home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस आपने किया क्या?

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस आपने किया क्या?

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में एक बार फिर से लॉकडाउन लग चुका है। ये लॉकडाउन हालांकि आंशिक लॉकडाउन है, जो 5 अप्रैल से 30 अप्रैल 2021 तक रहेगा। आंशिक लॉकडाउन से मेरा मतलब है शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक कंप्लीट लॉकडाउन रहेगा और बाकी दिनों में भी प्राइवेट ऑफिस को एक बार फिर से वर्क फ्रॉम होम जैसे कई अन्य सेफ्टी गाइडलाइंस जारी कर दी गई है। ऐसा नहीं है कि ये कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते केसेस सिर्फ महाराष्ट्र में हैं, बल्कि भारत के अन्य राज्यों में भी एकबार फिर से कोरोना वायरस (COVID-19) से लोग शिकार ज्यादा हो रहें हैं, लेकिन इनसबके बावजूद हम में से ऐसे कई लोग हैं, जो अभी भी इस बीमारी के प्रति लापरवाही बरत रहें हैं, यहां तक की COVID-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) लेना भी नहीं चाहते हैं।

और पढ़ें : क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination)

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination)
#वैक्सिनेशन है जरूरी

मुंबई के घाटकोपर में राजावाड़ी हॉस्पिटल (Rajawadi Hospital Municipal Hospital Ghatkopar, Mumbai) की सुप्रीडेंटेंड डॉ. विद्या ठाकुर से हमने COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) से जुड़ी खास बात की और उनसे वैक्सिनेशन से जुड़ी कुछ सवालों का जवाब जानना चाहा।

सवाल: डॉ. विद्या आपका COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस कैसा है?

जवाब: मैंने COVID-19 वैक्सिनेशन लिया और मेरा दूसरा डोज 26 फरवरी को पूरा हुआ है। मैं खुद साल 2020 जुलाई के आखरी सप्ताह में कोविड-19 पॉजिटिव डायग्नोस हुई, लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी और मैं इस दौरान भी एडमिट होने के बावजूद पूरे प्रिकॉशन के साथ काम करती रही। COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) मेरे लिए बेहद खास अनुभव है, क्योंकि कोरोना वायरस के दस्तक देने के साथ ही हमसभी की नजरें सिर्फ और सिर्फ COVID-19 वैक्सीन पर टिकी थी। मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि COVID-19 वैक्सिनेशन मेडिकल स्टाफ से शुरू होकर अब आम लोगों को भी कोरोना वायरस से बचने के लिए वैक्सीन दी जा रही है।

और पढ़ें : कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रैवलिंग से लेकर होटल में स्टे तक, रखें इन बातों का ध्यान

सवाल: ज्यादातर लोग COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस करना नहीं चाहते हैं, क्योंकि इससे कहीं कोई साइड इफेक्ट ना हो जाये। डॉ. विद्या आपकी क्या राय है इसपर?

जवाब: जैसा कि मैंने पहले कहा कि COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) बेहद अच्छा रहा और वैक्सिनेशन के सेम डे मैंने काम भी किया। हालांकि COVID-19 वैक्सिनेशन के पहले डोज के दिन वैक्सीन लेने के बाद मुझे हल्का फीवर और बॉडी पेन हुआ, जो बहुत माइल्ड था। इसलिए मुझे कोई परेशानी नहीं हुई। मैं यहां एक बात ये जरूर बताना चाहती हूं कि वैक्सिनेशन के बाद अगर आप भी फीवर या बॉडी पेन महसूस करें, तो घबराएं नहीं। यह नॉर्मल है और आप यह COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस ही नहीं, बल्कि किसी अन्य वैक्सिनेशन के बाद भी ऐसा महसूस कर सकते हैं। इसलिए इससे घबराएं नहीं और वैक्सीन जरूर लें।

और पढ़ें : अधिकतर भारतीय कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए हैं तैयार, लेकिन कुछ लोग अभी भी करना चाहते हैं इंतजार

सवाल: क्या अस्पताल में कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19) लेने के लिए भारी तादाद में लोग आ रहें हैं?

जवाब: हां, काफी लोग वैक्सिनेशन के लिए आ रहें हैं, लेकिन अभी भी लोग वैक्सिनेशन के प्रति लापरवाही बरत रहें हैं। मैं लोगों से यही कहना चाहूंगी कि कोविड-19 वैक्सीन से डरे नहीं। इस वैक्सीन लेने से शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। COVID-19 वैक्सिनेशन से इम्यूनिटी पावर (Immunity power) यानी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। इसलिए COVID-19 वैक्सीन लें और तीन बातों का ध्यान अवश्य रखें। जैसे:

  1. घर से बाहर निकलने के दौरान मास्क (Mask) का प्रयोग करें
  2. बाहर जाने के दौरान सैनिटाइजर हमेशा साथ रखें और किसी भी वस्तु को छूने के बाद हाथ सैनेटाइज करना ना भूलें
  3. सोशल डिस्टेंस का पालन करें।

बतौर डॉक्टर एवं कोविड वॉरियर डॉ. विद्या ने अपने बिजी शेड्यूल से वक्त निकाल कर बात करने का उद्देश्य ये है कि लोग COVID-19 वैक्सिनेशन लेने से पीछे ना रहें और अन्य लोगों को इस बारे में जागरूक भी करें, जिससे इस बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है।

और पढ़ें : कोरोना वायरस के बाद नए इंफेक्शन का खतरा, जानिए क्या है म्युकोरमाइकोसिस (Mucormycosis)

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination)
#वैक्सिनेशन है जरूरी

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) के इस आर्टिकल में हमने डॉ. विद्या ठाकुर से बात की वहीं कुछ ऐसे लोगों से भी बात की है, जो मेडिकल फिल्ड से जुड़े हुए नहीं हैं, लेकिन कोविड-19 वैक्सीन लेने से पीछे भी नहीं हैं। सच तो ये हैं कि वैक्सिनेशन का इंतजार हम सभी कर रहें थें और जब भारत में कोरोना वायरस से बचने के लिए वैक्सीन उपलब्ध है, तो वैक्सिनेशन में देरी भी नहीं करनी चाहिए।

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस कर चुकीं मुंबई के चेंबूर में रहने वाली 65 वर्षीय प्रियदर्शिनी कुंदर रिटायर्ड बैंकर हैं। बैंक में काम करने की वजह से प्रियदर्शिनी का इंट्रेस्ट फाइनेंशियल सेक्टर की ओर ज्यादा रहा है, लेकिन पिछले साल से कोरोना की भयावह होती तस्वीर ने हेल्थ से जुड़ी जानकारी हासिल करने और स्वस्थ कैसे रहा जाए इसपर खास ध्यान रखने लगीं हैं प्रियदर्शिनी। मिसेज कुंदर कहती हैं कि “मैं कोविड वैक्सीन का इंताजर बेसब्री से कर रही थीं और जैसे मुझे पता चला कि मैं वैक्सीन ले सकती हूं, तो मैं बेहद खुश हुई, क्योंकि हम इलाज तभी करवाते हैं, जब हम बीमार पड़ते हैं और कोरोना की ये वैक्सीन तो बीमारी से बचने के लिए हैं। इसलिए मैंने वैक्सीन का पहला डोज लिया है और दूसरा डोज लगने वाला है। मेरा COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस अच्छा है और वैक्सीन लेने के बाद मुझे कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं हुआ।”

और पढ़ें : स्टडी : साल 2022 तक सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल है जरूरी, जानिए क्यों ?

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) के इस आर्टिकल में हमने बात की 68 वर्षीय राजेंद्र पाठक से। बिहार के बीहट के रहने वाले राजेंद्र पाठक रिटायर्ड शिक्षक हैं। राजेंद्र कहते हैं “ये जब से कोरोना वायरस फैला है, तब से बहुत कुछ बदल चुका है और एकबार फिर लोगों से मिलना-जुलना शुरू हो इस इंतजार के साथ-साथ इंतजार था कोरोना के टीके का। खैर सोशल डिस्टेंसिंग तो ऐसे हालात में फॉलो करना बेहद जरूरी है, लेकिन कोविड-19 वैक्सीन का इंतजार तो कम से कम खत्म हुआ। मैंने वैक्सीन का दोनों डोज ले लिया है और मेरा COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस अच्छा भी रहा। मैंने सकारात्मक सोच के साथ वैक्सीन ली और मुझे इससे कोई परेशानी महसूस नहीं हुई है।”

और पढ़ें : कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताए कुछ आसान उपाय

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) कर चुके मुंबई के रहने वाले 46 वर्षीय पंकज कुमार एक प्राइवेट कंपनी में बतौर मैनेजर कार्यरत हैं। पंकज से हमने कोरोना वायरस (Coronavirus) टीके से जुड़े उनके अनुभव को जानना चाहा, तो पंकज कहते हैं “मैं पिछले 24 सालों से मैनेजमेंट का काम संभाल रहा हूं और देश के नागरिक होने के नाते मेरा फर्ज यह है कि जैसे वैक्सिनेशन की शुरुआत हो मैं वैक्सीन जरूर लूं। मैंने आज ही (05 अप्रैल 2021) वैक्सीन का पहला डोज लिया है और मुझे हल्का बॉडी पेन महसूस हो रहा है मैंने डॉक्टर से बात की है, तो उनका कहना है ये नॉर्मल है और घबराने की कोई जरूरत नहीं है। मुझे वैक्सिनेशन सेंटर पर वैक्सीन लेने में 15 से 20 मिनट लगें और मैं फिर घर वापस आ गया। अगर आपकी उम्र भी 45 से ज्यादा है, तो वैक्सीन जरूर लें COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस करने के साथ-साथ हम सभी मिलकर इस जानलेवा बीमारी को दूर कर सकते हैं।”

अगर आप COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस करना चाहते हैं, तो घबराएं नहीं। इस आर्टिकल में अब आपसे शेयर करने जा रहें हैं, वैक्सिनेशन के बाद क्या-क्या शारीरिक परेशानी हो सकती है. जो नॉर्मल मानी जाती है।

और पढ़ें : कोरोना से तो जीत ली जंग, लेकिन समाज में फैले भेदभाव से कैसे लड़ें?

कोविड-19 से बचने के लिए हेल्दी डायट की लिस्ट में क्या-क्या करें शामिल, जानिए नीचे दिए इस क्विज में।

वैक्सिनेशन के बाद किस तरह की शारीरिक परेशानी हो सकती है? (Side effects after COVID-19 Vaccination)

मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर, गवर्मेंट ऑफ इंडिया (Ministry of Health and Family Welfare, Government of India) के अनुसार COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस करने के बाद या वैक्सीन लेने के बाद आपको निम्नलिखित शारीरिक परेशानी महसूस हो सकती है। जैसे:

COVID-19 वैक्सिनेशन के बाद अगर आपको ये ऊपर बताये गए लक्षण महसूस हो रहें हैं, तो घबराएं नहीं। ये लक्षण अपने आप ही 1 से 2 दिनों में ठीक हो जाएंगे।

नोट: अगर आप ऊपर बताये लक्षण महसूस कर चुके हैं और इस कारण दूसरा डोज नहीं लेना चाहते हैं, तो ऐसी गलती ना करें। वैक्सीन का दूसरा डोज अवश्य लें। MoHFW के अनुसार डॉक्टर आपको मना करने के बाद भी आप वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं ले सकते हैं।

और पढ़ें : कोविड-19 सर्वाइवर आश्विन ने शेयर किया अपना अनुभव कि उन्होंने कोरोना से कैसे जीता ये जंग

अगर आपभी चाहते हैं कोरोना से आजादी तो आप मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर, गवर्मेंट ऑफ इंडिया (Ministry of Health and Family Welfare, Government of India) द्वारा जारी किये गए रजिस्ट्रेशन फॉर्म को फिलअप करें। रजिस्ट्रेशन के दौरान आपको अपने फोटो आईडी की जरूरत पड़ेगी और आपको वैक्सीन कब लेनी है. इसकी जानकारी मिल जाएगी।

COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination)
#वैक्सिनेशन है जरूरी

अगर आप किसी कारण से वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कर पा रहें हैं, तो स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी उपलब्ध है। स्पॉट रजिस्ट्रेशन के लिए आपको अपने नजदीकी वैक्सिनेशन सेंटर जाना होगा और वहां गवर्मेंट हेल्थ वर्कर आपकी सहायता करेंगे, जिनकी मदद से आप आसानी से वैक्सीन ले सकते हैं। गवर्मेंट हेल्थ वर्कर आपका रजिस्ट्रेशन कर सारी जानकारी दे देंगे। इस दौरान आप अपने साथ अपना फोटो पहचान पत्र जरूर लेकर जाएं।

नोट: अगर आप कोविड पॉजिटिव हैं, तो प्लीज किसी भी जगह या वैक्सिनेशन सेंटर ना जाएं।

अगर आप COVID-19 वैक्सीन से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। अगर आपने भी COVID-19 वैक्सिनेशन एक्सपीरियंस (Experience of COVID-19 Vaccination) कर लिया है, तो आप अपने एक्सपीरियंस को कमेंट बॉक्स में शेयर करें।

कोरोना वायरस के लक्षण और वैक्सीन से जुड़ी खास जानकारी के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
COVID-19 Vaccination/https://www.mohfw.gov.in/covid_vaccination/vaccination/index.html/Accessed on 05/04/2021
Frequently Asked Questions/https://www.mohfw.gov.in/covid_vaccination/vaccination/faqs.html/Accessed on 05/04/2021
Guidelines for effective Control of COVID-19/https://www.mygov.in/covid-19/Accessed on 05/04/2021
Some common side effects you might experience after getting the COVID-19 Vaccine/https://www.mohfw.gov.in/covid_vaccination/vaccination/common-side-effects-aefi.html/
COVID-19 Inter-Ministerial Notifications/https://covid19.india.gov.in/Accessed on 05/04/2021
Made-in-India COVID19 vaccine supplies so far (In lakhs)/https://www.mea.gov.in/vaccine-supply.htm/Accessed on 05/04/2021
लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड