home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ostocalcium: ओस्टोकैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Ostocalcium: ओस्टोकैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

ओस्टोकैल्शियम (Ostocalcium) कैसे काम करता है?

कैल्शियम शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है। एक उम्र के बाद महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगती है और हड्डियों से कैल्शियम कम होना शुरू हो जाता है। यानी दैनिक कैल्शियम की पूर्ती के लिए अलग से कैल्शियम की खुराक की जरूरत होती है। ओस्टोकैल्शियम ड्रग की सहायता से शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर किया जा सकता है। एक महिला को दिन में 600 mg कैल्शियम और 400 IU विटामिन डी की जरूरत होती है। साथ ही अन्य मिनरल्स की भी जरूरत होती है। ओस्टोकैल्शियम की टेबलेट लेने से शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी की कमी पूरी होती है। ओस्टोकैल्शियम लेने से हड्डियों को मजबूती मिलती है।

ओस्टोकैल्शियम (Ostocalcium) का कैमिकल कंपोजिशन क्या है ?

ओस्टोकैल्शियम में मुख्य रूप से कैल्शियम, फॉस्फेट और विटामिन D3 का कंपोजिशन होता है।

जानिए कितना जरूरी है शरीर के लिए कैल्शियम?

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन ने कैल्शियम के लिए डायटरी रिफरेंस इनटेक (DRI) और रिकमंडेड डेली अलाउंस (RDA) तय किया है। यानी दी गई कैल्शियम की मात्रा अगर आप अपने फूड से प्राप्त करते हैं या फिर सप्लिमेंट से, तो आपकी बोंस हेल्दी रहेंगी। कैल्शियम की कमी होने पर डॉक्टर आपको कैल्शियम की डोज लेने की सलाह दे सकता है। जानिए कितनी मात्रा में जरूरी होता है शरीर के लिए कैल्शियम।

  • 0-6 महीने – 200 एमजी/डे
  • 7-12 महीने– 260 एमजी/डे
  • 1-3 साल – 700 एमजी/डे
  • 4-8 साल – 1,000 एमजी/डे
  • 9-18 साल -1,300 एमजी/डे
  • 19-50 साल – 1,000 एमजी/डे
  • 51- 70 साल -1,200 एमजी/डे (महिला) 1,000 एमजी/डे (पुरुष)
  • 70+ साल – 1,200 एमजी/डे

उम्र बढ़ने के साथ शरीर में कैल्शियम की कमी होना स्वभाविक है। अगर आपको कैल्शियम के फंक्शन के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो बेहतर होगा कि एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करें।

और पढ़ें : Dolonex DT: डोलोनेक्स डीटी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

डोसेज

ओस्टोकैल्शियम (Ostocalcium) का सामान्य डोज क्या है?

मार्केट में ओस्टोकैल्शियम चबाने वाली टेबलेट और सीरप दोनों रूप में आता है। ये महिलाओं और बच्चों के लिए अलग-अलग उपलब्ध है।

वयस्कों के लिए – ओस्टोकैल्शियम टेबलेट

30 साल से अधिक की महिलाओं के लिए – ओस्टोकैल्शियम च्युंगम

बच्चों के लिए – ओस्टोकैल्शियम सिरप

अगर आपको डॉक्टर ने ओस्टोकैल्शियम लेने की सलाह दी है तो उनसे डोज के बारे में भी जानकारी प्राप्त करें। अगर शरीर में कैल्शियम बहुत कम होगा तो ड्रग का डोज बढ़ा कर दिया जा सकता है। अगर आपको किसी प्रकार की बीमारी पहले से है तो इस बारे में डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) का वयस्कों के लिए डोज क्या है?

वयस्कों को ओस्टोकैल्शियम टेबलेट की एक डोज यानी एक टेबलेट दिन में लेने की सलाह दी जा सकती है। इस दवा को डॉक्टर अक्सर खाने के बाद सजेस्ट करते हैं। अगर आपके शरीर में कैल्शियम डेफिशिएंसी है तो आपको डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद ही इस ड्रग का डोज लेना चाहिए।

ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) का बच्चों के लिए डोज क्या है?

बच्चों में कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए डॉक्टर ओस्टोकैल्शियम सिरप सजेस्ट कर सकते हैं। दो साल से 10 साल तक के बच्चे को ओस्टोकैल्शियम सिरप देने की सलाह दी जाती है। बच्चे को ओस्टोकैल्शियम सिरप का कितना डोज देना है, इस बारे में डॉक्टर से जानकारी प्राप्त करें।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

शरीर में जब कैल्शियम अधिक मात्रा में पहुंच जाता है तो साइडइफेक्ट दिखने की संभावना बढ़ जाती है। दवा के ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें। ड्रग का ओवरडोज होने से शरीर में विभिन्न प्रकार के लक्षण दिख सकते हैं। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : Stugeron: स्टुगेरोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

उपयोग

मुझे ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

ओस्टोकैल्शियम का यूज पानी के साथ करें। ओस्टोकैल्शियम च्युंगम को कुछ समय तक चबाना चाहिए। बच्चों को ओस्टोकैल्शियम सिरप एक चम्मच लेने की सलाह दी जाती है। आप डॉक्टर से इस बारे में जरूर पूछ लें कि बच्चे को दवा का डोज कब देना है। सिरप का डोज मापने के लिए सिरप के साथ दिए जाने वाले कैप का इस्तेमाल करें, न कि घर के चम्मच का यूज करें। कैप्सूल को पूरा निगलें। कैप्सूल तोड़े नहीं। अगर आपको दवा के बेनीफिट चाहिए तो आपको समय पर दवा लेनी चाहिए। अगर दवा के साथ डॉक्टर ने आपको स्पेशल डायट फॉलो करने की सलाह दी है तो उस पर भी ध्यान रखें। बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी तरह का सप्लीमेंट न लें।

इस दवा से विभिन्न बीमारियों का होता है इलाज

शरीर में कैल्शियम की कमी के लिए

शरीर में एक उम्र के बाद कैल्शियम की कमी हो जाती है। जब खाने से उचित मात्रा में कैल्शियम नहीं मिल पाती है तो सप्लीमेंट की जरूरत पड़ सकती है।

हड्डियां कमजोर होने पर

एक उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती है। मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है। ओस्टोकैल्शियम शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करता है।

विटामिन डी डेफिशिएंसी

शरीर में विटामिन सी के अवशोषण के लिए विटामिन डी का पर्याप्त मात्रा में होना भी बहुत जरूरी है। ऐसे में ओस्टोकैल्शियम लेना बहुत जरूरी हो जाता है।

बोन लॉस ( Bone loss)

बोन लॉस यानी ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या में हड्डियां आसानी से फैक्चर होने लगती हैं। बोंस डेंसिटी लूज करने लगती है। ऐसी समस्या होने पर भी डॉक्टर ओस्टोकैल्शियम ड्रग लेने की सलाह दे सकता है।

और पढ़ें : Nicotex: निकोटेक्स क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

ओस्टोकैल्शियम (Ostocalcium) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं ?

ओस्टोकैल्शियम ड्रग लेने के कुछ समय बाद हो सकता है कि आपको कब्ज की समस्या हो जाए। ऐसा सब के साथ होगा, ये जरूरी नहीं है। बेहतर होगा कि इस बारे में डॉक्टर से परामर्श करें। ओस्टोकैल्शियम ड्रग लेने के बाद अन्य प्रकार की समस्याएं भी हो सकती हैं। इस ड्रग का यूज करने के बाद निम्न दुष्प्रभाव दिखाई पड़ सकते हैं।

  • मतली की समस्या
  • उल्टी आना
  • भूख न लगने की समस्या
  • वजन घटना
  • मूड का चेंज होना
  • किडनी की समस्या (यूरिन अमाउंट में चेंज होना)
  • मसल्स पेन
  • सिर दर्द की समस्या
  • प्यास का अचानक से बढ़ जाना
  • बार-बार यूरिन के लिए जाना
  • कमजोरी महसूस होना
  • थकान लगना
  • हार्ट रेट बढ़ जाना

ओस्टोकैल्शियम ड्रग लेने के बाद गंभीर साइड इफेक्ट्स दिखने के चांसेज रेयर होते हैं। अगर आपको दवा का सेवन करने के बाद दाने, खुजली की समस्या या सांस लेने में समस्या हो रही है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : Cyra D: सायरा डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

सावधानियां और चेतावनी

ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

  • दवा का सेवन करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपको डॉक्टर ने दवा का कितना कोर्स करने को कहा है। दवा का कोर्स जरूर पूरा करें। दवा को कम मात्रा में लेने से समस्या का निदान नहीं होगा। वहीं दवा को अधिक मात्रा में लेने से दुष्प्रभाव सामने आ सकते हैं।
  • हो सकता है कि ओस्टोकैल्शियम डोज लेने से आपको एलर्जी महसूस हो रही है तो इस बारे में तुरंत डॉक्टर को बताएं।
  • ऐसी समस्या जरूरी नहीं है कि सभी लोगों को हो, लेकिन कुछ व्यक्तियों में एलर्जी की समस्या दिख सकती है।
  • दवा के साथ ही पर्याप्त मात्रा में पानी के साथ ही अपनी डायट पर भी पूरा ध्यान दें।
  • मेडिसिन को मेडिकल स्टोर से खरीदते समय एक बार एक्सपायरी डेट जरूर चेक कर लें। ऐसा करना बहुत जरूरी है। अगर आपको मेडिसिन के पैकेज में डिफेक्ट दिख रहा है तो उसे मत खरीदे स्टोर में शिकायत भी करें।
  • ओस्टोकैल्शियम डोज अगर आपको डॉक्टर ने सजेस्ट की है तो डॉक्टर से आप अपनी अन्य बीमारियों के बारे में भी चर्चा कर सकते हैं।
  • ओस्टोकैल्शियम डोज का अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन हो सकता है या फिर अन्य दवा का प्रभाव कम हो सकता है, इस बारे में डॉक्टर से जरूर चर्चा करें।
  • किडनी की डिजीज, पैंक्रियाज डिसीज, हार्ट डिजीज होने पर डॉक्टर को जरूर जानकारी दें। इन बीमारियों के साथ अन्य दवाओं के सेवन के दौरान एहतियात बरती जाती है। ऐसे में आपकी लापरवाही भारी पड़ सकती है।
  • ओस्टोकैल्शियम च्युंगम में थोड़ा शुगर भी होता है, अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो इस बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) को लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर डॉक्टर आपको ओस्टोकैल्शियम की गोली लेने की सलाह दे सकता है। बेहतर होगा कि डॉक्टर की सलाह पर ही इस दवा का सेवन करें। बिना सलाह के ओस्टोकैल्शियम लेने से बुरे परिणाम भी सामने आ सकते हैं। ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ये दवा कितनी सुरक्षित है, इस बारे में अपने डॉक्टर से जानकारी लें।

रिएक्शन

ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) कौन-सी दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकती है?

कैल्शियम का डोज लेने से कुछ अन्य ड्रग का अवशोषण कम हो जाता है। अगर आप किसी अन्य प्रकार की दवा का सेवन कर रहे हैं तो बेहतर होगा कि इस बारे में अपने डॉक्टर को जरूर बताएं। अगर आप विटामिन डी का सेवन कर रहे हैं तो बेहतर होगा कि कैल्सीट्रियोल का सेवन न करें। कैल्सीट्रियोल विटामिन डी के समान ही होता है। डॉक्टर से भी इस बारे में जरूर पूछें।

  • टेट्रासाइक्लिक एंटीबायोटिक्स(Tetracycline antibiotics)
  • डॉक्सीसाइक्लिन (Doxycycline )
  • मिनोसाइक्लिन (Minocycline)
  • एलेंड्रोनेट(Alendronate)
  • एस्ट्र्रामुस्टीन (Astramustine)
  • लेवोथायरोक्सिन (Levothyroxine)
  • क्विनोलोन एंटीबायोटिक्स (Quinolone antibiotic)

अन्य दवाओं के साथ ओस्टोकैल्शियम का रिएक्शन हो सकता है। जानिए कौन सी हैं वो दवाएं, जिनके साथ ओस्टोकैल्शियम का रिएक्शन हो सकता है। वे निम्न हैं।

  • एस्काेर्बिक एसिड (Ascorbic acid)
  • क्रोमियम पिकोलिनेट (Chromium picolinate)
  • कॉपर ग्लूकोमेट (Copper Glucomate)
  • बायोफ्लावोनॉइड्स (Bioflavonoids)
  • बार्बीचुरेट्स (barbiturates)
  • बायोफ्लेवनॉयड्स (bioflavonoids)
  • सेलीकोक्सिब (celecoxib)
  • कोलेस्ट्रिरामाइन (cholestyramine)

दवा लेते समय एल्कोहॉल के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि इसके कई साइड इफेक्ट्स सामने आ सकते हैं। बेहतर होगा कि अपनी सेहत का ख्याल रखें और शरीर को नुकसान पहुंचाने वाली चीजों का सेवन न करें।

और पढ़ें : Ciplox 500: सिप्लोक्स 500 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

मैं ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) को कैसे स्टोर करूं?

  • ओस्टोकैल्शियम को स्टोर करने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।
  • ओस्टोकैल्शियम के स्टोर करने के लिए एक बॉक्स लें, जिसे बंद किया जा सके। ऐसा करने से बच्चे आसानी से दवा को खोल नहीं सकते हैं।
  • ओस्टोकैल्शियम को कमरे के तापमान पर रखें। ऐसे स्थान पर न रखें जहां धूप आती है।
  • कमरे में नमी वाले स्थान या फिर बाथरूम में भी दवा को न रखें।
  • दवाएं कोई भी हो, उन्हें जानवरों और बच्चों की पहुंच से दूर रखना बहुत जरूरी है।
  • मेडिसिन को फ्लश करने की कोशिश न करें। अगर प्रोडक्ट एक्सपायर हो गया है तो आप फार्मसिस्ट से इस बारे में जानकारी प्राप्त करें कि दवाओं को कैसे नष्ट करना है।
  • अगर आपके पास लोकल वेस्ट डिस्पोजल कंपनी का नंबर है तो आप वहां भी बात कर सकते हैं।
  • दवा को कैसे स्टोर करना है, इस बारे में एक बार डॉक्टर से भी जानकारी प्राप्त करें।

ओस्टोकैल्शियम ( Ostocalcium) किस रूप में उपलब्ध है?

  • टेबलेट
  • सिरप
  • च्युंगम

अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ostocalcium:  https://www.drugs.com/international/ostocalcium.html Accessed on 9/6/2020

Ostocalcium: https://www.ostocalcium.com/products.html  Accessed on 9/6/2020

Calcium, Vitamin D3  https://www.nof.org/patients/treatment/calciumvitamin-d/ Accessed on 9/6/2020

Calcium and Vitamin D3: https://www.health.harvard.edu/blog/calcium-vitamin-d-fractures-oh-2018021213247Accessed on 9/6/2020

Calcium vitamin D3 supplementation in clinical practice: side effect and satisfaction
:https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4785726/
Accessed on 9/6/2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x