home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

नींद न आने की समस्या से हैं परेशान तो आजमाएं ये 6 नींद के उपाय

नींद न आने की समस्या से हैं परेशान तो आजमाएं ये 6 नींद के उपाय

खराब जीवनशैली के कारण सेहत के साथ-साथ नींद पर भी असर पड़ रहा है। काफी लोगों को देखा जाता है कि वो रात भर ठीक से सो नहीं पाते या फिर रात भर नींद के लिए स्ट्रगल करते रहते हैं। कई बार नींद न आने की समस्या इतनी बढ़ जाती है कि उनकी सेहत खराब होने लगती है और कई तरह की बीमारियां उन्हें घेर लेती हैं। आपको बता दें कि नींद न आने से शरीर और मस्तिष्क ठीक से काम नहीं करता है। वहीं, पर्याप्त नींद लेने से हृदय रोग, डायबिटीज, स्ट्रोक और ओबेसिटी के जोखिम को कम किया जा सकता है। अच्छी नींद के इन फायदों को जानने के बावजूद, नींद की गुणवत्ता और मात्रा में कमी आई है और लोग खराब नींद की समस्या से ग्रस्त हैं। यदि आप भी स्लीपिंग डिसऑर्डर से जूझ रहे हैं और नींद आने के उपाय ढूंढ रहे हैं, तो नीचे बताए गए नींद के उपाय को आजमाएं। आइए जानते हैं कुछ खास नींद के उपाय जो आपको बेहतर नींद दिलाने में मदद करेंगे।

नींद न आने पर ट्राई करें ये उपाय

नींद के उपाय: मेलाटॉनिन सप्लिमेंट्स (Melatonin Supplements)

मेलाटॉनिन शरीर में स्वाभाविक रूप से उत्पादित होने वाला हार्मोन है। यह हार्मोन बॉडी की स्लीप साइकिल (sleep cycle) बनाए रखने में मदद करता है। औसतन, व्यक्ति दिन के दौरान लगभग 16 घंटे जागता है और आठ घंटे सोता है। मेलाटॉनिन नींद के इस चक्र को रेगुलेट करता है। इसलिए, नींद संबंधित बीमारियों को दूर करने के लिए मेलाटॉनिन सप्लिमेंट्स (melatonin supplements) उपचार के तौर पर दिए जाते हैं। हालांकि, इनका इस्तेमाल लंबे अंतराल के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

और पढ़ें : नींद में खर्राटे आते हैं, मुझे क्या करना चाहिए?

नींद के उपाय: वेलेरियन जड़ (Valerian root)

वेलेरियन एशिया और यूरोप में पाई जाने वाली एक हर्ब है। इसकी जड़ का उपयोग आमतौर पर चिंता, अवसाद और मेनोपॉज (menopause) के लक्षणों को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए किया जाता है। वहीं, अमेरिका और यूरोप में वेलेरियन जड़ का उपयोग नींद में सुधार के लिए किया जाता है। अगर आप अच्छी नींद के उपाय ढूंढ रहे हैं तो यह आपके लिए बिल्कुल सुरक्षित है। हालांकि, गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

और पढ़ें : बच्चे को पेट के बल सुलाना नहीं है सेफ, जानें सही बेबी स्लीपिंग पुजिशन

नींद के उपाय के लिए अपनाएं मैग्नीशियम (Magnesium)

मैग्‍नीशियम एक ऐसा मिनरल है जो मस्तिष्क के कार्य और हृदय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। रिसर्च से पता चलता है कि शरीर में मैग्नीशियम की कमी से अपर्याप्त नींद और अनिद्रा की समस्या हो सकती है। इसलिए, अच्छी नींद के उपाय के तौर पर मैग्नीशियम युक्त फूड्स या सप्लिमेंट्स को डायट में शामिल करें। इसके साथ ही मैग्नीशियम एनर्जी बढ़ाने में भी मददगार होता है और हार्ट रेट को सामान्य रखने में भी मददगार होता है।

नींद के उपाय के लिए अपनाएं लैवेंडर (Lavender)

लैवेंडर का उपयोग

माना जाता है कि लैवेंडर की सूदिंग स्मेल नींद को बढ़ाने के लिए उपयोगी होती है। कई शोध बताते हैं कि सोने से 30 मिनट पहले लैवेंडर ऑयल सूंघने से नींद की क्वालिटी में इम्प्रूवमेंट हो सकता है। दरअसल, ऑयल की महक स्ट्रेस को कम करके व्यक्ति को रिलैक्स महसूस करने में हेल्प करती है। नेचुरल स्लीप ऐड (natural sleep aids) के रूप में लैवेंडर का इस्तेमाल अच्छी स्लीप लाने में सहायक होगा।

नींद के उपाय के लिए अपनाएं पैशन फ्लावर (Passion Flower)

पैशन फ्लावर को पैसिफ्लोरा इन्कार्नेटा (Passiflora incarnata) के नाम से भी जाना जाता है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि पैशन फ्लावर चाय से डिप्रेशन के लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसमें फ्लैवनॉइड एंटी-ऑक्सिडेंट (flavonoid antioxidants) होते हैं जो मानसिक बीमारियों को सही करने में कारगर है। इसके फूलों से बनाई गई चाय अवसाद, स्ट्रेस, इंसोम्निया, एंग्जाइटी जैसी तमाम परेशानियों को दूर करती है।

और पढ़ें : स्लीप कैलकुलेटर से जानें कितनी देर सोना है हेल्दी?

नींद के उपाय के लिए अपनाएं ग्लाइसिन (Glycine)

ग्लाइसिन एक तरह का एमिनो एसिड है जो नर्वस सिस्टम को दुरुस्त रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कुछ शोध बताते हैं कि यह स्लीप पैटर्न को बेहतर बनाने में भी हेल्प कर सकता है। इसके लिए डायट में आप ग्लाइसिन से भरपूर फूड्स (जैसे-अंडे, कीवी, मछली, सेम, पालक, गोभी, केले आदि) को शामिल करें।

नींद के उपाय के लिए पिएं कैमोमाइल चाय (Chamomile Tea)

सदियों से चिंता, तनाव, डिप्रेशन और नींद की समस्या के उपचार के लिए कैमोमाइल का इस्तेमाल किया जाता रहा है। अगर आपको भी लंबे समय से नींद की समस्या हो रही है तो आप भी कैमोमाइल का चाय की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इस चाय को सोने की वक्त पीने से आपकी नींद बेहतर होने लगेगे। दरअसल, कैमोमाइल में apigenin नामक एंटी-ऑक्सिडेंट होता है जो आपको आराम पहुंचाता है। एंटी-ऑक्सिडेंट्स आपकी बॉडी से जहरीले तत्व निकालने के साथ-साथ बीमारियों से भी लड़ते हैं।

एक्सरसाइज जितनी जरूरी नींद

ध्यान रखें कि अच्छी क्वालिटी की नींद ओवरऑल हेल्थ के लिए उतनी ही आवश्यक है जितना हेल्दी डायट लेना है। फिर भी, कई लोगों को सोते समय परेशानी होती है। ऐसे में अगर आप नींद के ऐसे उपाय आजमाना चाहते हैं, जो स्लीपिंग पिल्स का काम करें तो ऊपर बताए गए प्राकृतिक तरीकों को आजमाएं। इससे नींद की समस्या से काफी हद तक बचा जा सकता है। लेकिन, नींद के लिए प्राकृतिक तरीकों को अपनाने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

तो अगर आप भी नींद न आने की समस्या से जूझ रहे हैं और कई तरीके आजमाने के बाद भी आपको नींद नहीं आती है, तो आप इस आर्टिकल में बताए गए नींद के उपाय जरूर ट्राई करें। उम्मीद है कि इस समस्या को दूर करने के लिए आपको इनमें से कोई न कोई उपाय तो फायदा करेंगे। लेकिन अगर आपको लगे कि समस्या ज्यादा बढ़ रही है, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें, क्योंकि नींद न आने की समस्या बढ़ने पर इंसोम्निया की दिक्कत हो सकती है, जिसका इलाज करने में काफी समय लगता है।

आशा करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपको आर्टिकल पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/04/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x