Brown Rice: ब्राउन राइस क्या है ?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

ब्राउन राइस क्या है?

ब्राउन राइस बिना या पॉलिश किए हुए व्हाइट चावल हैं। इसमें अनसैचुरेटेड फैटी एसिड, प्रोटीन, मिनिरल,विटामिन और स्टार्च होता है। ये सभी चावलों को पॉलिश करते वक्त हटा दिए जाते हैं। इसे भोजन के रूप में खाने के साथ दवा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। ब्राउन राइस ग्लूटेन फ्री होता है। इनमें अच्छी मात्रा में फाइबर होता है। नेशनल न्यूट्रिएंट डेटाबेस के अनुसार, ब्राउन राइस मैंगनीज, आयरन, फॉस्फोरस, कैल्शियम, सेलेनियम और पोटेशियम जैसे खनिजों से भरपूर होता है। यह प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत होने के साथ इसके आहार से शरीर को अच्छी मात्रा में फाइबर मिलता है।

ब्राउन राइस का उपयोग किस लिए किया जाता है?

वजन कम करने में सहायक:

ब्राउन राइस में अच्छी मात्रा में फाइबर होता है। इसे डायट में शामिल करने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है और वजन अपने आप कम होता चला जाता है।

डायजेशन को करे बेहतर:

ब्राउन राइस तंत्र को बेहतर बनाए रखने में मददगार है। इसमें मौजूद फाइबर कब्ज और एसिडिटी को खत्म करने के साथ डायजेशन को बेहतर बनाने में मददगार है।

मधुमेह के रोगियों के लिए लाभदायक:

ब्राउन राइस में लगभग 300 एंजाइम होते हैं जो शरीर में ग्‍लूकोज और इंसुलिन की मात्रा को बनाएं रखते हैं। एक शोध के अनुसार, मोटापे से ग्रस्त लोगों को जब सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस दिए गए तो पाया गया कि इन लोगों में ग्लूकोज का स्तर और सीरम इंसुलिन में कमी आई।

हड्डियों को बनाए मजबूत:

ब्राउन राइस मैग्नीशियम का अच्छा स्त्रोत है। मैग्नीशियम हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए एक आवश्यक तत्व है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल करे कम:

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने से शरीर कई बीमारियों की चपेट में आ जाता है। ये कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम कर धमनियों को ब्लॉक नहीं होने देता है। इससे दिल संबंधित बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।

दिल संबंधित बीमारियों को करे दूर:

कई अध्ययन में स्पष्ट हुआ है कि इसके सेवन से दिल स्वस्थ रहता है। इसमें सेलेनियम होता है, जो ह्दय संबंधित रोगों की संभावना को कम करता है। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार:

इसमें शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं। इसका नियमित सेवन कोशिकाओं को ऑक्सीजन मुक्त कण और फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से बचाते हैं। 

अल्जाइमर के पेशेंट्स के लिए वरदान:

इसमें गामा-अमीनोब्यूटिरिक  (gama-aminobutyric) एसिड पाया जाता है जो अल्जाइमर के लक्षण दूर करने में सहायक है। 

कैंसर को रोकता है:

ये कोलोन कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर को कोसों दूर रखने में मदद करता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और हाई फाइबर शरीर में कैंसर पैदा करने वाले हानिकारक टॉक्सिन्स को नष्ट करते हैं।

अनिद्रा:

ब्राउन राइस में हार्मोन मेलाटोनिन नामक तत्व होता है जो नसों को आराम पहुंचाकर नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है।

इन बीमारियों के इलाज में भी है फायदेमंद:

  • डायरिया
  • पेट खराब
  • जी मिचलाना
  • पीलिया
  • सूजन
  • पैरालाइसिस
  • बवासीर
  • सोरायसिस और अन्य त्वचा रोग

कैसे काम करता है ब्राउन राइस?

कई अध्ययनों में पाया गया कि ब्राउन राइस एंटी-डायबीटिक एंटी-कोलेस्ट्रॉल, कार्डियोप्रोटेक्टिव और एंटी-ऑक्सिडेंट जैसे पोषक तत्वों से भरपूर है। खाद्य विज्ञान और पोषण में 2016 में प्रकाशित एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि होल ग्रेन्स (whole grains) जैसे ब्राउन राइस में फेनोलिक यौगिक होते हैं जो दिल संबंधित बीमारियां, मधुमेह और कैंसर जैसे रोगों को रोकने में अहम भूमिका निभाते हैं।

यह भी पढ़ें : Chia Seeds : चिया बीज क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है ब्राउन राइस का उपयोग ?

इस पर जितने भी शोध हुए हैं उनमें अभी तक कोई दुष्परिणाम नहीं सामने आए हैं। इस पर अभी और रिसर्च की जरूरत है। सीमित मात्रा में इसका सेवन सुरक्षित है। जरूरत से ज्यादा इसका सेवन न करें। अगर आप गर्भवती हैं या फिर स्तनपान करवा रही हैं तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लीजिए। गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसके साइड इफेक्ट के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करें। इसमें आर्सेनिक की मात्रा ज्यादा होती है जिसके कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें : Cotton: कॉटन क्या है?

साइड इफेक्ट्स

ब्राउन राइस से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • सिरदर्द
  • डायरिया
  • आर्सेनिक की मात्रा अधिक हो जाने से स्किन, यूट्रस और लंग कैंसर हो सकता है।

यह भी पढ़ें : Eucalyptus: नीलगिरी क्या है?

डोजेज

ब्राउन राइस को लेने की सही खुराक क्या है?

हर्बल सप्ल्मिेंट के उपयोग से जुड़े नियम, दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है। इस हर्बल सप्ल्मिेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें : Garcinia : गार्सिनिआ क्या है ?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

ब्राउन राइस निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • रॉ ब्राउन राइस
  • ब्राउन राइस प्रोटीन कंसंट्रेशन पाउडर
  • विनेगर

और पढ़ें : Ginseng : जिनसेंग क्या है?

रिव्यू की तारीख सितम्बर 20, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 21, 2019