प्रेग्नेंट होने के लिए सेक्स के अलावा इन बातों का भी रखें ध्यान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट दिसम्बर 12, 2019 . 3 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सेक्स के बाद मन में दो तरह के ख्याल आते हैं। पहला ख्याल कि कहीं प्रेग्नेंट न हो जाएं और दूसरा कि शायद इस बार खुशखबरी मिल जाएगी। प्रेग्नेंट होने के लिए कपल्स कई तरीके अपनाते हैं। पीरियड्स टाइम के कैलक्युलेशन से लेकर डॉक्टर के परामर्श को भी अपनाया जाता है। अगर आप प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखकर आसानी से कंसीव किया जा सकता है। यहां हम गर्भधारण के टिप्स बता रहे हैं। जिनको कपल्स फॉलाे कर सकते हैं।

सेक्स के बाद प्रेग्नेंट हो ही जाएं, ये जरूरी नहीं है। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि प्रेग्नेंट होने के लिए सेक्स के बाद क्या करना चाहिए?

यह भी पढे़ें : फर्स्ट ट्राइमेस्टर वाली गर्भवती महिलाओं के लिए 4 पोष्टिक रेसिपीज

गर्भधारण के टिप्स:

इंटरकोर्स कर चुके हैं? ध्यान रखें ये बात

आपने सुना होगा कि इंटरकोर्स के बाद तुरंत बाथरूम जाने से प्रेग्नेंसी की संभावना कम हो जाती है। इंटरकोर्स के बाद कुछ देर यानी 10 से 15 मिनट तक बेड पर लेटे रहे। इस बात का कोई प्रमाण नहीं है, लेकिन आप इसे अपना सकते हैं।  अगर आप सेक्स के बाद 10 से 15 मिनट तक इंतजार करती हैं तो स्पर्म के सर्विक्स तक पहुंचने की संभावना बढ़ सकती है।

यह भी पढे़ें : प्रेंग्नेंसी की दूसरी तिमाही में होने वाले हॉर्मोनल और शारीरिक बदलाव क्या हैं?

हेल्दी डायट है जरूरी

सेक्स के बाद प्रेग्नेंट हो जाएंगी, ये हर बार जरूरी नहीं होता है। कुछ फैक्टर हैं, जिनके कारण सेक्स के बाद प्रेग्नेंसी की संभावना बढ़ जाती है। हेल्दी और बैलेंस फूड  डायट में शामिल करना आपके लिए जरूरी है। फ्रूट्स, वेजीटेबल्स, प्रोटीन, बींस, नट्स, वोल ग्रेन, लीन मीट और डेयरी प्रोडक्ट्स को अपने खाने में शामिल करें। आपको रोजाना 1000 एमजी कैल्शियम लेना चाहिए। साथ ही जिंक, विटामिन बी6, विटामिन सी और विटामिन ई फर्टिलिटी बढ़ाने का काम करते हैं।

 ऑव्युलेशन के समय रोजाना सेक्स नहीं है जरूरी

महिला और पुरुषों को लगता है कि ऑव्युलेशन के समय में रोजाना सेक्स करना प्रेग्नेंसी के अवसर बढ़ा देता है। ऐसा बिलकुल नहीं है क्योंकि सेक्स के बाद स्पर्म करीब 5 दिनों तक फर्टिलाइजेशन के लिए एक्टिव रहते हैं। कपल्स को ऑव्युलेशन के 4-5 दिन पहले और दूसरे दिन सेक्स करने की सलाह दी जाती है। इस बात को भी मन से निकाल दें कि ज्यादा सेक्स करने से स्पर्म की गुणवत्ता में कमी आती है। अगर आपको इससे संबंधित कुछ भी सवाल पूछने हो तो बेहतर होगा कि एक बार डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढे़ें : IUI प्रेग्नेंसी क्या हैं? जानिए इसके लक्षण

अपने पार्टनर को भी दें राय

अगर आप कंसीव करना चाहती हैं तो आपको पार्टनर से भी खानपान को लेकर डिस्कस करना होगा। पार्टनर को कहें कि वो खाने में जिंक, विटामिन सी, विटामिन ई और ओमेगा 3s को शामिल करें। ये स्पर्म का प्रोडक्शन को बढ़ाने का काम करता है।

यह भी पढे़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकती हैं ये 10 समस्याएं, जान लें इनके बारे में

हर महीने रहते हैं प्रेग्नेंसी के 25% चांस

पौष्टिक आहार, रोजाना व्यायाम, हेल्दी बीएमआई और सही समय पर सेक्स आपके हर महीने गर्भवती होने के चांसेस बढ़ा देता है। किसी भी महिला के हर महीने प्रेग्नेंट होने के 25 प्रतिशत चांजेस होते हैं। अगर आपको 12 महीने के बाद भी प्रेग्नेंट होने में दिक्कत हो रही है तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। किसी समस्या की वजह से भी महिलाएं कंसीव नहीं कर पाती हैं। समस्या पुरुष या महिला किसी में भी हो सकती है।

यह भी पढे़ें : गर्भावस्था के आठवें महीने में की जा सकती हैं ये एक्सरसाइज

इन बातों का भी रखें ध्यान

स्मोकिंग और शराब का सेवन सभी के लिए भी हानिकारक होता है। अगर आप कंसीव करने का सोच रहे हैं तो आपको इन सब से दूरी बना लेनी चाहिए। स्मोकिंग शरीर में ईस्ट्रोजन लेवल और ऑव्युलेशन को बिगाड़ देती है। खानपान में अनहेल्दी चीजें आपके स्वास्थ्य के साथ ही फर्टिलिटी को भी नुकसान पहुंचाने का काम करती है।

करीब 85 प्रतिशत कपल्स बिना किसी समस्या के एक साल के भीतर कंसीव कर लेते हैं। अगर आप एक साल में कंसीव नहीं कर पाई हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर जांच के बाद आपको उचित राय देंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

यह भी पढे़ें : आईवीएफ (IVF) के साइड इफेक्ट्स: जान लें इनके बारे में भी

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, एक सर्वे में सामने आई कई चौंकाने वाली बातें

    लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, कैसे लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, सेक्स प्रोडक्ट्स क्या है, Sex toy का इस्तेमाल कैसे करते हैं, sale of Sex toy in lockdown

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

    कौन-कौन से हैं सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल और पाइए उनके जवाब

    सेक्स से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल, सेक्स से जुड़े जवाब, सेक्स से जुड़े सवाल, सेक्स संबंधी जानकारी, sex related question answers, sex related questions.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma

    मूत्रमार्ग का हस्तमैथुन युवक को पड़ गया भारी, जानें यूरेथ्रल साउंडिंग क्या है? 

    यूरेथ्रल साउंडिंग (Urethral Sounding) क्या है, यूरेथ्रल साउंडिंग के फायदे और नुकसान क्या हैं? Benefits and side effects of Urethral Sounding.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

    क्या तीव्र कामेच्छा होना आपके लिए है खतरनाक? जानें इस बारे में सबकुछ

    तीव्र कामेच्छा क्या है, तीव्र कामेच्छा होने के लक्षण क्या है, कामलिप्सा के नुकसान क्या है, हाई सेक्स ड्राइव क्या है, high libido in Hindi.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

    Recommended for you

    हॉर्नी और सेक्स

    सेक्स के बारे में सोचते रहना नहीं है कोई बीमारी, ऐसे कंट्रोल में रख सकते हैं अपनी फीलिंग्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    जेनोफोबिया - genophobia

    सेक्स से लगता है डर? हो सकता है जेनोफोबिया

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स - better sex with back pain

    पीठ दर्द के साथ बेहतर सेक्स के लिए ध्यान रखें ये जरूरी बातें

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    तंत्र सेक्स

    डाले अपने सेक्स जीवन में नयी मिठास तंत्र सेक्स के साथ

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Mishita Sinha
    प्रकाशित हुआ अगस्त 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें