home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Candid-B Cream : कैंडिड बी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

परिचय|कैसे इस्तेमाल करें|साइड इफेक्ट|खुराक|सावधानियां
Candid-B Cream : कैंडिड बी क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

परिचय

कैंडिड बी क्रीम (Candid-B Cream) क्या है?

कैंडिड बी क्रीम कई दवाओं से मिलकर बना है। यह बिटामैथजोन + क्लोट्रिमेजोल के संयोजन से बना है। यह एंटीफंगल दवा कई तरह के स्किन इंफेक्शन, खुजली और दाद आदि की समस्या में इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर यह क्रीम के रूप में उपलब्ध है।

कैंडिड बी क्रीम का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

यह क्रीम बिटामैथजोन + क्लोट्रिमेजोल से मिलकर बनी है। क्लोट्रिमेजोल एंटी फंगल दवा है जिसका इस्तेमाल त्वचा, मुंह और वजायना के यीस्ट इंफेक्शन, दाद, एथलिट फुट, जॉक इच (एक प्रकार का दाद) के उपचार के लिए किया जाता है। क्लोट्रिमेजोल फंगस को मारकर इसका विकास रोकता है, जबकि बिटामैथजोन त्वचा की लालिमा, खुलजी और फंगस इंफेक्शन के कारण हुई अन्य समस्या को दूर करने में मदद करता है। यह क्रीम, पाउडर और लोशन के रूप में मिलता है। इसके अलावा यह लॉजेंस के रूप में भी आता है जिसे मुंह में रखने पर यह घुल जाता है। यह वजाइना क्रीम और टैबलेट के रूप में भी मिलता है। प्रभावित हिस्से पर कैंडिड बी क्रीम की एक परत लगाने से आराम मिलता है। हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ही इस दवा का इस्तेमाल करें।

और पढ़ेंः Evion LC : एवियन एलसी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कैसे इस्तेमाल करें

कैंडिड बी क्रीम का इस्तेमाल कैसे करें?

यह क्रीम या लोशन को लगाने से पहले दवा के पैकेट पर लिखे दिशा-निर्देशों को अच्छी तरह से पढ़ें और डॉक्टर ने जो सलाह दी है उसका भी पालन करें। यदि किसी तरह की दुविधा हो तो मेडिकल स्टोर में जाकर आप पूछ सकते हैं। ध्यान रहे डॉक्टर ने दवा का जिस तरह से इस्तेमाल करने को कहा हो वैसे ही इस्तेमाल करें। इस क्रीम/लोशन को सिर्फ प्रभावित हिस्से पर ही लगाएं और क्रीम लगाने के बाद उसे बैंडेज या किसी अन्य चीज से ढंके नहीं, जब तक कि डॉक्टर ने ऐसा करने को न कहा हो। क्रीम लगाने से पहले प्रभावित हिस्से को अच्छी तरह से साफ करके सूखा लें। बच्चों के डायपर रैश को ठीक करने के लिए इस क्रीम का इस्तेमाल न करें।

यदि वजाइनल इंफेक्शन के लिए क्लोट्रिमेजोल क्रीम का इस्तेमाल कर रही हैं, तो इस्तेमाल से पहले पैकेट पर लिखें निर्देशों को पढ़ें। यदि सेल्फ मेडिकेशन कर रही हैं तो एक बार फार्मासिस्ट से दवा के साइड इफेक्ट के बारे में जरूर पूछ लें, किसी तरह का सवाल मन में होने पर डॉक्टर से परामर्श के बाद ही क्रीम का इस्तेमाल करें। वजायनल क्रीम का इस्तेमाल शरीर के अन्य हिस्सों पर न करें और क्रीम लगाने से पहले और बाद में हाथ अच्छी तरह साफ कर लें। आमतौर पर यह रात के समय लगाने को कहा जाता है। आपका इंफेक्शन कितना गंभीर है इसके आधार पर डॉक्टर तय करता है कि कितने दिन इस क्रीम लगाने की जरूरत है।

साइड इफेक्ट

कैंडिड बी क्रीम के साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

इस क्रीम के इस्तेमाल से यदि आपको किसी तरह का एलर्जिक रिएक्शन, खुलजी, जलन आदि होता है तो तो तुरंत इस बारे में डॉक्टर को तुरंत बताएं। कैंडिड बी क्रीम का साइड इफेक्ट होने पर निम्न लक्षण दिख सकते हैः

इसके अलावा निम्न स्थितियों में भी आपको डॉक्टर के पास तुरंत जाने की आवश्यकता हैः

और पढ़ेंः Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

खुराक

कैंडिड बी क्रीम की कितनी खुराक लेनी चाहिए?

इस दवा की खुराक अलग-अलग मरीज के लिए अलग हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर के बताएं निर्देशानुसार ही लवा लें। एक दिन में कितनी बार दवा लेनी है और यह कितने दिनों तक लगातार देनी है यह मरीज की स्थिति पर निर्भर करता है और इस बारे में डॉक्टर की सलाह पर अमल करना चाहिए। सामान्य तौर पर कैंडिड बी क्रीम की खुराक कुछ इस तरह हो सकता हैः

क्रीम या लोशन के रूप में

  • 17 साल से अधिक उम्र के बच्चे और व्यस्क इसे प्रभावित हिस्से पर दिन में दो बार लगाएं, सुबह और शाम।
  • 17 साल से कम उम्र के बच्चों को इसका इस्तेमाल न करने की सलाह दी जाती है

वजाइनल क्रीम के रूप में

  • यह एप्लीकेटर के जरिए रोजना दिन में एक बाद, लगातार 7 दिनों तक लगाया जाता है। आमतौर पर रात को सोते समय इसे लगाया जाता है।

लॉजेंस के रूप में

  • लॉजेंस यानी चूसने वाला टैबलेट। इसे मुंह में रखने पर धीरे-धीरे यह घुले लगता है। इसे दिन में करीब 5 बार 14 दिनों तक दिया जाता है।
और पढ़ेंः Aphrodisiac : ऐफ्रडिजीऐक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां

कैंडिड बी क्रीम को कैसे स्टोर करना चाहिए?

  • कैंडिड बी क्रीम/लोशन के ट्यूब या बोतल की ढक्कन टाइट बंद करके उसे रूम टेम्प्रेचर पर रखें। अधिक गर्म, नमी वाली जगह और धूप के सीधे संपर्क में न रखें।
  • कैंडिड बी क्रीम को बच्चों की पहुंच से दूर रखें
  • बची हुई क्रीम को किस तरह डिस्पोज करना है इस बारे में डॉक्टर से पूछें।

कैंडिड बी क्रीम के साथ क्या अन्य दवाओं का रिएक्शन हो सकता है?

आमतौर पर कैंडिड बी क्रीम त्वचा पर लगाई जाती है ऐसे में किसी ओरल मेडिकशन से रिएक्शन नहीं होता है। लेकिन कई बार कई दवाएं आपस में प्रतिक्रिया कर सकती हैं, इसलिए बेहतर है कि अपने डॉक्टर को उन सभी दवाओं के बारे में बताएं जो आप ले रहे हैं। चाहे वह ओवर द काउंडर मेडिसीन, विटामिन या हर्बल प्रोडक्ट ही क्यों न हों।

कैंडिड बी क्रीम का डोज मिस होने पर क्या करना चाहिए?

यदि कैंडिड बी क्रीम की खुराक मिस हो जाती है, तो जैसे ही याद आए इसकी खुराक ले लें। लेकिन यदि अगली खुराक का समय होने वाला है तो उसे स्किप करें।

कैंडिड बी क्रीम का ओवरडोज होने पर क्या करना चाहिए?

कैंडिड बी क्रीम का ओवरडोज या गलती से इसके मुंह में चले जाने पर तुरंत मेडिकल इमरजेंसी नंबर पर फोन करें। कैंडिड बी क्रीम के ओवरडोज या लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करने पर आपकी स्किन पतली हो जाती है, नील का निशान आसानी से पड़ जाता है, बॉडी फैट में बदलाव, पिंपल्स, चेहरे पर बाल अधिक उगने लगते हैं, मेंस्ट्रुअल प्रॉब्लम और सेक्स में रूचि खत्म होने जैसी समस्या हो सकती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 19/07/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x