home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

ब्लैक कर्रेंट (फालसेब) के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Black Currant

ब्लैक कर्रेंट/ फालसेब का परिचय |उपयोग|ब्लैक कर्रेंट से जुडी सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|ब्लैक कर्रेंट से जुड़े परस्पर प्रभाव|खुराक को समझें
ब्लैक कर्रेंट (फालसेब) के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Black Currant

ब्लैक कर्रेंट/ फालसेब का परिचय

ब्लैक कर्रेंट या फालसेब (Black Currant) क्या है?

ब्लैक कर्रेंट एक प्राकृतिक पौधा है, जिसका फल और बीज का इस्तेमाल जड़ी-बूटी के तौर पर किया जाता है। यह मूल रूप से यूरोप और एशिया के कुछ हिस्सों में पाया जाता है। विभिन्न स्वास्थ्य स्थितियों में फालसेब के अर्क का इस्तेमाल किया जाता है।

उपयोग

ब्लैक कर्रेंट का इस्तेमाल कहां किया जाता है ?

ब्लैक कर्रेंट यूरोप के कई हिस्सों में व उत्तर एशिया के प्रदेशों में पाया जाने वाला पौधा है जो की उसके फल के लिए प्रसिद्द है। इसका साइंटिफिक नाम Ribes Nigrum है और ये Grossulariaceae फैमिली से संबंध रखता है। लोग ज्यादातर इसका उपयोग इसके तेल, पत्ते, फल और फूल से दवाइयां बनाने के लिए करते है। ब्लैक कर्रेंट के बीज के तेल में एक केमिकल होता है जो गामा लिनोलेनिक एसिड – GLA के नाम से जाना जाता है।

ब्लैक कर्रेंट यानी की फालसेब के तेल का उपयोग:

· मेनोपॉज की निशानियों के निदान के लिए, मासिक के पूर्व लक्षणों के समाधान के लिए, मासिक के दर्द को कम करने व स्तन की दृढ़ता के लिए

· रोगप्रतिकारकता बढ़ाने

फालसेब के फल का उपयोग:

· खांसी में राहत पाने के लिए

· अल्जाइमर रोग में फालसेब के सूखे पत्तों का उपयोग

· आर्थराइटिस में

· जोड़ों के दर्द में

· गाउट

· गठिया

· डायरिया

· कोलिक

· हेपेटाइटिस और दूसरे लिवर के रोगों में

· बेहोशी और चक्कर आना

· मुंह और गले में होने वाले सूजन के विकार में

फालसेब के सूखे पत्तों की अतिरिक्त उपयोगिता:

· खांसी, सर्दी और काली खांसी की सारवार में

· यूरिन इंफेक्शन को मिटाने के लिए

· पेशाब की मात्रा बढ़ाने के लिए

· मूत्राशय की पथरी में

· चाय के हेल्दी विकल्प के तौर पे

आपको जान कर आश्चर्य होगा की कई लोग इस पत्ते को सीधा ही चेहरे पे लगाते है। इस से त्वचा के घाव भरते है व अगर कीड़े ने कही काटा है तो उसमे भी राहत मिलती है। यदि खाद्य पदार्थों की बात करें तो, यह फल लिकर बनाने में और अन्य चीजों में स्वाद बढ़ाने के हेतु उपयोग होता है। और ब्लैक कर्रेंट का फल सीधा खाने के उपयोग तो आता ही है।

यह औषधि के रूप में कैसे काम करता है?

यह औषधि विशेष रूप से कैसे काम करती है इसका आजके दिन त ज्यादा अध्ययन नहीं पाया गया है। ज्यादा जानकारी के लिए आप अपने औषधि विशेषज्ञ या चिकित्सक से बात कर सकते है। वैसे माना जाता है की फालसेब के बीज के तेल में एक केमिकल होता है जो गामा लिनोलेनिक एसिड – GLA के नाम से जाना जाता है।

कुछ रिसर्च के अनुसार यह एसिड रोग प्रतिकारक शक्ति को बढ़ाने में सहायक है, और हमारे शरीर को रोगो के सामने लड़ने की ज्यादा ताकत देता है। फालसेब के पत्ते और तेल शरीर में आयी सूजन को भी कम करने में मददरूप है।

और पढ़ेंः बस 5 रुपये में छूमंतर करें सर्दी-खांसी, आजमाएं ये 13 घरेलू उपाय

ब्लैक कर्रेंट से जुडी सावधानियां और चेतावनी

फालसेब का इस्तेमाल करने से पहले क्या ध्यान रखें?

अपने डॉक्टर, फार्मासिस्ट या औषषि विशेषज्ञ से बात करें यदि आप:

· प्रेग्नेंट है या तो अपने बच्चे को स्तनपान करवाती है क्योंकि जब आप पेट से हो या तो स्तनपान करवाते हो उस दौरान आपको वही दवाइयां खानी चाहिए जो डॉक्टर बताए।

· और कोई दवाइयां ले रहे हो। फिर चाहे आप कोई भी दवाई लेते हो जो आप बिना प्रिस्क्रिप्शन के भी खरीद सकते हो।

· किसी भी फालसेब के पदार्थ से एलर्जिक है या किसी और दवाई या औषधि से आपको एलेर्जी है तो

· किसी भी अन्य रोग, लाक्षणिकता या बीमारी से पीड़ित है।

· और किसी खुराक, डाई, प्रेजरवेटिव या पशु से एलर्जिक है। औषधि की उपलब्धि और खरीददारी पे अन्य

दवाइयों की तुलना में कम नियम लागू होते है। औषधियों की सेफ्टी यानी की सलामती के बारे में दावा करने के लिए ज्यादा स्टडी की आवश्यकता होती है।

ब्लैक कर्रेंट का इस्तेमाल करना कितना सुरक्षित है?

फालसेब ज्यादातर सेफ है जब उसका खाने में उपयोग होता है, या तो जब ब्लैक कर्रेंट के फल और तेल दवाइयों में सही मात्रा में सही तरीके से इस्तेमाल हो।

विशेष ताकेदारी और चेतावनी:

प्रेगनेंसी और स्तनपान के दौरान: अगर आप पेट से है या स्तनपान करवाती है तो फालसेब का इस्तेमाल सेफ है की नहीं इसकी कोई भरोसापात्र माहिती उपलब्ध नहीं है। इसलिए, सही चुने, फालसेब का इस्तेमाल टाले।

रक्तस्त्राव की स्थिति में: फालसेब खून के गठन की क्रिया को धीरे करता है। हो सकता है की इसका उपयोग रक्त स्त्राव को बढ़ाए और चोट के रुझावमें अधिक समय लगे।

लो ब्लड प्रेशर : ब्लैक कर्रेंट का सही इस्तेमाल न होने पर यह खून का प्रेशर जरूरत से कम कर देता है। कई रिपोर्ट्स के मुताबिक, लो ब्लड प्रेशर के दर्दी अगर ब्लैक कर्रेंट का चयन करें तो ब्लड प्रेशर और ज्यादा निचे जा सकता है।

सर्जरी: जैसे की पहले बताया गया है, ब्लैक कर्रेंट खून के गठन की क्रिया को धीरे करता है इसीलिए ब्लैक कर्रेंट के ज़्यादा उपयोग से सर्जरी के दौरान खून का बहाव बढ़ सकता है। तो अगर आप ब्लैक कर्रेंट का किसी भी तरह से रेगुलर उपयोग करते है, तो किसी भी सर्जरी के दो हफ्तों से पहले ही इसका उपयोग बंध कर दे।

और पढ़ेंः ऐसे पहचाने छोटे बच्चों में खांसी के प्रकार और करें देखभाल

साइड इफेक्ट्स

ब्लैक कर्रेंट से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते है?

ब्लैक कर्रेंट में पाया जाने वाला ऐसिड – GLA आपको कई बार हानि पहुंचा सकता है, जैसे की:

· सिरदर्द

· डायरिया

· गैस ट्रबल्स और बेचैनी

जरूरी नहीं की सभी को यही साइड इफेक्ट्स महसूस हो। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसी भी हो सकती है जो यहाँ बताई न गई हो। आपको साइड इफेक्ट्स के बारे में कोई भी जानकारी चाहिए या आप ब्लैक कर्रेंट के इस्तेमाल से पहले पता करना चाहे, तो आप अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ की मदद जरूर ले।

और पढ़ेंः शतावरी के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Asparagus (Shatavari Powder)

ब्लैक कर्रेंट से जुड़े परस्पर प्रभाव

ब्लैक कर्रेंट के साथ साथ क्या ले सकते है?

ब्लैक कर्रेंट का इस्तेमाल आप किसी भी दवाई या मेडिकल कंडीशन के साथ कर सकते हैं। बस ध्यान रखें कि आप ऐसा करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

और पढ़ेंः ब्रेन स्ट्रोक कम करने के लिए बेस्ट फूड्स

खुराक को समझें

यहां दी गई जानकारी किसी भी मेडिकल सलाह का विकल्प नहीं है। यह दवाई इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ब्लैक कर्रेंट के चयन की सामान्य मात्रा के है?

ब्लैक कर्रेंट की मात्रा हर एक इंसान के लिए अलग हो सकती है। आपकी उम्र, स्वास्थ्य और बाकी सभी बातों के आधार पे यह मात्रा तय की जाती है। आप अपनी मात्रा नक्की करने के लिए अपने डॉक्टर या औषधि विशेषज्ञ से बात करे।

ब्लैक कर्रेंट किस रूप में मिलती है?

  • ताजे फलों के रूप में
  • डायटरी सप्लीमेंट की दवाई के रूप में
  • बीज के तेल के रूप में

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The health benefits of blackcurrants. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/22673662. Assessed on 13 January, 2020.

The health benefits of blackcurrants. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22673662/. Accessed on 2 September, 2020.

Sample records for black currant extract. https://www.science.gov/topicpages/b/black+currant+extract. Accessed on 2 September, 2020.

UNDERSTANDING THE HEALTH BENEFITS OF BLACKCURRANTS. https://www.actahort.org/books/585/585_72.htm. Accessed on 2 September, 2020.

American Black Currant Plant Guide. https://plants.usda.gov/plantguide/pdf/pg_riam2.pdf. Accessed on 2 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
lipi trivedi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/09/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x