हाइपरटेंशन में कैल्शियम बन सकता है खतरा!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कैल्शियम शरीर के लिए फायदेमंद होता है। यही वजह है कि डॉक्टर भी शरीर में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने की सलाह देते हैं। आप भी इससे होने वाले फायदों से काफी हद तक परिचित होंगे। पर इस बात को आप शायद ही जानते होंगे कि कैल्शियम शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है। जी हां, अगर आप हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन के मरीज हैं तो आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है। दरअसल कैल्शियम की ज्यादा खुराक आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। कई रिसर्च में ये स्पष्ट हो चुका है कि हाइपरटेंशन में कैल्शियम की खुराक अप्रत्यक्ष रूप से ब्लड प्रेशर व कुछ अन्य समस्या को बढ़ा सकती है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि हाइपरटेंशन में कैल्शियम की खुराक आपके लिए फायदेमंद है या नुकसानदायक। साथ ही जानिए कि अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो किन दवाओं को लेने से आपकी समस्या बढ़ सकती है।

और पढ़ेंः जानें हाइपरटेंशन कम करने का उपाय

हाइपरटेंशन में कैल्शियम से रहता है हार्ट अटैक का खतरा

बीबीसी ने भी न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में हुए एक शोध के अनुसार बताया है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स से दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है। बीबीसी के आर्टिकल के अनुसार हाइपरटेंशन के मरीज अगर कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेते हैं तो उनमें दिल का दौरा पड़ने की आशंका 30 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इस रिसर्च में शोधकर्ताओं ने 4 साल में 11 हजार 921 लोगों में दिल के दौरे व स्ट्रोक की समस्या को देखा। इनमें से 296 लोगों को दिल का दौरा पड़ा था, इनमें से 166 कैल्शियम सप्लीमेंट्स ले रहे थे। यह सुव्यवस्थित समीक्षा थी, लेकिन इसके परिणामों पर सावधानी से ध्यान देना चाहिए। सप्लीमेंट्स लेना है कि नहीं, आपकी क्या स्थिति है इन सबका फैसला डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही करें। कोई भी निर्णय अपने आप से न लें।

क्या कहती है रिसर्च?

न्यूजीलैंड में हुए एक रिसर्च के अनुसार, विटामिन-डी के साथ या विटामिन-डी के बिना कैल्शियम की खुराक ज्यादातर हृदय संबंधी घटनाओं खासकर दिल के दौरे के जोखिम को बढ़ाती है। इस सर्वे में 16 हजार 718 महिलाओं के एक समूह पर सर्वे किया। इनमें से उन महिलाओं में हृदय रोग संबंधी खतरा  अधिक था जो कैल्शियम और विटामिन डी ले रहीं थीं।

और पढ़ेंः हाइपरटेंसिव क्राइसिस(Hypertensive Crisis) क्या है?

हाइपरटेंशन में कैल्शियम से इस तरह के हैं खतरे

शोधकर्ताओं का माना है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स शुरू करते समय ब्लड कैल्शियम के स्तर में अचानक आए बदलाव काफी हद तक जोखिम बढ़ान के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसका अर्थ है कि जिन महिलाओं के रक्त में पहले से ही आहार की वजह से कैल्शियम है, वे अगर सप्लीमेंट्स से कैल्शियम लें तो इसकी अधिक मात्रा नुकसान पहुंचा सकती है।

हाइपरटेंशन में कैल्शियम इस तरह डालता है असर

जैसा कि ऊपर साबित हो चुका है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स की अधिकता हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर में दिक्कतें पैदा कर सकती हैं। आइए जानते हैं कि कौन-सा सप्लीमेंट्स आपको कैसे प्रभावित करता है।

हाइपरटेंशन में कैल्शियम : थियाजाइड  डाइयुरेटिक (Thiazide diuretics)

थियाजाइड डाइयुरेटिक के साथ कैल्शियम कार्बोनेट (जैसे – क्लोरोथायजाइड (ड्यूरिल), हाइड्रोक्लोरोथियाजाइड (माइक्रोजाइड) और इंडैपामाइड की अधिक मात्रा लेने से Milk-alkali Syndrome (दूध-क्षार सिंड्रोम) बढ़ने का खतरा रहता है। सामान्य तौर पर अगर आप थियाजाइड डाइयुरेटिक ले रहे हैं, तो रोजाना बड़ी मात्रा में कैल्शियम कार्बोनेट (सप्लीमेंट्स और आहार) लेने से बचें। यदि आप थियाजाइड डाइयुरेटिक लेते समय कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेते हैं तो डॉक्टर से सही खुराक के बारे में बात करें।

और पढे़ंः इन हर्ब्स की मदद से कम करें हाइपरटेंशन

हाइपरटेंशन में कैल्शियम : कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers)

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स कैल्शियम को रक्त वाहिकाओं पर परस्पर प्रभाव या अंतःक्रिया करने से रोकते हैं, जिससे रक्त वाहिका की कसने की क्षमता कम हो जाती है और बाद में इससे शिथिल वाहिकाएं और लो ब्लड प्रेशर जैसे परिणाम सामने आते हैं। इससे समझ में आता है कि कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स भी कैल्शियम सप्लीमेंट से प्रभावित हो सकते हैं। हालांकि आमतौपर यह तब होता है जब आप कैल्शियम सप्लीमेंट्स अधिक मात्रा में लेते हैं। अतः स्पष्ट है कि ब्लड कैल्शियम की अधिक मात्रा कैल्शियम और रक्त वाहिकाओं के बीच अंतःक्रिया करने वाली दवाओं की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। इन सबके अलावा कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स लेने वालों को कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए। इसे लेने वालों को अंगूर का रस नहीं पीना चाहिए, दरअसल इससे रक्त प्रवाह में जाने वाली दवा की मात्रा बढ़ जाती है और आपका ब्लड प्रेशर अचानक बहुत कम हो जाता है। कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स के साथ कोई दूसरी दवा लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें। अगर आप ब्लड प्रेशर कम करने की अन्य दवाओं के साथ कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स ले रहे हैं तो इसे फौरन बंद न करें। इसे लंबे समय तक लेते रहें। अगर आप एनजाइन से पीड़ित हैं तो अचानक से कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स को लेना बंद न करें। इससे सीने में दर्द की समस्या हो सकती है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

अन्य दवाओं से नुकसान

कैल्शियम सप्लीमेंट्स ब्लड प्रेशर की अन्य दवाओं जैसे – ACE ब्लॉकर्स, बीटा ब्लॉकर्स के साथ लेने पर किसी तरह की दिक्कत पैदा नहीं होती है। फिर भी अगर आप किसी भी विटामिन, खनिज या हर्बल उत्पाद के साथ कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने की शुरुआत कर रहे हैं, तो ऐसा करने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में जरूर बात करें। वह आपको सही सलाह देगा। अपने आप डॉक्टर बनने से आपको बचना चाहिए।

और पढ़ेंः हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के लक्षण क्या होते हैं?

कैल्शियम की दवा: हाइपरटेंशन में कैल्शियम लेने पर बरतें सावधानी

हाइपरटेंशन में पीड़ित व्यक्ति को अपना खास ध्यान रखना पड़ता है, ताकि किसी भी अटैक से वह बचा रहे। आप भी हाइपरटेंशन से पीड़ित हैं और कैल्शियम सप्लीमेंट्स ले रहे हैं तो आपको खास सतर्क होने की जरूरत है। आपको इस दौरान शरीर में होने वाले हर बदलावों पर नजर रखनी चाहिए। कोई भी तकलीफ होने पर फौरन डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर आपको उपयुक्त सलाह देगा। डॉक्टर दवाई को लेकर जो भी परामर्श दे, उसका भी पालन आपको करना चाहिए। दवाई की डोज नियमित समय पर लेते रहें। ऐसा न करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। आपको हार्ट अटैक के अलावा ब्रेन स्ट्रोक की समस्या भी हो सकती है। यह दोनों स्थिति आपके लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकती है।

बेशक कैल्शियम शरीर के लिए जरूरी है, लेकिन हाइपरटेंशन में कैल्शियम की अधिकता आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। कई रिसर्च और डॉक्टरों के अनुसार हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर में कैल्शियम सप्लीमेंट्स की मात्रा अधिक होने से हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक व अन्य शारीरिक समस्या होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में आपको सावधान रहने की जरूरत है। बिना डॉक्टरकी सलाह के किसी भी तरह का सप्लीमेंट लेना नुकसान पहुंचा सकता है। बेहतर होगा कि बिना डॉक्टर की सलाह के दवा का सेवन न करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

हाइपरटेंशन से बचाव के लिए हानिकारक फूड्स से दूर रहें

हाइपरटेंशन के लिए हानिकारक फूड्स कौन से हैं? हाइपरटेंशन के लिए हानिकारक फूड्स से स्वास्थ्य को क्या नुकसान पहुंच सकता है और किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
हाइपरटेंशन, हेल्थ सेंटर्स अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या सच में कैफीन ब्लड प्रेशर बढ़ाने में सहायक होती है?

कैफीन और ब्लड प्रेशर में क्या संबंध है? क्या कैफीन ब्लड प्रेशर को प्रभावित करता है? कैफीन और ब्लड प्रेशर से बचाव के लिए क्या किया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
हेल्थ सेंटर्स, हाइपरटेंशन अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

इन हाई ब्लड प्रेशर फूड्स को अपनाकर हाइपरटेंशन को दूर भगाएं!

हाई ब्लड प्रेशर क्या है? हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स कौन से हैं? हाइपरटेंशन फूड्स का उपयोग कैसे करने से ज्यादा फायदा मिलता है जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
हाइपरटेंशन, हेल्थ सेंटर्स अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

थोड़ी-थोड़ी पिएंगे तो भी हाइपरटेंशन पर शराब का पड़ेगा प्रभाव

हाइपरटेंशन पर शराब का प्रभाव कैसे पड़ता है? हाइपरटेंशन पर शराब का प्रभाव कम करने के लिए क्या उपाय अपनाए जा सकते हैं? Hypertension कम करने के लिए क्या करें?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
हाइपरटेंशन, हेल्थ सेंटर्स अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

एंजायटी के घरेलू उपाय-anxiety home remedies

हर समय रहने वाली चिंता को दूर करने के लिए अपनाएं एंग्जायटी के घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Smrit Singh
प्रकाशित हुआ मई 9, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
hypertension and herb,हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स

ये 9 हर्ब्स हाइपरटेंशन को कर सकती हैं कम, जानिए कैसे करना है इनका उपयोग

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हाइपरटेंशन के लक्षण-hypertension symptoms

हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के लक्षण क्या होते हैं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
हाइपरटेंशन के खतरे का शरीर पर किस तरह का प्रभाव पड़ता है-hypertension ke khatre ka prabhav

जानें, हाइपरटेंशन के खतरे का शरीर पर किस तरह का प्रभाव पड़ता है!

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें