home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Erythromycin: एरिथ्रोमाइसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इन जरूरी बातों को जानें|डोसेज
Erythromycin: एरिथ्रोमाइसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

एरिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल कई तरह के बैक्टीरियल इंफेक्शन के लिए किया जाता है। इसके अलावा ये बैक्टीरियल इंफेक्शन को रोकने के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है। इसको मैक्रोलाइड एंटीबायोटिक के रूप में जाना जाता है। यह बैक्टीरिया की वृद्धि को रोकने के जरिए काम करता है।

यह दवा केवल जीवाणु संक्रमण का इलाज करता है और इसे बढ़ने से रोकता है। वायरल इंफेक्शन जैसे सामान्य खांसी, सर्दी या फ्लू के लिए ये दवा काम नहीं करेगी। किसी भी एंटीबायोटिक के अनावश्यक उपयोग या दुरुपयोग से इसके प्रभाव में कमी आ सकती है।

एरिथ्रोमाइसिन का उपयोग एक निश्चित प्रकार की पेट की स्थिति के इलाज के लिए भी किया जाता है, जिसमें धीमी गति से पाचन (गैस्ट्रोपेरसिस) शामिल है।

और पढ़ें : खांसी का आयुर्वेदिक इलाज: कफ होने पर क्या करें और क्या न करें?

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) का इस्तेमाल किस तरह करना है?

एरिथ्रोमाइसिन को ठीक उस तरह लें जैसे आपके डॉक्टर ने इसकी खुराक आपके लिए निर्धारित की है। आमतौर पर इसे खाना खाने से पहले लिया जाता है। ये दवा तब ज्यादा अच्छे से अवशोषित होती है जब आप इसे खाली पेट लेते हैं। अगर खाली पेट दवा लेने से आपको जी मिचलाना या उल्टी की शिकायत हो तो आप इसे खाना या दूध के साथ भी ले सकते हैं।

  • इस दवा को चबाने पर इसका टेस्ट कड़वा हो सकता है। पूरी गोली को निगल कर लें। दवा को न तो चबाएं और न ही पीसकर लें।
  • दवा की खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। बच्चों में इसकी डोज उनके वजन पर निर्भर करती है।
  • एंटीबायोटिक तब अच्छे से काम करती हैं जब ये आपके शरीर में एक स्थिर समय तक रहे। इसलिए दवा को हमेशा बराबर अंतराल पर लें। एक बात का और ध्यान रखें रोजाना इसका सेवन एक ही समय पर करें।
  • अगर आप इस दवा का इस्तेमाल इंफेक्शन को दूर करने के लिए ले रहे हैं तो दवा को तब तक लें जब तक आपके डॉक्टर ने इसे आपके लिए निर्धारित किया है। कुछ दिनों में अगर आपको इसके लक्षण ठीक होते नजर आ रहे हैं तो दवा को खुद से लेना बंद न करें।
  • डॉक्टर से परामर्श के बिना खुद से दवा को लेना न छोड़ें। कई बार ऐसा करने से परेशानी पहले से ज्यादा गंभीर होने की संभावना रहती है। डॉक्टर आपकी डोज को बंद करने से पहले उसे कम करेंगे।
  • डॉक्टर से पूछे बिना डोज को बढ़ाएं नहीं। इससे भले ही आप पहले से जल्दी ठीक होंगे, लेकिन इससे गंभीर साइड इफेक्ट्स होने का खतरा रहता है।

दवा को लेने से अगर आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं है या पहले से भी परेशानी ज्यादा हो जाएं तो इसे लेकर डॉक्टर से परामर्श लें।

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) को मैं कैसे स्टोर करूं?

एरिथ्रोमाइसिन को स्टोर करने के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी से बचाकर रखना चाहिए। इसको कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह पर न रखें। मार्केट में यह दवा अलग-अलग ब्रांड में उपलब्ध है, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा- निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एरिथ्रोमाइसिन को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के इस दवा को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुकी है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो यूज न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : इन आसान तरीकों से करें डेंगू से बचाव

सावधानियां और चेतावनी

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या बातें मालूम होनी चाहिए?

एरिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल करने से पहले यदि आपको निम्नलिखित परेशानियां हैं तो अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • अगर आपको एरिथ्रोमाइसिन, एजिथ्रोमाइसिन, क्लेरीथ्रोमाइसिन, डिरीथ्रोमाइसिन में से किसी दवा से एलर्जी है।
  • अपने डॉक्टर को उन सभी दवाओं की जानकारी दें जिनका आप सेवन कर रहे हैं। इस लिस्ट में उन दवाओं को भी शामिल करें जिन्हें आप सीधे मेडिकल स्टोर से ले रहे हैं। इसके अलावा अगर आप किसी हर्बल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो यह भी अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।
  • अगर आपको लिवर संबंधित कोई रोग है या पहले कभी रहा है तो यह भी आपके डॉक्टर को मालूम होना जरूरी है।
  • अगर आप कोई सर्जरी कराने वाले हैं इसमें डेंटल सर्जरी भी शामिल है तो अपने डॉक्टर को जरूर बताएं कि आप एरिथ्रोमाइसिन दवा का सेवन कर रहे हैं।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एरिथ्रोमाइसिन लेना कितना सुरक्षित है, इसको लेकर अभी तक पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। इस दवा को लेने से पहले इसके संभावित फायदों और नुकसान का आंकलन करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, एरिथ्रोमाइसिन प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी में ‘B’ में है।

हालांकि, अगर आप प्रेग्नेंट हैं या होने का प्लान कर रही हैं या फिर ब्रेस्ट फीडिंग कराती हैं तो भी अपने डॉक्टर को जरूर बताएं।

FDA प्रेग्नेंसी रिस्क कैटेगरी की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • A=No risk (कोई खतरा नहीं)
  • B=No risk in some studies (कुछ अध्ययनों में खतरा पाया गया)
  • C=There may be some risk, (कुछ खतरे हो सकते हैं)
  • D=Positive evidence of risk, (खतरे के पॉजिटिव एविडेंस मौजूद हैं)
  • X=Contraindicated, (कॉन्ट्रेनडिकेटेड)
  • N=Unknown (पता नहीं)

और पढ़ें : मां और शिशु दोनों के लिए बेहद जरूरी है प्री-प्रेग्नेंसी चेकअप

साइड इफेक्ट्स

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) को लेने से मुझे क्या साइड-इफेक्ट्स हैं?

अगर आपको किसी तरह के एलर्जी रिएक्शन जैसे हाइव्स, सांस लेने में दिक्कत, चेहरे, होंठ, जीभ, खुजली या गले पर सूजन हो तो तुरंत चिकित्सक से कंसल्ट करें।

किसी तरह का नया बिगड़ता हुआ लक्षण जैसे जलन, चुभन या लालिमा, त्वचा की स्थिति का बिगड़ना या दस्त जो पानी या खूनी हो तो भी डॉक्टर से परामर्श लें।

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। हालांकि आपको यहां कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में नहीं बताया गया है। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो इस बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ें : बच्चों की स्किन में जलन के लिए बेबी वाइप्स भी हो सकती हैं जिम्मेदार!

[mc4wp_form id=”183492″]

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं तो उसके साथ एरिथ्रोमाइसिन रिएक्ट कर सकती है। इससे दवा का एक्शन प्रभावित होने के साथ साइड इफेक्ट्स होने का खतरा भी ज्यादा रहता है। इससे बचने के लिए आप उन दवाओं (जिनमें प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, न ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

निम्नलिखित दवाओं के साथ एरिथ्रोमाइसिन का इंटरैक्शन हो सकता है;

  • एंटीवायरल मेडिसिन (Antiviral medicine)
  • एंटीफंगल दवा (Antifungal medicine)
  • एंटीबायोटिक दवाएं (antibiotic medicines)
  • कैंसर की दवाएं (Cancer medicine)
  • कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाली दवाएं (Drugs that lower cholesterol)
  • मलेरिया के इलाज के लिए इस्तेमाल करने वाली दवाएं (Drugs to treat or prevent malaria)
  • हृदय रोग और ब्लड प्रेशर की दवाएं (Heart or blood pressure medication)
  • अंग प्रत्यारोपण अस्वीकृति को रोकने के लिए दवा (Medicine to prevent organ transplant rejection)
  • अवसाद या मानसिक बीमारी के इलाज के लिए दवा (Medicine to treat depression or mental illness)

इस लिस्ट में सभी दवाएं नहीं है जो एरिथ्रोमाइसिन के साथ इंटरैक्ट हैं। इसके अलावा विटामिन और हर्बल प्रोडक्ट भी हो सकते हैं जो इंटरैक्ट कर सकती हैं।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

किसी भी विशेष डायट या एल्कोहॉल के साथ एरिथ्रोमाइसिन का सेवन कर रहें हैं तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं। कुछ मामलों में इसके परिणाम खतरनाक साबित हो सकते हैं।

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

एरिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल सेहत के कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें, खासतौर पर अगर आपको:

  • ब्रेडीकार्डिया (Bradycardia)
  • हृदय रिदम संबंधित दिक्कते (Heart rhythm problems)
  • हाइपोकलेमिया (Hypokalemia)
  • कंजेस्टिव हार्ट फेलियर (Congestive heart failure)
  • लिवर संबंधित रोग (liver disease);
  • मायस्थेनिया ग्रेविस (Myasthenia gravis)

और पढ़ें : Levocetirizine+Montelukast: लेवोसिट्रीजीन+मोंटेलुकास्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डोसेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) की वयस्कों के लिए क्या डोज है?

कैम्पिलोबैक्टर गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Campylobacter Gastroenteritis):

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

ल्यंफोंग्रानुलोमा वेनेरेउम (Lymphogranuloma Venereum)

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

माइकोप्लाज्मा निमोनिया (Mycoplasma Pneumonia)

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

ओटिटिस मीडिया (Otitis Media)

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

निमोनिया Pneumonia:

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

स्किन और सॉफ्ट टिश्यू इंफेक्शन:

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

ऊपरी श्वास पथ संक्रमण (Upper Respiratory Tract Infection):

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

ब्रोंकाइटिस (Bronchitis):

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

क्लैमाइडिया संक्रमण (Chlamydia Infection):

  • हल्का इंफेक्शन: 250 से 500 मिलीग्राम (हर 6 घंटे में)
  • गंभीर इंफेक्शन: 1 to 4 ग्राम/दिन को अलग-अलग डोज में बांट कर हर 6 घंटे में लगातार इंफ्यूजन

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) की बच्चों के लिए क्या डोज है?

बैक्टीरियल एंडोकार्डिटिस प्रोफिलैक्सिस (Bacterial Endocarditis Prophylaxis): 20 मिलीग्राम/किलोग्राम (एथिलसुसीनेट या स्टीयरेट) प्रक्रिया से दो घंटे पहले मौखिक रूप से दें, छह घंटे के बाद आधी मात्रा में दवा फिर से दें।

बाउल प्रिपरेशन (Bowel Preparation): 20 मिलीग्राम/किलोग्राम

निमोनिया (Pneumonia): 50 मिलीग्राम/किलोग्रामय/दिन (डोजेज में बांट कर दो हफ्ते तक हर 6 घंटे में)

क्लेमेडिया इंफेक्शन (Chlamydia Infection): 50 मिलीग्राम/किलोग्रामय/दिन (डोजेज में बांट कर दो हफ्ते तक हर 6 घंटे में)

रूमेटिक फीवर (Rheumatic Fever): 250 मिलीग्राम दिन में दो बार मौखिक रूप से

एरिथ्रोमाइसिन (Erythromycin) कैसे उपलब्ध है?

एरिथ्रोमाइसिन निम्नलिखित रूपों और डोजेज में उपलब्ध है:

  • कैप्सूल डिलेयड रिलीज पार्टीकल्स(Capsule Delayed Release Particles): 250 mg
  • सॉल्यूशन 500 मिलीग्राम, 1000 मिलीग्राम
  • सस्पेंशन: 200 मिलीग्राम/5 मिलीलीटर (100 mL); 400 मिलीग्राम/5 मिलीलीटर (100मिलीलीटर)
  • टैबलेट: 250 मिलीग्राम, 500 मिलीग्राम
  • टैबलेट: 400 मिलीग्राम
  • टैबलेट, डिलेड रिलीज: 250 मिलीग्राम, 333 मिलीग्राम , 500 मिलीग्राम

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आप अपने इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या फिर अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड पर जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप एरिथ्रोमाइसिन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक न लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Erythromycin (Oral Route). http://www.mayoclinic.org/drugs-supplements/erythromycin-oral-route/description/drg-20075495. Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin . https://www.drugs.com/erythromycin.html. Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin. https://www.drugbank.ca/drugs/DB00199 Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin. https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a682381.html Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin. https://www.nhs.uk/medicines/erythromycin/. Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin Tablets BP 250 mg. https://www.medicines.org.uk/emc/product/502/smpc. Accessed On 13 October, 2020.

Erythromycin. https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/Erythromycin. Accessed On 13 October, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Mona narang द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड