नींद न आने की समस्या से हैं परेशान तो आजमाएं ये 6 नींद के उपाय

Medically reviewed by | By

Update Date जून 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

खराब जीवनशैली के कारण सेहत के साथ-साथ नींद पर भी असर पड़ रहा है। काफी लोगों को देखा जाता है कि वो रात भर ठीक से सो नहीं पाते या फिर रात भर नींद के लिए स्ट्रगल करते रहते हैं। कई बार नींद न आने की समस्या इतनी बढ़ जाती है कि उनकी सेहत खराब होने लगती है और कई तरह की बीमारियां उन्हें घेर लेती हैं। आपको बता दें कि नींद न आने से शरीर और मस्तिष्क ठीक से काम नहीं करता है। वहीं, पर्याप्त नींद लेने से हृदय रोग, डायबिटीज, स्ट्रोक और ओबेसिटी के जोखिम को कम किया जा सकता है। अच्छी नींद के इन फायदों को जानने के बावजूद, नींद की गुणवत्ता और मात्रा में कमी आई है और लोग खराब नींद की समस्या से ग्रस्त हैं। यदि आप भी स्लीपिंग डिसऑर्डर से जूझ रहे हैं और नींद आने के उपाय ढूंढ रहे हैं, तो नीचे बताए गए नींद के उपाय को आजमाएं। आइए जानते हैं कुछ खास नींद के उपाय जो आपको बेहतर नींद दिलाने में मदद करेंगे।

नींद न आने पर ट्राई करें ये उपाय

नींद के उपाय: मेलाटॉनिन सप्लिमेंट्स (Melatonin Supplements) 

मेलाटॉनिन शरीर में स्वाभाविक रूप से उत्पादित होने वाला हार्मोन है। यह हार्मोन बॉडी की स्लीप साइकिल (sleep cycle) बनाए रखने में मदद करता है। औसतन, व्यक्ति दिन के दौरान लगभग 16 घंटे जागता है और आठ घंटे सोता है। मेलाटॉनिन नींद के इस चक्र को रेगुलेट करता है। इसलिए, नींद संबंधित बीमारियों को दूर करने के लिए मेलाटॉनिन सप्लिमेंट्स (melatonin supplements) उपचार के तौर पर दिए जाते हैं। हालांकि, इनका इस्तेमाल लंबे अंतराल के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें : नींद में खर्राटे आते हैं, मुझे क्या करना चाहिए?

नींद के उपाय: वेलेरियन जड़ (Valerian root)  

वेलेरियन एशिया और यूरोप में पाई जाने वाली एक हर्ब है। इसकी जड़ का उपयोग आमतौर पर चिंता, अवसाद और मेनोपॉज (menopause) के लक्षणों को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए किया जाता है। वहीं, अमेरिका और यूरोप में वेलेरियन जड़ का उपयोग नींद में सुधार के लिए किया जाता है। अगर आप अच्छी नींद के उपाय ढूंढ रहे हैं तो यह आपके लिए बिल्कुल सुरक्षित है। हालांकि, गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : बच्चे को पेट के बल सुलाना नहीं है सेफ, जानें सही बेबी स्लीपिंग पुजिशन

नींद के उपाय के लिए अपनाएं मैग्नीशियम (Magnesium)

मैग्‍नीशियम एक ऐसा मिनरल है जो मस्तिष्क के कार्य और हृदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। रिसर्च से पता चलता है कि शरीर में मैग्नीशियम की कमी से अपर्याप्त नींद और अनिद्रा की समस्या हो सकती है। इसलिए, अच्छी नींद के उपाय के तौर पर मैग्नीशियम युक्त फूड्स या सप्लिमेंट्स को डायट में शामिल करें। इसके साथ ही मैग्नीशियम एनर्जी बढ़ाने में भी मददगार होता है और हार्ट रेट को सामान्य रखने में भी मददगार होता है।

नींद के उपाय के लिए अपनाएं लैवेंडर (Lavender) 

लैवेंडर का उपयोग

माना जाता है कि लैवेंडर की सूदिंग स्मेल नींद को बढ़ाने के लिए उपयोगी होती है। कई शोध बताते हैं कि सोने से 30 मिनट पहले लैवेंडर ऑयल सूंघने से नींद की क्वालिटी में इम्प्रूवमेंट हो सकता है। दरअसल, ऑयल की महक स्ट्रेस को कम करके व्यक्ति को रिलैक्स महसूस करने में हेल्प करती है। नेचुरल स्लीप ऐड (natural sleep aids) के रूप में लैवेंडर का इस्तेमाल अच्छी स्लीप लाने में सहायक होगा।

नींद के उपाय के लिए अपनाएं पैशन फ्लावर (Passion Flower)

पैशन फ्लावर को पैसिफ्लोरा इन्कार्नेटा (Passiflora incarnata) के नाम से भी जाना जाता है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि पैशन फ्लावर चाय से डिप्रेशन के लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसमें फ्लैवनॉइड एंटी-ऑक्सिडेंट (flavanoid anti-oxidants) होते हैं जो मानसिक बीमारियों को सही करने में कारगर है। इसके फूलों से बनाई गई चाय अवसाद, स्ट्रेस, इंसोम्निया, एंग्जाइटी जैसी तमाम परेशानियों को दूर करती है। 

यह भी पढ़ें : स्लीप कैलकुलेटर से जानें कितनी देर सोना है हेल्दी?

नींद के उपाय के लिए अपनाएं ग्लाइसिन (Glycine)

ग्लाइसिन एक तरह का एमिनो एसिड है जो नर्वस सिस्टम को दुरुस्त रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कुछ शोध बताते हैं कि यह स्लीप पैटर्न को बेहतर बनाने में भी हेल्प कर सकता है। इसके लिए डायट में आप ग्लाइसिन से भरपूर फूड्स (जैसे-अंडे, कीवी, मछली, सेम, पालक, गोभी, केले आदि) को शामिल करें।

नींद के उपाय के लिए पिएं कैमोमाइल चाय (Chamomile Tea)

सदियों से चिंता, तनाव, डिप्रेशन और नींद की समस्या के उपचार के लिए कैमोमाइल का इस्तेमाल किया जाता रहा है। अगर आपको भी लंबे समय से नींद की समस्या हो रही है तो आप भी कैमोमाइल का चाय की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इस चाय को सोने की वक्त पीने से आपकी नींद बेहतर होने लगेगे। दरअसल, कैमोमाइल में apigenin नामक एंटी-ऑक्सिडेंट होता है जो आपको आराम पहुंचाता है। एंटी-ऑक्सिडेंट्स आपकी बॉडी से जहरीले तत्व निकालने के साथ-साथ बीमारियों से भी लड़ते हैं।

एक्सरसाइज जितनी जरूरी नींद

ध्यान रखें कि अच्छी क्वालिटी की नींद ओवरऑल हेल्थ के लिए उतनी ही आवश्यक है जितना हेल्दी डायट लेना है। फिर भी, कई लोगों को सोते समय परेशानी होती है। ऐसे में अगर आप नींद के ऐसे उपाय आजमाना चाहते हैं, जो स्लीपिंग पिल्स का काम करें तो ऊपर बताए गए प्राकृतिक तरीकों को आजमाएं। इससे नींद की समस्या से काफी हद तक बचा जा सकता है। लेकिन, नींद के लिए प्राकृतिक तरीकों को अपनाने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

तो अगर आप भी नींद न आने की समस्या से जूझ रहे हैं और कई तरीके आजमाने के बाद भी आपको नींद नहीं आती है, तो आप इस आर्टिकल में बताए गए नींद के उपाय जरूर ट्राई करें। उम्मीद है कि इस समस्या को दूर करने के लिए आपको इनमें से कोई न कोई उपाय तो फायदा करेंगे। लेकिन अगर आपको लगे कि समस्या ज्यादा बढ़ रही है, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें, क्योंकि नींद न आने की समस्या बढ़ने पर इंसोम्निया की दिक्कत हो सकती है, जिसका इलाज करने में काफी समय लगता है।

आशा करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपको आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जरूर शेयर करें।

और पढ़ें :-

सही स्लीपिंग पॉजिशन से कम होंगी शारीरिक परेशानियां

क्यों हमारी नींद जल्दी नहीं खुलती? जानें कैसे इससे बचा जा सकता है

आइए जानें पावरनैप के फायदे

अच्छी नींद के लिए सोने से पहले बंद करें इलेक्ट्रॉनिक्स

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

मेडिटेशन के लाभ : ध्यान लगाना बेहतर बना सकता है सेक्स लाइफ

मेडिटेशन के लाभ सुनकर चौंक जाएंगे कि मेडिटेशन से सेक्शुअल सैटिस्फैक्शन मिलता है। ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन ऐसा ही एक तरीका है जिसके बिना शारीरिक संबंध...मेडिटेशन के बारे में, मेडिटेशन के लाभ, नियमित ध्यान के फायदे, मेडिटेशन कैसे करें, meditation benefits in hindi

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Shikha Patel
फन फैक्ट्स, स्वस्थ जीवन नवम्बर 22, 2019 . 5 मिनट में पढ़ें

एंटी-स्लीपिंग पिल्स : सर्दी-जुकाम की दवा ने आपकी नींद तो नहीं उड़ा दी?

एंटी-स्लीपिंग पिल्स के बारे में जानें, अभी तक आपने सुना होगा कि सर्दी-खांसी की दवाई से नींद आने लगती है पर यह खबर आपको हैरान कर देगी कि कैसे कुछ दवाईयां आपकी नींद उड़ा भी सकती हैं। एंटी-स्लीपिंग पिल्स, anti sleeping pills in hindi....

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Shikha Patel
स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 19, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

काफी गहरा पड़ता है डिप्रेशन का नींद पर असर, जानिए इसे दूर करने के तरीके

डिप्रेशन का नींद पर असर क्या होता है, इसके लक्षण क्या हैं और डिप्रेशन का नींद पर असर पड़ने से क्या क्या समस्याएं हो सकती हैं, इस बारे में जानिए विस्तार से। जानिए डिप्रेशन (Depression) और नींद (Sleep) के बारे में।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi
स्लीप, स्वस्थ जीवन नवम्बर 12, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

डिप्रेशन के उपाय से कम हो सकता है डिप्रेशन

जानिए डिप्रेशन के उपाय in Hindi, डिप्रेशन के उपाय कैसे करें, डिप्रेशन क्या है, डिप्रेशन के लक्षण, डिप्रेशन के कारण, Depression Ke Upay, डिप्रेशन से कैसे बचाव करें।

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi
मेंटल हेल्थ, स्वस्थ जीवन नवम्बर 8, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

नींद की गोली

इंसोम्निया में मददगार साबित हो सकती हैं नींद की गोली!

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi
Published on मई 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
स्लीप हिप्नोसिस

क्या सच में स्लीप हिप्नोसिस से आती है गहरी नींद?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on अप्रैल 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
डिप्रेशन से बचने के उपाय-tips to avoid depression

डिप्रेशन से बचने के उपाय, आसानी से लड़ सकेंगे इस परेशानी से

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Insomnia: Symptoms, Causes, Treatment

Insomnia: अनिद्रा क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
Published on फ़रवरी 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें