home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स का क्या होता है रोल, जानिए यहां

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स का क्या होता है रोल, जानिए यहां

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज जन्म से होने वाली बीमारी है। हार्ट संबंधित इस बीमारी को बर्थ डिफेक्ट भी कहते हैं। इस बीमारी के कारण हार्ट ठीक तरह से काम नहीं कर पाता है और बच्चे के शरीर की क्रियाएं भी प्रभावित होती है। इस बीमारी के बारे में जानकारी प्राप्त नहीं है कि ये किस कारण से होती है। प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे इस हार्ट डिजीज से प्रभावित होते हैं। कन्जेनायटल हार्ट डिजीज (Congenital heart disease) के कारण में मुख्य रूप से मां की बीमारियां जैसे कि डाउन सिंड्रोम, टाइप 1 या फिर टाइप 2 डायबिटीज (Type 1 or 2 Diabetes) या फिर मां का गर्भावस्था के दौरान एल्कोहॉल का सेवन करना या फिर स्मोकिंग करना हो सकता है। कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज की समस्या से निपटने के लिए मेडिकेशंस के दौरान कुछ दवाएं दी जाती हैं, जो बीमारी के लक्षणों को कम करने में मदद करती हैं। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease) लेने के बारे में जानकारी देंगे।

और पढ़ें: एब्सटीन एनोमली (Ebstein anomaly): जन्मजात होने वाली इस हार्ट कंडिशन के बारे में जानते हैं आप?

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease)

कन्जेनायटल हार्ट डिजीज में एसीई इनहिबिटर्स

कन्जेनायटल हार्ट डिजीज के दौरान एसीई इनहिबिटर्स (ACE Inhibitors) का इस्तेमाल किया जाता है। इन दवाओं का इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं किया जाता है। हार्ट की बीमारी किसी भी उम्र में हो सकती है लेकिन जन्मजात ह्रदय रोग जन्म से ही होता है। जानिए जन्मजात ह्रदय रोग से संबंधित कुछ दवाओं के बारे में।

एसीटेन 25mg टैबलेट (Aceten 25mg Tablet)

एसीटेन टैबलेट एसीई इनहिबिटर्स (ACE Inhibitors) यानी एंजियोटेंसिन कनवर्टिंग एंजाइम इनहिबिटर (Angiotensin-converting enzyme Inhibitor) है, जो हाय ब्लड प्रेशर ( High blood pressure) और हार्ट फेलियर ( Heart failure) के ट्रीटमेंट के दौरान इस्तेमाल किए जाते हैं। कन्जेनायटल हार्ट डिजीज के दौरान एसीई इनहिबिटर्स (ACE Inhibitors) का इस्तेमाल करने से हार्ट अटैक (Heart attack) या स्ट्रोक का खतरा भी कम हो जाता है। एसीई इनहिबिटर्स (ACE Inhibitors) पेशेंट को अकेले या फिर अन्य दवाओं के साथ भी दिया जा सकता है। इस दवा का इस्तेमाल खाली पेट किया जा सकता है। आपको इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लेनी चाहिए। अगर आपको दवा का इस्तेमाल करने से किसी प्रकार के साइड इफेक्ट दिखें, तो तुरंत डॉक्टर को बताएं। इस टैबलेट में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में कैप्टोप्रिल (Captopril) होता है। इस दवा की कीमत 35 रु है। आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स में इसका यूज कर सकते हैं।

और पढ़ें: ट्रायकसपिड अट्रीशिया : इस तरह से बचाएं अपने बच्चों को इस जन्मजात हार्ट डिफेक्ट से!

नोट – हैलो हेल्थ किसी भी प्रोडक्ट या ब्रांड का प्रचार नहीं कर रहा है। ब्रैंड्स का प्राइज थोड़ा कम या फिर ज्यादा हो सकता है। आप जहां से प्रोडक्ट खरीद रहे हैं, वहां का प्राइज अन्य जगह से अलग हो सकता है।

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स: एंजियोप्रिल टैबलेट (Angiopril Tablet)

एंजियोप्रिल टैबलेट का इस्तेमाल कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease) के रूप में किया जा सकता है। ये दवा हाय बीपी की समस्या से निजाद दिलाने में और हार्ट फेल होने के खतरे को कम करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। इस दवा का इस्तेमाल तब तक करना चाहिए, जब तक डॉक्टर कहें। अगर दवा का इस्तेमाल बीच में बंद कर दिया जाता है, तो दवा का असर नहीं होगा और हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाएगा। इस दवा को खाने के पहले लेना है या फिर नहीं, आपको इस बारे में डॉक्टर से जानकारी लेनी चाहिए। दवा का सेवन करने से साइड इफेक्ट के रूप में थकान (Fatigue), चक्कर, बीपी कम होना (Low BP) आदि हो सकते हैं। इस टैबलेट में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में कैप्टोप्रिल (Captopril) पाया जाता है। इस दवा की कीमत 21 रु है। आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।

और पढ़ें: अओर्टिक कोआर्कटेशन : समय रहते ना हो इलाज, तो जान पर भारी पड़ सकती है ये समस्या

लिसोरिल टैबलेट (Lisoril Tablet)

लिसोरिल टैबलेट कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease) के रूप में इस्तेमाल की जाती है। जिन लोगों को हार्ट अटैक की समस्या हो जाती है या फिर हाय ब्लड प्रेशर रहता है, उनको इस दवा का सेवन करने की सलाह दी जाती है। अगर दवा का सेवन रोजाना सही समय पर किया जाए, तो पेशेंट सीरियस कंडीशन जैसे कि हार्ट अटैक या फिर स्ट्रोक के खतरे (Stroke) से बच जाता है। आपको दवा का सेवन करने के साथ ही समय-समय पर बीपी चेकअप कराना चाहिए। इस दवा का सेवन लंबे समय तक किया जाता है और ये सेफ रहता है। अगर दवा का सेवन करने से किसी प्रकार की समस्या महसूस हो, तो डॉक्टर को तुरंत जानकारी दें। लिसोरिल टैबलेट में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में लिसिनोप्रिल (Lisinopril) पाया जाता है। इस दवा की कीमत 118 रु है। आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।

और पढ़ें: कार्डिएक कैथेटेराइजेशन: कई प्रकार की हार्ट डिजीज का पता लगाने के लिए किया जाता है ये टेस्ट

कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स: लिसोटेक टैबलेट (Lisotec Tablet)

लिसोटेक टैबलेट भी हार्ट डिजीज में इस्तेमाल की जाने वाली दवा है। ये दवा कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease) की तरह इस्तेमाल की जाती है। हार्ट अटैक या फिर हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) में डॉक्टर ये दवा खाने का परामर्श दे सकते हैं। अगर दवा का सेवन खाली पेट करना है या खाने के बाद, इस बारे में डॉक्टर से जरूर पूछें। दवा हार्ट से संबंधित खतरे जैसे कि हार्ट अटैक या फिर स्ट्रोक से बचाती है। अगर दवा का सेवन करने से किसी प्रकार की समस्या महसूस हो, तो डॉक्टर को तुरंत जानकारी दें। लिसोटेक टैबलेट में एक्टिव इंग्रीडिएंट के रूप में लिसिनोप्रिल (Lisinopril) पाया जाता है। इस दवा की कीमत 85 रु है।

अगर आपको किसी भी दवा को खरीदने में दिक्कत हो रही है, तो इस बारे में डॉक्टर को जानकारी दें। समान एक्टिव इंग्रीडिएंट वाली अन्य ब्रान्डेड दवाएं भी ऑप्शन के रूप में उपबल्ध होती है। आपको कोई भी दवा ऑनलाइन आसानी से मिल सकती है। अगर फिर भी आपको किसी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हो, तो डॉक्टर को जरूर बताएं और अपना ट्रीटमेंट कराएं। आप हार्ट की बीमारियों को अच्छी लाइफस्टाइल (Good lifestyle) और सही खानपान के माध्यम से भी दूर रख सकते हैं। रोजाना एक्सरसाइज इसमें अहम रोल निभाती है। आपको डॉक्टर के गाइडेंस में ही एक्सरसाइज करनी चाहिए। अगर आपको एक्सरसाइज करने में दिक्कत हो रही है, तो डॉक्टर को बताएं।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता। इस आर्टिकल में हमने आपको कॉन्जेनिटल हार्ट डिजीज में एसीई इन्हिबिटर्स (ACE Inhibitors in Congenital Heart Disease) के संबंध में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Angiotensin-Converting Enzyme Inhibitor (ACE inhibitor) Drugs/https://www.fda.gov/drugs/postmarket-drug-safety-information-patients-and-providers/angiotensin-converting-enzyme-inhibitor-ace-inhibitor-drugs#:~/Accessed on 9/7/2021

Angiotensin-Converting Enzyme Inhibitors (ACEI)/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK431051/Accessed on 9/7/2021

ACE Inhibitors/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK430896/Accessed on 9/7/2021

ZESTRIL/https://www.accessdata.fda.gov/drugsatfda_docs/label/2009/019777s054lbl.pdf/Accessed on 9/7/2021

Congenital heart disease/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/adult-congenital-heart-disease/symptoms-causes/syc-20355456/ Accessed on 21st September 2021

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/09/2021 को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड