेवन करने से जहां एक ओर शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है, वहीं इसके कुछ समाइड इफेक्ट्स भी दिख सकते हैं। साइड इफेक्ट हल्के से लेकर गंभीर भी हो सकते हैं। अगर आपको दवा का सेवन करने के बाद शरीर में कुछ लक्षण नजर आएं तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात जरूर करें। जानिए बायो डी3 प्लस खाने से शरीर में क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं,

उपरोक्त दिए गए साइ इफेक्ट्स में कुछ लक्षण समय के साथ ठीक हो जाते हैं। ऐसा जरूरी नहीं है कि सभी लोगों को दवा का सेवन करने के बाद बॉडी में दुष्प्रभाव नजर आएं। दवा के सेवन के बाद शरीर में होने वाले चेंजेस पर गौर जरूर करें।

और पढ़ें : Flomist Nasal Spray: फ्लोमिस्ट नेजल स्प्रे क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां और चेतावनी

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

  • बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) का सेवन करने के दौरान अगर आपको एलर्जी की समस्या हो जाती है तो तुरंत इस दवा का सेवन बंद कर दें और डॉक्टर की इसकी जानकारी दें।
  • इस दवा का सेवन कुछ मेडिकल कंडिशन में नहीं किया जाता है। ये बहुत जरूरी है कि आप डॉक्टर को अपनी बीमारी के बारे में पहले से बता दें।
  • शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी की अधिकता में इस दवा का सेवन नहीं किया जाता है।
  • अगर आपको मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या है तो डॉक्टर को इस बारे में जानकारी दें।
  • डायट में आपको क्या इस्तेमाल करना है और क्या नहीं, इस बारे में भी डॉक्टर से जानकारी जरूर लें।
  • इस दवा के साथ किसी अन्य मल्टीविटामिन, मिनरल सप्लिमेंट लेने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

क्या गर्भावस्था या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) को लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) का इस्तेमाल करने की सलाह डॉक्टर आपको दे सकता है। अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो डॉक्टर को इस बारे जानकारी दें। बिना डॉक्टर की सलाह से इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

रिएक्शन

कौन-सी दवाइयां बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) कैप्सूल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अन्य मेडिसिन को लेने के दौरान आपको सावधानी रखनी चाहिए। कुछ दवाएं बायो डी3 प्लस के साथ रिएक्शन कर सकती हैं। पहले से ली जाने वाली मेडिसिन के बारे में अपने डॉक्टर को जानकारी देनी चाहिए। निम्न दवाइयां बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं और साथ ही शरीर में साइड इफेक्ट भी पैदा कर सकती हैं।

  • टेट्रासाइक्लिन एंटीबायोटिक्स (tetracycline antibiotics ) जैसे कि डॉक्सीसाइक्लिन (doxycycline),मिनोसाइक्लिन (minocycline)
  • बिसफॉस्फोनेट्स (bisphosphonates) जैसे कि एलेंड्रोनेट (alendronate)
  • एस्ट्रामस्टीन (estramustine)
  • एंटीबायोटिक्स जैसे कि सिप्रोफ्लोक्सासिन (ciprofloxacin), लेवोफ्लाक्सासिन (levofloxacin)

उपरोक्त दवाओं के साथ ही कैल्शियम या विटामिन डी के अन्य सप्लीमेंट न लें। अगर आपने ऐसा किया तो शरीर में साइड इफेक्ट भी नजर आ सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर पूछें।

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) फूड या एल्कोहॉल के साथ रिएक्शन करती है?

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) कैप्सूल का सेवन करने के दौरान शराब का सेवन न करें। दवा के साथ शराब रिएक्शन कर सकती है। वहीं खाने के साथ बायो डी3 प्लस का रिएक्शन नहीं होता है।

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) हेल्थ कंडिशन को प्रभावित कर सकती है?

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) का सेवन कुछ हेल्थ कंडिशन के दौरान नहीं करना चाहिए। अगर आपको किसी प्रकार की शारीरिक बीमारी है तो इस बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं।

यहां दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें Rifagut: रिफागट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

मैं बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) को कैसे स्टोर करूं?

बायो डी3 प्लस ( Bio D3 Plus) को सामान्य तापमान यानी कमरे के तापमान पर रखें। कैप्सूल को गर्मी और सूर्य के प्रकाश से बचाएं। कैप्सूल को बच्चों की पहुंच से दूर रखें। पैकेज में दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार ही मेडिसिन को स्टोर करें। दवा को खरीदते समय उसके पैकेज के साथ ही एक्सपायरी डेट को जरूर चेक कर लें।

बायो डी3 प्लस (Bio D3 Plus) किस रूप में उपलब्ध है?

  • कैप्सूल
  • सिरप

दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Bio D3 Plus : https://www.ndrugs.com/?s=bio-d3%20plus&t=dosage  Accessed on  26/6/2020

calcium carbonate and alfacalcidol tablets:   https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19894330/ Accessed on  26/6/2020

The Advantage of Alfacalcidol Over Vitamin D in the Treatment of Osteoporosis  https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10485984/ Accessed on  26/6/2020

Calcium Carbonate: https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a601032.html#:~:text=Calcium%20carbonate%20is%20a%20dietary,acid%20indigestion%2C%20and%20upset%20stomach. Accessed on  26/6/2020

Calcium Carbonate:     https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/Calcium-carbonate Accessed on  26/6/2020

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x