home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

गांजे से कोरोना वायरस: गांजा/बीड़ी/सिगरेट पीने वालों को कोरोना से ज्यादा खतरा

गांजे से कोरोना वायरस: गांजा/बीड़ी/सिगरेट पीने वालों को कोरोना से ज्यादा खतरा

“मैं तो कभी-कभी स्मोकिंग या गांजा (Weed) पीता या पीती हूं।“ यह बोलकर आप खुद को या किसी और को दिलासा दे सकते हैं, लेकिन कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) इससे चकमा नहीं खाता। जी हां, यह बात हम नहीं बल्कि दुनियाभर के एक्सपर्ट कह रहे हैं। दुनिया के हर कोने में कोविड- 19 महामारी को लेकर शोध और रिसर्च चालू है और अब यह जानकारी खुद विशेषज्ञ दे रहे हैं कि, चोरी छिपे इस गलत काम को करने से कोरोना वायरस के परिणाम गंभीर हो सकते हैं। आपको बता दें कि, SARS-CoV-2 की बीमारी कोविड- 19 से संक्रमित व्यक्ति को मामूली बीमारी से लेकर गंभीर निमोनिया और ऑर्गन फेलियर जैसे खतरनाक परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं और गांजे (Cannabis) का सेवन करने से यह परिणाम काफी घातक हो सकते हैं। गांजे से कोरोना वायरस के बारे में और जानें…

यह भी पढ़ें: चेहरे के जरिए हो सकता है इंफेक्शन, कोरोना से बचने के लिए चेहरा न छूना

गांजे से कोरोना वायरस के परिणाम गंभीर क्यों ? (Risk of Covid- 19 from Gaanja)

डॉक्टरों का कहना है कि, गांजे (Cannabis) का सेवन करने से फेफड़ों में सूजन आती है, जिस वजह से शरीर की वायरस से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है। एक अंग्रेजी न्यूज चैनल को अमेरीकन लंग एसोसिएशन के चीफ मेडिकल ऑफिसर, पल्मोनोलोजिस्ट डॉ. अल्बर्ट ने बताया कि, “जब आप गांजा फूंकते हैं, तो आपके श्वास मार्ग (Airways) में सूजन आ जाती है, जो कि ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) और सिगरेट स्मोक करने के कारण आने वाली सूजन के जैसी होती है। अब जब कि आपकी एयरवेज में सूजन है और आपको इसके साथ ही कोरोना वायरस का संक्रमण हो जाता है, तो आपको इससे कई गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।”

यह भी पढ़ें: कोविड-19: दिन रात इलाज में लगे एक तिहाई मेडिकल स्टाफ को हुई इंसोम्निया की बीमारी

गांजे के सेवन से कोविड- 19 के लक्षण (Covid- 19 Sysmptoms) पहचानने में भी हो सकती है देर

डॉ. अल्बर्ट का कहना है कि, ‘गांजे को पीने से कोविड- 19 के लक्षणों को पहचानने में भी मुश्किलें आ सकती हैं, जिससे इलाज मिलने में देरी हो सकती है और यह देरी जानलेवा भी साबित हो सकती है। क्योंकि, सूखी खांसी कोरोना वायरस का सबसे प्रमुख लक्षण है और वीड का सेवन करने से भी आपको इस समस्या से सामना करना पड़ सकता है। जिससे हेल्थकेयर वर्कर या डॉक्टर को आपके लक्षण और मेडिकल हिस्ट्री के साथ कोरोना वायरस की पहचान करने में देरी हो सकती है।’ आपको बता दें कि, रोजाना गांजा का सेवन करने से एक समय के बाद फेफड़ों में क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव लंग डिजीज (Chronic Obstructive Lung Disease) भी विकसित होने का खतरा होता है। हालांकि, एक्सपर्ट्स ने तंबाकू का सेवन करने से होने वाले नुकसान के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

यह भी पढ़ें: Lockdown 2.0- भारत में 3 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, 20 अप्रैल के बाद सशर्त मिल सकती है छूट

मारिजुआना के सेवन से होने वाले साइड इफेक्ट्स (Side Effects of Marijuana)

मारिजुआना यानी गांजा का सेवन करने से न सिर्फ कोरोना वायरस की बीमारी कोविड- 19 के गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। बल्कि, इसके अलावा आपको निम्नलिखित समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

  1. मारिजुआना जिसे गांजा या वीड भी कहा जाता है, को फूंकने से फेफड़ों में धुआं भर जाता है, जिससे फेफड़ों की ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता प्रभावित होती है और सांस की तकलीफ हो सकती है। मारिजुआना की वजह से कफ और बलगम की समस्या और लंग इंफेक्शन भी सकता है।
  2. गांजा स्मोक करने के बाद आपके दिल की धड़कन (Heartbeat) तीन घंटे तक बढ़ी रहती है, जो कि दिल की बीमारी या हार्ट अटैक (Heart Attack) या शॉर्ट टर्म एंजायटी का कारण बन सकता है।
  3. गांजे से कोरोना वायरस के गंभीर परिणामों के अलावा अस्थायी मतिभ्रम, अस्थायी पागलपन और सिजोफ्रेनिया के लक्षणों का बिगड़ जाना जैसी मानसिक समस्याएं भी झेलनी पड़ सकती है। इसके अलावा, वीड का सेवन करने वाले व्यक्ति में डिप्रेशन, चिंता और सुसाइडल विचार देखने को मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज करने से भुगतना पड़ेगा खतरनाक अंजाम

तंबाकू के सेवन से भी कोरोना वायरस का खतरा

कोरोना महामारी के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने रिपोर्ट पेश की है। इसके मुताबिक, सिगरेट या अन्य तंबाकू उत्पाद का सेवन करने वाले व्यक्तियों को कोरोना वायरस के इंफेक्शन से काफी गंभीर रिजल्ट देखने को मिल सकते हैं। क्योंकि, स्मोकिंग की वजह से उनके फेफड़े पहले ही नकारात्मक रूप से प्रभावित हो चुके होते हैं और वह कोविड- 19 के संक्रमण को झेल नहीं पाते और यह स्थिति जानलेवा भी साबित हो सकती है। इसके अलावा, सिगरेट, बीड़ी या अन्य तंबाकू उत्पाद पर कोरोना वायरस होने का खतरा अधिक होता है, क्योंकि यह उत्पाद काफी लोगों के संपर्क से गुजरते हैं और आप सीधा इसे अपने मुंह के संपर्क में लाते हैं, तो यह खतरनाक वायरस आपके शरीर के अंदर प्रवेश कर सकता है और आपको संक्रमित कर सकता है।

फेफड़ों की बीमारी व क्रोनिक डिजीज के शिकार लोगों को बरतनी चाहिए अधिक सावधानी

डॉक्टर्स और विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, अस्थमा (Asthma), ब्रोंकाइटिस (Bronchitis), लंग इंफेक्शन (Lung Infection) जैसी फेफड़ों की बीमारी और दिल की बीमारी, मधुमेह, किडनी की बीमारी जैसी अन्य क्रोनिक डिजीज (Chronic Health Condition) से ग्रसित लोगों को कोविड- 19 का खतरा अधिक होता है। क्योंकि, इनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पहले से ही कम होती है और इनके शरीर के आंतरिक अंग वायरस से लड़ने के काबिल नहीं होते। जिससे कोविड- 19 से इनकी मृत्यु होने की आशंका अधिक होती है।

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

गांजे से कोरोना वायरस : कोरोना वायरस से सावधानी

गांजे से कोरोना वायरस के गंभीर रूप से बचने के लिए इससे दूरी बनाना आवश्यक है। इसके अलावा कोरोना वायरस से बचाव के लिए भारत सरकार ने लोगों को कुछ सलाह दे रखी हैं। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के साथ इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

https://www.cdc.gov/marijuana/health-effects.htmlMarijuana: How Can It Affect Your Health?:

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 15/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 15/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 15/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 85 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200414-sitrep-85-covid-19.pdf?sfvrsn=7b8629bb_4 – Accessed on 15/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 15/4/2020

Smoking marijuana – even just occasionally – could increase the risk of suffering severe complications from coronavirus, doctors warn
https://www.dailymail.co.uk/health/article-8219145/Smoking-pot-just-occasionally-increase-risk-suffering-severe-COVID-19-complications.html – Accessed on 15/4/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x