home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रैवलिंग से लेकर होटल में स्टे तक, रखें इन बातों का ध्यान

कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रैवलिंग से लेकर होटल में स्टे तक, रखें इन बातों का ध्यान

कोरोना वायरस का खतरा पूरी दुनिया पर मंडरा रहा है। इस समय हर देश इस संक्रमण के समाधान के खोज में लगा हुआ है। ऐसे में लोग अब फ्लाइट से सफर करने में भी डरने लगे हैं, क्योंकि इस वायरस का संक्रमण बाहर से सफर के दौरान बढ़ने का खतरा सबसे ज्यादा है। अभी भी लोग इस वायसर की चपेट में आ रहे हैं। बात ये भी है कि लोग कब तक इसके डर से घर पर बैठ सकते हैं। लेकिन अगर आप ट्रैवलिंग पर जा रहे हैं, तो आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। अगर पहले से ही आप कुछ सुरक्षा नियमों का ध्यान रखेंगे, तो आप इस वायरस से बच सकते हैं।

फ्लाइट से ट्रैवलिंग के दौरान सेफ्टी टिप्स

फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग

हाथों को सैनेटाइज करते रहें

एयरपोर्ट एक ऐसी जगह है, जहां आपको सबसे ज्यादा लाेगों की भीड़ मिलेगी । ऐसी जगाहों पर कोरोना वायरस का खतरा सबसे ज्यादा होता है। फिर चाहें वो एयरपोर्ट पर टिकट डेस्क, लगैज डेस्क, लिफ्ट और स्टेयर्स जैसे जगहों पर संक्रमण का खतरा और भी ज्यादा होता है। ऐसे में यात्रा के दौरान जरूरी है कि लोग सेफ्ट मेजर का ध्यान रखते हुए हाथों को सैनेटाइज करते रहें, ताकि किसी चीज को छूने के बाद आप तुरंत अपने हाथ को साफ कर लें

और पढ़ें : कैसे स्वस्थ भोजन की आदत कोरोना से लड़ने में मददगार हो सकती है? जानें एक्सपर्ट्स से

फ्लाइट के अंदर रखें इन बातों का ध्यान

आपको फ्लाइट के अंदर भी पूरी सुरक्षा का ध्यान रखना होगा। अंदर ग्लव्स पहनकर जाएं। फ्लाइट के अंदर सीट और हैंडल बार को छूने के साथ तुरंत सैनेटाइज करें। यहां पर संक्रमण का खतरा हमेशा बना रहता है। ऐसे में बढ़िया ये होगा कि थोड़े-थोड़े समय पर अपने हाथ को धोने के साथ ग्लव्स चेंच करते रहें। पहने हुए ग्लव्स से अपने चेहरे को न छुएं।

बाहर का न खाएं

फ्लाइट में खाना खाने से पहले आपको अपने हाथों की सफाई का ध्यान जरूर रखना आवश्यक है। कोशिश करें कि यदि ज्यादा लंबी यात्रा न हो, तो बाहर कुछ न खाएं। अगर आपको लंबा समय फ्लाइट में रहना है, तो कोशिश करें कि कोई हल्का ड्राय स्नैक्स खुद ही साथ में लेकर जाएं।

चेहरे को छूने से बचें

कोराेना वायस से बचाव के लिए चेरहे को छूने से बचें, क्योंकि दरअसल, चेहरे को छूने के कारण बैक्टीरिया सीधे आपके हाथों से नाक और आंख के माध्यम से हानिकारक बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। इसलिए काेशिश करें कि यात्रा के दौरान ऐसी गलती न करें।

और पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रैवलिंग से लेकर होटल में स्टे तक, रखें इन बातों का ध्यान

मेट्रो और बस से ट्रैवलिंग के दौरान सेफ्टी टिप्स

कोरोना वायरस ने पूरी दूनिया को दहला रखा है। वैसे अभी जितना हो सके लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट में ट्रैवलिंग से बचना चाहिए। यदि फिर भी ऐसा करना आपकी मजबूरी है, तो कुछ खास बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। मेट्रो और बस में रोज लांखों लोग ट्रैवलिंग करते हैं, जिसके कारण सबसे ज्यादा वायरस फैलने का खतरा होता है। बस और मेट्रो में बहुत से लोग आपको फ्लू के लक्षणों से भी पीड़ित मिल जाएंगे। लेकिन ये बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि ये सभी लक्षण कोरोना वायरस के संक्रमण के हों, पर इसे नजरअंदाज भी नहीं किया जा सकता है। अगर आप मेट्रो और बस से यात्रा कर रहे हैं, तो आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना आवश्यक है।

और पढ़ें : कोरोना से होने वाली फेफड़ों की समस्या डॉक्टर्स के लिए बन रही है पहेली

​मेट्रो और बस में इन लोगों से रहें दूर

मेट्रो और बस में आपको ऐसे बहुत से लोग मिल जाएंगे, जो सर्दी-जुकाम से पीड़ित होंगे। अब इनमें से कौन साधारण फ्लू से पीड़ित और कौन कोरोना से, ये कहां नहीं जा सकता है। कोरोना वायरस का लक्षण भी सर्दी-जुकाम से मिलता जुलता ही है। इसलिए इन पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सभी से दूरी बनाकर रखें, लेकिन जिन लोगों में आपको ये लक्ष्ण दिख रहें है, उनसे तो खासतौर दूरी बना लें।

​खांसने और छींकने वालों से रहें सावधान

इन पब्लिक ट्रांसपोर्ट में आपको तरह-तरह के लोग मिल जाएंगे। ऐसी जगाहों पर कोरोना वायरस के फैलने का खतरा और भी जयादा होता है। किसी को खांसी या छींकने की समसया है, तो ये कहा नहीं जा सकता है। आज भी कई लोग खांसने और छींकते वक्त रुमाल का इस्तेमाल नहीं करते हैं, जोकि गलत है। लोग ऐसे ही खांसते और छींकते हैं, जिसके कारण वायरस हवा के माध्यम से वातावरण में मिल जाता है और दूसरों को भी संक्रमित कर देता है। मेट्रो और बस में ऐसे लोगों के पास बैठेने या खड़े होने से बचें।

मास्क का प्रयोग करना न भूलें

मास्क का इस्तेमाल कितना जरूरी है, ये बात हम सभी को पता है। इसलिए इस चीज में बिल्कुल भी लापरवाही न करें। इन पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर ट्रैवलिंग से पहले ही माउथ मास्क पहन लेना चाहिए। इनके अलावा कोई भी भीड़भाड़ वाली जगह भी इसका प्रयोग जरूरी है, नहीं तो वायरस कभी भी आपको अपने चपेट में ले सकता है। इसलिए मास्क को लगातार पहने ही रखें, इसके अलावा मास्क को बार-बार हाथों से टच न करें, क्योंकि हाथों में मौजूद वायस आपके चेहरे में पहुंच जाएंगे। इससे आप इस वायरस के खतरे में आ जाएंगे।

​हैंगर और सीट टच करते समय रहें सावधान

बस और मेट्रो में आपको हर तरह के लाेग मिलेंगे। ये नहीं कहा जा सकता है कि कौन संक्रमित है और कौन नहीं। इसलिए सावधानी का ध्यान आपको रखना होगा। यहां सफर करने वाले लोगों में से कुछ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित भी हो सकते हैं। जो खांसने या छींकने के बाद हाथों से और सीट और स्पोर्टिव हैंगर आदि को भी टच करते है, जिसके कारण वाे जगह भी संक्रमित हो जाती है। जिसे बाद में ट्रैवल कर रहा दूसरा व्यक्ति भी पकड़ लेता है । जिसके कारण वो वायरस दूसरे व्यक्ति तक फैल जाता है, वो भी संक्रमित हो जाता है। इसलिए कोशिश करें कि हैंगर को न पकड़ना पड़े और सीट को टच करने के बाद हाथों को भी सैनेटाइज करें। इसके अलावा आप अपने हाथों में ग्लव्स को जरूर पहनें रखें।

और पढ़ें: मास्क पहनना ही नहीं साफ रखना भी है बेहद जरूरी, इन बातों का रखें खास ख्याल

खुद भी ध्यान रखें

मेट्रो और बस में सफर करते समय आपको अपने आसपास मौजूद लोगों को संक्रमण से बचाए रखने खुद भी मास्क और अन्य सावधानियों का ध्यान रखना होगा। अगर आपमें भी किसी प्रकार के फ्लू के लक्ष्ण, जैसे कि सर्दी, जुकाम या खांसी की समस्या है,तो आप उससे दूसरों को न प्रभावित होने दें। अगर आपको सामान्य रूप से सर्दी-जुकाम, खांसी और फ्लू जैसे लक्षण हैं तो आप इस संक्रमण को दूसरों तक भी ना पहुंचने दें। इसलिए खुद भी छींक आने पर अपने मुंह को ढकें और थोड़ी-थोड़ी देर हाथों को सैनिटाइजर से साफ करें। आपके ऐसा करने से दूसरे लोग भी इस संक्रमण के खतरे से बच जाएंगे।

होटल में स्टे के सेफ्टी टिप्स

कोराेना का कहर अभी कब तक रहेगा, ये कहा नहीं जा सकता है। लोगों ने अब बाहर निकलना भी शुरू कर दिया है। लोग ट्रिप पर भी जानें लगे हैं, अगर आप भी ऐसा प्लान कर रहें है, तो खास बातों का ध्यान रखें। अगर आप कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो कौन से होटल में ठहरेंगे और वहां का सेफ्टी मेजर कैसा है, इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। इन जगाहों पर भी इन वायरस के फैलने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। इसलिए जब भी आप शहर से कहीं बाहर जाएं और होटल में रुकना हो, तो कुछ आवश्यक सावधानियाँ बरत कर खुद को वायरस से दूर रखें।

जैसा कि कोरोना ने पूरी दूनिया को अपने चपेट में रखा है, तो ऐसे में किसी यात्रा में जाना और किसी होटल में रूकना खतरे से खाली नहीं है। ऐसे में होटल में रुकना सुरक्षित नहीं माना जा सकता है। लेकिन आप रूक भी रहें, तो आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। आपकी थोड़ी सी लापरवाही भी आपको खतरे में डाल सकती है, इसलिए कौन का होटल आपकी सुरक्षा के लिए बेस्ट है, इसका पता पहले से लगा लें।

और पढ़ें: कोरोना वायरस के बाद नए इंफेक्शन का खतरा, जानिए क्या है म्युकोरमाइकोसिस (Mucormycosis)

होटल का चुनाव कैसे करें

आपको होटल का चुनाव करते समय काफी सावधानी का ध्यान रखना होगा, क्योंकि ये बात आपके सुरक्षा के साथ हेल्थ से भी जुड़ी हुई है। इसका फायदा यह होगा, आपको होटल के माहौल के बारे में पहले से ही अधिकतर जानकरी मिल जाएगी कि वहां साफ-सफाई कैसी है और उस पर कितना ध्यान दिया जा रहा है। इसके अलावा यदि आपको इसकी पूरी जानकारी नहीं मिल पा रही हाे, तो ऐसे में उस होटल को चुनें जहां आप कभी पहले भी रूक चुके हों। ऐसा करना किसी गलत जगह जानें से बेहतर ही होगा। होटल के बारे में पता लगाने के और भी कई माध्यम हैं, आप किसी भी होटल की सर्विस के बारे में पता लगाने के लिए उसकी वेबसाइट पर जाकर उसके रिव्यूज को पढ़ें। इसके अलावा उस होटल में फोन कर के भी वहां की सर्विस के बारे में पूरी जानकारी लें। इससे आप अपनी और अपनो की कोरोना वायरस से सुरक्षा कर पाएंगे।

कम्युनिटी की हेल्थ की जानकारी लें

जिस जगह आप रूकने का प्लान कर रहे हैं, यदि उसके बारे में आपको पता लगाना है, तो आप उस एरिया क्यूनिटी से उसके आंकड़ों के बारे में पता लगा लें। इससे आपको काफी आसानी होगी। इससे आपको ये पता चल जाएगा कि किस एरिया में कितने केसेज हैं और कहां आपके लिए रूकना बेस्ट है। इसके अलावा इन बातों का ध्यान रखें जिस एरिया में केसज कम हो, उस एरिया का प्लान करें। इसके अलावा, होटल में ये भी पता कर लें कि हाल ही में किसी स्टाफ को कोरोना तो नहीं हुआ है।

और पढ़ें : ब्रिटेन में जल्‍द शुरू होगा कोरोना का वैक्‍सीनेशन (COVID-19 vaccine), सरकार ने दिया ग्रीन सिग्नल

निजी जोखिम के बारे में जानें

अगर आप बाहर जा रहें, तो उससे पहले सभी बातों काे भी सोच समझ लें। यात्रा से लेकर स्टे तक आपको कहां-कहां किन बातों का ध्यान रखना है और किन चीजों में आपको अधिक खतरा हो सकता है और उससे कैसे बचाव करना है, इन सभी पहलुओं का भी ध्यान रखें। कोशिश करें कि आप पहले से ही एक चेकलिस्ट बना लें, जैसे कि आप होटल में जानें से पहले ही पता कर लें कि आपको वेटिंग न करना पड़े, जितना हो सके उनके वेटिंग एरिया में बैठने से बचें। इसके अलावा किसी ऐसे होटल का चुनाव करें, जोकि कम भीड़ वाले एरिया में हों, जैसे कि रेलवे स्टेशन के आसपास के एरिया में होटल लेने से बचें।

इन सब सावधानियों के अलावा आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगाा कि यदि आपके घर में किसी को कोविड 19 के लक्षण हैं या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गए हैं, तो घर पर ही रहना चाहिए। जैसे-जैसे लोग अपने घरों से बाहर निकलने लगेंगे, भीड़ जुटना आम हो जाएगी, लेकिन इससे वायरस फैलने का खतरा बढ़ जाएगा।

होटल में रूम बुक करवाते समय इन बातों का रखें ध्यान

मास्क और सैनिटाइजर

आजकल जगह-जगह होटल खुल गए हैं और इन सभी के अपने ऑफर्स होते हैं। ऑनलाइन आपको अलग-अलग ऑफर्स के साथ हाटलों की एक लंबी लिस्ट मिल जाएगी, लेकिन इसमें से कौन सा आपके लिए सही रहेगा। इसका चुनाव आपको साेच समझकर करना होगा। जल्दबाजी में ऑनलाइन लुभावने ऑफर्स को देखकर तुरूंत बुकिंग करने से बचें। आप उस होटल की रेटिंग पढ़ें और लोगों के रिव्यूज पढ़ें। होटल के नंबर पर फोन काल के माध्यम से पता करें कि कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए सरकार द्वारा जारी की गई सभी गाइडलाइनस और जरूरी नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं। जब आप पूर्ण रूप से संतुष्ट हों जाएं कि आप वहां सरक्षित हैं, तभी फाइनल होटल बुकिंग करें।

मास्क हमेशा पहन कर रखें

बाहर रहकर हमेशा मास्क पहनना अपनी आदत में डाल लें। देश में कोरोना का प्रकोप लगातार बड़ रहा है। इसलिए मास्क पहनने के साथ कोई समझौता न करें। बाहर यात्रा के दौरान आप कोशिश करें कि डिस्पोजल मास्क पहनें, ताकि उसे थोड़ी -थोड़ी देर में उसे बदलते रहें और ऐसे में आपको मास्क वाॅश करने का झंझट नहीं रहेगा। जब कभी आप ऐसी लंबी यात्रा पर निकलें, तो अपने पास एक से अधिक मास्क को साथ ले कर जाएं। इसी तरह आप ग्लब्स भी अपने पास रखें। मास्क और ग्लब्स से किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें।

बेडशीट अपनी साथ लेकर जाएं

आपकी सुरक्षा में पर्सनल हाइजीन भी आती है। होटल में स्ट्रेस के दौरान और भी कुछ खास बातों का ध्यान रखें। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए अतिरिक्त सुरक्षा अपनाएं और घर से ही अपने साथ एक एक्स्ट्रा बैडशीट लेकर जाएं। होटल पहुंच कर अपना रूम अपने सामने सैनिटाइज करवाएं और उसके बाद अपनी बैड सीट का यूज करें।

अपने सामने रूम को सैनिटाइज करवाएं

रूम को अपने सामने सैनेटाइज करवाएं। इसके लिए भी जरूरी है । वैसे तो सभी काे पता है कि कोरोना के कारणों से होटल में रुकना सेफ नहीं माना जा सकता है। लेकिन यदि किन्ही कारणों से होटल में रुकना पड़े तो वहां पहुंचने के बाद सबसे पहले अपने रूम को अच्छी तरह से सैनिटाइज करवाएं और इसके बाद ही अपने रूम में प्रवेश करें। भले पहले से ही रूम पहले से क्लीन हो, लेकिन जब भी आप जाएं, तो अपने सामने भी रूम क्लीन करवाएं।

साफ सफाई का रखें ध्यान

कोरोना से बचाव के लिए साफ-सफाई का ध्यान रखा बहुत जरूरी है। इस गंभीर बीमारी से बचने के लिए आपको साफ-सफाई से संबंधित नियमों का अच्छी तरह से पालन करना चाहिए। अगर आप भी साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखेंगे तो अच्छा रहेगा। इसके अलावा जो भी समान अपने साथ में ले जाएं, उसे सैनेटाइज करें। होटल में स्टे के दौरान वहां कम से कम लोगों से ही मिलें। अधिक लोगों से मिलना कम करें, भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए। इसके लिए आप मास्क का प्रयोग करें और समय-समय पर अपने हाथों को साबुन से धोते रहें। अगर आप वायरस वाली जगाहों पर सभा सावधानियों का ध्यान रखें। अगर आपने वायरस के नियंत्रण में आने से पहले बाहर जाने का फैसला कर लिया है तो अभी तक यह साफ नहीं है कि कौन सी जगह सुरक्षित है। रेस्टोरेंट और डायनिंग रूम्स के लिए भी यह हालात एकदम नए हैं।

आरोग्य सेतू एप्प डाउनलोड करें

कोराेना जैसे संक्रमण से बचने के लिए जरूरी है कि आप आरोग्य सूते एप्प को डाउनलोड करें। कहीं भी यात्रा के दौरान इस एप्प के माध्य से आप चेक कर पाएंगे कि आपके आसपास को कहीं कोई कोविड पेशेंट तो नहीं है। अगर ऐसा है, तो आप उनसे दूरी बनाकर रखें, इस तरह से आप अपना बचाव कर पाएंगे। इस एप्प के माध्य से आपको एर्ल्ट टोन मिल जाएगा कि आपके आपपास कोई ऐसा व्यक्ति तो नहीं है, जिससे आपको बचाव की जरूरत है।

अगर आप कहीं यात्रा कर रहे हैं, तो आपका इन सभी बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। अगर इस तरह की सावधानियों का आप ध्यार रखेंगे तो ट्रवलिंग के दौरान इस वायरस से बच सकते हैं।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/01/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x