backup og meta

जानिए क्योंं जरूरी है जिम डिसिप्लिन

के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड डॉ. अभिषेक कानडे · आयुर्वेदा · Hello Swasthya


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 29/04/2021

जानिए क्योंं जरूरी है जिम डिसिप्लिन

कहते हैं ‘डिसिप्लिन इज द की टू सक्सेस’! जीवन में आगे बढ़ने के लिए डिसिप्लिन (अनुशासन) होना बहुत जरूरी है और आगे बढ़ने के लिए फिट होना भी जरूरी है। फिटनेस की चर्चा होते ही हम सभी जिम के बारे में सोचने लगते हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि जिम में भी डिसिप्लिन जरूरी है।

एक्टर सलमान खान ने भी फिल्म सुल्तान की रिलीज के वक्त कहा था कि अच्छी बॉडी के लिए अनुशासन भी जरूरी है। तो आज हम इस आर्टिकल में हम जिम डिसिप्लिन के बारे में बात करेंगे। जानेंगे किस तरह से आप जिम के लिए डिसिप्लिन रह सकते हैं।

और पढ़ें: Disodium hydrogen citrate : डाईसोडियम हाइड्रोजन साइट्रेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जिम के लिए ऐसे करें खुद को डिसिप्लिन

लक्ष्य निर्धारित करें 

व्यायाम की आदत डालने के लिए लंबा प्लान बनाने की बजाए छोटे-छोटे गोल सेट करें। एक दिन में 10 या 15 मिनट व्यायाम करने की कोशिश करें। यह सिर्फ आसान ही नहीं होगा, बल्कि इससे आपकी हैबिट भी जल्दी बन जाएगी। एक महीने बाद 20 से 25 मिनट व्यायाम करने का प्लान बनाएं और धीरे-धीरे यह समय बढ़ाते रहें। इससे आप पाएंगे कि आपकी आसानी से व्यायाम करने की आदत पड़ सकती है। 

नियमित करें 

रोजाना एक्सरसाइज कर पाना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन, नियमित व्यायाम करने से प्रोग्रेस दिखने लगेगा और इससे आगे भी एक्सरसाइज जारी रखी जा सकते हैं।

ट्रेनर की मदद लें 

अगर आपको फिटनेस के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, तो आप किसी भी फिटनेस ट्रेनर से सलाह ले सकते हैं। आप चाहें तो, पर्सनल फिटनेस ट्रेनर भी रख सकते हैं। इससे आपको मोटिवेशन मिलेगा और एक्सरसाइज भी नियमित कर पाएंगे। 

रुटीन बनाएं 

किसी भी चीज को आदत में लाने के लिए, उसे बार-बार करना पड़ता है। इसका मतलब यह है कि जब तक आप शुरू नहीं करेंगे तब तक आपको इसकी आदत नहीं पड़ेगी। अगर आपने एक बार एक्सरसाइज शुरू कर दी, तो आप इसकी आदत भी डाल सकते हैं। इसलिए, रुटीन बनाना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें: Dolo 650MG Tablet : डोलो 650 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

किसी के साथ एक्सरसाइज करें 

अगर आपका फ्रेंड बाहर एक्सरसाइज के लिए आपका इंतजार कर रहा है, तो आपको बेड से उठना ही पड़ेगा। इससे आप एक्सरसाइज के लिए नियमित हो जाते हैं और धीरे-धीरे आपकी आदत पड़ जाती है।

एक्सरसाइज को महत्व दें 

फिटनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर आप व्यायाम को महत्व देते हैं, तो इसकी आदत डालना आपके लिए आसान हो सकता है। इसके साथ ही, आप खाने-पीने की चीजों के प्रति भी सचेत हो जाते हैं और अपने फिटनेस पर पहले से अधिक ध्यान देने लगते हैं।

टाइम टेबल बनाएं 

टाइम टेबल बनाना डिसिप्लिन रहने के लिए काफी जरूरी है। इससे आप अपने सारे काम समय पर करेंगे, जिससे आपको एक्सरसाइज के लिए भी पूरा समय मिलेगा।

दुखी न रहें 

दुखी होने से बचने के लिए नए-नए एक्सरसाइज ट्राई करते रहें और संभव हो, तो एक्सरसाइज करते समय म्यूजिक सुनें।

लोग चाहते हैं तुरंत संतुष्टि

व्यायाम के दीर्घकालिक स्वास्थ्य लाभ जितने महत्वपूर्ण हैं, बस उनके बारे में पता होना अधिकांश लोगों को प्रेरित करने के लिए पर्याप्त नहीं है। इसके बजाय, शोध बताता है कि आपको अधिक तात्कालिक लाभों पर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए जिम डिसिप्लिन बहुत जरूरी है। मध्यम आयु वर्ग की महिलाओं पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों का मुख्य लक्ष्य लंबे समय तक जीवित रहना या स्वस्थ होना था। ये लोग वास्तव में “जीवन की गुणवत्ता’ पाने के लिए व्यायाम करने वालों की अपेक्षा कम व्यायाम करते हैं। इसके साथ यह भी देखना जरूरी है कि व्यायाम आपको तनावपूर्ण नौकरी या अन्य किसी तनाव से बेहतर ढंग से सामना करने में मदद करेगा, तो आपको इस धारणा के मुकाबले जिम में जाने के पीछे यह कारण सोचना चाहिए कि व्यायाम आपको 20 सालों तक दिल के दौरे से बचने में मदद करेगा।

यहां जरूरी है कि आप यह पहचानें कि आपके लिए व्यायाम के क्या फायदे हैं। क्या यह साउंड स्लीप, बेहतर मूड, साफ सोच, दर्द को कम करने या अधिक धैर्य के लिए यह आपको समझना होगा। साथ ही यह भी जान लें कि यदि आपने व्यायाम करना अभी शुरू किया है, तो आपको ऐसे लाभ तुरंत नहीं दिखते हैं, इसलिए यह निर्धारित करना कि आपके लिए इनमें से कौन सा लागू होता है, इसे समझने के लिए थोड़ा समय लग सकता है। एक बार जब आप इसका पता लगा लेते हैं, तो यह सोचकर अपना फोकस बनाएं रखें। इन लक्ष्यों को बेहतर तरीके से पाने के लिए उन्हें अपने बाथरूम के मिरर या फ्रिज पर लिखें, जहां आप इसे आसानी से देख सकें। ऐसे में यह आपको मोटिवेट रखने में मदद करेंगे जब भी आपका फोकस कम होता है। इस तरह के तरीकों को अपना कर आप जिम डिसिप्लिन बनाएं रख सकते हैं।

दोस्त के साथ वर्कआउट करें

एक दोस्त के साथ वर्कआउट करना न केवल व्यायाम को अधिक सुखद बनाता है बल्कि आपको जवाबदेह भी बनाता है। यदि आप जानते हैं कि कोई व्यक्ति आपसे अपेक्षा कर रहा है, तो आपको खुद को साबित करने की भावना के तहत मेहनत करते हैं। जाहिर है कि ऐसे में आपको जिम में एक दोस्त के होने बहुत फायदा मिलेगा और जिम डिसिप्लिन को भी फॉलो करेंगे। यह भी समझ लें कि आपका जिम बडी आपसे बेहतर फिजीक और डिसिप्लिन्ड होना चाहिए तब ही आप उसके लिए जिम डिसिप्लिन फॉलो करते हुए अपने लक्ष्य का पीछा कर पाएंगे। साथ ही किसी ऐसे व्यक्ति के साथ वर्कआउट करना जो आपसे ज्यादा स्ट्रॉन्ग और फोकस्ड हो तो आप भी बेहतर करने की कोशिश करते हैं। इस इफेक्ट को कोहलर इफेक्ट भी कहते हैं। 58 कॉलेज जाने वाली लड़कियों पर इसको लेकर एक अध्ययन भी किया गया। इस अध्ययन के लिए कुछ स्टूडेंट्स को पार्टनर्स के साथ वर्कआउट करने को कहा गया। वहीं कुछ को अकेले वर्कआउट करने के निर्देश दिए गए। इसके लिए उन्हें स्टेशन्ड साइकिल को पैडल करने के लिए कहा गया। इस अध्ययन के रिजल्ट चौकाने वाले थे। निष्कर्ष में सामने आया कि जिन स्टूडेंट्स ने पार्टनर्स के साथ वर्कआउट किया उन्होंने अकेले वर्कआउट करने वाली स्टूडेंट्स से 85 फीसदी ज्यादा बार साइकिल को पैडल किया। इससे साफ है कि जिम बडी के वर्कआउट करने से जिम डिसिप्लिन फॉलो करने में तो मदद मिलती ही है साथ ही आप मोटिवेट भी होते हैं।

आजकल की इस भागती-दौड़ती जिंदगी में काम करने से लेकर उठने-बैठने तक डिसिप्लिन में रहना जरूरी होता है। इसलिए, फिट रहने के लिए भी डिसिप्लिन का होना जरूरी है।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

डॉ. अभिषेक कानडे

आयुर्वेदा · Hello Swasthya


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 29/04/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement